🍯कुंभ राशि के लोगों की यात्रा लाभदायक रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास भी सफल रहेंगे। आचार्य रमेश चंद्र तिवारी जी की भविष्यवाणी में पढ़िए आज का ….

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 21/03/2020,शनिवार
द्वादशी, कृष्ण पक्ष
चैत्र
“””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———द्वादशी 07:55:10 तक
पक्ष —————————कृष्ण
नक्षत्र ———धनिष्ठा 19:38:31
योग ————-सिद्ध 12:20:24
करण ———–तैतुल 07:55:10
करण ———–गरज 20:59:43
वार ————————-शनिवार
माह ——————————चैत्र
चन्द्र राशि ———————कुम्भ
सूर्य राशि ———————- मीन
रितु ————————–शिशिर
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ——————— विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————–1941

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:42:39
सूर्यास्त —————–18:48:33
दिन काल ————–12:05:53
रात्री काल ————-11:53:15
चंद्रास्त —————–16:29:59
चंद्रोदय —————–29:34:28

लग्न —-मीन 6°45′ , 336°45′

सूर्य नक्षत्र ———उत्तराभाद्रपदा
चन्द्र नक्षत्र ——————धनिष्ठा
नक्षत्र पाया ——————–ताम्र

    *🙏🌸पद, चरण🌸🙏*

गु —-धनिष्ठा 12:58:28

गे —-धनिष्ठा 19:38:31

गो —-शतभिषा 26:19:21

     *🙏🌸ग्रह गोचर🌸🙏*

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मीन 06°22 ‘ उ o भा o, 2 थ
चन्द्र =कुम्भ00°23 ‘ धनिष्ठा ‘ 3 गु
बुध = कुम्भ 09°50 ‘ शतभिषा’ 1 गो
शुक्र= मेष 22°55, भरणी ‘ 3 ले
मंगल=धनु 29°30′ उ o षा o ‘ 1 भे
गुरु=धनु 28°50 ‘ उ oषाo , 1 भे
शनि=मकर 05°43′ उ oषा o ‘ 3 जा
राहू=मिथुन 09°52 ‘ आर्द्रा , 1 कु
केतु=धनु 09 ° 52 ‘ मूल , 3 भा

*🌸शुभा$शुभ मुहूर्त🌸*

राहू काल 09:25 – 10:56 अशुभ
यम घंटा 13:57 – 15:28 अशुभ
गुली काल 06:23 – 07:54 अशुभ
अभिजित 12:02 -12:51 शुभ
दूर मुहूर्त 07:59 – 08:48 अशुभ

🌸पंचक अहोरात्र अशुभ

🌸चोघडिया, दिन
काल 06:23 – 07:54 अशुभ
शुभ 07:54 – 09:25 शुभ
रोग 09:25 – 10:56 अशुभ
उद्वेग 10:56 – 12:26 अशुभ
चर 12:26 – 13:57 शुभ
लाभ 13:57 – 15:28 शुभ
अमृत 15:28 – 16:59 शुभ
काल 16:59 – 18:30 अशुभ

🌸चोघडिया, रात
लाभ 18:30 – 19:59 शुभ
उद्वेग 19:59 – 21:28 अशुभ
शुभ 21:28 – 22:57 शुभ
अमृत 22:57 – 24:26* शुभ
चर 24:26* – 25:55* शुभ
रोग 25:55* – 27:24* अशुभ
काल 27:24* – 28:53* अशुभ
लाभ 28:53* – 30:22* शुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   15 + 12 + 7 + 1 = 35  ÷ 4 = 3 शेष

मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

 *🌸शिव वास एवं फल -:*

27 + 27 + 5 = 59 ÷ 7 = 3 शेष

वृषभारूढ़ = शुभ कारक

🌸भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

       *🌸विशेष जानकारी🌸*
  • शनि प्रदोष व्रत (शिव पूजन)
  • श्री श्यामभट्टाचार्य एवं बलाकृष्णशरण देवाचार्य जी का 112 वा पाटोत्सव *🌸शुभ विचार🌸*

अग्निहोत्रं विना वेदाः न च दानं विना क्रियाः ।
न भावेनविना सिध्दिस्तस्माद्भावो हि कारणम् ।।
।।चा o नी o।।

यह बाते बेकार है. वेद मंत्रो का उच्चारण करना लेकिन निहित यज्ञ कर्मो को ना करना. यज्ञ करना लेकिन बाद में लोगो को दान दे कर तृप्त ना करना. पूर्णता तो भक्ति से ही आती है. भक्ति ही सभी सफलताओ का मूल है.

           *🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: मोक्षसन्यासयोग अo-18

ब्रह्मभूतः प्रसन्नात्मा न शोचति न काङ्क्षति।,
समः सर्वेषु भूतेषु मद्भक्तिं लभते पराम्‌॥,

फिर वह सच्चिदानन्दघन ब्रह्म में एकीभाव से स्थित, प्रसन्न मनवाला योगी न तो किसी के लिए शोक करता है और न किसी की आकांक्षा ही करता है।, ऐसा समस्त प्राणियों में समभाव वाला (गीता अध्याय 6 श्लोक 29 में देखना चाहिए) योगी मेरी पराभक्ति को ( जो तत्त्व ज्ञान की पराकाष्ठा है तथा जिसको प्राप्त होकर और कुछ जानना बाकी नहीं रहता वही यहाँ पराभक्ति, ज्ञान की परानिष्ठा, परम नैष्कर्म्यसिद्धि और परमसिद्धि इत्यादि नामों से कही गई है) प्राप्त हो जाता है॥,54॥,

  *🌸ब्रत पर्व विवरण*🌸

🌸विशेष – त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
🌸वारुणी योग🌸
🙏🏻वारुणी योग चैत्र माह में बनने वाला एक पुण्यप्रद महायोग है जिसका वर्णन विभिन्न पुराणों में मिलता है। यह महायोग तीन प्रकार का होता है।
🙏🏻चैत्र कृष्ण त्रयोदशी को शतभिषा और शनिवार हो तो महावारुणी (21 मार्च 2020 शनिवार को रात्रि 07:40 से 22 मार्च सूर्योदय तक)
🙏🏻चैत्र कृष्ण त्रयोदशी को वारुण नक्षत्र (शतभिषा) हो तो वारुणी योग (22 मार्च 2020 रविवार को सूर्योदय से सुबह 10:10 तक)
🙏🏻चैत्र कृष्ण त्रयोदशी को शतभिषा नक्षत्र, शनिवार और शुभ योग (कुल 27 योगों में से 23वां योग) हो तो महामहावारुणी पर्व होता है।
🙏🏻इस महायोग में गंगा आदि तीर्थ स्थानों में स्नान, दान और उपवास करने से करोड़ों सूर्य ग्रहणों के समान फल प्राप्त होता है।


🌸 आइये देखते हैं विभिन्न शास्त्र क्या कहते हैं
🙏🏻भविष्यपुराण के अनुसार चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी यदि शनिवार या शतभिषा से युक्त हो तो वह महावारुणी पर्व कहलाता है | इसमें किया गया स्नान, दान एवं श्राद्ध अक्षय होता है।
🌸 चैत्रे मासि सिताष्टम्यां शनौ शतभिषा यदि । गंगाया यदि लभ्येत सूर्यग्रहशतैः समा ।।
सेयं महावारुणीति ख्याता कृष्णत्रयोदशी । अस्यां स्नानं च दानं च श्राद्धं वाक्षयमुच्यते ।।
🌸 नारदपुराण
वारुणेन समायुक्ता मधौ कृष्णा त्रयोदशी ।।
गंगायां यदि लभ्येत सूर्यग्रहशतैः समा ।। ४०-२० ।।
🌸 स्कन्दपुराण
“वारुणेन समायुक्ता मधौ कृष्णा त्रयोदशी। गङ्गायां यदि लभ्येत सूर्यग्रहशतैः समा॥
शनिवारसमायुक्ता सा महावारुणी स्मृता। गङ्गायां यदि लभ्येत कोटिसूर्यग्रहैः समा॥”
🌸 देवीभागवत पुराण
“वारुणं कालिकाख्यञ्च शाम्बं नन्दिकृतं शुभम्।
सौरं पाराशरप्रोक्तमादित्यं चातिविस्तरम्॥”
🌸 त्रिस्थलीसेतु
चैत्रासिते वारुणऋक्षयुक्ता त्रयोदशी सूर्यसुतस्य वारे।
योगे शुभे सा महती महत्या गंगाजलेर्कग्रहकोटितुल्या।।
🌸विशेष ~ 21 मार्च 2020 शनिवार को (रात्रि 07:40 से 22 मार्च सूर्योदय तक) महावारुणी योग है ।
🌸22 मार्च 2020 रविवार को सूर्योदय से सुबह 10:10 तक) वारुणी योग है ।

🌸 शनि प्रदोष 🌸
🙏🏻शनिवार को प्रदोषकाल में त्रयोदशी तिथि हो तो उसे शनिप्रदोष कहा जाता है।
➡21 मार्च 2020 को शनि प्रदोष है।
🙏🏻शनिप्रदोष व्रत की महिमा अपार है | स्कन्दपुराण में ब्राह्मखंड – ब्रह्ममोत्तरखंड में हनुमान जी कहते हैं कि
🌸एष गोपसुतो दिष्ट्या प्रदोषे मंदवा सरे । अमंत्रेणापि संपूज्य शिवं शिवमवाप्तवान् ।।
मंदवारे प्रदोषोऽयं दुर्लभः सर्वदेहिनाम् । तत्रापि दुर्लभतरः कृष्णपक्षे समागते ।।
👉🏻 एक गोप बालक ने शनिवार को प्रदोष के दिन बिना मंत्र के भी शिव पूजन कर उन्हें पा लिया। शनिवार को प्रदोष व्रत सभी देहधारियों के लिए दुर्लभ है। कृष्णपक्ष आने पर तो यह और भी दुर्लभ है।
➡संतान प्राप्ति के लिए शनिप्रदोष व्रत एक अचूक उपाय है।
➡विभिन्न मतों से शनिप्रदोष को महाप्रदोष तथा दीपप्रदोष भी कहा जाता है। कुछ विद्वान केवल कृष्णपक्ष के शनिप्रदोष को ही महाप्रदोष मानते हैं।
➡ ऐसी मान्यता है की शनिप्रदोष का दिन शिव पूजा के लिए सर्वश्रेष्ठ है। अगर कोई व्यक्ति लगातार 4 शनिप्रदोष करता है तो उसके जन्म जन्मांतर के पाप धूल जाते हैं साथ ही वह पितृऋण से भी मुक्त हो जाता है।

🙏🏻”कोरोना” को हराना है
“””सावधानी”” ही इलाज है
जो गमछा लू से बचने के लिए इस्तेमाल करते है उसी को मास्क की तरह इस्तेमाल करे।
साबुन से हर 30मिनट्स में हाथ 20सेकंड के लिए धोए।कोई भी सैनिटाइजर की जरूरत नही पड़ेगी।
घर मे फ्लोर कलीनर में फिटकरी और कपूर को पीस के गो मूत्र और साफ पानी
में मिला के रोज़ दो बार पोछा लगाए यही सबसे अच्छा सैनिटाइज करने का तरीका है।

     *🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
नौकरी में कोई नया काम कर पाएंगे। उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। मान-सम्मान मिलेगा। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। भाग्य का साथ मिलेगा। निवेश शुभ रहेगा। काफी समय से लंबित कार्य पूर्ण होंगे। उत्साह व प्रसन्नता से कार्य कर पाएंगे। प्रमाद न करें।

🐂वृष
दूर से कोई बुरी खबर मिल सकती है, धैर्य रखें। किसी अपने ही व्यक्ति से बिना कारण विवाद को हो सकता है। दौड़धूप अधिक रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। असमंजस की स्थिति बन सकती है। चिंता तथा तनाव रहेंगे।

👫मिथुन
पठन-पाठन व लेखन इत्यादि काम सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद मिलेगा। निवेश शुभ रहेगा। व्यापार ठीक चलेगा। लाभार्जन होगा। परिवार के सदस्यों के साथ समय सुखमय व्यतीत होगा। प्रमाद न करें।

🦀कर्क
संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। कारोबार में वृद्धि होगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। कोई आवश्यक वस्तु गुम हो सकती है। बेकार बातों पर ध्यान न दें। उत्साह में वृद्धि होगी।

🐅सिंह
स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यस्तता रहेगी। शत्रु पस्त होंगे। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड लाभ देंगे। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। जल्दबाजी न करें। उत्साह रहेगा। भाग्य का साथ मिलेगा।

🙎कन्या
चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। किसी भी तरह के विवाद में न पड़ें। बोलचाल में हल्केपन को न वापरें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। परिवार में तनाव रह सकता है। यथासंभव यात्रा टालें। जल्दबाजी न करें। व्यापार ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी।

⚖तुला
तंत्र-मंत्र में रुचि जागृत होगी। सत्संग का लाभ प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। रुके कामों में गति आएगी। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल रहेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कुसंगति से हानि होगी। किसी तीर्थयात्रा की योजना बनेगी।

🦂वृश्चिक
नए कारोबारी अनुबंध हो सकते हैं। दूर से काम मिल सकता है। आर्थिक नीति में सुधार होगा। योजना फलीभूत होगी। मित्रों का सहयोग करने का अवसर प्राप्त होगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। समय की अनुकूलता का लाभ लें। प्रमाद न करें। प्रसन्नता रहेगी।

🏹धनु
डूबा हुआ धन प्राप्त हो सकता है। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। बेरोजगारी दूर होगी। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। शेयर मार्केट तथा म्युचुअल फंड लाभदायक रहेंगे। दुष्टजन तथा ईष्यालु व्यक्तियों से सावधान रहें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। समय अनुकूल है।

🐊मकर
चोट व दुर्घटना आदि से हानि के योग हैं। अत: किसी भी काम को करते समय लापरवाही न करें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें।

🍯कुंभ
यात्रा लाभदायक रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य के नजरअंदाज न करें। समय अनुकूल है। आय में वृद्धि होगी। उत्साह व प्रसन्नता से काम कर पाएंगे। रुके कार्य बनेंगे।

🐟मीन
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। व्यय होगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। किसी मांगलिक कार्य में शामिल होने का अवसर प्राप्त हो सकता है। आत्मसम्मान बना रहेगा। कोई बड़ा काम करने का मन बनेगा। सुख के साधन जुटेंगे। प्रसन्नता रहेगी। लाभार्जन होगा।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

5 × 4 =

WhatsApp chat