आज कर्क राशि के जातकों को मिलेगा ऐसा की सोंच नही सकते

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी

🌹🌸🌹🙏
सम्पर्क सूत्र +91 9518782511
🌹🌸🌹🌸🌹🌸🌹🌸🌹🌸
|| जय श्री राधे ||
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
ll जय श्री राधे ll
🌹🌸🌹🌸🌹🌸🌹🌸🌹🌸

दिनाँक -: 09/08/2019,शुक्रवार
नवमी, शुक्ल पक्ष
श्रावण
“”””””””””””‘”””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि————-नवमी10:00:08 तक
पक्ष—————————–शुक्ल
नक्षत्र———-अनुराधा21:57:54
योग—————–ब्रह्म11:35:27
करण————कौलव10:00:08
करण————-तैतुल21:59:40
वार————————–शुक्रवार
माह—————————श्रावण
चन्द्र राशि——————–वृश्चिक
सूर्य राशि———————– कर्क
रितु——————————-वर्षा
आयन——————-दक्षिणायण
संवत्सर———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर)———–परिधावी
विक्रम संवत—————–2076
विक्रम संवत (कर्तक)——-2075
शाका संवत——————1941

मुम्बई
सूर्योदय—————–06::00
सूर्यास्त——————19:11:29
दिन काल—————13:13:49
रात्री काल————–10:46:41
चंद्रोदय——————14:09:30
चंद्रास्त——————25:10:46

लग्न—-कर्क22°2′ , 112°2′

सूर्य नक्षत्र——————आश्लेषा
चन्द्र नक्षत्र——————अनुराधा
नक्षत्र पाया———————रजत

🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩

नी—-अनुराधा 09:37:41

नू—-अनुराधा 15:46:37

ने—-अनुराधा 21:57:54

नो—-ज्येष्ठा 28:11:28

💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=कर्क 22°12 ‘ आश्लेषा , 2 डू
चन्द्र =वृश्चिक 25°23′ अनुराधा ‘ 2 नी
बुध=कर्क 03°30 ‘ पुनर्वसु’ 4 ही
शुक्र= कर्क 20 ° 30, आश्लेषा ‘ 2 डू
मंगल=कर्क 00°02 ‘ मघा ‘ 1 मा
गुरु=वृश्चिक 20°26 ‘ ज्येष्ठा , 2 या
शनि=धनु 22°43′ पू oषा o ‘ 3 फा
राहू=मिथुन 21°50 ‘ पुनर्वसु , 1 के
केतु=धनु 21 ° 50′ पूo षाo, 3 फा

🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩

राहू काल 10:45 – 12:25अशुभ
यम घंटा 15:43 – 17:22अशुभ
गुली काल 07:27 – 09:06अशुभ
अभिजित 11:58 -12:51शुभ
दूर मुहूर्त 08:26 – 09:19अशुभ
दूर मुहूर्त 12:51 – 13:44अशुभ

🚩गंड मूल21:58 – अहोरात्रअशुभ

💮चोघडिया, दिन
चर 05:48 – 07:27शुभ
लाभ 07:27 – 09:06शुभ
अमृत 09:06 – 10:45शुभ
काल 10:45 – 12:25अशुभ
शुभ 12:25 – 14:04शुभ
रोग 14:04 – 15:43अशुभ
उद्वेग 15:43 – 17:22अशुभ
चर 17:22 – 19:01शुभ

🚩चोघडिया, रात
रोग 19:01 – 20:22अशुभ
काल 20:22 – 21:43अशुभ
लाभ 21:43 – 23:04शुभ
उद्वेग 23:04 – 24:25अशुभ शुभ 24:25 – 25:46शुभ अमृत 25:46 – 27:07शुभ चर 27:07 – 28:27शुभ रोग 28:27 – 29:48*अशुभ

💮होरा, दिन
शुक्र 05:48 – 06:54
बुध 06:54 – 07:59
चन्द्र 07:59 – 09:06
शनि 09:06 – 10:12
बृहस्पति 10:12 – 11:18
मंगल 11:18 – 12:25
सूर्य 12:25 – 13:31
शुक्र 13:31 – 14:37
बुध 14:37 – 15:43
चन्द्र 15:43 – 16:49
शनि 16:49 – 17:55
बृहस्पति 17:55 – 19:01

🚩होरा, रात
मंगल 19:01 – 19:55
सूर्य 19:55 – 20:49
शुक्र 20:49 – 21:43
बुध 21:43 – 22:37
चन्द्र 22:37 – 23:31
शनि 23:31 – 24:25
बृहस्पति 24:25* – 25:19
मंगल 25:19* – 26:13
सूर्य 26:13* – 27:07
शुक्र 27:07* – 28:00
बुध 28:00* – 28:54
चन्द्र 28:54* – 29:48

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

💮दिशा शूल ज्ञान————–पश्चिम
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🚩 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

  9 + 6 + 1 =  16÷ 4 = 0 शेष

पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

💮 शिव वास एवं फल -:

9 + 9 + 5 = 23 ÷ 7 =  2 शेष

गौरि सन्निधौ = शुभ कारक

🚩भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮

*सर्वार्थ सिद्धि योग 21:57 तक

💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮

दारिद्र्यनाशनं दान शीलं दुर्गतिनाशनम् ।
अज्ञाननाशिनी प्रज्ञा भावना भयनाशिनी ।।
।।चा o नी o।।

व्यक्ति अकेले ही पैदा होता है. अकेले ही मरता है. अपने कर्मो के शुभ अशुभ परिणाम अकेले ही भोगता है. अकेले ही नरक में जाता है या सदगति प्राप्त करता है.

🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

वायुर्यमोऽग्निर्वरुणः शशाङ्‍क: प्रजापतिस्त्वं प्रपितामहश्च।,
नमो नमस्तेऽस्तु सहस्रकृत्वः पुनश्च भूयोऽपि नमो नमस्ते ॥,

आप वायु, यमराज, अग्नि, वरुण, चन्द्रमा, प्रजा के स्वामी ब्रह्मा और ब्रह्मा के भी पिता हैं।, आपके लिए हजारों बार नमस्कार! नमस्कार हो!! आपके लिए फिर भी बार-बार नमस्कार! नमस्कार!!॥,39॥,

Presents

💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
कोई पुराना रोग दु:ख का कारण बन सकता है। लापरवाही न करें। शत्रुभय बना रहेगा। फालतू खर्च पर नियंत्रण रखें। कोर्ट-कचहरी व सरकारी कामों में सहूलियत रहेगी। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। कारोबार से लाभ होगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे।

🐂वृष
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। शारीरिक हानि हो सकती है। किसी अपने से बेबात विवाद हो सकता है। मान कम होगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। निवेश में जल्दबाजी न करें। सुख के साधनों पर व्यय होगा।

👫मिथुन
लेन-देन में सावधानी रखें। चोट व रोग से बचें। अज्ञात भय सताएगा। स्थायी संपत्ति की खरीद-फरोख्त लाभकारी रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। भाग्य का साथ मिलेगा। नए बड़े काम मिल सकते हैं। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🦀कर्क
धार्मिक कृत्यों पर व्यय होगा। पूजा-पाठ में मन लगेगा। व्यापार-व्यवसाय लाभप्रद रहेंगे। आशंका-कुशंका के चलते निर्णय लेने की क्षमता कम हो सकती है। आत्मविश्वास बनाए रखें। शारीरिक कष्ट संभव है। विवेक से कार्य करें, लाभ होगा। प्रसन्नता में वृद्धि होगी।

🐅सिंह
अकारण विवाद हो सकता है। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। दूर से शोक समाचार मिल सकता है। पुराना रोग उभर सकता है। मन खिन्न रहेगा। काम में मन नहीं लगेगा। कुसंगति से हानि संभव है। व्यापार ठीक चलेगा। नौकरी में कार्यभार बढ़ सकता है।

🙎कन्या
संतान पक्ष से स्वास्थ्य व अध्ययन संबंधी चिंता रहेगी। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। आवश्यक वस्तु गुम हो सकती है। धनलाभ के अवसर प्राप्त होंगे। थोड़ प्रयास से ही कार्यसिद्धि होगी। घर-बाहर सम्मान मिलेगा। व्यापार अच्छा चलेगा।

⚖तुला
बेचैनी रहेगी। थकान रह सकती है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। अप्रत्याशित लाभ के योग हैं। लॉटरी व सट्टे से दूर रहें। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। कारोबार में वृद्धि होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🦂वृश्चिक
यात्रा लाभदायक रहेगी। जल्दबाजी न करें। शारीरिक कष्ट संभव है। स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है। बेवजह विवाद हो सकता है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। स्वास्थ्य पर बड़ा खर्च हो सकता है। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। जोखिम न लें।

🏹धनु
किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। यात्रा मनोरंजक रहेगी। विद्यार्थी वर्ग का अध्ययन में मन लगेगा। शोध इत्यादि कार्य सफल रहेंगे। स्वादिष्ट भोजन का लाभ प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। नौकरी में नया कार्य कर पाएंगे।

🐊मकर
दूर से शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। थकान रह सकती है। बड़ा काम करने का मन बनेगा। शत्रु नतमस्तक होंगे। बुरे लोगों से दूर रहें। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में चैन रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🍯कुंभ
पुरानी वसूली जो नहीं हो पा रही थी, अब वसूली जा सकती है, प्रयास करें। व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। भाग्य का साथ मिलेगा। नेत्र पीड़ा हो सकती है।

🐟मीन
हल्के हंसी-मजाक से बचें। जल्दबाजी से हानि हो सकती है। शारीरिक कष्ट संभव है। कानूनी अड़चन आ सकती है। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार हो सकता है। नए काम मिलेंगे। भाग्य की अनुकूलता का लाभ लें। आलस्य से बचें।🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

13 + 5 =

WhatsApp chat