Nazariya Zimmedar Kaun 

भारत माता है या पिता !! यह महत्वपूर्ण नही!!! महत्वपूर्ण यह है कि उसकी डेढ़ करोड़ संतानें वेश्या क्यों हैं ? कौन है इसका ज़िम्मेदार?

जी हां, भारत मे डेढ़ करोड़ वेश्याएं हैं। यह संख्या कई देशों की कुल जनसंख्या से भी अधिक है। हमारे देश मे गंगा (नदी) माता है, गाय (पशु) माता है, धरती (जमीन) माता है मगर औरत (इंसान) वेश्या है। और वेश्या भी एक-दो हजार नही पूरे डेढ़ करोड़। कौन है इसका जिम्मेदार?? टेलीविज़न प्लस न्यूज़ सिर्फ पूछना चाहता है क्या… Read More

क्या आप जानते हैं? ऐसा करने से क्या होता है? मगर ऐसा करें तो क्या होगा? विसर्जन गोबर गणेश

जी हाँ यह यथार्थ है कि जितने लोग भी गणेश विसर्जन करते हैं उन्हें यह बिल्कुल पता नहीं होता है कि गणेश विसर्जन क्यों किया जाता है और इसका क्या लाभ है ?? हमारे देश में हिंदुओं की सबसे बड़ी विडंबना यही है कि देखा देखी में एक परंपरा चल पड़ती है जिसके पीछे का मर्म कोई नहीं जानता लेकिन… Read More

अगर कोई गल्ती से by mistake आपके एकाउंट में पैसा जमा कर देता है तो क्या?

Yesterday I received notification on my cell phone of a deposit into my account of Rs82, 000. I could not find out who had deposited it, there was only a reference J002. At midday yesterday I received a call from someone in ” Revenue dept” stating that they had erroneously deposited a VAT Return of Rs.82,000 into my bank account,… Read More
North & West Regional Zimmedar Kaun 

भोजपुरी सिनेमा की आज की स्थिति का अगर कोई ज़िम्मेदार है तो वो है “अश्लीलता”

जी हां, सिनेमा को समाज का आईना माना जाता है. लेकिन जब समाज का कुलीन वर्ग आईने को अछूत मान ले तो वह बदरंग नजर आने लगता है. वर्तमान समय में भोजपुरी सिनेमा की यही स्थिति है. भोजपुरी सिनेमा का नाम सुनते ही उसे अश्लील बताकर समाज के तथाक​थित कुलीन वर्ग नाक- भौं सिकोड़ने लगते हैं. लेकिन, ‘अश्लीलता’ की तय… Read More

क्या वेशभूषा और पहनावे से लड़के लड़की औरत आदमी को सभ्य असभ्य का खिताब देना उचित है? क्यों हमारा समाज करता है ऐसा काम? क्या है इसके पीछे की सच्चाई…

आज बहुत कुछ देखने समझने के बाद ऐसे ज्वलंत मुद्दे को उठाने का सोंचा है क्योंकि दिन ब दिन हमारे समाज में लोगों के देखने का नज़रिया बदलता जा रहा है। अभी हाल ही में सिमरन के मुहल्ले में महिला सभा का आयोजन किया गया, सभा स्थल पर महिलाओं की संख्या अधिक और पुरुषों की कम थी। मंच पर तकरीबन… Read More

कभी सोंचा आपने की ऐसा करके आप क्या बताना चाहते हैं..क्यों

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं प्लास्टिक की बोतल की, मान लीजिये आज आपने 20 रुपये की पानी की बोतल खरीदी, और पीकर फेंक दिया। तो इस बोतल का 90 फीसदी हिस्सा 25-28 वीं सदी में नष्ट होगा। करीब 400 से 500 साल लगेंगे। यानि जिस बोतल में पानी पिया होगा वह आज भी मौजूद है। हर 60 मिनट… Read More
WhatsApp chat