Dharma & Karma (ज्योतिष शास्त्र) 

अगर घर से बरकत जा रही है? या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है? या परिवार में कलह रहता है? तो अपनाएं यह टिप्स…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏🌸
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 26/09/2020,शनिवार
दशमी, शुक्ल पक्ष
अधिक आश्विन
“””””””””””””””””””””””””””””‘”””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-दशमी 18:59:21 तक
पक्ष —————————-शुक्ल
नक्षत्र —–उत्तराषाढा 19:24:42
योग ———अतिगंड 19:46:25
करण ———–तैतुल 06:47:10
करण ————–गर 18:59:21
वार ————————-शनिवार
माह (पूर्णिमांत) –अधिक आश्विन
चन्द्र राशि ——————- मकर
सूर्य राशि ——————-कन्या
रितु —————————–शरद
आयन ——————दक्षिणायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर)————- प्रमादी
विक्रम संवत ————— 2077
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:29:12
सूर्यास्त —————–18:29:49
दिन काल ————–11:00:36
रात्री काल ————-12:59:35
चंद्रोदय —————–15:08:43
चंद्रास्त —————–26:27:21

लग्न —- कन्या 9°16′ , 159°16′

सूर्य नक्षत्र ———उत्तराफाल्गुनी
चन्द्र नक्षत्र ————–उत्तराषाढा
नक्षत्र पाया ———————ताम्र

🙏🌸पद, चरण🌸🙏

भो ——–उत्तराषाढा 06:53:24
जा ——-उत्तराषाढा 13:08:06
जी ——–उत्तराषाढा 19:24:42
खी ————-श्रवण 25:43:07

🌸 राहू काल 09:10 – 10:40 अशुभ
🌸 अभिजित 11:46 -12:34 शुभ

🌸 चोघडिया, दिन
काल 06:11 – 07:41 अशुभ
शुभ 07:41 – 09:10 शुभ
रोग 09:10 – 10:40 अशुभ
उद्वेग 10:40 – 12:10 अशुभ
चर 12:10 – 13:40 शुभ
लाभ 13:40 – 15:10 शुभ
अमृत 15:10 – 16:40 शुभ
काल 16:40 – 18:10 अशुभ

🌸 चोघडिया, रात
लाभ 18:10 – 19:40 शुभ
उद्वेग 19:40 – 21:10 अशुभ
शुभ 21:10 – 22:40 शुभ
अमृत 22:40 – 24:10* शुभ
चर 24:10* – 25:41* शुभ
रोग 25:41* – 27:11* अशुभ
काल 27:11* – 28:41* अशुभ
लाभ 28:41* – 30:11* शुभ

🌸 दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
10 + 7 + 1 = 18 ÷ 4 = 2 शेष
आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

🌸 शिव वास एवं फल
10 + 10 + 5 = 25 ÷ 7 = 4 शेष
सभायां = सन्ताप कारक

*🌸सर्वार्थ सिद्धि योग 19:25 से

*🙏🌸शुभ विचार🌸🙏*

अन्यथा वेदपाण्डित्यं शास्त्रमाचारमन्यथा ।
अन्यथा वदता शांतंलोकाःक्लिश्यन्ति चाऽन्यथा ।।
।।चा o नी o।।

वासना के समान दुष्कर कोई रोग नहीं. मोह के समान कोई शत्रु नहीं. क्रोध के समान अग्नि नहीं. स्वरुप ज्ञान के समान कोई बोध नहीं.

🙏🌸सुभाषितानि🌸🙏

गीता -: अक्षरब्रह्मयोग अo-08

भूतग्रामः स एवायं भूत्वा भूत्वा प्रलीयते ।,
रात्र्यागमेऽवशः पार्थ प्रभवत्यहरागमे ॥,

हे पार्थ! वही यह भूतसमुदाय उत्पन्न हो-होकर प्रकृति वश में हुआ रात्रि के प्रवेश काल में लीन होता है और दिन के प्रवेश काल में फिर उत्पन्न होता है॥,19॥,

🌸 व्रत पर्व विवरण🌸
विशेष –
🌸अगर घर से बरकत जा रही है या आपको नेगेटिव एनर्जी दिख रही है या परिवार में कलह रहता है तो कपूर और फिटकरी को पीस के गौझारण (गौमूत्र) पतंजलि आदि का मिल जाता है को घर मे पोछा लगाने वाले क्लीनर या पानी मे मिला ले और रोज़ सुबह शाम घर मे पोछा लगाये और गंगाजल का पूजन के बाद छिड़काव भी करे फिर चमत्कारिक परिवर्तन देखै।

🌸 एकादशी व्रत के लाभ🌸
🌸 विशेष – 27 सितम्बर रविवार को एकादशी का व्रत (उपवास) रखें ।
🙏🏻 एकादशी व्रत के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है ।
🙏🏻 जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।
🙏🏻 जो पुण्य गौ-दान सुवर्ण-दान, अश्वमेघ यज्ञ से होता है, उससे अधिक पुण्य एकादशी के व्रत से होता है ।
🙏🏻 एकादशी करनेवालों के पितर नीच योनि से मुक्त होते हैं और अपने परिवारवालों पर प्रसन्नता बरसाते हैं ।इसलिए यह व्रत करने वालों के घर में सुख-शांति बनी रहती है ।
🙏🏻 धन-धान्य, पुत्रादि की वृद्धि होती है ।
🙏🏻 कीर्ति बढ़ती है, श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है, जिससे जीवन रसमय बनता है ।
🙏🏻 परमात्मा की प्रसन्नता प्राप्त होती है ।पूर्वकाल में राजा नहुष, अंबरीष, राजा गाधी आदि जिन्होंने भी एकादशी का व्रत किया, उन्हें इस पृथ्वी का समस्त ऐश्वर्य प्राप्त हुआ ।भगवान शिवजी ने नारद से कहा है : एकादशी का व्रत करने से मनुष्य के सात जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं, इसमे कोई संदेह नहीं है । एकादशी के दिन किये हुए व्रत, गौ-दान आदि का अनंत गुना पुण्य होता है ।

🌸एकादशी के दिन करने योग्य
🙏🏻 एकादशी को दिया जला के विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें …….विष्णु सहस्त्र नाम नहीं हो तो १० माला गुरुमंत्र का जप कर लें l अगर घर में6 झगडे होते हों, तो झगड़े शांत हों जायें ऐसा संकल्प करके विष्णु सहस्त्र नाम पढ़ें तो घर के झगड़े भी शांत होंगे l

🌸 एकादशी के दिन ये सावधानी रहे🌸
🙏🏻 महीने में १५-१५ दिन में एकादशी आती है एकादशी का व्रत पाप और रोगों को स्वाहा कर देता है लेकिन वृद्ध, बालक और बीमार व्यक्ति एकादशी न रख सके तभी भी उनको चावल का तो त्याग करना चाहिए एकादशी के जो दिन चावल खाता है… तो धार्मिक ग्रन्थ से एक- एक चावल एक- एक कीड़ा खाने का पाप लगता है…ऐसा डोंगरे जी महाराज के भागवत में डोंगरे जी महाराज ने कहा

🌸 कोई गुस्सैल अशांत हो तो🌸
🌙 30 अक्टूबर 2020 शुक्रवार को शरद पूनम आयेगी | जिस पत्नी का पति झगडालू हो, गुस्सेबाज हो, चिडचिडा हो अथवा जरा-जरा बात में कोई भी भड़क जाता हो, भड्कू हो तो पूनम की रात खीर बनाओ और 8 बजे की बनी हुई, 7 बजे की बनी हुई खीर पूनम के चंद्रमा के किरण उसमे पड़े, नेट से, जाली से या मलमल के कपडे से ढंक दो | बीच-बीच में चांदी का चम्मच, चांदी की कटोरी हो तो अच्छा है खीर हिलाओ और वो चंद्रमा की किरणों वाली खीर पति को खिलाओ | कितना भी झगड़ेबाज, गुस्सेबाज, अशांत व्यक्ति शांत हो जायेगा, झगड़े शांत हो जायेगे |

🌸 कोई आपको शत्रु मान के परेशान करता हो तो🌸
🔥 कोई आपको शत्रु मान के परेशान करता हो तो प्रतिदिन प्रात:काल पीपल के नीचे वृक्ष के दक्षिण की ओर अरंडी के तेल का दीपक लगायें तथा थोड़ी देर गुरुमंत्र या भगवन्नाम जपें और उस व्यक्ति को भगवान सद्बुद्धि दें तथा मेरा, उसका-सबका मंगल हो ऐसी प्रार्थना करें | कुछ दिनों तक ऐसा करने से शत्रु शनै: शनै : दब जाते हैं व शत्रु पीड़ा धीरे-धीरे दूर हो जाती है |

🌸 अगर प्रतिदिन हर कार्य मे सफलता के कीर्तिमान चाहते है तो रोज़ सुबह उठ कर नीचे दिए मंत्रो में से कोई भी पढ़ लिया करे मनचाही सफलता मिलती है 🌷
🙏🏻
अगर आप चाहते हैं हर दिन आपका शुभ और सफलतादायक हो तो बिस्तर से उठते ही अपने दोनों हाथों को आपस में रगड़ कर चेहरे पर लगाएं और दिए गए 13 मंत्रों में से किसी भी 1 मंत्र को बोलें। आपका दिन उन्नतिदायक और प्रसन्नतापूर्वक व्यतीत होगा।

1 . ॐ मंगलम् भगवान विष्णु: मंगलम् गरूड़ध्वज:।
मंगलम् पुण्डरीकांक्ष: मंगलाय तनो हरि।।

2 . कराग्रे वसते लक्ष्मी: कर मध्ये सरस्वती।
करमूले गोविन्दाय, प्रभाते कर दर्शनम्।

3 . गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु, गुरुर्देवो महेश्वर:।
गुरु साक्षात् परब्रह्मा तस्मै श्री गुरुवे नम:

4 . करारविन्देन पदारविन्दं, मुखारविन्दे विनिवेशयन्तम्।
वटय पत्रस्य पुटेशयानं, बालं मुकुन्दं मनसा स्मरामि।।

  1. सी‍ताराम चरण कमलेभ्योनम: राधा-कृष्ण-चरण कमलेभ्योनम:।

6 . राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमै: सहस्त्रनाम तत्तुल्यं श्री रामनाम वरानने।

7 . माता रामो मम् पिता रामचन्द्र:
स्वामी रामो ममत्सखा सखा रामचन्द्र:
सर्वस्व में रामचन्द्रो दयालु नान्यं जाने नैव जाने न जाने।।1।।

  1. दक्षिणे लक्ष्मणो यस्त वामेच जनकात्मजा,
    पुरतोमारुतिर्यस्य तं वंदे रघुनंदम्।

9 . लोकाभिरामं रण रंग धीरं राजीव नेत्रम् रघुवंश नाथम्।
कारुण्य रूपम् करुणा करम् श्री रामचंद्रम शरणं प्रपद्ये।

  1. आपदा मम हरतारं दातारम् सर्व सम्पदाम्
    लोकाभिरामम् श्री रामम् भूयो भूयो नमाम्यहं।
  2. रामाय रामभद्राय रामचंद्राय वेधसे
    रघुनाथाय नाथाय सीतापतये नम:।
  3. श्री रामचंद्र चरणौ मनसास्मरासि,
    श्री रामचंद्र चरणौ वचसा गृणोमि।
    श्री रामचंद्र चरणौ शिरसा नमामि,
    श्री रामचंद्र चरणौ शरणम् प्रपद्धे:।।
  4. त्वमेव माता च पिता त्वमेव। त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव।
    त्वमेव विद्या द्रविणं त्वमेव। त्वमेव सर्वम् ममदेव देव

🌸 पंचक
28 सितंबर 09:41 सुबह से 3 अक्तूबर 08:51 सुबह तक
🌸 एकादश
पद्मिनी एकादशी – 27 सितंबर 2020

🌸दैनिक राशिफल🌸

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।
🐏मेष
कार्य की प्रशंसा होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। प्रसन्नता रहेगी। संतान की शिक्षा की चिंता समाप्त होगी। व्यापार-व्यवसाय लाभप्रद रहेगा। महत्व के कार्य को समय पर करें। व्यावसायिक श्रेष्ठता का लाभ मिलेगा। मेहनत का फल कम मिलेगा।
🐂वृष
बुरी खबर मिल सकती है। दौड़धूप अधिक होगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। थकान रहेगी। व्यापार-व्यवसाय संतोषप्रद रहेगा। आपसी संबंधों को महत्व दें। अल्प परिश्रम से ही लाभ होने की संभावना है। खर्चों में कमी करने का प्रयास करें। अति व्यस्तता रहेगी।
👫मिथुन
किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का मौका मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। लाभ होगा। धन संचय की बात बनेगी। परिवार के कार्यों पर ध्यान देना जरूरी है। रुका कार्य होने से प्रसन्नाता होगी। आर्थिक सलाह उपयोगी रहेगी। कर्ज की चिंता कम होगी।


🦀कर्क
संपत्ति के कार्य लाभ देंगे। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। धैर्य एवं शांति से वाद-विवादों से निपट सकेंगे। दुस्साहस न करें। नए विचार, योजना पर चर्चा होगी। स्वयं की प्रतिष्ठा व सम्मान के अनुरूप कार्य हो सकेंगे।
🐅सिंह
राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रमाद न करें। जायदाद संबंधी समस्या सुलझने के आसार बनेंगे। अनुकूल समाचार मिलेंगे तथा दिन आनंदपूर्वक व्यतीत होगा। नए संबंध लाभदायी सिद्ध होंगे।
🙎‍♀️कन्या
कुसंगति से हानि होगी। वाहन मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। वाणी पर नियंत्रण रखें, जोखिम न लें। परेशानियों का मुकाबला करके भी लक्ष्य को हासिल कर पाएंगे। व्यापारिक लाभ होगा। संतान के प्रति झुकाव बढ़ेगा। शिक्षा व ज्ञान में वृद्धि होगी।


⚖️तुला
चोट व रोग से बचें। कानूनी अड़चन दूर होगी। धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। क्रय-विक्रय के कार्यों में लाभ होगा। योजनाएं बनेंगी। उच्च और बौद्धिक वर्ग में विशेष सम्मान प्राप्त होगा। भाइयों से अनबन हो सकती है। अपनी वस्तुएं संभालकर रखें।
🦂वृश्चिक
मेहनत का फल मिलेगा। योजना फलीभूत होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कर्ज से दूर रहना चाहिए। खर्च में कमी होगी। कानूनी विवादों का निपटारा आपके पक्ष में होने की संभावना है। प्रतिष्ठितजनों से मेल-जोल बढ़ेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें।
🏹धनु
विवाद से क्लेश होगा। फालतू खर्च होगा। पुराना रोग परेशान कर सकता है। जोखिम न लें। जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। विद्यार्थियों को परीक्षा में सफलता प्राप्ति के योग हैं। सावधानी व सतर्कता से व्यापारिक अनुबंध करें। दांपत्य जीवन अच्छा रहेगा।


🐊मकर
यात्रा, नौकरी व निवेश मनोनुकूल रहेंगे। रोजगार मिलेगा। अप्रत्याशित लाभ संभव है। जोखिम न लें। धर्म के कार्यों में रुचि आपके मनोबल को ऊंचा करेगी। मिलनसारिता व धैर्यवान प्रवृत्ति जीवन में आनंद का संचार करेगी। कई दिनों से रुका पैसा मिल सकेगा।
🍯कुंभ
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा, नौकरी व निवेश मनोनुकूल रहेंगे। जोखिम न उठाएं। आज का दिन आपके लिए शुभ रहने की संभावना है। स्थायी संपत्ति में वृद्धि होगी। रोजगार के अवसर मिलेंगे। परिवार में खुशी का माहौल रहेगा।
🐟मीन
व्यवसाय ठीक चलेगा। पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। व्यय होगा। प्रसन्नता रहेगी। व्यापार में नए अनुबंध लाभकारी रहेंगे। परिश्रम का अनुकूल फल मिलेगा। परिजनों के स्वास्थ्य और सुविधाओं की ओर ध्यान दें।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

13 − seven =

WhatsApp chat