Dharma & Karma (ज्योतिष शास्त्र) 

इस राशि के लोगों को किसी व्यक्ति के व्यवहार से मन को ठेस पहुंच सकती है। मगर जल्दबाजी न करें। इन राशियों में विवाद की स्थिति नहीं बनने…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏🌸
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 05/10/2020,सोमवार
तृतीया, कृष्ण पक्ष
अधिक आश्विन
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———तृतीया 10:01:31
पक्ष —————————कृष्ण
नक्षत्र ———-भरणी 14:55:13
योग —————वज्र 24:02:51
करण ——विष्टि भद्र 10:01:31
करण ————-बव 23:17:39
वार ————————-सोमवार
माह ————— अधिक आश्विन
चन्द्र राशि ——- मेष 21:40:36
चन्द्र राशि ——————-वृषभ
सूर्य राशि ——————-कन्या
रितु —————————–शरद
आयन ——————दक्षिणायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर)————- प्रमादी
विक्रम संवत ————— 2077
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:31:07
सूर्यास्त —————–17:22:06
दिन काल —————11:50:58
रात्री काल ————-12:09:15
चंद्रास्त —————–09:07:00
चंद्रोदय —————–20:43:51

लग्न ——-कन्या 18°7′ , 168°7′

सूर्य नक्षत्र ———————हस्त
चन्द्र नक्षत्र ——————-भरणी
नक्षत्र पाया ——————–स्वर्ण

 *🙏🌸 पद, चरण 🌸🙏*

ले ————- भरणी 08:09:27
लो ————- भरणी 14:55:13
अ ———– कृत्तिका 21:40:36
ई ———— कृत्तिका 28:25:29

🌸 राहू काल 07:43 – 09:11 अशुभ
🌸 अभिजित 11:44 -12:31 शुभ

🌸 चोघडिया, दिन
अमृत 06:15 – 07:43 शुभ
काल 07:43 – 09:11 अशुभ
शुभ 09:11 – 10:39 शुभ
रोग 10:39 – 12:07 अशुभ
उद्वेग 12:07 – 13:35 अशुभ
चर 13:35 – 15:03 शुभ
लाभ 15:03 – 16:31 शुभ
अमृत 16:31 – 17:59 शुभ

🌸 चोघडिया, रात
चर 17:59 – 19:31 शुभ
रोग 19:31 – 21:03 अशुभ
काल 21:03 – 22:36 अशुभ
लाभ 22:36 – 24:08* शुभ
उद्वेग 24:08 – 25:40* अशुभ
शुभ 25:40* – 27:12* शुभ
अमृत 27:12* – 28:44* शुभ
चर 28:44* – 30:16* शुभ

🌸 दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
15 + 3 + 2 + 1 = 21 ÷ 4 = 1 शेष
पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

🌸 शिव वास एवं फल
18 + 18 + 5 = 41 ÷ 7 = 6 शेष
क्रीड़ायां = शोक ,दुःख कारक

🌸 भद्रा वास एवं फल
स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।
प्रातः 10:20 तक समाप्त
स्वर्ग लोक = शुभ कारक

🌸 चतुर्थी व्रत चंद्रोदय रात्रि 20:15 पर

 *🙏🌸शुभ विचार🌸🙏*

सन्तोषस्त्रिषु कर्तव्यः स्वदारे भोजने धने ।
त्रिषु चैव न कर्त्तव्योऽध्ययने जपदानयोः ।।
।।चा o नी o।।

व्यक्ति नीचे दी हुए ३ चीजो से संतुष्ट रहे…
१. खुदकी पत्नी
२. वह भोजन जो विधाता ने प्रदान किया.
३. उतना धन जितना इमानदारी से मिल

   *🌸 सुभाषितानि 🌸*

गीता -: अक्षरब्रह्मयोग अo-08

नैते सृती पार्थ जानन्योगी मुह्यति कश्चन ।,
तस्मात्सर्वेषु कालेषु योगयुक्तो भवार्जुन ॥,

हे पार्थ! इस प्रकार इन दोनों मार्गों को तत्त्व से जानकर कोई भी योगी मोहित नहीं होता।, इस कारण हे अर्जुन! तू सब काल में समबुद्धि रूप से योग से युक्त हो अर्थात निरंतर मेरी प्राप्ति के लिए साधन करने वाला हो॥,27॥,

🌸 ब्रत पर्व विवरण🌸

विशेष – तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)

सूर्य देव को जल अवश्य चढ़ाना चाइये खासकर निम्नलिखित लोग अवश्य चढ़ाए
🌞1. जिन लोगों की कुंडली में सूर्य कमजोर हो।

  1. जिनमें आत्म-विश्वास की कमी हो।
  2. जो भीड़ में घबराते हों।
  3. जो निराशावादी हों, जिन पर नकारात्मकता हावी रहती हो।
  4. जिन्हें हमेशा कोई अज्ञात भय सताता रहता है।
  5. जिन लोगों को घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान चाहिए।

इन सभी 6 लोगों को रोज सुबह जल्दी उठकर सूर्य को जल जढ़ाना चाहिए

🌸 विघ्नों और मुसीबते दूर करने के लिए🌸
👉 05 अक्टूबर 2020 सोमवार को संकष्ट चतुर्थी (चन्द्रोदय रात्रि 08:40)
🙏🏻 शिव पुराण में आता हैं कि हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी ( पूनम के बाद की ) के दिन सुबह में गणपतिजी का पूजन करें और रात को चन्द्रमा में गणपतिजी की भावना करके अर्घ्य दें और ये मंत्र बोलें :
🌸 ॐ गं गणपते नमः ।
🌸 ॐ सोमाय नमः ।

अगर किसी जरूरी काम में सफलता चाहते हैं तो एक नींबू के ऊपर 4 लौंग गाड़ दें और ॐ श्री हनुमते नम: मंत्र का 21 बार जाप कर उस नींबू को अपने साथ ले कर जाएं। हनुमानजी ने चाहा तो आपका काम बन जाएगा
🌸 चतुर्थी‬ तिथि विशेष🌸
🙏🏻 चतुर्थी तिथि के स्वामी ‪भगवान गणेश‬जी हैं।
🌸 प्रत्येक मास में दो चतुर्थी होती हैं।
🙏🏻 पूर्णिमा के बाद आने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्ट चतुर्थी कहते हैं।अमावस्या के बाद आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं।
🙏🏻 शिवपुराण के अनुसार “महागणपतेः पूजा चतुर्थ्यां कृष्णपक्षके। पक्षपापक्षयकरी पक्षभोगफलप्रदा ॥
➡ “ अर्थात प्रत्येक मास के कृष्णपक्ष की चतुर्थी तिथि को की हुई महागणपति की पूजा एक पक्ष के पापों का नाश करनेवाली और एक पक्षतक उत्तम भोगरूपी फल देनेवाली होती है ।

🌸 कोई कष्ट हो तो🌸
🙏🏻 हमारे जीवन में बहुत समस्याएँ आती रहती हैं, मिटती नहीं हैं ।, कभी कोई कष्ट, कभी कोई समस्या | ऐसे लोग शिवपुराण में बताया हुआ एक प्रयोग कर सकते हैं कि, कृष्ण पक्ष की चतुर्थी (मतलब पुर्णिमा के बाद की चतुर्थी ) आती है | उस दिन सुबह छः मंत्र बोलते हुये गणपतिजी को प्रणाम करें कि हमारे घर में ये बार-बार कष्ट और समस्याएं आ रही हैं वो नष्ट हों |
👉🏻 छः मंत्र इस प्रकार हैं –
🌸 ॐ सुमुखाय नम: : सुंदर मुख वाले; हमारे मुख पर भी सच्ची भक्ति प्रदान सुंदरता रहे ।
🌸 ॐ दुर्मुखाय नम: : मतलब भक्त को जब कोई आसुरी प्रवृत्ति वाला सताता है तो… भैरव देख दुष्ट घबराये ।
🌸 ॐ मोदाय नम: : मुदित रहने वाले, प्रसन्न रहने वाले । उनका सुमिरन करने वाले भी प्रसन्न हो जायें ।
🌸 ॐ प्रमोदाय नम: : प्रमोदाय; दूसरों को भी आनंदित करते हैं । भक्त भी प्रमोदी होता है और अभक्त प्रमादी होता है, आलसी । आलसी आदमी को लक्ष्मी छोड़ कर चली जाती है । और जो प्रमादी न हो, लक्ष्मी स्थायी होती है ।
🌸 ॐ अविघ्नाय नम:
🌸 ॐ विघ्नकरत्र्येय नम:

🌸एकादशी
परम एकादशी – 13 अक्टूबर 2020

🌸प्रदोष
14 अक्‍टूबर ( बुधवार ) प्रदोष व्रत ( कृष्ण )

🌸अमावस्या
शुक्रवार, 16 अक्टूबर आश्विन अमावस्या (अधिक)

*🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। पार्टनरों से सहयोग प्राप्त होगा। निवेश लाभदायक रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। पूजा-पाठ में मन लगेगा। किसी साधु-संत की सेवा करने का अवसर प्राप्त होगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी।
🐂वृष
किसी व्यक्ति के व्यवहार से मन को ठेस पहुंच सकती है। जल्दबाजी न करें। विवाद की स्थिति नहीं बनने दें। किसी भी अपरिचित व्यक्ति पर अंधविश्वास न करें। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। आलस्य हावी रहेगा। चोट व दुर्घटना से हानि हो सकती है। भ्रम की स्थिति बन सकती है।
👫मिथुन
भागदौड़ अधिक होगी। शोक समाचार प्राप्त हो सकता है। कोई बड़ी परेशानी आ सकती है। वाणी पर नियंत्रण रखें। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। आय होगी। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। नौकरी में कार्यभार रहेगा। पुराना रोग उभर सकता है। बेवजह नकारात्मकता रहेगी। आलस्य हावी रहेगा।
🦀कर्क
नौकरी में कोई नया काम कर पाएंगे। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद प्राप्त हो सकता है। निवेश में जल्दबाजी न करें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। दुष्टजन हानि पहुंचाने का प्रयत्न करेंगे। प्रसन्नता रहेगी। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। पार्टी व पिकनिक का आनंद प्राप्त होगा।
🐅सिंह
स्थायी संपत्ति की खरीद-फरोख्त हो सकती है। लंबे समय से रुके कार्य पूर्ण होने के योग हैं। बड़ा लाभ हो सकता है। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। शत्रुओं से सावधानी आवश्यक है। हानि पहुंचाने के प्रयास करेंगे। प्रसन्नता रहेगी।
🙍‍♀️कन्या
कारोबार मनोनुकूल लाभ देगा। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। नौकरी में कार्य की प्रशंसा होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। निवेश में सोच-समझकर हाथ डालें। लाभ होगा। भाग्य की अनुकूलता रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रमाद न करें। कोर्ट व कचहरी के काम से छुटकारा मिल सकता है।
⚖️तुला
घर-बाहर सुख-शांति रहेगी। मित्रों तथा रिश्तेदारों का सहयोग कर पाएंगे। मान-सम्मान मिलेगा। कोई बड़ा काम करने का मन बनेगा। वरिष्ठ व्यक्तियों का मार्गदर्शन लाभ में वृद्धि करेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। निवेशादि मनोनुकूल रहेंगे। भाग्य का साथ मिलेगा।
🦂वृश्चिक
उपहार की प्राप्ति हो सकती है। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। कोई बड़ा काम हो सकता है। किसी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड आदि में सोच-समझकर निवेश करें।
🏹धनु
जोखिम व जमानत के कार्य टालें। किसी भी निर्णय को लेने में विवेक का प्रयोग करें। परिवार के साथ जीवन सुखपूर्वक व्यतीत होगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यवसाय ठीक चलेगा। व्ययवृद्धि होगी। विवाद को बढ़ावा न दें। दुष्टजनों से सावधानी आवश्यक है। पुराना रोग उभर सकता है।
🐊मकर
पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता बनी रहेगी। रुका हुआ पैसा मिलने के योग हैं। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। राजकीय सहयोग मिलेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। धन प्राप्ति सुगम होगी। आशंका-कुशंका रहेगी। आलस्य न करें।
🍯कुंभ
आर्थिक उन्नति के लिए नई नीति बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। लंबे समय से रुके कार्य पूर्ण होने के योग हैं, प्रयास करते रहें। आय में वृद्धि होगी। मित्रों का सहयोग कर पाएंगे। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। जल्दबाजी न करें।
🐟मीन
उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। व्यय होगा। विवाद को बढ़ावा न दें। आत्मसम्मान बना रहेगा। कोई बड़ा काम तथा बाहर जाने का मन बनेगा। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभदायक रहेगा। निवेश में जल्दबाजी न करें। शत्रु सक्रिय रहेंगे। धनागम होगा।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

four − three =

WhatsApp chat