Dharma & Karma (ज्योतिष शास्त्र) 

अगर आपके ज़िंदगी में भी है कोई समस्या? और समाधान नही मिल रहा! तो आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी जी से संपर्क करें, समाधान न मिलने पर हमें पोस्ट कर बताएं…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏🌸
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 08/09/2020,मंगलवार
षष्ठी, कृष्ण पक्ष
आश्विन
“”””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ————–षष्ठी24:02:13 तक
पक्ष —————————-कृष्ण
नक्षत्र———-भरणी08:24:48
योग———-व्याघात17:32:07
करण ————-गरज10:51:58
करण ———-वाणिज24:02:13
वार ————————मंगलवार
माह ————————-आश्विन
चन्द राशि ———–मेष 5:08:52
चन्द्र राशि —————–वृषभ
सूर्य राशि  ———————-सिंह
रितु ——————————वर्षा
सायन ————————-शरद
आयन—————-दक्षिणायण
संवत्सर——————-शार्वरी
संवत्सर (उत्तर)————–प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————–1942

मुम्बई
सूर्योदय —————-06:25:55
सूर्यास्त —————–18:45:47
दिन काल ————–12:19:52
रात्री काल ————–11:40:18
चंद्रास्त —————–11:11:42
चंद्रोदय —————–22:45:25

लग्न —-सिंह21°42′ , 141°42′

सूर्य नक्षत्र ————पूर्वाफाल्गुनी
चन्द्र नक्षत्र ——————-भरणी
नक्षत्र पाया ——————स्वर्ण

🙏🌸पद, चरण🌸🙏

लो ————–भरणी 08:24:48
अ ————कृत्तिका 15:08:52
ई ————-कृत्तिका 21:51:56
उ ————-कृत्तिका 28:33:45

🌸राहू काल 15:24 – 16:57अशुभ
अभिजित 11:52 -12:41शुभ

🌸 चोघडिया, दिन
रोग 06:03 – 07:36अशुभ
उद्वेग 07:36 – 09:10अशुभ
चर 09:10 – 10:43शुभ
लाभ 10:43 – 12:17शुभ
अमृत 12:17 – 13:50शुभ
काल 13:50 – 15:24अशुभ
शुभ 15:24 – 16:57शुभ
रोग 16:57 – 18:31अशुभ

🌸 चोघडिया, रात
काल 18:31 – 19:57अशुभ
लाभ 19:57 – 21:24शुभ
उद्वेग 21:24 – 22:50अशुभ
शुभ 22:50 – 24:17शुभ अमृत 24:17 – 25:43शुभ चर 25:43 – 27:10शुभ रोग 27:10 – 28:36अशुभ काल 28:36 -26:21*अशुभ

 *🌸 दिशा शूल ज्ञान--------------------उत्तर*

परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸अग्नि वास ग्यान
15 + 6 + 3 + 1 = 25 ÷ 4 = 1 शेष
पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

🌸शिव वास एवं फल
21 + 21 + 5 = 47 ÷ 7 = 5 शेष
ज्ञानवेलायां = कष्ट कारक

🌸भद्रा वास एवं फल
रात्रि 24:02 से प्रारम्भ
स्वर्ग लोक = शुभ कारक

*🌸विशेष जानकारी🌸*
  • षष्ठी श्राध्द

*सर्वार्थ सिद्धि योग 08:25 से

*विश्व साक्षरता दिवस

 *🌸शुभ विचार🌸*

त्यजन्ति मित्राणि धनैर्विहीनं
दाराश्च भृत्याश्च सुहृज्जनाश्च ।
तं चार्थवन्तं पुनराश्रयन्ते ।
ह्यर्थो हि लोके पुरुषस्य बन्धुः ।।
।।चा o नी o।।

जब व्यक्ति दौलत खोता है तो उसके मित्र, पत्नी, नौकर, सम्बन्धी उसे छोड़कर चले जाते है. और जब वह दौलत वापस हासिल करता है तो ये सब लौट आते है. इसीलिए दौलत ही सबसे अच्छा रिश्तेदार है.

🌸सुभाषितानि🌸

गीता -: अक्षरब्रह्मयोग अo-08

किं तद्ब्रह्म किमध्यात्मं किं पुरुषोत्तम ।,
अधिभूतं च किं प्रोक्तमधिदैवं किमुच्यते ॥,

अर्जुन ने कहा- हे पुरुषोत्तम! वह ब्रह्म क्या है? अध्यात्म क्या है? कर्म क्या है? अधिभूत नाम से क्या कहा गया है और अधिदैव किसको कहते हैं॥,1॥,

  *🌸 व्रत पर्व विवरण*🌸

षष्ठी का श्राद्ध, कृत्तिका श्राद्ध
🌸 विशेष – षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
🌸 श्राद्ध और व्रत के दिन ब्रह्मचर्य पालन करे तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

🌸 लक्ष्मी माँ की प्रसन्नता पाने हेतु 🌸
🙏🏻 समुद्र किनारे कभी जाएँ तो दिया जला कर दिखा दें …समुद्र की बेटी हैं लक्ष्मी … समुद्र से प्रगति है …समुद्र मंथन के समय…. अगर दिया दिखा कर ” ॐ वं वरुणाय नमः ” जपें और थोड़ा गुरु मंत्र जपें मन में तो वरुण भगवान भी राजी होंगे और लक्ष्मी माँ भी प्रसन्न होंगी |

🌸पितृपक्ष अमावस्या पर कुछ ऐसे सामान्य उपाय होते हैं, जिन्हें करने के बाद पितरों को तृप्त यानि संतुष्ट किया जा सकता है

1.🌸 पीपल के पेड़ के नीचे लगाए दीपक
पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन सुबह जल्दी उठकर पितरों के निमित्त घर का बना मिष्ठान व शुद्ध जल की मटकी पीपल के पेड़ के नीचे अपने पितरों के निमित्त रखकर वहां दीपक जलाएं।

2.🌸 गाय को खिलाएं हरी पालक
पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन दिन कुतप-काल के समय अपने पितरों के निमित्त गाय को हरी पालक खिलाएं। पितरों को संतुष्टी मिलेगी।

3.🌸 जरुर करें तर्पण
पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन सुबह जल्दी उठकर तर्पण करें। तर्पण का पितृ पक्ष में बहुत अधिक महत्व माना जाता है।

4.🌸 आमान्य दान करें
पितृ मोक्ष अमावस्या पर दान करना बहुत अच्छा माना जाता है। इस दिन किसी भी मंदिर में या ब्राह्मण को आमान्य दान जरुर करें।

5.🌸 तेल का चौमुखा दीपक रखें
पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन अपने पितरों के निमित्त तेल का चौमुखा दीपक रखें। सूर्यास्त के बाद घर की छत पर दिपक रखें और ध्यान रखें की आपका मुख दक्षिण दिशा में रखें।

🌸 बृहस्पति नीति 🌸
🙏🏻 बृहस्पति देवताओं के गुरु हैं। उन्होंने ऐसी कई बातें बताई हैं, जो हर किसी के लिए बहुत काम की साबित हो सकती हैं। बृहस्पति ने इन ऐसे नीतियों का वर्णन किया है, जो किसी भी मनुष्य को सफलता की राह पर ले जा सकती हैं।
➡ मुश्किल कामों में भी आसानी से पा लेंगे सफलता अगर ध्यान रखेंगे ये 3 बातें
🙏🏻 हर परिस्थिति में भगवान को याद रखें
🌸 श्लोक
सकृदुच्चरितं येन हरिरित्यक्षरद्वयम।
बद्ध: परिकरस्तेन मोक्षाय गमनं प्रति।।
🙏🏻 अर्थात
मनुष्य को हर परिस्थिति में भगवान को याद करना चाहिए, क्योंकि भगवान का स्मरण ही हर सफलता की कुंजी हैं। जो मनुष्य इस बात को समझ लेता है, उसे जीवन में सभी सुख मिलते हैं और स्वर्ग पाना संभव हो जाता है।
🙏🏻 दुर्जनों को छोड़, सज्जनों की संगती करें
🌸 श्लोक
त्यज दुर्जनसंसर्ग भज साधुसमागम।
कुरु पुण्यमहोरात्रं स्मर नित्यमनित्यता।।
🙏🏻 अर्थात
मनुष्य को दुर्जन यानी बुरे विचारों और बुरे आदतों वाले लोगों की संगति छोड़कर, बुद्धिमान और सज्जन लोगों से दोस्ती करनी चाहिए। सज्जन लोगों की संगति में ही मनुष्य दिन-रात धर्म और पुण्य के काम कर सकता है।
🙏🏻 हर कोई मनुष्य का साथ छोड़ देता है लेकिन धर्म नहीं
🌸 श्लोक
तैस्तच्छरीरमुत्सृष्टं धर्म एकोनुग्च्छति।
तस्ताद्धर्म: सहायश्च सेवितव्य सदा नृभि:।।
🙏🏻 अर्थात
हर कोई कभी न कभी साथ छोड़ देता ह, लेकिन धर्म कभी मनुष्य का साथ नहीं छोड़ता। जब कोई भी अन्य मनुष्य या वस्तु आपका साथ नहीं देते, तब आपके द्वारा किए गए धर्म और पुण्य के काम ही आपकी मदद करते हैं और हर परेशानी में आपकी रक्षा करते हैं।

🌸एकादशी
इन्दिरा एकादशी – 13 सितंबर 2020
पद्मिनी एकादशी – 27 सितंबर 2020

🌸प्रदोष
15 सितंबर ( मंगलवार ) भौम प्रदोष व्रत ( कृष्ण )

🌸अमावस्या
गुरुवार, 17 सितंबर

🌸जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 8 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। यह ग्रह सूर्यपुत्र शनि से संचालित होता है। इस दिन जन्मे व्यक्ति धीर गंभीर, परोपकारी, कर्मठ होते हैं। आपकी वाणी कठोर तथा स्वर उग्र है। आप भौतिकतावादी है। आप अदभुत शक्तियों के मालिक हैं। आप अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं उसका एक मतलब होता है। आपके मन की थाह पाना मुश्किल है। आपको सफलता अत्यंत संघर्ष के बाद हासिल होती है। कई बार आपके कार्यों का श्रेय दूसरे ले जाते हैं।

🌸शुभ दिनांक : 8 17, 26
🌸शुभ अंक : 8, 17, 26, 35, 44
🌸शुभ वर्ष : 2024, 2042
🌸ईष्टदेव : हनुमानजी, शनि देवता
🌸शुभ रंग : काला, गहरा नीला, जामुनी

🌸कैसा रहेगा यह वर्ष
सभी कार्यों में सफलता मिलेगी। जो अभी तक बाधित रहे है वे भी सफल होंगे। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। नौकरीपेशा व्यक्ति प्रगति पाएंगे। बेरोजगार प्रयास करें, तो रोजगार पाने में सफल होंगे। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे, स्वास्थ्य की दृष्टि से समय अनुकूल ही रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति भी समय का सदुपयोग कर लाभान्वित होंगे

  *🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
पूजा-पाठ में मन लगेगा। कोर्ट व कचहरी के काम निबटेंगे। लाभ के अवसर मिलेंगे। प्रसन्नता रहेगी। कुछ मानसिक अंतर्द्वंद्व पैदा होंगे। पारिवारिक उलझनों के कारण मानसिक कष्ट रहेगा। धैर्य एवं संयम रखकर काम करना होगा। यात्रा आज न करें।

🐂वृष
पुराना रोग उभर सकता है। चोट व दुर्घटना से बचें। वस्तुएं संभालकर रखें। बाकी सामान्य रहेगा। व्यापार-व्यवसाय सामान्य रहेगा। दूरदर्शिता एवं बुद्धि चातुर्य से कठिनाइयां दूर होंगी। राज्य तथा व्यवसाय में सफलता मिलने के योग हैं। पठन-पाठन में रुचि बढ़ेगी।

👫मिथुन
बेचैनी रहेगी। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। कोर्ट व कचहरी में अनुकूलता रहेगी। धनार्जन होगा। संतान के स्वास्थ्य पर ध्यान दें। परिवार के सहयोग से दिन उत्साहपूर्ण व्यतीत होगा। योजनानुसार कार्य करने से लाभ की संभावना है। आर्थिक सुदृढ़ता रहेगी।

🦀कर्क
राजमान प्राप्त होगा। नए अनुबंध होंगे। नई योजना बनेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रसन्नता रहेगी। कार्य में व्यय की अधिकता रहेगी। दांपत्य जीवन में भावनात्मक समस्याएँ रह सकती हैं। व्यापार में नए अनुबंध आज नहीं करें।

🐅सिंह
ऐश्वर्य पर व्यय होगा। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। राजकीय कार्य में परिवर्तन के योग बनेंगे। आलस्य का परित्याग करें। आपके कामों की लोग प्रशंसा करेंगे। व्यापार लाभप्रद रहेगा। नई कार्ययोजना के योग प्रबल हैं।

🙎‍♀️कन्या
यात्रा सफल रहेगी। प्रयास सफल रहेंगे। वाणी पर नियंत्रण रखें। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। लाभ होगा। व्यापार-व्यवसाय में उन्नति के योग हैं। वाणी पर संयम आवश्यक है। जीवनसाथी से मदद मिलेगी। सामाजिक यश-सम्मान बढ़ेगा। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

⚖️तुला
लेन-देन में सावधानी रखें। बकाया वसूली के प्रयास सफल रखें। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। कानूनी मामले सुधरेंगे। धन का प्रबंध करने में कठिनाई आ सकती है। आहार की अनियमितता से बचें। व्यापार, नौकरी में उन्नति होगी।

🦂वृश्चिक
पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। मान बढ़ेगा। स्वजनों से मेल-मिलाप होगा। नौकरी में ऐच्छिक पदोन्नति की संभावना है। किसी की आलोचना न करें। खानपान का ध्यान रखें। आर्थिक संपन्नता बढ़ेगी।

🏹धनु
पुराना रोग उभर सकता है। शोक समाचार मिल सकता है। भागदौड़ रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। अधूरे कामों में गति आएगी। व्यावसायिक गोपनीयता भंग न करें। गीत-संगीत में रुचि बढ़ेगी। आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी।

🐊मकर
पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रसन्नता रहेगी। जीवनसाथी के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। पारिवारिक उन्नति होगी। सुखद यात्रा के योग बनेंगे। स्वविवेक से कार्य करना लाभप्रद रहेगा।

🍯कुंभ
अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। नौकरी में अधिकार बढ़ेंगे। व्यावसायिक समस्या का हल निकलेगा। नई योजना में लाभ की संभावना है। घर में मांगलिक आयोजन हो सकते हैं। जीवनसाथी से संबंध घनिष्ठ होंगे। रोजगार मिलेगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी।

🐟 मीन
भूमि व भवन संबंधी योजना बनेगी। बेरोजगारी दूर होगी। लाभ होगा। मान-प्रतिष्ठा में कमी आएगी। कामकाज में बाधाएं आ सकती हैं। कर्मचारियों पर व्यर्थ संदेह न करें। आर्थिक तंगी रहेगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। स्वास्थ्य कमजोर होगा।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

2 × five =

WhatsApp chat