Dharma & Karma (ज्योतिष शास्त्र) 

बाप रे बाप, ये है इन दो राशियों में खेला! तो कुम्भ, कन्या और कर्क के साथ बाकी की राशियों पर इसका कैसा होगा मेला? डरने की ज़रूरत नहीं!! क्योंकि…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏🌸
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक-: 11/09/2020,शुक्रवार
नवमी, कृष्ण पक्ष
आश्विन
“”””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-नवमी 28:19:02 तक
पक्ष —————————कृष्ण
नक्षत्र ——–मृगशिरा 15:24:01
योग ————-सिद्वि 18:22:49
करण ———–तैतुल 16:02:38
करण ————–गर 28:19:02
वार ————————- शुक्रवार
माह ————————- आश्विन
चन्द्र राशि —————— मिथुन
सूर्य राशि ———————सिंह
रितु —————————– वर्षा
आयन —————– दक्षिणायण
संवत्सर ———————-शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय ————— 06:26:28
सूर्यास्त —————–18:43:09
दिन काल ———— 12:16:41
रात्री काल ————-11:43:29
चंद्रास्त —————–13:50:20
चंद्रोदय —————–25:03:26

लग्न —-सिंह 24°37′ , 144°37′

सूर्य नक्षत्र ———–पूर्वा फाल्गुनी
चन्द्र नक्षत्र —————–मृगशिरा
नक्षत्र पाया ——————–लोहा

🙏🌸पद, चरण🌸🙏

का ———–मृगशिरा 09:01:34
की ———- मृगशिरा 15:24:01
कु —————-आर्द्रा 21:43:32
घ —————-आर्द्रा 28:00:02

🌸 राहू काल 10:43 – 12:15 अशुभ
अभिजित 11:51 -12:40 शुभ

🌸 चोघडिया, दिन
चर 06:04 – 07:37 शुभ
लाभ 07:37 – 09:10 शुभ
अमृत 09:10 – 10:43 शुभ
काल 10:43 – 12:15 अशुभ
शुभ 12:15 – 13:48 शुभ
रोग 13:48 – 15:21 अशुभ
उद्वेग 15:21 – 16:54 अशुभ
चर 16:54 – 18:27 शुभ

🌸 चोघडिया, रात
रोग 18:27 – 19:54 अशुभ
काल 19:54 – 21:21 अशुभ
लाभ 21:21 – 22:49 शुभ
उद्वेग 22:49 – 24:16* अशुभ
शुभ 24:16* – 25:43* शुभ
अमृत 25:43* – 27:10* शुभ
चर 27:10* – 28:37* शुभ
रोग 28:37* – 30:04* अशुभ

🌸 दिशा शूल ज्ञान————-पश्चिम
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸अग्नि वास ज्ञान
15 + 9 + 6 + 1 = 31 ÷ 4 = 3 शेष
मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

🌸 शिव वास एवं फल
24 + 24 + 5 = 53 ÷ 7 = 4 शेष
सभायां = सन्ताप कारक

*🌸विशेष जानकारी🌸*

🌸 मातृ नवमी
नवमी श्राध्द (सौभाग्यवती श्राध्द)
🌸 विनोवाभावे जयन्ती
🌸 महादेवी वर्मा पुण्य तिथि

🙏🌸शुभ विचार🌸🙏

यथा चतुर्भिः कनकं पराक्ष्यते
निघर्षणं छेदनतापताडनैः ।
तथा चतुर्भिः पुरुषः परीक्ष्य़ते
त्यागेन शीलेन गुणेन कर्मणा ।।
।।चा o नी o।।

सोने की परख उसे घिस कर, काट कर, गरम कर के और पीट कर की जाती है. उसी तरह व्यक्ति का परीक्षण वह कितना त्याग करता है, उसका आचरण कैसा है, उसमे गुण कौनसे है और उसका व्यवहार कैसा है इससे होता है.

🌸सुभाषितानि🌸

गीता -: अक्षरब्रह्मयोग अo-08

अक्षरं ब्रह्म परमं स्वभावोऽध्यात्ममुच्यते ।,
भूतभावोद्भवकरो विसर्गः कर्मसंज्ञितः ॥,

श्री भगवान ने कहा- परम अक्षर ‘ब्रह्म’ है, अपना स्वरूप अर्थात जीवात्मा ‘अध्यात्म’ नाम से कहा जाता है तथा भूतों के भाव को उत्पन्न करने वाला जो त्याग है, वह ‘कर्म’ नाम से कहा गया है॥,3॥,

🌸 व्रत पर्व विवरण🌸
अविधवा नवमी, नवमी का श्राद्ध
🌸 विशेष – नवमी को लौकी नही खानी चाइये ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌸 कौन सा वृक्ष लगाने से क्या फल मिलता है🌸
🙏 भविष्यपुराण में आता हैं कि अशोक-वृक्ष लगाने से कभी शोक नहीं होता, प्लक्ष (पाकड़) वृक्ष उत्तम स्त्री प्रदान करवाता है ज्ञानरुपी फल भी देता हैं | बिल्ववृक्ष दीर्घ आयुष्य प्रदान करता है | जामुन का वृक्ष धन देता है, तेंदू का वृक्ष कुलबुद्धि कराता है | दाडिम (अनार) का वृक्ष स्त्री-सुख प्राप्त कराता है | बकुल पाप-नाशक, यंजुल (तिनिश) बल-बुद्धिप्रद है | धातकी (धव) स्वर्ग प्रदान करता हैं | वटवृक्ष मोक्षप्रद, आम्रवृक्ष अभीष्ट कामनाप्रद और गुवाक (सुपारी) का वृक्ष सिद्धिप्रद है | वल्वल, मधूक (महुआ) तथा अर्जुन-वृक्ष सब प्रकार का अन्न प्रदान करता है | कदम्ब-वृक्ष से विपुल लक्ष्मी की प्रप्ति होती है | तिन्तिडी )इमली) का वृक्ष धर्मदूषक माना गया है | शमी-वृक्ष रोग-नाशक है | केशर से शत्रुओं का विनाश होता है | श्वेत वट धनप्रदाता पनस (कटहल)वृक्ष मंद बुद्धिकारक है | मर्कटी (केंवाच)एवं कदम-वृक्ष के लगाने से संतति का क्षय होता है |
शीशम, अर्जुन, जयंती, करवीर, बेल तथा पलाश- वृक्षों के आरोपण से स्वर्ग की प्राप्ति होती है | विधिपूर्वक वृक्ष का रोपण करने से स्वर्ग-सुख प्राप्त होता है और रोपणकर्ता के तीन जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं |
🌸🙏🌸
मंदी के दौर में व्यापार अगर सही नहीं चल रहा है तो तुलसी के पत्तों को तीन दिन तक पानी में रख दें। फिर पानी को फैक्ट्री, कारखाने या फिर दुकान के दरवाजे पर छिड़क दें। ऐसा करने से व्यापार में चल रही मंदी दूर होगी। साथ ही यह ऊर्जा चोरों को भी दूर रखती है।
🌸 व्यतिपात योग 🌸
🙏 व्यतिपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतिपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।
🌸 वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतिपात योग की।
🙏🏻 व्यतिपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुए नाराज हुए उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नहीं दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नहीं थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसू बहे वो समय व्यतिपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।


🌸 विशेष ~ 11 सितम्बर 2020 शुक्रवार को शाम 06:26 से 12 सितम्बर शनिवार को शाम 05:35 तक व्यतिपात योग है।
🙏🏻🌸🙏
0.नवमी श्राद्ध 11 सितंबर शुक्रवार
0.दशमी श्राद्ध 12 सितंबर शनिवार
0.एकादशी श्राद्ध 13 सितंबर रविवार
0.द्वादशी श्राद्ध 14 सितंबर सोमवार
0.त्रयोदशी श्राद्ध 15 सितंबर मंगलवार
0.चतुर्दशी श्राद्ध 16 सितंबर बुधवार
0.अमावस्या तिथि का श्राद्ध 17 सितंबर गुरुवार
सर्वपितृश्राद्ध एवं पितृ विसर्जन एवं श्राद्ध समाप्त
🙏
🌸एकादशी
🌸 इन्दिरा एकादशी – 13 सितंबर 2020
🌸 पद्मिनी एकादशी – 27 सितंबर 2020

🌸प्रदोष
15 सितंबर ( मंगलवार ) भौम प्रदोष व्रत

🌸जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं
दिनांक 11 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है।
चंद्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं।
चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं।

🌸 शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29
🌸 शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92
🌸 शुभ वर्ष : 2027, 2029, 2036
🌸 ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव
🌸 शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे

🌸कैसा रहेगा यह वर्ष
लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी

🌸 दैनिक राशिफल 🌸

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
मानसिक शांति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। कोर्ट-कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। प्रसन्नता रहेगी। किसी धार्मिक यात्रा की योजना बनेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा।

🐂वृष
वाहन व मशीनरी इत्यादि के प्रयोग में लापरवाही न करें। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यापार ठीक चलेगा।

👫मिथुन
कार्यक्षेत्र के लिए नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। बिगड़े काम बन सकते हैं। समाजसेवा करने का मन बनेगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। व्यस्तता रहेगी। आराम का समय नहीं मिलेगा। थकान रहेगी।

🦀कर्क
व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे।

🐅सिंह
समाजसेवा करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। मान-सम्मान मिलेगा। खोई हुई वस्तु मिलने के योग हैं। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। शत्रु सक्रिय रहेंगे। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें।

🙍‍♀️कन्या
शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कारोबार अच्‍छा चलेगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। किसी आनंदोत्सव में भाग ले सकते हैं। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी।

⚖️तुला
किसी तरह से बड़ा लाभ होने की संभावना है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी तरह के विवाद में विजय प्राप्त होगी। स्वास्थ्य अच्‍छा रहेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। नौकरी में नया कार्य मिल सकता है।

🦂वृश्चिक
कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। थकान व कमजोरी रह सकती है। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। दूसरों से अधिक अपेक्षा न करें। बेवजह चिड़चिड़ापन रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। कार्य में मन नहीं लगेगा।

🏹धनु
भावना में बहकर महत्वपूर्ण निर्णय न लें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। लाभ होगा। स्वास्थ्य के संबंध में लापरवाही न करें। स्वास्थ्‍य पर व्यय होगा। दु:खद समाचार मिल सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। कुसंगति से हानि होगी।

🐊मकर
मनपसंद व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य उत्साह व लगन से कर पाएगा। किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त हो सकता है। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। प्रमाद न करें।

🍯कुंभ
घर, दुकान, फैक्टरी व शोरूम इत्यादि के खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। कारोबार में बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। रुके काम बनेंगे। घर-बाहर उत्साह व प्रसन्नता से काम कर पाएंगे।

🐟मीन
प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल बनेगी। व्यापार-व्यवसाय अच्‍छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में मातहत साथ देंगे।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

1 × 2 =

WhatsApp chat