🦀कर्क शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड इत्यादि से धनार्जन होगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी, मगर अन्य…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 09/05/2020,शनिवार
द्वितीया, कृष्ण पक्ष
ज्येष्ठ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ——–द्वितीया 10:14:40 तक
पक्ष —————————कृष्ण
नक्षत्र ——-अनुराधा 06:32:11
नक्षत्र ———-ज्येष्ठा 29:01:30
योग ————-परिघ 09:32:35
करण ———-गरज 10:14:40
करण ——–वाणिज 21:04:10
वार ————————-शनिवार
माह —————————-ज्येष्ठ
चन्द्र राशि —वृश्चिक 29:01:30
चन्द्र राशि ———————धनु
सूर्य राशि ———————मेष
रितु —————————वसन्त
सायन ————————–ग्रीष्म
आयन ———————उत्तरायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय ————— 06:07:27
सूर्यास्त —————–19:02:34
दिन काल ————–12:55:06
रात्री काल ————-11:04:26
चंद्रास्त —————–07:39:56
चंद्रोदय —————–21:14:00

लग्न —-मेष 24°43′ , 24°43′

सूर्य नक्षत्र ——————भरणी
चन्द्र नक्षत्र —————-अनुराधा
नक्षत्र पाया ——————–रजत

🙏🌸 पद, चरण🌸🙏

ने —-अनुराधा 06:32:11

नो —-ज्येष्ठा 12:06:00

या —-ज्येष्ठा 17:42:04

यी —-ज्येष्ठा 23:20:32

यू —-ज्येष्ठा 29:01:30

🌸चोघडिया, दिन
काल 05:35 – 07:15 अशुभ
शुभ 07:15 – 08:55 शुभ
रोग 08:55 – 10:36 अशुभ
उद्वेग 10:36 – 12:16 अशुभ
चर 12:16 – 13:56 शुभ
लाभ 13:56 – 15:36 शुभ
अमृत 15:36 – 17:16 शुभ
काल 17:16 – 18:56 अशुभ

🌸चोघडिया, रात
लाभ 18:56 – 20:16 शुभ
उद्वेग 20:16 – 21:36 अशुभ
शुभ 21:36 – 22:56 शुभ
अमृत 22:56 – 24:15* शुभ
चर 24:15* – 25:35* शुभ
रोग 25:35* – 26:55* अशुभ
काल 26:55* – 28:15* अशुभ
लाभ 28:15* – 29:35* शुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   15 + 2 + 7 + 1 = 25  ÷ 4 = 1 शेष

पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

 *🌸शिव वास एवं फल*

17 + 17 + 5 = 39 ÷ 7 = 4 शेष

सभायां = सन्ताप कारक

🌸भद्रा वास एवं फल

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

रात्रि 21:09 से प्रारम्भ

स्वर्ग लोक = शुभ कारक

  *🌸विशेष जानकारी🌸*
  • वन बिहार परिक्रमा
  • नारद जयन्ती ( वीणा दान) 🌸शुभ विचार🌸

अन्नहीना दहेद्राष्ट्रं मंत्रहीनश्च रिषीत्विजः ।
यजमानं दानहीनो नास्ति यज्ञसमो रिपुः ।।
।।चा o नी o।।

उस यज्ञ के समान कोई शत्रु नहीं जिसके उपरांत लोगो को बड़े पैमाने पर भोजन ना कराया जाए. ऐसा यज्ञ राज्यों को ख़तम कर देता है. यदि पुरोहित यज्ञ में ठीक से उच्चारण ना करे तो यज्ञ उसे ख़तम कर देता है. और यदि यजमान लोगो को दान एवं भेटवस्तू ना दे तो वह भी यज्ञ द्वारा ख़तम हो जाता है

  *🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

न तु मां शक्यसे द्रष्टमनेनैव स्वचक्षुषा ।,
दिव्यं ददामि ते चक्षुः पश्य मे योगमैश्वरम्‌ ॥,

परन्तु मुझको तू इन अपने प्राकृत नेत्रों द्वारा देखने में निःसंदेह समर्थ नहीं है, इसी से मैं तुझे दिव्य अर्थात अलौकिक चक्षु देता हूँ, इससे तू मेरी ईश्वरीय योग शक्ति को देख॥,8॥,

🌸व्रत पर्व विवरण🌸

🌸 विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
🌸 ब्रह्म पुराण’ के 118 वें अध्याय में शनिदेव कहते हैं- ‘मेरे दिन अर्थात् शनिवार को जो मनुष्य नियमित रूप से पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उनके सब कार्य सिद्ध होंगे तथा मुझसे उनको कोई पीड़ा नहीं होगी। जो शनिवार को प्रातःकाल उठकर पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उन्हें ग्रहजन्य पीड़ा नहीं होगी।’ (ब्रह्म पुराण’)
🌸 शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए ‘ॐ नमः शिवाय।’ का 108 बार जप करने से दुःख, कठिनाई एवं ग्रहदोषों का प्रभाव शांत हो जाता है। (ब्रह्म पुराण’)
🌸 हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है ।(पद्म पुराण)
🌸पीपल के पेड़ की परिक्रमा करे ऐसा कहा जाता है कि पीपल के पेड़ की परिक्रमा करने से कालसर्प से छुटकारा मिलता है।

कहते हैं कि पीपल के पेड़ में समस्त देवी-देवताओं का वास होता है। ऐसे में पीपल के पेड़ की पूजा करने से जीवन के कष्ट समाप्त होने की मान्यता है।

🌸विघ्नों और मुसीबते दूर करने के लिए🌸
👉 10 मई 2020 रविवार को संकष्ट चतुर्थी (चन्द्रोदय रात्रि 10:26)
🙏🏻शिव पुराण में आता हैं कि हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी ( पूनम के बाद की ) के दिन सुबह में गणपतिजी का पूजन करें और रात को चन्द्रमा में गणपतिजी की भावना करके अर्घ्य दें और ये मंत्र बोलें :
🌸 ॐ गं गणपते नमः ।
🌸 ॐ सोमाय नमः ।

🌸चतुर्थी‬ तिथि विशेष🌸
🙏🏻 चतुर्थी तिथि के स्वामी ‪भगवान गणेश‬जी हैं।
प्रत्येक मास में दो चतुर्थी होती हैं।
🙏🏻पूर्णिमा के बाद आने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्ट चतुर्थी कहते हैं।अमावस्या के बाद आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं।
🙏🏻शिवपुराण के अनुसार “महागणपतेः पूजा चतुर्थ्यां कृष्णपक्षके। पक्षपापक्षयकरी पक्षभोगफलप्रदा ॥
➡ “ अर्थात प्रत्येक मास के कृष्णपक्ष की चतुर्थी तिथि को की हुई महागणपति की पूजा एक पक्ष के पापों का नाश करनेवाली और एक पक्षतक उत्तम भोगरूपी फल देनेवाली होती है ।

शनिवार के शाम को हनुमान चालीसा का पाठ जरूर करे। शनिवार शाम को हनुमान चालीसा या सुंदर कांड का पाठ करने से उसके भाग्य खुल जाते है । शनिवार शाम को 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करके 11 हनुमान चालीसा को 11 जानकार लोगो में बाट दे।

🌸कोई कष्ट हो तो🌸
🙏🏻हमारे जीवन में बहुत समस्याएँ आती रहती हैं, मिटती नहीं हैं ।, कभी कोई कष्ट, कभी कोई समस्या | ऐसे लोग शिवपुराण में बताया हुआ एक प्रयोग कर सकते हैं कि, कृष्ण पक्ष की चतुर्थी (मतलब पुर्णिमा के बाद की चतुर्थी ) आती है | उस दिन सुबह छः मंत्र बोलते हुये गणपतिजी को प्रणाम करें कि हमारे घर में ये बार-बार कष्ट और समस्याएं आ रही हैं वो नष्ट हों |
👉🏻 छः मंत्र इस प्रकार हैं –
🌸 ॐ सुमुखाय नम: : सुंदर मुख वाले; हमारे मुख पर भी सच्ची भक्ति प्रदान सुंदरता रहे ।
🌸 ॐ दुर्मुखाय नम: : मतलब भक्त को जब कोई आसुरी प्रवृत्ति वाला सताता है तो… भैरव देख दुष्ट घबराये ।
🌸 ॐ मोदाय नम: : मुदित रहने वाले, प्रसन्न रहने वाले । उनका सुमिरन करने वाले भी प्रसन्न हो जायें ।
🌸 ॐ प्रमोदाय नम: : प्रमोदाय; दूसरों को भी आनंदित करते हैं । भक्त भी प्रमोदी होता है और अभक्त प्रमादी होता है, आलसी । आलसी आदमी को लक्ष्मी छोड़ कर चली जाती है । और जो प्रमादी न हो, लक्ष्मी स्थायी होती है ।
ॐ अविघ्नाय नम:
ॐ विघ्नकरत्र्येय नम:

🙏पंचक
14मई2020 शाम 07.20 से
19मई 2020 शाम 07.53 तक

एकादशी
18मई 2020 सोमवार

प्रदोष
19मई 2020 मंगलवार

अमावस्या
22मई 2020 शुक्र

जिनका आज। जन्म दिन हैं उनको हार्दिक शुभकामनाएं

अंक ज्योतिष का सबसे आखरी मूलांक है नौ। आपके जन्मदिन की संख्या भी नौ है। यह मूलांक भूमि पुत्र मंगल के अधिकार में रहता है। आप बेहद साहसी हैं। आपके स्वभाव में एक विशेष प्रकार की तीव्रता पाई जाती है। आप सही मायनो में उत्साह और साहस के प्रतीक हैं।

मंगल ग्रहों में सेनापति माना जाता है। अत: आप में स्वाभाविक रूप से नेतृत्त्व की क्षमता पाई जाती है। लेकिन आपको बुद्धिमान नहीं माना जा सकता। मंगल के मूलांक वाले चालाक और चंचल भी होते हैं। आपको लड़ाई-झगड़ों में भी विशेष आनंद आता है। आपको विचित्र साहसिक व्यक्ति कहा जा सकता है।

शुभ दिनांक : 9, 18, 27

शुभ अंक : 1, 2, 5, 9, 27, 72

शुभ वर्ष : 2025, 2036, 2045

ईष्टदेव : हनुमान जी, मां दुर्गा।

शुभ रंग : लाल, केसरिया, पीला

कैसा रहेगा यह वर्ष
अपनी शक्ति का सदुपयोग कर प्रगति की और अग्रसर होंगे। पारिवारिक विवाद सुलझेंगे। महत्वपूर्ण कार्य योजनाओं में सफलता मिलेगी। अधिकार क्षेत्र में वृद्धि संभव है। नौकरी में आ रही बाधा दूर होगी। स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। राजनैतिक व्यक्ति सफलता का स्वाद चख सकते हैं। मित्रों स्वजनों का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी।

 *🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। आर्थिक उन्नति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। समय अनुकूल है। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। निवेश आदि लाभदायक रहेंगे। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। लाभ होगा।

🐂वृष
रुका हुआ धन प्राप्त हो सकता है। व्यस्तता रहेगी। यात्रा लंबी हो सकती है। समय की अनुकूलता का लाभ लें। भरपूर प्रयास करें। नए काम मिलेंगे। जीवन सुखमय व्यतीत होगा। बुद्धि का प्रयोग करें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रमाद न करें।

👫मिथुन
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। बात बिगड़ सकती है। फालतू खर्च पर नियंत्रण रखें। कर्ज लेना पड़ सकता है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। आवश्यक कागजात ध्यान से पढ़ें। आय में निश्चितता रहेगी। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा।

🦀कर्क
शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड इत्यादि से धनार्जन होगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति हो सकती है। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। रोजगार में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। चिंता व तनाव रहेंगे। आलस्य न करें।

🐅सिंह
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। व्यय होगा। विवाद में हिस्सा न लें। विरोधी सक्रिय रहेंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी न करें। धनार्जन होगा।

🙎कन्या
पहले की गई मेहनत का फल अब प्राप्त होगा। प्रयास करें। मित्रों तथा रिश्तेदारों की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा।

⚖तुला
कोई बुरी खबर प्राप्त हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। भागदौड़ रहेगी। बनते कार्यों में विलंब होगा। लेन-देन के कार्यों में विशेष सावधानी रखें।

🦂वृश्चिक
रचनात्मक कार्यों में रुचि रहेगी। पठन-पाठन व लेखन इत्यादि कार्य सफल रहेंगे। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। नौकरी में कोई नया कार्य कर पाएंगे। उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। लाभ होगा।

🏹धनु
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। स्थायी संपत्ति में वृद्धि होगी। कारोबार से अच्छा मुनाफा प्राप्त होगा। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। भाग्य का साथ रहेगा। प्रमाद न करें।

🐊मकर
प्रेम-प्रसंग अनुकूल रहेंगे। भेंट व उपहार देना पड़ सकता है। बाहर जाने का मन करेगा। शत्रु सक्रिय रहेंगे। नौकरी में मातहतों का साथ रहेगा। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड आदि से लाभ होगा। कानूनी अड़चन दूर होगी। प्रसन्नता रहेगी।

🍯कुंभ
जल्दबाजी में चोट लग सकती है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। शारीरिक कष्ट के योग हैं। लापरवाही न करें। फालतू खर्च होगा। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। लेन-देन में शीघ्रता न करें। आय में निश्चितता रहेगी। विवाद से बचें।

🐟मीन
पूजा-पाठ में मन लगेगा। सत्संग का लाभ प्राप्त हो सकता है। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। कोर्ट-कचहरी इत्यादि के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। किसी लंबी यात्रा की योजना बन सकती है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। वाणी पर नियंत्रण रखें।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

fourteen − 12 =

WhatsApp chat