🙎कन्या राशि के लोगों को रचनात्मक कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। आज रामनवमी को जाने स्पेशल कॉमेंट्स…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 02/04/2020,गुरुवार
नवमी, शुक्ल पक्ष
चैत्र
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल )

तिथि ———-नवमी 26:42:37 तक
पक्ष —————————-शुक्ल
नक्षत्र ———पुनर्वसु 19:27:31
योग ———अतिगंड 15:20:36
करण ———-बालव 15:17:13
करण ———कौलव 26:42:37
वार ————————-गुरूवार
माह ——————————चैत्र
चन्द्र राशि ——————मिथुन
चन्द्र राशि ———————कर्क
सूर्य राशि ———————-मीन
रितु —————————-वसंत
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————-प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:32:33
सूर्यास्त —————–18:51:28
दिन काल —————12:18:55
रात्री काल ————-11:40:15
चंद्रोदय —————–13:04:26
चंद्रास्त —————–26:41:48

लग्न —-मीन 18°37′ , 348°37′

सूर्य नक्षत्र ——————–रेवती
चन्द्र नक्षत्र ——————पुनर्वसु
नक्षत्र पाया ——————–रजत

       *🌸🙏पद, चरण🙏🌸*

को —-पुनर्वसु 07:33:42

हा —-पुनर्वसु 13:32:06

ही —-पुनर्वसु 19:27:31

हु —- पुष्य 25:19:59

         *🙏🌸ग्रह गोचर🌸🙏*

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मीन 18°22 ‘ रेवती, 1 दे
चन्द्र =मिथुन12°23 ‘ पुनर्वसु ‘ 2 को
बुध = कुम्भ 22°50 ‘ पू o भा o’ 1 से
शुक्र= वृषभ 04°55, कृतिका ‘ 3 उ
मंगल=मकर 07°30′ उ o षा o ‘ 4 जी
गुरु=मकर 00°50 ‘ उ oषाo , 1 भे
शनि=मकर 05°43′ उ oषा o ‘ 3 जा
राहू=मिथुन 09°12 ‘ आर्द्रा , 1 कु
केतु=धनु 09 ° 12 ‘ मूल , 3 भा

      *🌸शुभा$शुभ मुहूर्त🌸*

राहू काल 13:56 – 15:29 अशुभ
यम घंटा 06:10 – 07:43 अशुभ
गुली काल 09:16 – 10:50 अशुभ
अभिजित 11:58 -12:48 शुभ
दूर मुहूर्त 10:18 – 11:08 अशुभ
दूर मुहूर्त 15:17 – 16:07 अशुभ

🌸चोघडिया, दिन
शुभ 06:10 – 07:43 शुभ
रोग 07:43 – 09:16 अशुभ
उद्वेग 09:16 – 10:50 अशुभ
चर 10:50 – 12:23 शुभ
लाभ 12:23 – 13:56 शुभ
अमृत 13:56 – 15:29 शुभ
काल 15:29 – 17:03 अशुभ
शुभ 17:03 – 18:36 शुभ

🌸चोघडिया, रात
अमृत 18:36 – 20:03 शुभ
चर 20:03 – 21:29 शुभ
रोग 21:29 – 22:56 अशुभ
काल 22:56 – 24:22* अशुभ
लाभ 24:22* – 25:49* शुभ
उद्वेग 25:49* – 27:15* अशुभ
शुभ 27:15* – 28:42* शुभ
अमृत 28:42* – 30:08* शुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-दक्षिण
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केशर खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   9 + 5 + 1 =  15 ÷ 4 = 3 शेष

मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

    *🌸शिव वास एवं फल -:*

9 + 9 + 5 = 23 ÷ 7 = 2 शेष

गौरि सन्निधौ = शुभ कारक

🌸भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

         *🌸विशेष जानकारी🌸*
  • नव दुर्गा पूजन(नवरात्रि समाप्त
  • श्रीराम नवमी व्रत ( श्री रामजन्मोत्सव)
  • सर्वार्थ सिद्धि एवं अमृत सिद्धि योग 19:27 तक *🌸शुभ विचार🌸*

पादाभ्यां न स्पृशेदग्नि गुरुं ब्राह्मणमेव च ।
नैव गां च कुमारीन न वृध्दं न शिशुं तथा ।।
।।चा o नी o।।

इन दोनों के मध्य से कभी ना जाए..
१. दो ब्राह्मण.
२. ब्राह्मण और उसके यज्ञ में जलने वाली अग्नि.
३. पति पत्नी.
४. स्वामी और उसका चाकर.
५. हल और बैल.

           *🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: मोक्षसन्यासयोग अo-18

सर्वधर्मान्परित्यज्य मामेकं शरणं व्रज ।,
अहं त्वा सर्वपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुचः ॥,

संपूर्ण धर्मों को अर्थात संपूर्ण कर्तव्य कर्मों को मुझमें त्यागकर तू केवल एक मुझ सर्वशक्तिमान, सर्वाधार परमेश्वर की ही शरण (इसी अध्याय के श्लोक 62 की टिप्पणी में शरण का भाव देखना चाहिए।,) में आ जा।, मैं तुझे संपूर्ण पापों से मुक्त कर दूँगा, तू शोक मत कर॥,66॥,

🌸 ब्रत पर्व विवरण🌸

🌸विशेष – नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य हैं ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌸 ससुराल में तकलीफ हो तो 🌸
👩🏻 जिनको शादी के बाद कठिनाई आती है… ससुराल में ….उनको चैत्र मास शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को – ॐ ह्रीं गौरिये नम:, ॐ ह्रीं गौरिये नम:, का जप करे और प्रार्थना करे ” शिवजी की अति प्रिय हो माँ… हमारे परिवार में ये समस्या न रहें ।
🙏🏻”आपके परिचितों में किसी को भी बेटी, बहन शादी के बाद दिक्कते आते हो ना तो आप इनको बता दे, ऐसा करें बेटी न कर पाये तो बाप तो करे, भाई करें, बहन करें की मेरी बेटी, बहन को ऐसी तकलीफ न हो ऐसा संकल्प करें, नाम और गोत्र का उच्चारण करके।

🌸 (2 अप्रैल, गुरुवार) को श्रीराम नवमी का पर्व है,
त्रेता युग में इसी दिन भगवान श्री रामजी का जन्म हुआ था, इसलिए भारत सहित अन्य देशों में भी हिंदू धर्म को मानने वाले इस पर्व को बड़ी धूम-धाम से मनाते हैं, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस दिन कुछ विशेष उपाय करने से हर इच्छा पूरी हो सकती है।
🙏🏻 श्रीराम नवमी की सुबह किसी राम मंदिर में जाकर राम रक्षा स्त्रोत का 11 बार पाठ करें, हर समस्याओं का समाधान हो जाएगा ।
🙏🏻 दक्षिणावर्ती शंख में दूध व केसर डालकर श्रीरामजी की मूर्ति का अभिषेक करें, इससे धन लाभ हो सकता है ।
🙏🏻इस दिन बंदरों को चना, केले व अन्य फल खिलाएं, इससे आपकी हर मनोकामना पुरी हो सकती है ।
🙏🏻श्रीराम नवमी की शाम को तुलसी के सामने गाय के शुद्ध घी का दीपक जलाऐं, इससे घर में सुख-शांति रहेगी ।
🙏🏻 इस दिन भगवान श्रीरामजी को विभिन्न अनाजों का भोग लगाएँ और बाद में इसे गरीबों में बांट दें, इससे घर में कभी अन्न की कमी नहीं होगी ।
🙏🏻 इस दिन भगवान श्रीरामजी के साथ माता सीता की भी पूजा करें, इससे दांपत्य जीवन सुखी रहता है ।
🙏🏻किसी भगवान श्रीरामजी के मंदिर के शिखर पर ध्वजा यानी झंडा लगवाएं, इससे आपको मान-सम्मान व प्रसिद्धि मिलेगी ।

🌸 पुष्य नक्षत्र योग 🌸
➡ 02 अप्रैल 2020 गुरुवार रात्रि 07:28 से 03 अप्रैल सूर्योदय तक गुरुपुष्यामृत योग है ।
🙏🏻१०८ मोती की माला लेकर जो गुरुमंत्र का जप करता है, श्रद्धापूर्वक तो २७ नक्षत्र के देवता उस पर खुश होते हैं और नक्षत्रों में मुख्य है पुष्य नक्षत्र, और पुष्य नक्षत्र के स्वामी हैं देवगुरु ब्रहस्पति, पुष्य नक्षत्र समृद्धि देनेवाला है, सम्पति बढ़ानेवाला है, उस दिन ब्रहस्पति का पूजन करना चाहिये, ब्रहस्पति को तो हमने देखा नहीं तो सद्गुरु को ही देखकर उनका पूजन करें और मन ही मन ये मंत्र बोले –
ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम :…… , ॐ ऐं क्लीं ब्रहस्पतये नम :

🌸 कैसे बदले दुर्भाग्य को सौभाग्य में🌸
🌳 बरगद के पत्ते पर गुरुपुष्य या रविपुष्य योग में हल्दी से स्वस्तिक बनाकर घर में रखें।

🌸 गुरुपुष्यामृत योग 🌸
🙏🏻 ‘शिव पुराण’ में पुष्य नक्षत्र को भगवान शिव की विभूति बताया गया है, पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से अनिष्ट-से-अनिष्टकर दोष भी समाप्त और निष्फल-से हो जाते हैं, वे हमारे लिए पुष्य नक्षत्र के पूरक बनकर अनुकूल फलदायी हो जाते हैं, ‘सर्वसिद्धिकर: पुष्य:’ इस शास्त्रवचन के अनुसार पुष्य नक्षत्र सर्वसिद्धिकर है, पुष्य नक्षत्र में किये गए श्राद्ध से पितरों को अक्षय तृप्ति होती है तथा कर्ता को धन, पुत्रादि की प्राप्ति होती है।
🙏🏻 इस योग में किया गया जप, ध्यान, दान, पुण्य महाफलदायी होता है परंतु पुष्य में विवाह व उससे संबधित सभी मांगलिक कार्य वर्जित हैं | (शिव पुराण, विद्येश्वर संहिताः अध्याय 10)

🙏🏻 नवरात्रि की नवमी तिथि यानी अंतिम दिन माता दुर्गा को विभिन्न प्रकार के अनाज का भोग लगाएं, इससे वैभव व यश मिलता है ।

🌸 मन की शांति मिलती है मां महागौरी की पूजा से 🌸
नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है, आदिशक्ति श्री दुर्गा का अष्टम रूप श्री महागौरी हैं, मां महागौरी का रंग अत्यंत गोरा है, इसलिए इन्हें महागौरी के नाम से जाना जाता है, नवरात्रि का आठवां दिन हमारे शरीर का सोम चक्रजागृत करने का दिन है, सोमचक्र ललाट में स्थित होता है, श्री महागौरी की आराधना से सोमचक्र जागृत हो जाता है और इस चक्र से संबंधित सभी शक्तियां श्रद्धालु को प्राप्त हो जाती है, मां महागौरी के प्रसन्न होने पर भक्तों को सभी सुख स्वत: ही प्राप्त हो जाते हैं, साथ ही इनकी भक्ति से हमें मन की शांति भी मिलती है।
🙏🏻 सुख-समृद्धि के लिए करें मां सिद्धिदात्री की पूजा
चैत्र नवरात्रि के अंतिम दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है, मां सिद्धिदात्री भक्तों को हर प्रकार की सिद्धि प्रदान करती हैं, अंतिम दिन भक्तों को पूजा के समय अपना सारा ध्यान निर्वाण चक्र, जो कि हमारे कपाल के मध्य स्थित होता है, वहां लगाना चाहिए, ऐसा करने पर देवी की कृपा से इस चक्र से संबंधित शक्तियां स्वत: ही भक्त को प्राप्त हो जाती हैं, सिद्धिदात्री के आशीर्वाद के बाद श्रद्धालु के लिए कोई कार्य असंभव नहीं रह जाता और उसे सभी सुख-समृद्धि प्राप्त होती है।
👉🏻 समाप्त…🙏

       *🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
फालतू खर्च अधिक हो सकता है। विवाद को बढ़ावा न दें। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। पुराना रोग उभर सकता है। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। जल्दबाजी न करें।

🐂वृष
नवीन वस्त्राभूषण पर व्यय होगा। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। मान-सम्मान मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। जल्दबाजी न करें।

👫मिथुन
आत्मसम्मान बना रहेगा। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। पारिवारिक आवश्यकताओं पर व्यय होगा। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। नौकरी में चैन रहेगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। उत्साह बना रहेगा।

🦀कर्क
पहले की गई मेहनत का फल प्राप्त होगा। रुके कार्य पूरे होंगे। लाभ में वृद्धि होगी। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। प्रसन्नता बनी रहेगी। असहाय लोगों की मदद करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। सभी तरफ से सफलता मिलेगी। जल्दबाजी न करें।

🐅सिंह
कोई बुरी सूचना मिल सकती है। नकारात्मकता रहेगी। वाणी पर नियंत्रण रखें। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। सावधान रहें। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है। दूसरों के बहकावे में न आएं। सोच-समझकर निर्णय लें। व्यापार से लाभ होगा।

🙎कन्या
रचनात्मक कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। संगीत इत्यादि में रुचि रहेगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। किसी पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बन सकता है। पठन-पाठन व लेखन इत्यादि के कार्य सफल रहेंगे। भावना में बहकर निर्णय न लें।

⚖तुला
स्थायी संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। नया कार्य प्रारंभ करने की योजना बनेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। विरोध होगा। व्यस्तता के चलते थकान रह सकती है। प्रमाद न करें।

🦂वृश्चिक
कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति अनुकूल होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भेंट व उपहार देना पड़ सकता है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। पारिवारिक चिंता रहेगी। प्रतिद्वंद्विता बढ़ेगी।

🏹धनु
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। चोट व दुर्घटना से शारीरिक हानि हो सकती है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। नौकरी में कार्यभार रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। आय में वृद्धि हो सकती है, प्रयास करते रहें। कारोबार में अधिक ध्यान दें।

🐊मकर
सत्संग का लाभ प्राप्त हो सकता है। पूजा-पाठ में मन लगेगा। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति लाभदायक रहेगी। घर-बाहर सभी तरफ सफलता प्राप्त होगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। बाहर जाने का कार्यक्रम बन सकता है। धन प्राप्ति सुगमता से होगी।

🍯कुंभ
कार्यस्थल पर परिवर्तन व सुधार हो सकता है। योजना फलीभूत होगी। मित्रों तथा रिश्तेदारों का सहयोग कर पाएंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नए कार्य मिलेंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे।

🐟मीन
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। कामकाज में वृद्धि के योग हैं। घर-बाहर सभी तरफ प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

3 + thirteen =

WhatsApp chat