धर्म एंड कर्म में राशिफ़ल, और क्या आप जानते हैं कि घर में देवी-देवताओं के चित्र लगे हों तो घर में कई तरह की…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🙏🌸
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 07/04/2020,मंगलवार
चतुर्दशी, शुक्ल पक्ष
चैत्र
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ——–चतुर्दशी 12:00:38 तक
पक्ष —————————-शुक्ल
नक्षत्र ——–उoफाo 09:14:14
योग —————घ्रुव 18:33:59
करण ——-वाणिज 12:00:38
करण ——विष्टि भद्र 22:02:21
वार ———————–मंगलवार
माह ——————————चैत्र
चन्द्र राशि ———————कन्या
सूर्य राशि ———————-मीन
रितु —————————-वसंत
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————-शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————-प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय ————— 06:28:27
सूर्यास्त —————–18:52:42
दिन काल ————–12:24:15
रात्री काल ————-11:34:56
चंद्रोदय —————–18:16:47
चंद्रास्त —————–30:41:06

लग्न —-मीन 23°33′ , 353°33′

सूर्य नक्षत्र ——————–रेवती
चन्द्र नक्षत्र ——–उत्तरा फाल्गुनी
नक्षत्र पाया ——————–रजत

        *🙏🌸पद, चरण*

पी —-उत्तराफाल्गुनी 09:14:14

पू —-हस्त 14:27:23

ष —-हस्त 19:40:13

ण —-हस्त 24:52:58

🌸 चोघडिया, दिन
रोग 06:04 – 07:38 अशुभ
उद्वेग 07:38 – 09:13 अशुभ
चर 09:13 – 10:47 शुभ
लाभ 10:47 – 12:21 शुभ
अमृत 12:21 – 13:56 शुभ
काल 13:56 – 15:30 अशुभ
शुभ 15:30 – 17:04 शुभ
रोग 17:04 – 18:39 अशुभ

🌸 चोघडिया, रात
काल 18:39 – 20:04 अशुभ
लाभ 20:04 – 21:30 शुभ
उद्वेग 21:30 – 22:55 अशुभ
शुभ 22:55 – 24:21* शुभ
अमृत 24:21* – 25:46* शुभ
चर 25:46* – 27:12* शुभ
रोग 27:12* – 28:37* अशुभ
काल 28:37* – 30:03* अशुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   14 + 3 + 1 = 18  ÷ 4 = 2 शेष

आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

      *🌸शिव वास एवं फल -:*

14 + 14 + 5 = 33 ÷ 7 = 5 शेष

ज्ञानवेलायां = कष्ट कारक

🌸भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

दोपहर 12:01 से रात्रि 22:02 तक

पाताल लोक = धनलाभ कारक

       *🌸विशेष जानकारी*
  • शिव मदनोत्सव
  • पूर्णिमा व्रत *🌸शुभ विचार*

कोकिलानां स्वरो रूपं नारीरूपं पतिव्रतम् ।
विद्यारूपं कुरूपाणांक्षमा रूपं तपस्विनाम् ।।
।।चा o नी o।।

कोयल की सुन्दरता उसके गायन मे है. एक स्त्री की सुन्दरता उसके अपने पिरवार के प्रति समर्पण मे है. एक बदसूरत आदमी की सुन्दरता उसके ज्ञान मे है तथा एक तपस्वी की सुन्दरता उसकी क्षमाशीलता मे है.

          *🌸सुभाषितानि*

गीता -: मोक्षसन्यासयोग अo-18

कच्चिदेतच्छ्रुतं पार्थ त्वयैकाग्रेण चेतसा ।,
कच्चिदज्ञानसम्मोहः प्रनष्टस्ते धनञ्जय ॥,

हे पार्थ! क्या इस (गीताशास्त्र) को तूने एकाग्रचित्त से श्रवण किया? और हे धनञ्जय! क्या तेरा अज्ञानजनित मोह नष्ट हो गया?॥,72॥,

🌸 व्रत पर्व विवरण🌸

🌸 विशेष – चतुर्दशी व पूर्णिमा के दिन तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌸 वास्तु शास्त्र 🌸
🙏🏻 यदि घर में देवी-देवताओं के चित्र लगे हों तो घर में कई तरह की परेशानियां दूर हो जाती हैं और घर में सुख-शांति बनी रहती है। वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर में हनुमान जी की तस्वीर लगाने से कई लाभ मिलते हैं। अगर घर में वास्तु के नियमानुसार सही दिशा में सही तरह से हनुमानजी की तस्वीर लगाई जाए तो कई लाभ हो सकते हैं।
1⃣ हनुमानजी बाल ब्रहमचारी है इसलिए उनकी तस्वीर बेडरूम में नहीं लगानी चाहिए। बेडरूम में लगाई गई हनुमानजी की तस्वीर शुभ फल नहीं देती।
2⃣ भगवान हनुमानजी की तस्वीर घर या दुकान में दक्षिण दिशा की ओर देखते हुए लगाना सबसे अच्छा माना जाता है। क्योंकि हनुमानजी ने अपनी शक्तियों का प्रयोग दक्षिण दिशा की ओर दिखाया था।
3⃣ घर मे पंचमुखी, पर्वत उठाते हुए या राम भजन करते हुए हनुमानजी की तस्वीर लगाना सबसे अच्छा होता है। इससे घर के सभी दोष खत्म हो जाते हैं।
4⃣ पंचमुखी हनुमानजी की तस्वीर लगाने पर दक्षिण दिशा से आने वाली प्रत्येक नकारात्मक शक्ति को हनुमानजी रोक देते हैं। इससे घर में सुख और समृद्धि बनी रहती है।
5⃣ जिस रुप में हनुमानजी अपनी शक्ति का प्रदर्शन कर रहे हो. ऐसी तस्वीर घर में लगाने से किसी तरह की बुरी शक्ति घर में प्रवेश नहीं कर पाती।
6⃣ हनुमानजी की तस्वीर पर सिंदूर जरुर लगाना चाहिए। ऐसा न कर पाने पर सिंदूर का केवल तिलक भी किया जा सकता है। इससे सभी मनोकामनाएं जरुर पूरी होती हैं ।

🌸 हनुमान जयंती 🌸
🙏🏻धर्म ग्रंथों में हनुमानजी के 12 नाम बताए गए हैं, जिनके द्वारा उनकी स्तुति की जाती है। गीताप्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित श्रीहनुमान अंक के अनुसार हनुमानजी के इन 12 नामों का जो रात में सोने से पहले व सुबह उठने पर अथवा यात्रा प्रारंभ करने से पहले पाठ करता है, उसके सभी भय दूर हो जाते हैं और उसे अपने जीवन में सभी सुख प्राप्त होते हैं। वह अपने जीवन में अनेक उपलब्धियां प्राप्त करता है। हनुमानजी की 12 नामों वाली स्तुति इस प्रकार है-
🌸 स्तुति
हनुमानअंजनीसूनुर्वायुपुत्रो महाबल:।
रामेष्ट: फाल्गुनसख: पिंगाक्षोअमितविक्रम:।।
उदधिक्रमणश्चेव सीताशोकविनाशन:।
लक्ष्मणप्राणदाता च दशग्रीवस्य दर्पहा।।
एवं द्वादश नामानि कपीन्द्रस्य महात्मन:।
स्वापकाले प्रबोधे च यात्राकाले च य: पठेत्।।
तस्य सर्वभयं नास्ति रणे च विजयी भवेत्।
राजद्वारे गह्वरे च भयं नास्ति कदाचन।।
🙏🏻 इन 12 नामो से होती है हनुमानजी की स्तुति, जानिए इनकी महिमा
🙏🏻 हनुमान
हनुमानजी का यह नाम इसलिए पड़ा क्योकी एक बार क्रोधित होकर देवराज इंद्र ने इनके ऊपर अपने वज्र प्रहार किया था यह वज्र सीधे इनकी ठोड़ी (हनु) पर लगा। हनु पर वज्र का प्रहार होने के कारण ही इनका नाम हनुमान पड़ा ।
🙏🏻 लक्ष्मणप्राणदाता
जब रावण के पुत्र इंद्रजीत ने शक्ति का उपयोग कर लक्ष्मण को बेहोश कर दिया था, तब हनुमानजी संजीवनी बूटी लेकर आए थे। उसी बूटी के प्रभाव से लक्ष्मण को होश आया था।इस लिए हनुमानजी को लक्ष्मणप्राणदाता भी कहा जाता है ।
🙏🏻 दशग्रीवदर्पहा
दशग्रीव यानी रावण और दर्पहा यानी धमंड तोड़ने वाला । हनुमानजी ने लंका जाकर सीता माता का पता लगाया, रावण के पुत्र अक्षयकुमार का वध किया साथ ही लंका में आग भी लगा दी ।इस प्रकार हनुमानजी ने कई बार रावण का धमंड तोड़ा था । इसलिए इनका एक नाम ये भी प्रसिद्ध है ।
🙏🏻 रामेष्ट
हनुमान भगवान श्रीराम के परम भक्त हैं । धर्म ग्रंथों में अनेक स्थानों पर वर्णन मिलता है कि श्रीराम ने हनुमान को अपना प्रिय माना है । भगवान श्रीराम को प्रिय होने के कारण ही इनका एक नाम रामेष्ट भी है ।
🙏🏻 फाल्गुनसुख
महाभारत के अनुसार, पांडु पुत्र अर्जुन का एक नाम फाल्गुन भी है । युद्ध के समय हनुमानजी अर्जुन के रथ की ध्वजा पर विराजित थे । इस प्रकार उन्होंने अर्जुन की सहायता की । सहायता करने के कारण ही उन्हें अर्जुन का मित्र कहा गया है । फाल्गुन सुख का अर्थ है अर्जुन का मित्र ।
🙏🏻 पिंगाक्ष
पिंगाक्ष का अर्थ है भूरी आंखों वाला ।अनेक धर्म ग्रंथों में हनुमानजी का वर्णन किया गया है । उसमें हनुमानजी को भूरी आंखों वाला बताया है । इसलिए इनका एक नाम पिंगाक्ष भी है ।
🙏🏻 अमितविक्रम
विक्रम का अर्थ है पराक्रमी और अमित का अर्थ है बहुत अधिक । हनुमानजी ने अपने पराक्रम के बल पर ऐसे बहुत से कार्य किए, जिन्हें करना देवताओं के लिए भी कठिन था । इसलिए इन्हें अमितविक्रम भी कहा जाता हैं ।
🙏🏻 उदधिक्रमण
उदधिक्रमण का अर्थ है समुद्र का अतिक्रमण करने वाले यानी लांधने वाला । सीता माता की खोज करते समय हनुमानजी ने समुद्र को लांधा था। इसलिए इनका एक नाम ये भी है ।
🙏🏻 अंजनीसूनु
माता अंजनी के पुत्र होने के कारण ही हनुमानजी का एक नाम अंजनीसूनु भी प्रसिद्ध है ।
🙏🏻 वायुपुत्र
हनुमानजी का एक नाम वायुपुत्र भी है । पवनदेव के पुत्र होने के कारण ही इन्हें वायुपुत्र भी कहा जाता है ।
🙏🏻 महाबल
हनुमानजी के बल की कोई सीमा नहीं हैं । इसलिए इनका एक नाम महाबल भी है ।
🙏🏻 सीताशोकविनाशन
माता सीता के शोक का निवारण करने के कारण हनुमानजी का ये नाम पड़ा ।

🙏🏻पंचक
17अप्रैल 2020 दोपहर 12.20 से
22अप्रैल 2020 दोपहर 1.17 तक

एकादशी
18अप्रैल 2020

प्रदोष
5अप्रैल 2020
20अप्रैल 2020

अमावस्या
22अप्रैल 2020

पूर्णमासी
8अप्रैल 2020

      *🌸दैनिक राशिफल*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। आर्थिक उन्नति के लिए किए गए प्रयास सफल रहेंगे। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। समय अनुकूल है। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। निवेश आदि लाभदायक रहेंगे। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। लाभ होगा।

🐂वृष
रुका हुआ धन प्राप्त हो सकता है। व्यस्तता रहेगी। यात्रा लंबी हो सकती है। समय की अनुकूलता का लाभ लें। भरपूर प्रयास करें। नए काम मिलेंगे। जीवन सुखमय व्यतीत होगा। बुद्धि का प्रयोग करें। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रमाद न करें।

👫मिथुन
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। बात बिगड़ सकती है। फालतू खर्च पर नियंत्रण रखें। कर्ज लेना पड़ सकता है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। आवश्यक कागजात ध्यान से पढ़ें। आय में निश्चितता रहेगी। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा।

🦀कर्क
शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड इत्यादि से धनार्जन होगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति हो सकती है। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। रोजगार में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। चिंता व तनाव रहेंगे। आलस्य न करें।

🐅सिंह
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। व्यय होगा। विवाद में हिस्सा न लें। विरोधी सक्रिय रहेंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी न करें। धनार्जन होगा।

🙎कन्या
पहले की गई मेहनत का फल अब प्राप्त होगा। प्रयास करें। मित्रों तथा रिश्तेदारों की सहायता करने का अवसर प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा।

⚖तुला
कोई बुरी खबर प्राप्त हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। भागदौड़ रहेगी। बनते कार्यों में विलंब होगा। लेन-देन के कार्यों में विशेष सावधानी रखें।

🦂वृश्चिक
रचनात्मक कार्यों में रुचि रहेगी। पठन-पाठन व लेखन इत्यादि कार्य सफल रहेंगे। छोटी-मोटी यात्रा हो सकती है। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। नौकरी में कोई नया कार्य कर पाएंगे। उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। लाभ होगा।

🏹धनु
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। स्थायी संपत्ति में वृद्धि होगी। कारोबार से अच्छा मुनाफा प्राप्त होगा। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता का वातावरण निर्मित होगा। भाग्य का साथ रहेगा। प्रमाद न करें।

🐊मकर
प्रेम-प्रसंग अनुकूल रहेंगे। भेंट व उपहार देना पड़ सकता है। बाहर जाने का मन करेगा। शत्रु सक्रिय रहेंगे। नौकरी में मातहतों का साथ रहेगा। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड आदि से लाभ होगा। कानूनी अड़चन दूर होगी। प्रसन्नता रहेगी।

🍯कुंभ
जल्दबाजी में चोट लग सकती है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। शारीरिक कष्ट के योग हैं। लापरवाही न करें। फालतू खर्च होगा। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। लेन-देन में शीघ्रता न करें। आय में निश्चितता रहेगी। विवाद से बचें।

🐟मीन
पूजा-पाठ में मन लगेगा। सत्संग का लाभ प्राप्त हो सकता है। धन प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। कोर्ट-कचहरी इत्यादि के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। किसी लंबी यात्रा की योजना बन सकती है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। वाणी पर नियंत्रण रखें।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

eighteen − 7 =

WhatsApp chat