ऐसा आपकी राशि मे होने वाला है? क्यों किसी अपने का व्यवहार समझ से परे रहेगा? क्या है? क्यों है? जानिए…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 02/05/2020,शनिवार
नवमी, शुक्ल पक्ष
वैशाख
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-नवमी 11:35:19 तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ————मघा 23:39:09
योग ————–वृद्वि 15:16:42
करण ———कौलव 11:35:19
करण ———–तैतुल 22:26:11
वार ————————-शनिवार
माह ————————– वैशाख
चन्द्र राशि ——————— सिंह
सूर्य राशि ———————मेष
रितु —————————-वसंत
सायन ————————–ग्रीष्म
आयन ———————उत्तरायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————-प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:10:58
सूर्यास्त —————–19:00:04
दिन काल —————12:49:05
रात्री काल ————-11:10:21
चंद्रोदय —————–13:55:39
चंद्रास्त —————–27:02:37

लग्न —-मेष 17°57′ , 17°57′

सूर्य नक्षत्र ——————-भरणी
चन्द्र नक्षत्र ———————मघा
नक्षत्र पाया ——————–रजत

 *🙏🌸पद, चरण🌸🙏*

मा —-मघा 06:46:08

मी —-मघा 12:25:59

मू —-मघा 18:03:39

मे —-मघा 23:39:09

मो —-पूर्वाफाल्गुनी 29:12: 24

🌸चोघडिया, दिन
काल 05:40 – 07:19 अशुभ
शुभ 07:19 – 08:58 शुभ
रोग 08:58 – 10:37 अशुभ
उद्वेग 10:37 – 12:16 अशुभ
चर 12:16 – 13:55 शुभ
लाभ 13:55 – 15:34 शुभ
अमृत 15:34 – 17:13 शुभ
काल 17:13 – 18:52 अशुभ

🌸चोघडिया, रात
लाभ 18:52 – 20:13 शुभ
उद्वेग 20:13 – 21:34 अशुभ
शुभ 21:34 – 22:55 शुभ
अमृत 22:55 – 24:16* शुभ
चर 24:16* – 25:37* शुभ
रोग 25:37* – 26:58* अशुभ
काल 26:58* – 28:19* अशुभ
लाभ 28:19* – 29:39* शुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

9 + 7 + 1 = 17 ÷ 4 = 1 शेष
पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

 *🌸शिव वास एवं फल*

9 + 9 + 5 = 23 ÷ 7 = 2 शेष

गौरि सन्निधौ = शुभ कारक

🌸भद्रा वास एवं फल

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

  *🌸विशेष जानकारी🌸*
  • जानकी नवमी *🌸शुभ विचार🌸*

निर्गुणस्य हतं रूपं दुःशीलस्य हतं कुलम् ।
असिध्दस्य हता विद्या अभोगेन हतं धनम् ।।
।।चा o नी o।।

निति भ्रष्ट होने से सुन्दरता का नाश होता है. हीन आचरण से अच्छे कुल का नाश होता है. पूर्णता न आने से विद्या का नाश होता है. उचित विनियोग के बिना धन का नाश होता है.

   *🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

मदनुग्रहाय परमं गुह्यमध्यात्मसञ्ज्ञितम्‌ ।,
यत्त्वयोक्तं वचस्तेन मोहोऽयं विगतो मम ॥,

अर्जुन बोले- मुझ पर अनुग्रह करने के लिए आपने जो परम गोपनीय अध्यात्म विषयक वचन अर्थात उपदेश कहा, उससे मेरा यह अज्ञान नष्ट हो गया है॥,1॥,

🌸व्रत पर्व विवरण🌸

🌸 विशेष – नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌸गर्मियों में बलप्रद व स्वास्थ्यवर्धक आम🌸
🍋 पका आम बहुत ही पौष्टिक होता है | इसमें प्रोटीन,विटामिन व खनिज पदार्थ, कार्बोहाइड्रेट तथा शर्करा विपुल मात्रा में होते हैं |
🍋 आम मीठा, चिकना, शौच साफ़ लानेवाला, तृप्तिदायक, ह्रदय को बलप्रद, वीर्य की शुद्धि तथा वृद्धि करनेवाला है | यह वायु व पित्त नाशक परंतु कफकारक है तथा कांतिवर्धक, रक्त की शुद्धि करनेवाला एवं भूख बढ़ानेवाला है | इसके नियमित सेवन से रोगप्रतिकारक शक्ति बढती है |
🍋 शुक्रप्रमेह आदि विकारों के कारण जिनको संतानोत्पत्ति न होती हो, उनके लिए पका आम लाभकारक है | कलमी आम की अपेक्षा देशी आम जल्दी पचनेवाला, त्रिदोषशामक व विशेष गुणयुक्त है | रेशासहित, मीठा, पतली या छोटी गुठलीवाला आम उत्तम माना जाता है | यह आमाशय, यकृत, फेफड़ों के रोग तथा अल्सर, रक्ताल्पता आदि में लाभ पहुँचाता है | इसके सेवन से रक्त,मांस आदि सप्तधातुओं तथा वासा की वृद्धि और हड्डियों का पोषण होता है | यूनानी डॉक्टरों के मतानुसार पका आम आलस्य दूर करता है, मूत्र साफ़ लाता है, क्षयरोग (टी.बी.)मिटाता है तथा गुर्दें व मूत्राशय के लिए शक्तिदायक है |
💊 औषधि-प्रयोग 💊
🍋 भूखवृद्धि : आम के रस में घी और सौंठ डालकर सेवन करने से जठराग्नि प्रदीप्त होता है | वायु रोग या पाचनतंत्र की दुर्बलता : आम के रस में अदरक मिलाकर लेना हितकारी है |
🍋 शहद के साथ पके आम के सेवन से प्लीहा, वायु और कफ के दोष तथा क्षयरोग दूर होता है |
🍋 आम का पना : केरी (कच्चा आम ) को पानी में उबालें अथवा गोबर के कंडे की आग में दबा दें | भुन जाने पर छिलका उतार दें और गूदा मथकर उसमें गुड, जीरा, धनिया, काली मिर्च तथा नमक मिलाकर दोबारा मथें | आवश्यकता अनुसार पानी मिलायें और पियें |
🍋 लू लगने पर : उपरोक्त आम का पना एक-एक कप दिन में २ – ३ बार पियें |
🍋 भुने हुए कच्चे आम के गूदेको पैरों के तलवों पर लगाने से भी लू से राहत मिलती है |
🍋 वजन बढ़ाने के लिए : पके और मीठे आम नियमित रूप से खाने से दुबले – पतले व्यक्ति का वजन बढ़ सकता है |
🍋 दस्त में रक्त आने पर : छाछ में आम की गुठली का २ से ३ ग्राम चूर्ण मिलाकर पीने से लाभ होता है |
🍋 पेट के कीड़े : सुबह चौथाई चम्मच आम की गुठलियों का चूर्ण गर्म पानी के साथ लेने से पेट के कीड़े मर जाते है |
🍋 प्रदर रोग : आम की गुठली का २ से ३ ग्राम चूर्ण शहद के साथ चाटने से रक्त-प्रदर में लाभ होता है |
🍋 दाँतों के रोग : आम के पत्तों को खूब चबा-चबाकर थूकते रहने से कुछ ही दोनों में दाँतों का हिलना और मसूड़ों से खून आना बंद हो जाता है | आम की गुठली की गिरी के महीन चूर्ण का मंजन करने से पायरिया ठीक होता है |
🍋 घमौरियाँ : आम की गुठली के चूर्ण से स्नान करने से घमौरियाँ दूर होती है |
🍋 पुष्ट और सुडौल शरीर : यदि एक वक्त के आहार में सुबह या शाम केवल आम चूसकर जरा-सा अदरक लें तथा डेढ -दो घंटे के बाद दूध पियें तो ४० दिन में शरीर पुष्ट व सुडौल हो जाता | आम और दूध एक साथ खाना आयुर्वेद की दृष्टि से विरुद्ध आहार है | इससे आगे चलकर चमड़ी के रोग होते हैं |
🔥सावधानी : खाने के पहले आम को पानी में रखना चाहिए | इससे उसकी गर्मी निकल जाती है | भूखे पेट आम नहीं खाना चाहिए | अधिक आम खाने से गैस बनती है और पेट के विकार पैदा होते हैं | कच्चा, खट्टा तथा अति पका हुआ आम खाने से लाभ के बजाय हानि हो सकती है | कच्चे आम के सीधे सेवन से कब्ज व मंदाग्नि हो सकती है |
🌸बाजार में बिकनेवाला डिब्बाबंद आम का रस स्वास्थ्य के लिए हितकारी नहीं होता है | लम्बे समय तक रखा हुआ बासी रस वायुकारक, पचने में भारी एवं ह्रदय के लिए अहितकर है |

🙏🏻यदि पितृ दोष के कारण आपका संघर्षमयी जीवन हो तो गौ माता को प्रतिदिन रोटी, गुड़, हरा चारा आदि खिलाएं। अगर प्रतिदिन ना खिला सके तो सिर्फ हर अमावस्या के दिन खिलाने से भी पितृ दोष समाप्त होता है।

गौ माता कि सेवा परिक्रमा करने से सभी तीर्थो के पुण्यों का लाभ मिलता है ।
जिस व्यक्ति के भाग्य की रेखा सोई हुई हो तो वो व्यक्ति अपनी हथेली में गुड़ को रखकर गौ माता को जीभ से चटाये गौ माता की जीभ हथेली पर रखे गुड़ को चाटने से व्यक्ति की सोई हुई भाग्य रेखा खुल जाती है ।

पंचक
14मई2020 शाम 07.20 से
19मई 2020 शाम 07.53 तक

एकादशी
4मई 2020 सोमवार
18मई 2020 सोमवार

प्रदोष
5मई 2020 मंगलवार
19मई 2020 मंगलवार

अमावस्या
22मई 2020 शुक्रवार

पूर्णमासी
7मई 2020 गुरुवार

 *🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। व्यवसाय अनुकूल लाभ देगा। मित्र व संबंधियों का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कार्य का विस्तार हो सकता है। किसी अपरिचित व्यक्ति पर भरोसा न करें।

🐂वृष
भूमि व भवन संबंधी योजना बनेगी। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। बेरोजगारी दूर होगी। अपेक्षित कार्य समय पर पूरे होंगे। कार्य की संतुष्टि प्राप्त होगी। जल्दबाजी न करें। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। विवाद न करें। प्रसन्नता रहेगी।

👫मिथुन
कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। दांपत्य जीवन सुखमय होगा। छोटे भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। भाग्य का साथ मिलेगा। दूर से अच्छी खबर मिलेगी।

🦀कर्क
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। विवाद को बढ़ावा न दें। पुराना रोग उभर सकता है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। बड़े लोगों की सलाह मानें, लाभ होगा। थकान महसूस होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रमाद न करें।

🐅सिंह
वाहन, मशीनरी व अग्नि के प्रयोग में लापरवाही न करें। विशेषकर स्त्रियां सावधान रहें। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आरोग्य प्राप्ति होगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें।

🙎कन्या
तीर्थयात्रा की योजना बनेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। कोर्ट व कचहरी में अनुकूलता रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। परिवार के सदस्यों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। नए काम प्रारंभ करने का मन बनेगा। झंझटों से दूर रहें।

⚖तुला
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। बाहर जाने की योजना बनेगी। आय के स्रोतों में वृद्धि के योग हैं। प्रसन्नता रहेगी। किसी अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। व्यवसाय लाभप्रद रहेगा।

🦂वृश्चिक
अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। पुराना रोग उभर सकता है। दूसरों से अपेक्षा न करें। बेवजह विवाद हो सकता है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है। व्यवसाय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें।

🏹धनु
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। अचानक बड़ा लाभ हो सकता है। धन प्राप्ति सुगम होगी।

🐊मकर
घर में मेहमानों का आना-जाना लगा रहेगा। किसी मांगलिक कार्य की रूपरेखा बन सकती है। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें।

🍯कुंभ
प्रयास सफल रहेंगे। कार्य सुचारु रूप से पूर्ण होंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कोई बड़ा कार्य करने की योजना बनेगी। आय में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। प्रमाद न करें।

🐟मीन
किसी अपने का व्यवहार समझ से परे रहेगा। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। दु:खद सूचना प्राप्त हो सकती है। अपेक्षाकृत कार्यों में विलंब होगा। जोखिम व उठाएं। भागदौड़ अधिक होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

eight + 14 =

WhatsApp chat