🐟मीन राशि वालों की भूमि व भवन संबंधी बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। बेरोजगारी भी दूर…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 26/05/2020,मंगलवार
चतुर्थी, शुक्ल पक्ष
ज्येष्ठ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-चतुर्थी 25:08:25 तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ———– आर्द्रा 07:01:09
योग ————-गण्ड 27:51:46
करण ——–वाणिज 13:16:29
करण ——विष्टि भद्र 25:08:25
वार ———————–मंगलवार
माह —————————-ज्येष्ठ
चन्द्र राशि —-मिथुन 25:23:10
चन्द्र राशि ———————कर्क
सूर्य राशि ———————वृषभ
रितु —————————ग्रीष्म
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————-प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:02:09
सूर्यास्त —————–19:09:08
दिन काल ————–13:06:58
रात्री काल ————-10:52:52
चंद्रोदय —————–08:52:48
चंद्रास्त —————–22:33:22

लग्न —- वृषभ 11°6′ , 41°6′

सूर्य नक्षत्र ——————रोहिणी
चन्द्र नक्षत्र ——————–आर्द्रा
नक्षत्र पाया ——————–रजत

🙏🌸पद, चरण🌸🙏

छ —-आर्द्रा 07:01:09

के —-पुनर्वसु 13:10:10

को —- पुनर्वसु 19:17:30

हा —-पुनर्वसु 25:23:10

🙏🌸ग्रह गोचर🌸🙏

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=वृषभ 11°22 ‘ रोहिणी, 1 ओ
चन्द्र = मिथुन 19°23 ‘ आर्द्रा ‘ 4 छ
बुध = मिथुन 01°10 ‘ मृगशिरा ‘ 3 का
शुक्र= वृषभ 24°55,मृगशिरा ‘ 1 वे
मंगल=कुम्भ 14°30′ शतभिषा ‘ 3 सी
गुरु=मकर 02°02 ‘ उ oषाo , 2 भो
शनि=मकर 07°43′ उ oषा o ‘ 4 जी
राहू=मिथुन 06°25 ‘ मृगशिरा , 4 की
केतु=धनु 06 ° 25 ‘ मूल , 2 यो

🌸चोघडिया, दिन
रोग 05:27 – 07:09 अशुभ
उद्वेग 07:09 – 08:52 अशुभ
चर 08:52 – 10:34 शुभ
लाभ 10:34 – 12:16 शुभ
अमृत 12:16 – 13:59 शुभ
काल 13:59 – 15:41 अशुभ
शुभ 15:41 – 17:24 शुभ
रोग 17:24 – 19:06 अशुभ

🌸चोघडिया, रात
काल 19:06 – 20:24 अशुभ
लाभ 20:24 – 21:41 शुभ
उद्वेग 21:41 – 22:59 अशुभ
शुभ 22:59 – 24:16* शुभ
अमृत 24:16* – 25:34* शुभ
चर 25:34* – 26:51* शुभ
रोग 26:51* – 28:09* अशुभ
काल 28:09* – 29:26* अशुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌸दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
4 + 3 + 1 = 8 ÷ 4 = 0 शेष
मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

🌸शिव वास एवं फल
4 + 4 + 5 = 13 ÷ 7 = 6 शेष
क्रीड़ायां = शोक,दुःख कारक

🌸भद्रा वास एवं फल
दोपहर 13:13 से रात्रि 25:08 तक समाप्त
स्वर्ग लोक = शुभ कारक

*🌸विशेष जानकारी🌸*
  • विनायकी चतुर्थी
  • बुढवा मंगल
  • अंगारक योग
  • गुरु अर्जुनदेव शहीद दिवस
  • ऋषि पंचमी जैन संवत्सरी ( दिगम्बर पूजा) जैन 🙏🌸शुभ विचार🌸🙏

न देवो विद्यते काष्ठे न पाषाणे न मृण्मये ।
भावे हि विद्यते देवस्तस्माद्भावो हि कारणम् ।।
।।चा o नी o।।

देवता न काठ में, पत्थर में, और न मिट्टी ही में रहते हैं वे तो रहते हैं भाव में। इससे यह निष्कर्ष निकला कि भाव ही सबका कारण है।

🌸सुभाषितानि🌸

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

अमी च त्वां धृतराष्ट्रस्य पुत्राः सर्वे सहैवावनिपालसंघैः ।,
भीष्मो द्रोणः सूतपुत्रस्तथासौ सहास्मदीयैरपि योधमुख्यैः ॥,
वक्त्राणि ते त्वरमाणा विशन्ति दंष्ट्राकरालानि भयानकानि ।,
केचिद्विलग्ना दशनान्तरेषु सन्दृश्यन्ते चूर्णितैरुत्तमाङ्‍गै ॥,

वे सभी धृतराष्ट्र के पुत्र राजाओं के समुदाय सहित आप में प्रवेश कर रहे हैं और भीष्म पितामह, द्रोणाचार्य तथा वह कर्ण और हमारे पक्ष के भी प्रधान योद्धाओं के सहित सबके सब आपके दाढ़ों के कारण विकराल भयानक मुखों में बड़े वेग से दौड़ते हुए प्रवेश कर रहे हैं और कई एक चूर्ण हुए सिरों सहित आपके दाँतों के बीच में लगे हुए दिख रहे हैं॥,26-27॥,

🌸 व्रत पर्व विवरण 🌸

*🌸 विशेष – चतुर्थी को मूली खाने से धन का नाश करने वाला होता है (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌸 कर्ज से मुक्ति हेतु🌸
🙏🏻 शुक्ल पक्ष हो किसी भी मास का, शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार को शिवलिंग पर दूध व जल के बाद मसूर की दाल अर्पण करते हुये ये मंत्र बोले –
ॐ ऋणमुक्तेश्वर महादेवाय नम:

🌸मंगलवारी चतुर्थी🌸
26 मई 2020 (पुण्यकाल सूर्योदय से रात्रि 01:09 तक )
🌷 *मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग
🙏🏻 मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।
👉🏻 मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना … जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…

🌸 मंगलवारी चतुर्थी🌸
🙏 अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…
🌸बिना नमक का भोजन करें
🌸 मंगल देव का मानसिक आह्वान करो
🌸चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें
💵 कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा।

🌸 मंगलवार चतुर्थी🌸
👉 भारतीय समय के अनुसार 26 मई 2020 (सूर्योदय से रात्रि 01:09 तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..
👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-
1) ॐ मंगलाय नमः
2) ॐ भूमि पुत्राय नमः
3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः
4) ॐ धन प्रदाय नमः
5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः
6) ॐ महा कायाय नमः
7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः
8) ॐ लोहिताय नमः
9) ॐ लोहिताक्षाय नमः
10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः
11) ॐ धरात्मजाय नमः
12) ॐ भुजाय नमः
13) ॐ भौमाय नमः
14) ॐ भुमिजाय नमः
15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः
16) ॐ अंगारकाय नमः
17) ॐ यमाय नमः
18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः
19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः
20) ॐ वृष्टि हराते नमः
21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः
🙏 ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-
भूमि पुत्रो महा तेजा
कुमारो रक्त वस्त्रका
ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम
ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे
🙏हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..

एकादशी:
जून 2, मंगलवार, निर्जला एकादशी, ज्येष्ठा, शुक्ला एकादशी

प्रदोष व्रत 3,जून 2020, बुधवार,

प्रदोष व्रत 18,जून 2020, गुरूवार

अमावस्या:
21 जून 2020 रविवार, को आषाढ़ अमावस्या पड़ रही है। यह अमावस्या 20 जून सुबह 11 बजकर 52 मिनट से आरंभ होकर अगले दिन 21 जून सुबह 12 बजकर 10 मिनट पर समाप्त होगी।

पूर्णमासी:
5. जून
6. जून
(व्रत पूर्णमासी, 5. जून 2020.)

🌸जिस कन्या का विवाह अशुभ ग्रहों के कारण अथवा आर्थिक संकट से नहीं हो पा रहा है, उसे चाहिए कि भगवान शंकर और पार्वती का चित्र सामने लगाकर उसका नित्य पूजन करे। धूपबत्ती जलाए और जप के स्थान पर एक गमले में केले के पौधे को लगाकर अथवा उसके स्तंभ को रोपकर उस पर 11 बार कलावा लपेट दे और उसकी पूजा करे।

🌸जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

दिनांक 26 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 8 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति अपने आप में कई विशेषता लिए होते हैं। यह अंक वरूण ग्रह से संचालित होता है। आप खुले दिल के व्यक्ति हैं। आपकी प्रवृत्ति जल की तरह होती है। जिस तरह जल अपनी राह स्वयं बना लेता है वैसे ही आप भी तमाम बाधाओं को पार कर अपनी मंजिल पाने में कामयाब होते हैं। आप पैनी नजर के होते हैं। किसी के मन की बात तुरंत समझने की आपमें दक्षता होती है।

शुभ दिनांक : 7, 16, 25

शुभ अंक : 7, 16, 25, 34

शुभ वर्ष : 2023

ईष्टदेव : भगवान शिव तथा विष्णु

शुभ रंग : सफेद, पिंक, जामुनी, मेहरून

कैसा रहेगा यह वर्ष
आपके कार्य में तेजी का वातावरण रहेगा। आपको प्रत्येक कार्य में जुटकर ही सफलता मिलेगी। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति उत्तम रहेगी। अधिकारी वर्ग का सहयोग मिलेगा। नौकरीपेशा व्यक्तियों के लिए समय सुखकर रहेगा। नवीन कार्य-योजना शुरू करने से पहले केसर का लंबा तिलक लगाएं व मंदिर में पताका चढ़ाएं।

 *🌸 दैनिक राशिफल 🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
कोर्ट व कचहरी में अनुकूलता रहेगी। उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। नौकरी में अधिकार वृद्धि हो सकती है। प्रमाद न करें। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🐂वृष
चोट, चोरी व विवाद आदि से हानि संभव है। नए काम मे जल्दबाजी न करें। घर-बाहर तनाव रह सकता है। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। व्यवसाय ठीक चलेगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। आय में कमी रहेगी।

👫मिथुन
पूजा-पाठ में मन लगेगा। किसी धार्मिक कार्य का लाभ मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। शत्रु परास्त होंगे। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। जल्दबाजी न करें। राजकीय बाधा दूर होगी। शत्रु शांत रहेंगे। दूसरों से मतभेद दूर होंगे। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। चिंता बनी रहेगी।

🦀कर्क
कार्यप्रणाली में सुधार होगा। आर्थिक नीति में परिवर्तन संभव है। तत्काल लाभ नहीं होगा। राजकीय बाधा दूर होगी। लाभ की स्थिति बनेगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। विवेक का प्रयोग किसी बड़ी बाधा को दूर कर सकता है। प्रसन्नता रहेगी।

🐅सिंह
रुका हुआ पैसा वापस मिल सकता है। वैवाहिक प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। व्यस्तता रहेगी। जल्दबाजी से काम बिगड़ सकते हैं। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी।

🙎‍♀️कन्या
लिया हुआ कर्ज समय पर लौटा पाएंगे। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में बढ़ोतरी होगी। भागदौड़ अधिक रहेगी। विवाद न करें। व्ययवृद्धि होगी। पुराना रोग उभर सकता है। वस्तुएं संभालकर रखें।

⚖️तुला
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। जोखिम न उठाएं। कोई बड़ा कार्य होने से प्रसन्नता रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य प्रभावित होगा। धनार्जन होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🦂वृश्चिक
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। शत्रु शांत रहेंगे। पुराना रोग उभर सकता है। निवेश शुभ रहेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। कोर्ट व कचहरी के मामले सुलझेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा।

🏹धनु
सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। मेहनत सफल रहेगी। रुके कार्य पूर्ण होंगे। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। निवेश शुभ रहेगा। नौकरी में अनुकूलता रहेगी। कार्य की अधिकता से थकान रह सकती है। दूसरों से मतभेद समाप्त होंगे।

🐊मकर
वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में लापरवाही न करें। पुराना रोग उभर सकता है। घर-परिवार में मतभेद बढ़ सकते हैं। सामंजस्य बैठाएं। कुसंगति से हानि होगी। दूसरों से अपेक्षा न करें। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय-व्यय बराबर रहेंगे। चिंता रहेगी।

🍯कुंभ
किसी सामाजिक उत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। यात्रा सफल रहेगी। विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। सम्माननीय व्यक्तियों का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। विवाद से बचें। आलस्य हावी रह सकता है। धन प्राप्ति सुगम होगी। प्रसन्नता रहेगी।

🐟मीन
भूमि व भवन संबंधी बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल होंगे। ऐश्वर्य के साधन जुटेंगे। उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। पुरानी किसी बड़ी समस्या का समाधान सहज ही मिलेगा। लाभ होगा।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

sixteen − 12 =

WhatsApp chat