आज क्या है इन राशियों की चाल? किस राशि मे है धूप तो किस राशि मे है छावं? कहीं ये…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 01/06/2020,सोमवार
दशमी, शुक्ल पक्ष
ज्येष्ठ
‘””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-दशमी 14:56:48
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ———–हस्त 25:01:58
योग ————सिद्वि 13:15:18
करण ———–गरज 14:56:48
करण ——–वाणिज 25:31:43
वार ————————सोमवार
माह —————————-ज्येष्ठ
चन्द्र राशि ——————-कन्या
सूर्य राशि ——————- वृषभ
रितु —————————-ग्रीष्म
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————-प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:01:28
सूर्यास्त —————–19:11:26
दिन काल ————–13:09:58
रात्री काल ————-10:49:58
चंद्रोदय —————–14:46:10
चंद्रास्त —————–27:08:02

लग्न —-वृषभ 16°51′ , 46°51′

सूर्य नक्षत्र ——————रोहिणी
चन्द्र नक्षत्र ———————हस्त
नक्षत्र पाया ——————–रजत

*🙏🌸पद, चरण🌸🙏*

पू —-हस्त 08:31:51

ष —-हस्त 14:02:43

ण —-हस्त 19:32:43

ठ —-हस्त 25:01:58

🌸 चोघडिया, दिन
अमृत 05:25 – 07:08 शुभ
काल 07:08 – 08:51 अशुभ
शुभ 08:51 – 10:34 शुभ
रोग 10:34 – 12:17 अशुभ
उद्वेग 12:17 – 14:00 अशुभ
चर 14:00 – 15:43 शुभ
लाभ 15:43 – 17:26 शुभ
अमृत 17:26 – 19:09 शुभ

🌸 चोघडिया, रात
चर 19:09 – 20:26 शुभ
रोग 20:26 – 21:43 अशुभ
काल 21:43 – 23:00 अशुभ
लाभ 23:00 – 24:17* शुभ
उद्वेग 24:17* – 25:34* अशुभ
शुभ 25:34* – 26:51* शुभ
अमृत 26:51* – 28:08* शुभ
चर 28:08* – 29:25* शुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
10 + 2 + 1 = 13 ÷ 4 = 1 शेष
पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

🌸 शिव वास एवं फल
10 + 10 + 5 = 25 ÷ 7 = 4 शेष
सभायां = सन्ताप कारक

🌸भद्रा वास एवं फल
रात्रि 25:31 से प्रारम्भ
पाताल लोक = धनलाभ कारक

*🌸विशेष जानकारी🌸*
  • गंगा दशहरा
  • श्री रामेश्वर प्राण प्रतिष्ठा दिवस
  • बाल सुरक्षा दिवस
  • श्री बटुक भैरव जयन्ती 🙏🌸शुभ विचार🌸🙏

शुध्दं भूमिगतं तोयं शुध्दा नारी पतिव्रता ।
शुचिः क्षेमकरोराजा संतोषी ब्राह्मणः शुचिः ।।
।।चा o नी o।।

जो जल धरती में समां गया वो शुद्ध है. परिवार को समर्पित पत्नी शुद्ध है. लोगो का कल्याण करने वाला राजा शुद्ध है. वह ब्राह्मण शुद्ध है जो संतुष्ट है.

*🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

तस्मात्त्वमुक्तिष्ठ यशो लभस्व जित्वा शत्रून्भुङ्‍क्ष्व राज्यं समृद्धम्‌ ।,
मयैवैते निहताः पूर्वमेव निमित्तमात्रं भव सव्यसाचिन्‌ ॥,

अतएव तू उठ! यश प्राप्त कर और शत्रुओं को जीतकर धन-धान्य से सम्पन्न राज्य को भोग।, ये सब शूरवीर पहले ही से मेरे ही द्वारा मारे हुए हैं।, हे सव्यसाचिन! (बाएँ हाथ से भी बाण चलाने का अभ्यास होने से अर्जुन का नाम ‘सव्यसाची’ हुआ था) तू तो केवल निमित्तमात्र बन जा॥,33॥,

🌸 व्रत पर्व विवरण🌸

 विशेष - गंगा दशहरा 

🌸 शिव पूजा विशेष🌸
🙏🏻 ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को इस दिन भगवान शिव की पूजा करने का विधान है। इस अवसर पर हम आपको शिवपुराण में लिखे कुछ ऐसे उपाय बता रहे हैं, जिन्हें करने से साधक की हर मनोकामना पूरी हो सकती है। ये उपाय बहुत ही आसान है।
➡ भगवान शिव को कच्चे चावल चढ़ाने से धन लाभ होता है ।
➡ भगवान शिव को बेला के फूल चढ़ाने से सुंदर पत्नी मिलती है ।
➡ शिवलिंग का अभिषेक गाय के घी से करने से कमजोरी दूर होती है ।
➡ महादेव की पूजा हरसिंगार के फूलों से करें तो सुख-सम्पत्ति में वृद्धि होती है ।
➡ कनेर के फूलों से भगवान शिव की पूजा करने से नए वस्त्र मिलते हैं ।
➡ महादेव को जूही के फूल चढ़ाने से घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती ।
➡ धतूरे के फूल से पूजा करने पर महादेव सुयोग्य पुत्र प्रदान करते हैं ।
➡ भगवान शिव को गेहूँ चढ़ाने से संतान वृद्धि होती है ।
➡ शिवजी की पूजा चमेली के फूल से करने पर वाहन सुख मिलता है ।
➡ शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाने से जीवन में सभी सुख मिलते हैं ।

🌸 गंगा दशहरा🌸
भारतीय संस्कृति में गंगा का विशेष महत्व है। हिंदू धर्म में भी गंगा का देव नदी कहा गया है यानी देवताओं की नदी। धर्म ग्रंथों के अनुसार, ज्येष्ठ शुक्ल दशमी (गंगा दशहरा) पर गंगा धरती पर आई थी। (01 जून, सोमवार) गंगा दशहरा के मौके पर हम आपको बता रहे हैं गंगा जल के कुछ आसान उपाय।
➡ अगर परिवार के लोगों में नहीं बनती तो रोज सुबह पूरे घर में गंगा जल छिड़के ।इससे घर की नेगेटिविटी कम होगी और शांति का माहौल बनेगा ।
➡ दक्षिणावर्ती शंख में गंगा जल भर कर उससे भगवान विष्णु का अभिषेक करें ।इससे भगवान विष्णु के साथ-साथ माता लक्ष्मी भी प्रसन्न होगी ।
➡ परिवार में सुख-समृद्धि चाहते हैं तो पीपल के पेड़ पर रोज गंगा जल चढ़ाएं, क्योंकि पीपल में भगवान विष्णु का वास मना गया है ।*शास्त्रों के मुताबिक शनिवार को पीपल के वृक्ष में लक्ष्मी का वास होता है। इस दिन पीपल में जल चढ़ाना बेहद शुभ माना गया है। वहीं शास्त्रों में रविवार के दिन पीपल में जल चढ़ाना निषेध किया गया है। माना जाता है कि इस दिन पीपल में जल अर्पण करने से धन की हानि होती है। साथ ही हमेशा पैसों की तंगी बनी रहती है। इसके अलावा भी पीपल के पेड़ को काटना धार्मिक दृष्टि से अशुभ माना गया है। मान्यता है कि ऐसा करने से पितरों को कष्ट मिलते हैं और वंश-वृद्धि में रुकावट आती है।
गीता में भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि “मैं वृक्षों में पीपल हूं।” पीपल के जड़ में ब्रह्मा जी, बीच में भगवान विष्णु और सबसे ऊपरी भाग में शिव का वास होता है।
घर में पीपल के पौधे का उगना अच्छा नहीं माना गया है। यदि पीपल का पौधा उग गया है तो उसे तोड़कर फेंकना नहीं चाहिए।रविवार के दिन प्रणाम कर के माफी मांग के किसी और से हटवाकर उसे एक गमले में शिफ्ट कर देना चाहिए।और मंदिर में रख आना चाइये।

➡ दुकान में किसी ने तंत्र प्रयोग किया हो तो पूरी दुकान में गंगा जल छिड़के ।इससे उस जगह की नेगेटिविटी खत्म हो जाएगी और व्यवसाय चलने लगेगा ।

🌸 गंगा दशहरा🌸
🙏दशहरा तिथि को गंगा स्नान व पूजन करने से 10 प्रकार के (3 कायिक ,4 वाचिक, 3 मानसिक) पापों का नाश होता है।

एकादशी:
जून 2, मंगलवार, निर्जला एकादशी, ज्येष्ठा, शुक्ला एकादशी
शुरू – 14:57, जून 01.
खत्म – 12:04, जून 02.

प्रदोष व्रत जून 3, 2020, बुधवार,

पूर्णमासी:

  1. जून 3:15 AM से
  2. जून 12:42 AM तक
    (व्रत पूर्णमासी, 5. जून 2020.)
  1. 🌸दैनिक राशिफल🌸

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
तीर्थयात्रा की योजना बनेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। कोर्ट व कचहरी में अनुकूलता रहेगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। परिवार के सदस्यों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। नए काम प्रारंभ करने का मन बनेगा। झंझटों से दूर रहें।

🐂वृष
वाहन, मशीनरी व अग्नि के प्रयोग में लापरवाही न करें। विशेषकर स्त्रियां सावधान रहें। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आरोग्य प्राप्ति होगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें।

👫मिथुन
क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। विवाद को बढ़ावा न दें। पुराना रोग उभर सकता है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। बड़े लोगों की सलाह मानें, लाभ होगा। थकान महसूस होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रमाद न करें।

🦀कर्क
कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। दांपत्य जीवन सुखमय होगा। छोटे भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। भाग्य का साथ मिलेगा। दूर से अच्छी खबर मिलेगी।

🐅सिंह
भूमि व भवन संबंधी योजना बनेगी। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। बेरोजगारी दूर होगी। अपेक्षित कार्य समय पर पूरे होंगे। कार्य की संतुष्टि प्राप्त होगी। जल्दबाजी न करें। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। विवाद न करें। प्रसन्नता रहेगी।

🙎‍♀️कन्या
विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। व्यवसाय अनुकूल लाभ देगा। मित्र व संबंधियों का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कार्य का विस्तार हो सकता है। किसी अपरिचित व्यक्ति पर भरोसा न करें।

⚖️तुला
किसी अपने का व्यवहार समझ से परे रहेगा। स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। दु:खद सूचना प्राप्त हो सकती है। अपेक्षाकृत कार्यों में विलंब होगा। जोखिम व उठाएं। भागदौड़ अधिक होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा।

🦂वृश्चिक
घर में मेहमानों का आना-जाना लगा रहेगा। किसी मांगलिक कार्य की रूपरेखा बन सकती है। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें।

🏹धनु
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। बाहर जाने की योजना बनेगी। आय के स्रोतों में वृद्धि के योग हैं। प्रसन्नता रहेगी। किसी अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। व्यवसाय लाभप्रद रहेगा।

🐊मकर
प्रयास सफल रहेंगे। कार्य सुचारु रूप से पूर्ण होंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कोई बड़ा कार्य करने की योजना बनेगी। आय में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। प्रमाद न करें।

🍯कुंभ
अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। पुराना रोग उभर सकता है। दूसरों से अपेक्षा न करें। बेवजह विवाद हो सकता है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है। व्यवसाय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें।

🐟मीन
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। अचानक बड़ा लाभ हो सकता है। धन प्राप्ति सुगम होगी।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

four + eight =

WhatsApp chat