🏹धनु आर्थिक नीति में परिवर्तन से तत्काल लाभ नहीं मिलेगा, आपकी राशि में क्या मिलेगा?

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 07/05/2020,गुरुवार
पूर्णिमा, शुक्ल पक्ष
वैशाख
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———पूर्णिमा 16:14:16 तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ———स्वाति 11:06:25
योग ——–व्यतापता 16:38:41
करण ——विष्टि भद्र 05:57:45
करण ————भाव 16:14:16
करण ———-बालव 26:35:00
वार ————————-गुरूवार
माह ————————–वैशाख
चन्द्र राशि ——- तुला27:12:21
चन्द्र राशि ——————वृश्चिक
सूर्य राशि ———————मेष
रितु —————————-वसंत
सायन ————————–ग्रीष्म
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————–शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————-प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————- 1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:08:23
सूर्यास्त —————–19:01:50
दिन काल —————12:53:26
रात्री काल ————-11:06:04
चंद्रास्त —————–06:46:51
चंद्रोदय —————–19:05:37

लग्न —- मेष 22°47′ , 22°47′

सूर्य नक्षत्र ——————-भरणी
चन्द्र नक्षत्र ——————-स्वाति
नक्षत्र पाया ——————–रजत

*🙏🌸 पद, चरण🌸🙏*

रो —-स्वाति 05:46:28

ता —-स्वाति 11:06:25

ती —-विशाखा 16:27:16

तू —-विशाखा 21:49:11

ते —-विशाखा 27:12:21

🌸चोघडिया, दिन
शुभ 05:37 – 07:16 शुभ
रोग 07:16 – 08:56 अशुभ
उद्वेग 08:56 – 10:36 अशुभ
चर 10:36 – 12:16 शुभ
लाभ 12:16 – 13:56 शुभ
अमृत 13:56 – 15:36 शुभ
काल 15:36 – 17:15 अशुभ
शुभ 17:15 – 18:55 शुभ

🌸चोघडिया, रात
अमृत 18:55 – 20:15 शुभ
चर 20:15 – 21:35 शुभ
रोग 21:35 – 22:55 अशुभ
काल 22:55 – 24:16* अशुभ
लाभ 24:16* – 25:36* शुभ
उद्वेग 25:36* – 26:56* अशुभ
शुभ 26:56* – 28:16* शुभ
अमृत 28:16* – 29:36* शुभ

🌸दिशा शूल ज्ञान————-दक्षिण
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केशर खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌸 अग्नि वास ज्ञान
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   15 + 5 + 1 = 21  ÷ 4 = 1 शेष

पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

*🌸शिव वास एवं फल*

15 + 15 + 5 = 35 ÷ 7 = 0 शेष

शमशान वास = मृत्यु कारक

🌸भद्रा वास एवं फल

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

प्रातः 05:59 तक समाप्त

पाताल लोक = धनलाभ कारक

  *🌸विशेष जानकारी🌸*
  • वैशाखी पूर्णिमा (बुद्ध पूर्णिमा)
  • पीपल पूर्णिमा
  • कूर्म जयन्ती
  • टैंगौर जयन्ती
  • गंधेश्वरि पूजा (बंगाल)
  • दादूदयाल पुण्य तिथि 🙏🌸शुभ विचार🌸🙏

रूपयौवनसंपन्ना विशालकुलसम्भवाः ।
विद्याहीना नशोभन्ते निर्गन्धा इवकिंशुकाः ।।
।।चा o नी o।।

जो लोग दिखने में सुन्दर है, जवान है, ऊँचे कुल में पैदा हुए है, वो बेकार है यदि उनके पास विद्या नहीं है. वो तो पलाश के फूल के समान है जो दिखते तो अच्छे है पर महकते नहीं

  *🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

पश्यादित्यान्वसून्रुद्रानश्विनौ मरुतस्तथा ।,
बहून्यदृष्टपूर्वाणि पश्याश्चर्याणि भारत ॥,

हे भरतवंशी अर्जुन! तू मुझमें आदित्यों को अर्थात अदिति के द्वादश पुत्रों को, आठ वसुओं को, एकादश रुद्रों को, दोनों अश्विनीकुमारों को और उनचास मरुद्गणों को देख तथा और भी बहुत से पहले न देखे हुए आश्चर्यमय रूपों को देख॥,6॥,

🌸व्रत पर्व विवरण🌸

🌸 विशेष – पूर्णिमा के दिन ब्रह्मचर्य का पालन करे तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

🌸वैशाख पूर्णिमा🌸
हिन्दू धर्म में वैशाख महिने की पूर्णिमा तिथि भी भगवान विष्णु व शक्ति स्वरूपा देवी लक्ष्मी की उपासना के लिए बहुत शुभ बताई गई है। माता लक्ष्मी को सुख-समृद्धि, धन, वैभव और ऐश्वर्य की देवी माना गया है।
🙏🏻वैशाख पूर्णिमा यानी 07 मई, गुरुवार को देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए नीचे बताएँ उपाय करना भी शुभ व सुख-ऐश्वर्य देने वाला माना गया है-
🙏🏻- सुबह के साथ ही खासकर शाम के वक्त भी स्नान कर माता लक्ष्मी की प्रतिमा की सामान्य पूजा कर इस मंत्र का जप आर्थिक परेशानियों को दूर करने वाला होगा।
🌸- माता लक्ष्मी को लाल चन्दन, लाल अक्षत, लाल वस्त्र, लाल फूल, मौसमी फल, मिठाई अर्पित करें।
🍚 – माता को दूध से बनी खीर का भोग लगाएं। बाद में देवी लक्ष्मी को इस वैदिक मंत्र स्तुति के उपाय का यथाशक्ति जप करें-
🌸 ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात् ॐ॥
🔥 – पूजा और मंत्र जप के बाद घी के दीप से माता लक्ष्मी की आरती करें।
🔥 – आरती के बाद धन प्राप्ति और सुखी जीवन की कामना करते हुए पूजा-आरती में हुई त्रुटियों के लिए क्षमा प्रार्थना करें।

  *🌸वैशाखी पूनम*🌸

🙏🏻 वैशाख मास की पूर्णिमा की कितनी महिमा है !! इस पूर्णिमा को जो गंगा में स्नान करता है , भगवत गीता और विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करता है उसको जो पुण्य होता है उसका वर्णन इस भूलोक और स्वर्गलोक में कोई नहीं कर सकता उतना पुण्य होता है | ये बात स्कन्द पुराण में लिखी हुई है | अगर कोई विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ न कर सके तो गुरु मंत्र की १० माला जादा कर ले अपने नियम से |

  *🌸व्यतिपात योग*🌸

🙏🏻 व्यतिपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतिपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।
🙏🏻 वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतिपात योग की।
🙏🏻व्यतिपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुऐ नाराज हुऐ, उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नही दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नही थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसु बहे वो समय व्यतिपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।

🙏🏻प्रत्येक पूर्णिमा पर सुबह के समय घर के मुख्य दरवाज़े पर आम के ताजे पत्तों से बनाया हुआ तोरण अवश्य ही बांधें, इससे भी घर में शुभता का वातावरण बनता है । लम्बे और प्रेम से भरे दाम्पत्य जीवन के लिए पूर्णिमा और अमावस्या को जातक को शारीरिक सम्बन्ध बिलकुल भी नहीं बनाना चाहिए ।

पूर्णिमा के दिन किसी भी प्रकार की तामसिक वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए। इस दिन जुए, शराब आदि नशे और क्रोध एवं हिंसा से भी दूर रहना चाहिए।इस दिन बड़े बुजुर्ग अथवा किसी भी स्त्री से भूलकर भी अपशब्द ना बोलें ।

पूर्णिमा के दिन शिवलिंग पर शहद, कच्चा दूध, बेलपत्र, शमीपत्र और फल चढ़ाने से भगवान शिव की जातक पर सदैव कृपा बनी रहती है । पूर्णिमा के दिन घिसे हुए सफ़ेद चंदन में केसर मिलाकर भगवान शंकर को अर्पित करने से घर से कलह और अशांति दूर होती है।

सफल दाम्पत्य जीवन के लिए प्रत्येक पूर्णिमा को पति पत्नी में कोई भी चन्द्रमा को दूध का अर्ध्य अवश्य ही दें ( दोनों एक साथ भी दे सकते है) , इससे दाम्पत्य जीवन में मधुरता बनी रहती है।

जिस भी व्यक्ति को जीवन में धन सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ता है उन्हें पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय के समय चन्द्रमा को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिलाकर “ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: चन्द्रमासे नम:” बोले।

🌸 पंचक
14मई2020 शाम 07.20 से
19मई 2020 शाम 07.53 तक

एकादशी
18मई 2020 सोमवार

प्रदोष
19मई 2020 मंगलवार

अमावस्या
22मई 2020 शुक्रवार

पूर्णमासी
7मई 2020 बृहस्पतिवार

  *🌸दैनिक राशिफल🌸*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
पुराने भूले-बिसरे मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कोई बड़ा काम प्रारंभ करने की योजना बनेगी। भाइयों का सहयोग नहीं मिलेगा। मतभेद हो सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। थकान रहेगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता रहेगी।

🐂वृष
समाज में मान-सम्मान मिलेगा। थोड़ी मेहनत से बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार तथा आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी में अधिकारीगण प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर सहयोग मिलेगा। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

👫मिथुन
उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। अनावश्यक विवाद हो सकता है। घर-बाहर सहयोग नहीं मिलेगा। बुरी खबर मिल सकती है। भागदौड़ रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। फालतू के आरोप लग सकते हैं। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है, धैर्य रखें।

🦀कर्क
घर-बाहर मित्र व संबंधियों के साथ मनोरंजक समय व्यतीत होगा। यात्रा सफल रहेगी। अच्छे व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। रुके कार्यों में गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। अनावश्यक क्रोध करने से बचें।

🐅सिंह
लेन-देन में सावधानी रखें। भूमि व भवन संबंधी कार्य मनोनुकूल लाभ देंगे। कष्ट, भय व तनाव का वातावरण बन सकता है। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी बड़े कार्य को करने की योजना बनेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। लाभ होगा।

🙎कन्या
वैवाहिक प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। भागदौड़ की अधिकता स्वास्थ्य को प्रभावित करेगी। राजकीय कार्य मनोनुकूल रहेंगे। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। घर-बाहर जो रुके कार्य हैं, उनमें गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

⚖तुला
पुरानी व्याधि उठ सकती है। चोट व दुर्घटना से बड़ी हानि हो सकती है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। बेचैनी रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। घर-बाहर अशांति रहेगी। आय में कमी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रयास करते रहें।

🦂वृश्चिक
कोई बाहरी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। पारिवारिक मांगलिक कार्य की योजना बन सकती है। प्रसन्नता रहेगी।

🏹धनु
आर्थिक नीति में परिवर्तन से तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। कई दिनों से अटके कार्य अब पूरे होंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। क्रोध पर नियंत्रण रखें।

🐊मकर
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। कुसंगति से हानि होगी। प्रतिष्ठित जनों का मार्गदर्शन तथा सहयोग मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। प्रमाद न करें।

🍯कुंभ
कोई बड़ा खर्च सामने आएगा। कर्ज लेना पड़ सकता है। वाणी पर नियंत्रण आवश्यक है। घर-परिवार की चिंता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। दूसरों पर अधिक भरोसा न करें। बनते कामों में विघ्न आ सकता है। धैर्य रखें। वरिष्ठजनों की सलाह मानें।

🐟मीन
व्यवसाय ठीक चलेगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। जुए-सट्टे व लॉटरी के चक्कर में न पड़ें। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। विवाद से क्लेश हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। कोई बड़ा काम हो सकता है। प्रसन्नता रहेगी।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

11 + fourteen =

WhatsApp chat