Dharma & Karma 

क्या कहतें है आज आपके सितारे

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी

🌹🌹🌹🙏
सम्पर्क सूत्र +91 9518782511
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
******|| जय श्री राधे ||******
🙏🌹🙏 *अथ पंचांगम्* 🙏🌹🙏
******ll जय श्री राधे ll******
🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸

*दिनाँक – 03/08/2019,शनिवार*
तृतीया, शुक्ल पक्ष
श्रावण
“”””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि————तृतीया22:05:35 तक
पक्ष—————————–शुक्ल
नक्षत्र—————मघा06:43:32
नक्षत्र—–पूर्वाफाल्गुनी28:05:14
योग————वरियान07:14:14
योग—————परिघ27:18:51
करण————-तैतुल11:49:44
करण————–गरज22:05:35
वार————————–शनिवार
माह—————————श्रावण
चन्द्र राशि———————- सिंह
सूर्य राशि————————कर्क
रितु——————————-वर्षा
आयन——————-दक्षिणायण
संवत्सर———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर)———–परिधावी
विक्रम संवत—————–2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2075
शाका संवत——————1941

वृन्दावन
सूर्योदय—————–05:44:30
सूर्यास्त——————19:06:00
दिन काल—————13:21:30
रात्री काल————–10:39:01
चंद्रोदय——————07:53:06
चंद्रास्त——————21:08:45

लग्न—-कर्क 16°17′ , 106°17′

सूर्य नक्षत्र———————–पुष्य
चन्द्र नक्षत्र———————–मघा
नक्षत्र पाया———————रजत

🌹🙏🌸 पद, चरण 🌸🙏🌹

मे—-मघा 06:43:32

मो—-पूर्वाफाल्गुनी 12:02:54

टा—-पूर्वाफाल्गुनी 17:22:53

टी—-पूर्वाफाल्गुनी 22:43:36

टू—-पूर्वाफाल्गुनी 28:05:14

🌹🙏🌸 ग्रह गोचर 🌸🙏🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद
=======================
सूर्य=कर्क 16 ° 52 ‘ पुष्य , 4 ड
चन्द्र =सिंह 12°23′ अश्लेषा’ 4 डो
बुध=कर्क 00°30 ‘ पुनर्वसु’ 4 ही
शुक्र= कर्क 13 ° 30, पुष्य 3 हो
मंगल=कर्क 26 ° 38 ‘आश्लेषा’ 3 डे
गुरु=वृश्चिक 20°21 ‘ ज्येष्ठा , 2 या
शनि=धनु 22°43’ पू oषा o ‘ 3 फा
राहू=मिथुन 22°10 ‘ पुनर्वसु , 2 को
केतु=धनु 22 ° 10’ पूo षाo, 4 ढा

*🌹🙏🌸शुभा$शुभ मुहूर्त🌸🙏🌹*

राहू काल 09:05 – 10:45अशुभ
यम घंटा 14:05 – 15:46अशुभ
गुली काल 05:45 – 07:25अशुभ
अभिजित 11:59 -12:52शुभ
दूर मुहूर्त 07:31 – 08:25अशुभ

🚩गंड मूल05:45 – 06:44अशुभ

💮चोघडिया, दिन
काल 05:45 – 07:25अशुभ
शुभ 07:25 – 09:05शुभ
रोग 09:05 – 10:45अशुभ
उद्वेग 10:45 – 12:25अशुभ
चर 12:25 – 14:05शुभ
लाभ 14:05 – 15:46शुभ
अमृत 15:46 – 17:26शुभ
काल 17:26 – 19:06अशुभ

🚩चोघडिया, रात
लाभ 19:06 – 20:26शुभ
उद्वेग 20:26 – 21:46अशुभ
शुभ 21:46 – 23:06शुभ
अमृत 23:06 – 24:26*शुभ
चर 24:26* – 25:45*शुभ
रोग 25:45* – 27:05*अशुभ
काल 27:05* – 28:25*अशुभ
लाभ 28:25* – 29:45*शुभ

🌸होरा, दिन
शनि 05:45 – 06:51
बृहस्पति 06:51 – 07:58
मंगल 07:58 – 09:05
सूर्य 09:05 – 10:12
शुक्र 10:12 – 11:18
बुध 11:18 – 12:25
चन्द्र 12:25 – 13:32
शनि 13:32 – 14:39
बृहस्पति 14:39 – 15:46
मंगल 15:46 – 16:52
सूर्य 16:52 – 17:59
शुक्र 17:59 – 19:06

🌸होरा, रात
बुध 19:06 – 19:59
चन्द्र 19:59 – 20:53
शनि 20:53 – 21:46
बृहस्पति 21:46 – 22:39
मंगल 22:39 – 23:32
सूर्य 23:32 – 24:26
शुक्र 24:26* – 25:19
बुध 25:19* – 26:12
चन्द्र 26:12* – 27:05
शनि 27:05* – 27:59
बृहस्पति 27:59* – 28:52
मंगल 28:52* – 29:45

*नोट*– दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

*🌸दिशा शूल ज्ञान————–पूर्व*
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
*शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l*
*भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll*

*🌸 अग्नि वास ज्ञान -:*
*यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,*
*चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।*
*दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,*
*नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्*
*नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।*

3 + 7 + 1 = 11 ÷ 4 = 3 शेष
पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

*🌸 शिव वास एवं फल -:*

3 + 3 + 5 = 11 ÷ 7 = 4 शेष

सभायां = सन्ताप कारक

*🚩भद्रा वास एवं फल -:*

*स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।*
*मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।*

🙏🌸 विशेष जानकारी 🌸🙏

* हरियाली तीज (मधुश्रवा तीज)

* स्वर्ण झूला पर विराजमान बाके बिहारी जी वृन्दावन

🙏🌸 शुभ विचार 🌸🙏🌹

एकोदरसमुद् भूता एकनक्षत्रजातकाः ।
न भवन्ति समाः शीला यथा बदरिकण्टकाः ।।
।।चा o नी o।।

अनेक व्यक्ति जो एक ही गर्भ से पैदा हुए है या एक ही नक्षत्र में पैदा हुए है वे एकसे नहीं रहते. उसी प्रकार जैसे बेर के झाड के सभी बेर एक से नहीं रहते.

🌹🙏🌸 सुभाषितानि 🌸🙏🌹

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

तस्मात्त्वमुक्तिष्ठ यशो लभस्व जित्वा शत्रून्भुङ्‍क्ष्व राज्यं समृद्धम्‌ ।,
मयैवैते निहताः पूर्वमेव निमित्तमात्रं भव सव्यसाचिन्‌ ॥,

अतएव तू उठ! यश प्राप्त कर और शत्रुओं को जीतकर धन-धान्य से सम्पन्न राज्य को भोग।, ये सब शूरवीर पहले ही से मेरे ही द्वारा मारे हुए हैं।, हे सव्यसाचिन! (बाएँ हाथ से भी बाण चलाने का अभ्यास होने से अर्जुन का नाम ‘सव्यसाची’ हुआ था) तू तो केवल निमित्तमात्र बन जा॥,33॥,

🌹🌸 दैनिक राशिफल 🌸🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🌸दिशाशूल – पूर्व दिशा में*🌸

🌹*व्रत पर्व विवरण – मधुश्रवा-ठकुरानी-हरियाली तृतीया*
🌻 *विशेष – तृतीया को पर्वल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
🌷 *नागपंचमी* 🌷
➡ *गंताक से आगे….*
🙏🏻 *श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नागपंचमी का पर्व मनाया जाता है। इस बार ये पर्व 05 अगस्त, सोमवार को है। इस दिन नागों की पूजा करने का विधान है। हिंदू धर्म में नागों को भी देवता माना गया है। महाभारत आदि ग्रंथों में नागों की उत्पत्ति के बारे में बताया गया है। इनमें शेषनाग, वासुकि, तक्षक आदि प्रमुख हैं। नागपंचमी के अवसर पर हम आपको ग्रंथों में वर्णित प्रमुख नागों के बारे में बता रहे हैं-*
🐍 *तक्षक नाग*
*धर्म ग्रंथों के अनुसार, तक्षक पातालवासी आठ नागों में से एक है। तक्षक के संदर्भ में महाभारत में वर्णन मिलता है। उसके अनुसार, श्रृंगी ऋषि के शाप के कारण तक्षक ने राजा परीक्षित को डसा था, जिससे उनकी मृत्यु हो गयी थी। तक्षक से बदला लेने के उद्देश्य से राजा परीक्षित के पुत्र जनमेजय ने सर्प यज्ञ किया था। इस यज्ञ में अनेक सर्प आ-आकर गिरने लगे। यह देखकर तक्षक देवराज इंद्र की शरण में गया।*
🙏🏻 *जैसे ही ऋत्विजों (यज्ञ करने वाले ब्राह्मण) ने तक्षक का नाम लेकर यज्ञ में आहुति डाली, तक्षक देवलोक से यज्ञ कुंड में गिरने लगा। तभी आस्तिक ऋषि ने अपने मंत्रों से उन्हें आकाश में ही स्थिर कर दिया। उसी समय आस्तिक मुनि के कहने पर जनमेजय ने सर्प यज्ञ रोक दिया और तक्षक के प्राण बच गए।*
🐍 *कर्कोटक नाग*
*कर्कोटक शिव के एक गण हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार, सर्पों की मां कद्रू ने जब नागों को सर्प यज्ञ में भस्म होने का श्राप दिया तब भयभीत होकर कंबल नाग ब्रह्माजी के लोक में, शंखचूड़ मणिपुर राज्य में, कालिया नाग यमुना में, धृतराष्ट्र नाग प्रयाग में, एलापत्र ब्रह्मलोक में और अन्य कुरुक्षेत्र में तप करने चले गए।*
🙏🏻 *ब्रह्माजी के कहने पर कर्कोटक नाग ने महाकाल वन में महामाया के सामने स्थित शिव लिंग की स्तुति की। शिव ने प्रसन्न होकर कहा- जो नाग धर्म का आचरण करते हैं, उनका विनाश नहीं होगा। इसके बाद कर्कोटक नाग उसी शिवलिंग में प्रवेश कर गया। तब से उस लिंग को कर्कोटेश्वर कहते हैं। मान्यता है कि जो लोग पंचमी, चतुर्दशी और रविवार के दिन कर्कोटेश्वर शिवलिंग की पूजा करते हैं उन्हें सर्प पीड़ा नहीं होती।*
🐍 *कालिया नाग*
*श्रीमद्भागवत के अनुसार, कालिया नाग यमुना नदी में अपनी पत्नियों के साथ निवास करता था। उसके जहर से यमुना नदी का पानी भी जहरीला हो गया था। श्रीकृष्ण ने जब यह देखा तो वे लीलावश यमुना नदी में कूद गए। यहां कालिया नाग व भगवान श्रीकृष्ण के बीच भयंकर युद्ध हुआ। अंत में श्रीकृष्ण ने कालिया नाग को पराजित कर दिया। तब कालिया नाग की पत्नियों ने श्रीकृष्ण से कालिया नाग को छोडऩे के लिए प्रार्थना की। तब श्रीकृष्ण ने उनसे कहा कि तुम सब यमुना नदी को छोड़कर कहीं और निवास करो। श्रीकृष्ण के कहने पर कालिया नाग परिवार सहित यमुना नदी छोड़कर कहीं और चला गया।*
*इनके अलावा कंबल, शंखपाल, पद्म व महापद्म आदि नाग भी धर्म ग्रंथों में पूज्यनीय बताए गए हैं।*

🌹आज का भविष्यफल 🌹
मेष-
बदलती परिस्थितियों के कारण आप नई रणनीति चुनेंगे। आपकी छवि में निखार आएगा। भागेदारी में आप में से कुछ नवीन व्यवसाय आरंभ कर सकते हैं। आप में से जो किसी बैंक या वित्तीय संस्थान से ऋण की तलाश कर रहे हैं, उन्हें सफलता प्राप्त होने की पूर्ण संभावना है। आपका स्वास्थ्य संतोषजनक रहेगा, लेकिन आपको पेट से संबंधित बीमारियों के लिए सावधानी बरतनी चाहिए। प्रियजनों के साथ लंबी दूरी की यात्रा लाभदायक होगी। आप में से कुछ के जीवन में प्रेम प्रवेश कर सकता है।

वृष-
आज आपको विभिन्न स्तरों पर कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। इस समय शांत और सकारात्मक रहना महत्वपूर्ण है। टकराव से बचें। उचित विचार के बाद वित्तीय निर्णय लें। छात्र सफलता प्राप्त करेंगे। दोस्तों की मदद से कोई पुराना ऋण वापस मिल सकता है। आज आपको अपने पारिवारिक सदस्य के साथ अच्छा तालमेल रखने की आवश्यकता पड़ सकती है। कुछ के जीवन में प्रेम प्रवेश कर सकता है। मानसिक अशांति स्वास्थ्य सम्बंधित विकारों का कारण बन सकती है।

मिथुन-
आज नई साझेदारी, संपर्क, अचानक यात्रा की योजना और अप्रत्याशित विदेश यात्रा संभव हैं। आपके द्वारा नए कौशल प्राप्त करने या एक नया व्यावसायिक प्रशिक्षण प्राप्त करने के संकेत हैं। पदोन्नति भी हो सकती है। कोर्ट-कचहरी के मामलों में राहत आपको खुशी दे सकती है। पुराने दुश्मन फिर से दोस्त बन सकतें हैं। गृह नवीकरण का भी संकेत है। घर में माँ या अन्य बुजुर्ग महिलाओं के स्वास्थ्य के मुद्दे आपको चिंतित रखेंगे। आपके कार्यालय या संगठन के कुछ प्रमुख व्यक्ति के स्वास्थ्य के खराब होने के कारण, आपको अतिरिक्त ज़िम्मेदारियां उठानी पड़ेंगी।

कर्क-
कानूनी मामलों में बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है। आज आप खुद को विपरीत स्थितियों में पा सकते हैं। रियल एस्टेट डीलिंग आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। यदि आप इस पर सावधानीपूर्वक नजर रखें तो साझेदारी आपको एक से अधिक तरीकों से लाभान्वित कर सकती है। धार्मिक गतिविधियों पर खर्च संभव है, जो आपको मानसिक शांति प्रदान करेगा। अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करें क्योंकि शिथिलता आपके लिए हानिकारक साबित हो सकती है। पारिवारिक विवाद से बचें और बच्चों के साथ अधिक समय बिताएं।

सिंह-
आप लगातार सिरदर्द और कुछ अन्य बीमारियों के कारण पीड़ित हो सकते हैं। आपके जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है। चूंकि आपको चोटों का खतरा है, इसलिए वाहन चलाते समय सावधानी बरतें। आप अथक प्रयासों के साथ लंबित कार्यों को पूरा करेंगे। आप एक नया संभावित प्रोजेक्ट शुरू कर सकते हैं, जो आपको भविष्य में अच्छा लाभ प्रदान करेगा। आपकी वित्तीय स्थिति स्थिर होगी और व्यावसायिक क्षेत्र में आप अच्छी प्रगति करेंगे।

कन्या-
आज आप अपने भविष्य और स्वास्थ्य के बारे में अधिक जिज्ञासु रहेंगे और उचित लोगों के साथ परामर्श करेंगे। प्रचुर आर्थिक लाभ की संभावना है। आप काम या परिवार के भीतर संभावित द्वन्द आप पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है और आपके शुभचिंतकों को आपके भविष्य के बारे में आशंकित और चिंतित कर सकता है। छात्र पढ़ाई में रुचि खो सकते हैं। निवेश की दृष्टि से दिन शुभ है।

तुला-
सामाजिक समारोहों में शामिल होने और रिश्तेदारों से मिलने—मिलाने में आपको बहुत खुशी मिलेगी। यदि आप नौकरी परिवर्तन की तलाश में हैं, तो आप विभिन्न अवसर प्राप्त कर सकते हैं। व्यावसायिक दृष्टि से आज का दिन परियोजनाओं के पुनर्निर्माण के लिए एक आदर्श समय है, क्योंकि आप वित्तीय रूप से स्थिर हैं। नई शुरुआत की तीव्रता सभी व्यवसायियों के लिए आगे बढ़ने का मौका प्रदान करेगी। धन निवेश से अच्छा लाभ मिलेगा। प्रबंधन क्षेत्र के छात्र अच्छा प्रदर्शन करेंगे। कुछ तनावपूर्ण रिश्तों का अंत संभव है। आप में से कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से प्रभावित हो सकते हैं।

वृश्चिक-
यह आपकी सामाजिक स्थिति को बढ़ावा देने के लिए एक अनुकूल समय है, क्योंकि प्रस्ताव योग्य दुल्हन और दूल्हे के लिए दरवाजा खटखटाएंगे। आपका साथी कुछ मुद्दों को विकसित कर सकता है, जो स्थानांतरण या माइग्रेशन का कारण हो सकता है। यह निकट और प्रिय लोगों से एक श्रृंखला या प्रतिक्रिया स्थापित कर सकता है। समझदारी से काम लें। अपने मन एवं व्यवहार पर काबू रखें।

धनु-
इस समय आप अपनी कार्यशैली में नया प्रयोग कर सकते हैं। आपके कार्यों को प्रशंसा मिलेगी। आपके काम सफ़ल होंगे। आपको थोड़ी सी सावधानी बरतनी होगी। कुछ अनावश्यक खर्चे भी सामने आ सकते हैं। आज आप धर्म या समाज से जुड़ा कोई कार्य कर सकते हैं। सप्ताह के मध्य भाग में बेकार की यात्राओं से बचें और घर परिवार का ख्याल रखें। स्त्री वर्ग से पूर्ण सहयोग मिलेगा।

मकर-
आज कार्यस्थल पर सफ़लता प्राप्ति के पूर्ण योग हैं। आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। वरिष्ठों का सहयोग मिलेगा। किंतु आर्थिक मामलों में बड़ो का सहयोग लेना उचित रहेगा, अनावश्यक खर्चे सामने आ सकते हैं। उन पर नियंत्रण रखें। आप धर्म या समाज के कार्यों से से जुड़ेंगे। आपके मान—सम्मान में इजाफ़ा होगा। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा।

कुंभ-
गलतफहमी और लगातार असहमति परिवारिक माहौल को निराशाजनक बना सकती है। यह स्थिति आपको तनावग्रस्त कर सकती है। आज कार्य स्थल पर सहकर्मियों और अधीनस्थों से टकराव होने का खतरा है। घरेलू मोर्चे पर निबटने के लिए राजनयिक बनने की कोशिश करें और दार्शनिक दृष्टिकोण अपनाकर वास्तविक दुनिया को उसके वास्तविक परिप्रेक्ष्य में देखने का प्रयास करें। वित्तीय व्यवहार और निवेश के साथ अधिक सतर्क और सावधान रहें, क्योंकि दिन ज्यादा अनुकूल नहीं है। कमाई घट सकती है और धन अवरुद्ध हो सकता है। दूसरों के लिए स्थायी गारंटी देने से बचें।

मीन-
चिकित्सा और व्यर्थ के खर्चों में वृद्धि से आपकी चिंताएं बढ़ सकती हैं। आपके जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी आपकी चिंता का सबब बन सकता है। आपके दुश्मन आपके खिलाफ गुप्त रूप से काम कर सकते हैं और आपको परेशानी दे सकते हैं। आप एक आकस्मिक घटना के कारण चोटिल हो सकते हैं। पेशे के संबंध में यात्राएं फलहीन रह सकती हैं। अच्छे पक्ष पर फोकस करते हुए आप धार्मिक प्रथाओं और ध्यान में पहल करेंगे।

जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएंअंक ज्योतिष के अनुसार आपका मूलांक 3 आता है। यह बृहस्पति का प्रतिनिधि अंक है। ऐसे व्यक्ति निष्कपट, दयालु एवं उच्च तार्किक क्षमता वाले होते हैं। अनुशासनप्रिय होने के कारण कभी-कभी आप तानाशाह भी बन जाते हैं। आप दार्शनिक स्वभाव के होने के बावजूद एक विशेष प्रकार की स्फूर्ति रखते हैं। आपकी शिक्षा के क्षेत्र में पकड़ मजबूत होगी। आप एक सामाजिक प्राणी हैं। आप सदैव परिपूर्णता या कहें कि परफेक्शन की तलाश में रहते हैं यही वजह है कि अकसर अव्यवस्थाओं के कारण तनाव में रहते हैं।

शुभ दिनांक : 3, 12, 21, 30

शुभ अंक : 1, 3, 6,7, 9,
शुभ वर्ष : 2019, 2028, 2030, 2031, 2034, 2043, 2049, 2052

ईष्टदेव : देवी सरस्वती, देवगुरु बृहस्पति, भगवान विष्णु

शुभ रंग : पीला , सुनहरा और गुलाबी

कैसा रहेगा यह वर्ष

वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद है। किसी विशेष परीक्षा में सफलता मिल सकती है। नौकरीपेशा के लिए प्रतिभा के बल पर उत्तम सफलता का है। नवीन व्यापार की योजना भी बन सकती है। दांपत्य जीवन में सुखद स्थिति रहेगी। घर या परिवार में शुभ कार्य होंगे। मित्र वर्ग का सहयोग सुखद रहेगा। शत्रु वर्ग प्रभावहीन होंगे। महत्वपूर्ण कार्य से यात्रा के योग भी है।
🙏आपका दिन मंगलमय हो 🙏

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

WhatsApp chat