दुबई के युवराज ने भारतीय कैंसर पीड़ित बच्चे के लिए किया कुछ ऐसा कि हर भारतीय बोलने पर मजबूर है, की हे युवराज तेरे इस दिल छू लेने वाली पहल के लिए तुझे दिल से सलाम…

कैंसर से जूझ रहे सात वर्षीय भारतीय बच्चे की खुशी का उस समय ठिकाना न रहा, जब दुबई के युवराज शेख हमदान ने दिल को छू लेने वाली पहल करते हुए अपने इस प्रशंसक से मुलाकात की. शेख हमदान Sheikh Hamdan ने बच्चे के साथ अपनी फोटो भी सोशल मीडिया Social Media पर पोस्ट की।

अब्दुल्ला ने सोशल मीडिया पर जताई थी शेख हमदान से मिलने की इच्छा, ‘गल्फ न्यूज’ ने बताया कि तीसरे चरण के कैंसर से जूझ रहे हैदराबाद के अब्दुल्ला हुसैन ने सोशल मीडिया के जरिए इच्छा जताई थी कि वह अपने आदर्श शेख हमदान से मिलना चाहता है जिसके बाद एक समाचार चैनल पर भी यह खबर दिखाई गई थी।

अब्दुल्ला ने एक वीडियो में कहा था, ‘‘शेख हमदान बहुत शांत, साहसी और दयालु हैं. मैं उनके पालतू पशुओं से मिलना चाहता हूं और मैं उनकी पोशाकों को देखना चाहता हूं।

अब्दुल्ला ने वीडियो में एक बैनर भी पकड़ा हुआ था, जिस पर लिखा था, ‘‘शेख हमदान, मैं आपका प्रशंसक हूं. मैं आपसे मिलना चाहता हूं. फजा, मैं आपसे प्रेम करता हूं। नौशीन फातिमा ने कहा कि शेख हमदान Sheikh Hamdan से मुलाकात के बाद अब्दुल्ला उनका और बड़ा प्रशंसक हो गया है।

शेख हमदान से मिलने के बाद बच्चा और परिवार बेहद खुश है
शेख हमदान के साथ शुक्रवार को मुलाकात के बाद अब्दुल्ला की मां नौशीन फातिमा ने ‘गल्फ न्यूज’ से बातचीत के दौरान अपने बच्चे और परिवार की खुशी के लिए आभार व्यक्त किया था. उन्होंने कहा, ‘‘महामहिम से मुलाकात के बाद से अब्दुल्ला बहुत खुश है. उनसे मिलना मेरे बच्चे की सबसे बड़ी हसरत थी. अल्लाह का शुक्र है कि उसकी हसरत पूरी हुई।

शेख हमदान ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट की बच्चे की तस्वीर
हमदान ने अब्दुल्ला के साथ मुलाकात के बाद इंस्टाग्राम Instagram पर एक तस्वीर पोस्ट करके लिखा था, ‘‘आज इस साहसी लड़के से मुलाकात हुई।

नौशीन ने कहा, ‘‘वह अपने नायक से मिला है और हम सब युवराज की दिल को छूने वाली इस पहल से बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा कि ‘‘शेख हमदान (Sheikh Hamdan) की सरलता, दयालुता, अब्दुल्ला और उसके छोटे भाई अहमद से उनके बात करने के तरीके और उनके विनम्र एवं चुलबुले स्वभाव ने’’ परिवार का दिल छू लिया।

उन्होंने कहा कि शेख हमदान ने अब्दुल्ला (Abdulla) के उपचार और आगे की योजनाओं के बारे में भी पूछा। बच्चे अब्दुल्ला ने शेख हमदान के पालतू पशुओं के साथ गुजारा 1 घंटे का समय। नौशीन ने कहा, ‘‘वह बहुत दरियादिल हैं. हमें लगा ही नहीं कि हम युवराज (prince) से बात कर रहे हैं। अब्दुल्ला के पिता मोहम्मद ताजामुल हुसैन ने शेख हमदान को उनकी तस्वीर भेंट की।

नौशीन ने बताया कि शेख हमदान ने उपहार Gifts स्वीकार किए और 15 मिनट की मुलाकात में परिवार के साथ तस्वीरें खिंचवाईं. इसके बाद, अब्दुल्ला के परिवार ने एक घंटे से अधिक समय तक शेख हमदान के पालतू पशुओं Pets के साथ समय बिताया।

अब्दुल्ला को शेख हमदान के बारे में माता-पिता से पता चला
नौशीन ने बताया कि अब्दुल्ला को सबसे पहले अपने माता-पिता से शेख हमदान के बारे में पता चला था और बाद में, उसने यूट्यूब Youtube पर जनवरी में पहली बार शेख हमदान का वीडियो देखा।

परिवार को अब्दुल्ला की बीमारी में बारे में दिसंबर में पता चला था. नौशीन ने कहा कि अब्दुल्ला फजा का प्रशंसक बन गया और वह उनसे मिलना चाहता था. कीमोथैरेपी Chemotherapy के दौरान उसका ध्यान हटाने के लिए अब्दुल्ला के माता-पिता उसके सामने शेख हमदान और अवेंजर सुपरहीरो का जिक्र किया करते थे, ताकि उसका दर्द कम हो सके।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

four × four =

WhatsApp chat