Dharma & Karma (ज्योतिष शास्त्र) Dream Zone 

हर व्यक्ति को कार्य में सफलता नही मिलती, बार बार असफलता से व्यक्ति मानसिक तौर पर परेशान हो जाता है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है? तो ज्योतिष के इस उपाय को करके देखें…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏🌸
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक-:21/10/2020,बुधवार
पंचमी, शुक्ल पक्ष
आश्विन
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-पंचमी 09:06:59 तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ————-मूल 25:12:17
योग ————शोभन 06:47:43
योग ———अतिगंड 28:23:03
करण ———-बालव 09:06:58
करण ———कौलव 20:17:26
वार ————————-बुधवार
माह ———————— आश्विन
चन्द्र राशि ——————— धनु
सूर्य राशि ——————– तुला
रितु —————————-शरद
आयन —————– दक्षिणायण
संवत्सर ——————— शार्वरी
संवत्सर (उत्तर) ————प्रमादी
विक्रम संवत —————-2077
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1942

मुम्बई
सूर्योदय —————–06:35:42
सूर्यास्त —————–18:10:01
दिन काल ————–11:34:19
रात्री काल ————-12:26:01
चंद्रोदय —————–11:11:00
चंद्रास्त —————–22:25:33

लग्न —- तुला 3°57′ , 183°57′

सूर्य नक्षत्र ——————–चित्रा
चन्द्र नक्षत्र ———————-मूल
नक्षत्र पाया ———————ताम्र

🙏🌸 पद, चरण 🌸🙏

ये —————–मूल 07:52:21
यो —————–मूल 13:36:16
भा —————-मूल 19:22:53
भी —————–मूल 25:12:17

🌸 राहू काल 12:04 – 13:28 अशुभ
🌸 अभिजित 11:41 -12:26 अशुभ

🌸 चोघडिया, दिन
लाभ 06:24 – 07:49 शुभ
अमृत 07:49 – 09:14 शुभ
काल 09:14 – 10:39 अशुभ
शुभ 10:39 – 12:04 शुभ
रोग 12:04 – 13:28 अशुभ
उद्वेग 13:28 – 14:53 अशुभ
चर 14:53 – 16:18 शुभ
लाभ 16:18 – 17:43 शुभ

🌸 चोघडिया, रात
उद्वेग 17:43 – 19:18 अशुभ
शुभ 19:18 – 20:53 शुभ
अमृत 20:53 – 22:29 शुभ
चर 22:29 – 24:04* शुभ
रोग 24:04* – 25:39* अशुभ
काल 25:39* – 27:14* अशुभ
लाभ 27:14* – 28:49* शुभ
उद्वेग 28:49* – 30:25* अशुभ

🌸 दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो पान अथवा पिस्ता खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

*🌸अग्नि वास ज्ञान*

5 + 4 + 1 = 10 ÷ 4 = 2 शेष
आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

🌸 शिव वास एवं फल
5 + 5 + 5 = 15 ÷ 7 = 1 शेष
कैलाश वास = शुभ कारक

🌸विशेष जानकारी🌸

  • नवरात्रि पंचम दिवस (स्कन्ध माता) पूजन
  • सरस्वती पूजन
  • ललिता पंचमी 🙏🌸शुभ विचार🌸🙏

वाचा शौचं च मनसः शौचमिन्द्रियनिग्रहः ।
सर्वभूते दया शौचमेतच्छौचं परार्थिनाम् ।।
।।चा o नी o।।

यदि आप दिव्यता चाहते है तो आपके वाचा, मन और इन्द्रियों में शुद्धता होनी चाहिए. उसी प्रकार आपके ह्रदय में करुणा होनी चाहिए.

     *🌸सुभाषितानि🌸*

गीता -: ज्ञानविज्ञानयोग अo-07

चतुर्विधा भजन्ते मां जनाः सुकृतिनोऽर्जुन ।,
आर्तो जिज्ञासुरर्थार्थी ज्ञानी च भरतर्षभ ॥,

हे भरतवंशियों में श्रेष्ठ अर्जुन! उत्तम कर्म करने वाले अर्थार्थी (सांसारिक पदार्थों के लिए भजने वाला), आर्त (संकटनिवारण के लिए भजने वाला) जिज्ञासु (मेरे को यथार्थ रूप से जानने की इच्छा से भजने वाला) और ज्ञानी- ऐसे चार प्रकार के भक्तजन मुझको भजते हैं॥,16॥,

   *🌸 व्रत पर्व विवरण*🌸

🌸 विशेष – पंचमी को बेल खाने से कलंक लगता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌸 विघ्न-बाधा में🌸
🙏🏻 आदित्य ह्रदय स्तोत्र भगवान रामजी को अगस्त्य मुनि ने दिया था l आदित्य ह्रदय स्तोत्र ३ बार जपने से विघ्न-बाधा व आरोप लगाने वालों को सफलता नहीं मिलती –

🌸 हर व्यक्ति को काम आरंभ करते समय यह उम्मीद होती है कि वह सफल अवश्य होगा परंतु कभी कभी कोई भी कार्य करो तो पूर्ण नहीं हो पाता है बार-बार असफलता मिलती है या फिर कार्य किसी भी कार्य में बाधाएं बहुत आती हैं तो व्यक्ति मानसिक तौर पर बहुत परेशान हो जाता है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो ज्योतिष में इसके लिए कुछ उपाय बताए गए हैं, जिनको करने से आप कार्यों में सफलता पा सकते हैं। जानते हैं किन उपायों को करने से आप कार्यों में आने वाली  बाधाओं को दूर कर सकते हैं।।

1:तुलसी को पौधे को बहुत पवित्र और पूजनीय माना गया है। ज्योतिष के अनुसार तुलसी का पौधा घर लगाने से सकारात्मकता आती है। अगर आपके काम बनते बनते रह जाते हैं तो श्यामा तुलसी का पौधा लगा और उस पौधे में नियमित रुप  संध्या के समय घी की दीपक प्रज्वलित करें। इस उपाय को नियम पूर्वक पूरे विश्वास और श्रद्धा के साथ करना चाहिए। इससे आपको समस्या का समाधान हो जाएगा।

2:सुबह को स्नानादि करने के पश्चात थोड़े से चावल पीसकर उसमें हल्दी मिला लें उस मिश्रण से घर के मुख्य दरवाजे पर ऊं का चिह्न बना दें। ऐसा करने से आपके घर की सारे विघ्न बाधाएं दूर होती हैं।।

3::यदि बहुत प्रयास करने पर भी आपको कार्यों में सफलता नहीं मिल पा  रही है और हर कार्य में बाधा उत्पन्न हो रही है तो गीता के 11वें अध्याय का पाठ नियमित रुप से करना चाहिए। इससे आपके कार्यों में आ रहीं बाधाएं जल्द ही दूर होंगी।

4:किसी भी कार्य के लिए बाहर जाने सेपहले अपने से बड़ो और माता-पिता का आशीर्वाद ग्रहण करें। बाहर निलकते समय दायां पैर बाहर निकालें। ऐसा शुभ माना जाता है। कहते हैं कि इससे कार्यों में सफलता प्राप्त होती है।

🌸 उपांग ललिता व्रत🌸
🙏🏻 आदि शक्ति मां ललिता दस महाविद्याओं में से एक हैं। आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को इनके निमित्त उपांग ललिता व्रत किया जाता है। यह व्रत भक्तजनों के लिए शुभ फलदायक होता है। इस वर्ष उपांग ललिता व्रत 20 अक्टूबर, मंगलवार को है। इस दिन माता उपांग ललिता की पूजा करने से देवी मां की कृपा व आशीर्वाद प्राप्त होता है। जीवन में सदैव सुख व समृद्धि बनी रहती है।
🙏🏻 उपांग ललिता शक्ति का वर्णन पुराणों में प्राप्त होता है, जिसके अनुसार पिता दक्ष द्वारा अपमान से आहत होकर जब माता सती ने अपना देह त्याग दिया था और भगवान शिव उनका पार्थिव शव अपने कंधों में उठाए घूम रहें थे। उस समय भगवान विष्णु ने अपने चक्र से सती की देह को विभाजित कर दिया था। इसके बाद भगवान शंकर को हृदय में धारण करने पर इन्हें ललिता के नाम से पुकारा जाने लगा।
🙏🏻 उपांग ललिता पंचमी के दिन भक्तगण व्रत एवं उपवास करते हैं। कालिका पुराण के अनुसार, देवी की चार भुजाएं हैं, यह गौर वर्ण की, रक्तिम कमल पर विराजित हैं। ललिता देवी की पूजा से समृद्धि की प्राप्त होती है। दक्षिणमार्गी शास्त्रों के मतानुसार देवी ललिता को चण्डी का स्थान प्राप्त है। इनकी पूजा पद्धति देवी चण्डी के समान ही है। इस दिन ललितासहस्रनाम व ललितात्रिशती का पाठ किया जाए तो हर मनोकामना पूरी हो सकती है।

🌸एकादशी
पापांकुशा एकादशी- 27 अक्टूबर

🌸दैनिक राशिफल🌸

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
भूमि व भवन संबंधी बाधा दूर होगी। बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। आय में वृद्धि होगी। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। निवेश शुभ रहेगा। भाग्य का साथ रहेगा। नौकरी में अनुकूलता रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। विवाद से दूर रहें। कुसंगति से बचें।
🐂वृष
लेन-देन में जल्दबाजी न करें। किसी व्यक्ति विशेष से अनबन हो सकती है। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। व्यर्थ भागदौड़ रहेगी। समय का अपव्यय होगा। दूर से दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है। विवाद से क्लेश होगा। काम में मन नहीं लगेगा।
👫मिथुन
शत्रु शांत रहेंगे। वाणी पर नियंत्रण रखें। दूर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। घर में प्रतिष्ठित अतिथियों का आगमन हो सकता है। व्यय होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। आय बनी रहेगी। दुष्‍टजनों से दूर रहें। चिंता तथा तनाव रहेंगे।
🦀कर्क
किसी भी अपरिचित व्यक्ति पर अंधविश्वास न करें। चिंता तथा तनाव बने रहेंगे। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। शत्रु शांत रहेंगे। ऐश्वर्य पर खर्च होगा। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। पुराना रोग उभर सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें।

🐅सिंह
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। शुभ समाचार मिल सकता है। शारीरिक कष्ट संभव है। अज्ञात भय रहेगा। लेन-देन में सावधानी रखें। चिंता रहेगी। मित्रों का सहयोग कर पाएंगे। मान-सम्मान मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी।
🙍‍♀️कन्या
कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। कारोबारी नए अनुबंध हो सकते हैं, प्रयास करें। आय में वृद्धि होगी। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। प्रमाद न करें। आराम का समय मिलेगा। आशंका-कुशंका रहेगी।
⚖️तुला
विवेक से कार्य करें। समस्या दूर होगी। कानूनी अड़चन दूर होकर स्थिति मनोनुकूल बनेगी। किसी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कारोबारी लाभ में वृद्धि होगी। नौकरी में शांति रहेगी। सहकर्मियों का साथ मिलेगा। धनार्जन होगा। कष्ट, भय व चिंता का वातावरण बन सकता है।
🦂वृश्चिक
कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। शारीरिक शिथिलता रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। किसी अपने का व्यवहार प्रतिकूल रहेगा। पार्टनरों से मतभेद हो सकते हैं। नौकरी में अपेक्षानुरूप कार्य न होने से अधिकारी की नाराजी झेलना पड़ेगी। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें।

🏹धनु
यात्रा मनोनुकूल लाभ देगी। राजभय रहेगा। जल्दबाजी व विवाद करने से बचें। थकान महसूस होगी। किसी के व्यवहार से स्वाभिमान को ठेस पहुंच सकती है। कोर्ट व कचहरी के काम अनुकूल रहेंगे। धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन हो सकता है। पूजा-पाठ में मन लगेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रसन्नता रहेगी।
🐊मकर
कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। शारीरिक कष्ट संभव है। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। कोई ऐसा कार्य न करें जिससे कि नीचा देखना पड़े। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। धनार्जन होगा। आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। मित्रों का सहयोग कर पाएंगे।
🍯कुंभ
भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। रोजगार प्राप्ति सहज ही होगी। व्यावसायिक यात्रा से लाभ होगा। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। निवेशादि शुभ रहेंगे। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। किसी बड़ी समस्या का हल प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। दूसरों के काम में हस्तक्षेप न करें।
🐟मीन
किसी मांगलिक कार्यक्रम में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। विद्यार्थी वर्ग सफलता प्राप्त करेगा। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय में मनोनुकूल लाभ होगा। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड में सोच-समझकर हाथ डालें। जल्दबाजी न करें। समय अनुकूल है। यात्रा मनोरंजक रहेगी।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

five × 2 =

WhatsApp chat