फ़िल्म जगत के लिए खुशखबरी, चार महीने से सिनेमाघरों पर लगे हुए तालों की, एक अगस्त से खुलने की उम्मीद..

कोरोना वायरस महामारी से पूरा देश जूझ रहा है। कोरोना के चलते आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है, जिसका असर सिनेमा जगत पर भी काफी पड़ा है। पिछले चार महीने से सिनेमाघरों पर ताला लगा हुआ है। सिनेमाघर बंद होने के कारण फिल्में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो रही हैं। अनलॉक-1 में सिनेमाघरों को खोलने की उम्मीद जताई गई थी, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। 31 जुलाई को अनलॉक-2 खत्म हो रहा है और अब एक बार फिर सिनेमा हॉल ओपन करने की सुगबुगाहट है। कहा जा रहा है कि अनलॉक-3 में सिनेमा हॉल को खोला जा सकता है।

फिल्म समीक्षक और ट्रेड एनालिस्ट कोमल नाहटा का कहना है कि सिनेमाघर 1 अगस्त से दोबारा खोले जा सकते हैं। उन्होंने यह जानकारी सूत्रों के हवाले से दी है। कोमल नाहटा ने रविवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि शानदार खबर। एक विश्वसनीय सूत्र के मुताबिक, सिनेमाघर 1 अगस्त से दोबारा खुल सकते हैं। गौरतलब है कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्रालय को सुझाव दिया है कि पूरे देश में अगस्त से सिनेमाघरों को दोबारा खोलने की अनुमति दी जाए। मंत्रालय के सचिव अमित खरे ने कहा कि इस बारे में गृह सचिव अजय भल्ला से बात की है और वही इस पर अंतिम फैसला लेंगे।

खरे ने बताया कि उन्होंने सुझाव दिया है कि आने वाले 1 अगस्त से पूरे देश के सिनेमाघरों को खोलने की अनुमति दी जाए, नहीं तो 31 अगस्त तक यह अनुमति दे दी जाए। खरे ने कहा कि उनके मंत्रालय की सिफारिश में दो मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग मानदंड को ध्यान में रखा गया है। हालांकि, गृह मंत्रालय की ओर से अभी भी कुछ भी कहा जाना बाकी है। खरे ने कहा कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सुझावों पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। वहीं, सिनेमाघरों के मालिक इस तरीके से थिएटर खोलने के पक्ष में नहीं है। उनका कहना है कि महज 25 प्रतिशत दर्शक क्षमता के साथ सिनेमाघरों को खोलने से अच्छा है कि उन्हें बंद ही रखा जाए।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

12 + fourteen =

WhatsApp chat