डेढ़ मिनट में कोरोना के लक्षण स्कैन करके बताएगी ये मशीन, क्वारेंटाइन करें या नहीं…

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के बीच राहत की खबर है। आईआईआईटी सूरत की इलेक्ट्रॉनिक्स व कंप्यूटर साइंस की छात्रा एकता अरोड़ा (निवासी रोपड़) और उसके दोस्त कृष्णा ओझा (बीकानेर) ने कोरोना संदिग्धों की स्क्रीनिंग के लिए ऑटोनोमस कोविड-19 स्कैनर बनाया है। ये स्क्रीनिंग कर डेढ़ मिनट में कोरोना के लक्षण खोज लेगी। जरूरत हुई तो क्वारेंटाइन करने या फिर जांच के लिए सैंपल लेने के संकेत भी देगी।

राेपड़ के आजाद नगर की एकता ने बताया कि मशीन बनाने में 25 दिन लगे। मशीन डेढ़ मिनट में स्क्रीनिंग कंप्लीट करती है। मशीन से 50 सेंटीमीटर की दूरी पर संदिग्ध को खड़ा करने से जांच हो जाएगी। जांच होने के बाद पूरी जानकारी दे देगी। यदि रोगी को सर्दी, खांसी, बहती नाक या छींक की शिकायत है तो स्कैनर तुरंत डेटा विश्लेषण कर एक्सरे लेता है। लॉकडाउन के दौरान ही इसका प्लान बनाया।

इससे डाॅक्टर और पुलिस के संक्रमित होने का खतरा घटेगा

लगातार स्क्रीनिंग हो रही हैं। डॉक्टर, पुलिस कर्मचारियों के संक्रमित होने का खतरा बढ़ेगा। सभी को किट देना भी असंभव है। इससे फ्रंट लाइन में काम करने वालों में संक्रमण का खतरा घटेगा।

एक ही मशीन से सभी की हाे जाएगी स्कैनिंग

एकता अरोड़ा ने बताया कि ऑटोनोमस कोविड-19 स्कैनर बनाने के बाद पीएम व स्वास्थ्य मंत्री को ट्वीट किया है। आईआईआईटी सूरत के डीन ने भी मानव संसाधन मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा है।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

twelve + thirteen =

WhatsApp chat