कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या मात्र 3%, और 95411 लोग संक्रमित, जिसमे से 55%…

कोरोना वायरस का भय पूरी दुनिया में इतना ज्यादा फैल चुका है कि आम आदमी समझ ही नहीं पा रहा है कि बचाव कैसे हो. अब तक सिर्फ मरने या फिर संक्रमित होने की खबरों से ऐसा लग रहा है कि कोरोना वायरस का दूसरा नाम ही मौत है. लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है. तमाम डर और आशंका के बीच एक अच्छी राहतभरी खबर भी है. मौजूदा आंकड़ों से पता चला है कि कोरोना वायरस संक्रमित लोग जल्द ठीक भी हो जा रहे है. वायरस से बेहद कम लोग ही मरे।

55 फीसदी से ज्यादा ठीक हो चुके हैं उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक पूरी दुनिया में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों में 55 प्रतिशत लोग ठीक भी हो चुके हैं. आंकड़ों के मुताबिक पूरी दुनिया में लगभग 95,411 लोग अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. लेकिन अच्छी बात ये है कि इनमें से 53,255 लोग पूरी तरह से ठीक होकर घर भी जा चुके हैं. यानि ठीक होने वालों का आंकड़ा 55 प्रतिशत से अधिक रहा है. वैज्ञानिकों का कहना है कि मौसम में गर्मी बढ़ने के साथ ही वायरस का आतंक भी कम होने लगेगा।

मात्र 3 प्रतिशत लोग ही मरे हैं कोरोना वायरस से
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि कोरोना वायरस किसी भी रूप में सार्स वायरस से कम घातक है. मसलन, 95,411 संक्रमित लोगों में से मात्र 3 फीसदी (3,285) ही लोगों की मौत हुई है. इसे एक पॉजिटिव नजरिए से देखा जाना चाहिए क्योंकि महामारी में मरने वालों का प्रतिशत काफी ज्यादा होता है।

अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों का कहना है कि जैसे जैसे तापमान बढ़ेगा वायरस का असर कम होने लगेगा. जर्मनी वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस 10 डिग्री से कम तापमान में पनपने और घातक होने के लिए अनुकूल है. 30 डिग्री से ज्यादा तापमान में वायरस के जिंदा रहने की संभावना कम है. जैसे-जैसे भारत में तापमान बढ़ रहा है वायरस के जल्द खत्म होने की उम्मीद जताई जा रही है।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

2 × 5 =

WhatsApp chat