Health & Fitness 

बरसात का मौसम होता है बीमारियों का घर, बचने के लिए आयुष मंत्रालय ने बताए हैं घरेलू तरीके…

बारिश के मौसम में तमाम तरह के संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. इस मौसम में फ्लू, वायरल बुखार की परेशानी भी काफी लोगों को हो जाती है. साथ ही इस मौसम में लोगों को आमतौर पर खांसी, बदन में दर्द, सिरदर्द, मांसपेशियों में खिंचाव, नाक बंद होना और सांस लेने में परेशानी जैसी समस्याएं आती हैं ऐसे में बेहद जरूरी है कि आयुष मंत्रालय के घरेलू तरीकों को अपनाकर सेहत को दुरूस्त रखें।

गर्मी के मौसम में लोग हल्दी वाला दूध नहीं पीते हैं लेकिन इस बार कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए मंत्रालय ने इस मौसम में भी हल्दी दूध पीने की सलाह दी है. खांसी, जुकाम, सांस से जुड़ी दिक्कतों और गले में दर्द से बचने के लिए दिन में एक बार हल्दी वाला दूध जरूर लें. दूध में हल्दी की मात्रा पर ध्यान दें. एक ग्लास दूध में सिर्फ एक चौथाई चम्मच हल्दी मिलाएं।

बारिश के सीजन में भी भांप लेना फायदेमंद होगा. इससे बंद नाक और गले में खराश में राहत मिलती है. आप चाहें तो विक्स और पुदीन हरा की गोली या लिक्विड डालकर भी भांप ले सकते हैं.इसके अलावा लौंग का तेल भी फायदा करेगा. आयुष मंत्रालय के अनुसार आपको दिन में एक बार गर्म पानी में पुदीने की पत्तियां या फिर अजवाइन की पत्तियां डालकर भाप लेनी चाहिए. इसके अलावा लौंग का सेवन करें आप चाहें तो लौंग को पीसकर इसे शहद के साथ मिलाकर दिन में 2-3 बार खा लें. इससे खांसी में काफी आराम मिलेगा।

इसके अलावा खांसी जुकाम में तुलसी अदरक की चाय पीने से भी बहुत फायदा मिलता है. आप चाहें तो इस चाय में चीनी की जगह गुड़ का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

इम्युनिटी मजबूत करने के लिए इस मौसम में खान-पान पर ज्यादा ध्यान दें. ताजा और गर्म खाना खाएं।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

18 + 16 =

WhatsApp chat