10 हजार ज्वेलर्स को इनकम टैक्स की नोटिस…

नोटबंदी के दौरान बैंकों में ज्वेलर्स के कैश डिपॉजिट पर इनकम टैक्स विभाग सख्त हो गया है. इन ज्वेलर्स को कैश डिपॉजिट पर 31 दिसंबर 2019 तक एसेसमेंट फाइल करनी थी, लेकिन देशभर के करीब 10 हजार ज्वेलर्स एसेसमेंट फाइल करने में नाकाम रहे, इसीलिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से रिकवरी नोटिस भेजा गया है.


इस पूरे मामले पर आईबीजेए के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने बताया है कि देशभर में करीब 3 लाख ज्वेलर्स है. इसमें से उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान, तमिलनाडु के ज्वेलर्स के करीब 10 हजार ज्वेलर्स को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से नोटिस मिला है.


सुरेंद्र मेहता ने बताया कि कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से की गई टैक्स रिकवरी की मांग से देशभर के ज्वेलर्स पर 18 से 20 हजार करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. ये इंडस्ट्री के लिए नए चुनौती बन सकता है. मेहता का कहना है कि इतनी बड़ी रकम की रिकवरी में मुश्किलें आएंगी. इससे मंदी भी बढ़ सकती है. IBJA की तरफ से ज्वेलर्स को सलाह दी जा रही है.

इस पूरे मामले पर आईबीजेए के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने बताया है कि देशभर में करीब 3 लाख ज्वेलर्स है. इसमें से उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, गुजरात, राजस्थान, तमिलनाडु के ज्वेलर्स के करीब 10 हजार ज्वेलर्स को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से नोटिस मिला है.


Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

five × four =

WhatsApp chat