Electronics Journey Mira Bhayander Special 

रमणिक भाई गड़ा की कहानी उनके दोस्त के जुबानी

मीरा भायंदर शहर के मोबाइल इंडस्ट्री में जाना पहचाना नाम रमणिक मणिलाल गड़ा गुजरात के एक छोटे से गांव लातड़िया कच्छ से आए और रमणिक भाई ने एक छोटी सी नौकरी करके अपने जीवन की शुरुआत की जहां तक मैं जानता हूं उन्होंने गरीबी और अमीरी दोनों देखी है एक छोटी सी नौकरी करके इन्होंने जो सफलता के सीढ़ियां छुआ है वह प्रेरणादायक और आज के युवाओं के लिए कुछ सीखने जैसा है आज मैं इन्हीं के बारे में कुछ शब्द कहना चाहता हूं ।

रमणिक भाई गुजरात के कच्छ के छोटे से गांव से 15 साल की उम्र से ही कमाने के लिए मुंबई निकल गए इन्होंने मुंबई के ग्रांड रोड में एक दुकान मैं नौकरी की शुरुआत की फिर इनके साथ इनके मित्र अनिल भाई के साथ ही उन्होंने एक अपना छोटा सा व्यापार शुरू किया एक छोटे से व्यापार में इन्होंने भाईंदर में एक अपनी खुद की दुकान खोली जिसमें यह टेप रिकॉर्डर, स्पीकर, कैसेट, बाजा और इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक के सामान बेचा करते थे तब उस समय लैंडलाइन फोन के सेल के बादशाह थे ।

उसके कुछ सालों के बाद 2001 से उन्होंने मोबाइल भी रखना शुरू किया फिर उसके बाद उन्होंने धीरे धीरे मोबाइल इंडस्ट्री में भी अपना झंडा गाड़ा उस समय के दौर में वह मोबाइल सेल में जैसे कि नोकिया सैमसंग जैसे बड़ी ब्रांड में उन्हें सेल का बादशाह कहा जाता है और इसी के चलते उन्हें बड़ी-बड़ी कंपनियों से जैसे कि सैमसंग नोकिया एप्पल ओप्पो वीवो जैसे बड़ी कंपनियों से सम्मान और अवार्ड बहुत सारा मिला है जिसे हासिल कर पाना बहुत बड़ी बात होती है।

पूरे मुंबई में अपनी छाप बना पाना और ग्राहक कंपनी और डिस्ट्रीब्यूटर मे इनका विश्वास और भरोसा दोनों जीता है इनकी दुकान सरस्वती एन एक्स पूरे मुंबई में अच्छे भाव अच्छी सर्विस और अच्छा ग्राहकों के प्रति व्यवहार और अच्छा कंपनी के प्रति व्यवहार के लिए जाना जाता है इसी के चलते बहुत दूर दूर से लोग इनके पास मोबाइल लेने आते हैं आज बड़ी-बड़ी कंपनियों की जो भी नए मॉडल की ओपनिंग पार्टी रहती है इन्हें स्पेशल गेस्ट के रूप में बुलाया जाता है।

इनकी काबिलियत का अंदाज़ा आप ऐसे ही लगा सकते हैं कि इनकी दुकान पर दो बार बॉलीवुड की अभिनेत्री आ चुकी हैं जिनमें से नेहा धूपिया और अदिति राव हैदरी भी है और कितनी बड़ी हस्तियों से यह खुद मिल चुके हैं।

इनकी सफलता और कामयाबी यही नहीं रुकी इन्होंने 2014 में दूसरी ब्रांच भायंदर वेस्ट में सरस्वती ऐन ऐक्स नाम से ओपन की इसके बाद 2019 में उन्होंने मिरा रोड इसमें भी एक ब्रांच का उद्घाटन किया। आज वह जिस सफलता के मुकाम पर है उनसे हमें यह चीज़ सीखने को मिलती है, आदमी कितना भी कुछ कर ले उसे कभी रुकना नहीं चाहिए, या फिर वह कितना भी बड़ा बन जाए अपने पुराने दिन भूलना नहीं चाहिए।

रमणिक भाई एक शांत सरल स्वभाव वाले इंसान और दूसरे की मदद के लिए हमेशा आगे खड़े रहने वाले वह हमेशा सबको अपने साथ लेकर चले हैं जैसे कि सभी जानते हैं कि आज इनके जैसा होना और सभी चाहते हैं जैसे रमणिकभाई और अनिल भाई 40 साल से अपनी मित्रता के लिए जाने जाते हैं । कहते हैं समय सबका आता है एक समय इनका भी ऐसा था कि इन्हें कोई मिलने के लिए समय नहीं देता था और आज एक समय उन्होंने ऐसा बनाया है उनसे मिलने के लिए लोग समय निकालते हैं आज जहां जहां देश-विदेश में उन्होंने घुमा है वह और कितनों का तो सपना रह जाता है जैसे कि सिंगापुर हांगकांग दुबई मलेशिया श्री लंका लंदन थाईलैंड और ऑस्ट्रेलिया और न जाने कितनी देश इन्होंने घुमा है मुझे खुद याद नहीं फिर भी मैं कहना चाहूंगा बहुत कम ही जानता हूं मैं इनके बारे में लेकिन जितना जानता हूं उतना मैंने कहा।

घर में तीन भाइयों में सबसे बड़े होने के बावजूद उन्होंने परिवार और समाज सबको साथ लेकर चला है। टेलेविज़न प्लस न्यूज़ भी उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है और चाहता है कि उनको वो मंज़िल हासिल हो जहां वो जाना चाहते हैं।


Spread the love

Related posts

Leave a Comment

WhatsApp chat