Journey My Dream 

मेरे फ़िल्मी सफ़र की कहानी मेरे खुद के जुबानी…

जी हां, आज आपको अपने फिल्मी करियर के बारे में बताने जा रहे हैं निर्देशक की भूमिका निभा रहे शिवानंदन पाण्डेय जी, अगली लाइन से उनकी कहानी उन्ही के जुबानी।

मेरा नाम शिवानंदन पाण्डेय है। मैं बिहार के पश्चिम चम्पारण जिले के मठिया गांव का रहने वाला हूं। एक छोटे से साधारण परिवार से होने के बाद भी मेरी शिक्षा अच्छे ढंग से हुई है। मैं जब से चीजों को समझने वाला हुआ, जबसे फिल्में देखने लगा उस समय मैं यहीं सोचता था कि ये फिल्में बनती कैसे हैं, कौन इसे बनाता है। मेरे दिमाग मे हमेशा यही घूमता रहता था बाद मे यह मालूम हुआ कि इसे निर्देशक बनाते हैं राईटर लिखते हैं और कलाकार अपना रोल निभाते है मगर इसके पीछे ढेर सारे लोग काम करते हैं और सबकी अपनी अहमियत होती है चाहे कैमरामैन एडिटर म्यूजिक डायरेक्टर साउंड रिकॉर्डिस्ट आर्ट डायरेक्टर मेकअप मैन हेयर ड्रेसर कॉस्ट्यूम बहुत सारे डिपार्टमेंट और बहुत सारा काम होता है।

मगर मुझे तो शिखर पर रहने का शौक था कुछ ही समय बाद मालूम पड़ा फ़िल्म बनाने में सबसे बड़ा रोल अगर किसी का होता है तो वो होता है डायरेक्टर का….इसीलिए उन्हें लोग कॅप्टन ऑफ द शिप भी कहते हैं …. फिर क्या अब बस यही खवाहिश थी कि मैं भी बड़ा होकर यहीं बनुंगा। मैंने अपने बारहवीं तक की पढाई बेतिया और पटना से पुरी कर, 2009 मे इंजीनियरिंग करने नागपुर चला गया वहाँ मुझे यशवंत राव इंजीनियरिंग कालेज के कैंपस में दाखिला मिला , INFORMATION TECHNOLOGY में। वहां से पढाई पुरी करने के बाद मैं अपने सबसे बड़े सपने को पुरा करने के लिए 2015 मे सपनों की नगरी मुम्बई चला आया। यहां के बारे में सुना था कि लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है मगर मेरे मौसाजी कि वजह से मुझे यहां रहने मे कोई दिक्कत नहीं हुआ। उन्होंने ही मुझे अपने जानने वाले रोहित भैया के यहां रखवा दिया। फिर मैंने सोचा कि निर्देशक बनने के लिए पहले ट्रेनिंग कि जरूरत है, फिर मुझे एक संस्थान मिला ‘मुम्बई डिजिटल फिल्मस एकैडमी’ । जहाँ FTII से पढे़ सर से मैंने एक साल की निर्देशक कि ट्रेनिंग ली। फिर निकल पड़ा अपनी मंज़िल की राह पर , कहते हैं न कि जब कुछ अच्छा होने को होता है तो संकेत पहले ही मिल जाता है वही हुआ हमारे साथ, सबसे पहले हमें गणपति बप्पा का प्रोग्राम गणपति पूजा पर एक DOCUMENTARY बनाने को मिली और बाप्पा हुए मेहरबान।

फिर कुछ SHORT FULMS किया उसके बाद समर मुखर्जी सर के यहां ASSISTANT DIRECTOR फिर निर्देशक बनने का मौका मिला। तब मैंने LIC के लिए कारपोरेट ADS बनाया। फिर मुझे एक सिरियल मे सहायक निर्देशक और बाद में कुछ एपिसोड मे बतौर कड़ी निर्देशक काम करने का मौका मिला जो कि डीडी वन (नेशनल चैनल) पर प्रसारित होता था। दो सिरियल का पायलट भी बनाया। इसके बाद मुझे सेवियो जौन कि मराठी फिल्म मे बतौर निर्देशक काम करने का मौका मिला। जिसमें लिड एक्टर सेवियो जौन और एक्ट्रैस कमल कौर हैं, जिसे अपने बैनर तले खुद सेवियो जौन ने प्रोड्यूस किया है। अभी यह फिल्म रिलीज नहीं हुई है। इन सबके साथ मेरी रुचि राजनीति के तरफ भी है, मैं एक ELECTION STRATEGY MAKER OR CAMPAIGN DESIGNER भि हुं। इसके लिए मेरी बात राजनीतिक संगठनों से चल रही है। मैंने एक DRJP FILMS & ENTERTAINMENT के नाम से एक प्रोडक्शन हाउस भी खोला है जिसके बैनर तले दो शार्ट फिल्मस का निर्माण किया गया है और आगे अभी और आगे जाना है। और जो भी इस सफर में मेरा साथ दे रहे हैं और दिए हैं उनको बहुत बहुत धन्यवाद। प्रणाम। आप मुझसे संपर्क करना चाहते हैं तो मेरा नंबर है +91 81699 53106 whatsapp Number +91 80555 60257 Thanks for reading my filmy journey..

टेलीविज़न प्लस न्यूज़ आपको भी अपने बारे में फ़िल्म इंडस्ट्री के साथ साथ आम पब्लिक को बताने का अवसर दे रही है जिससे आपके बारे में लोग जाने आपको काम करने का अवसर मिले, इच्छुक लोग हमसे संपर्क कर सकते हैं हमारा व्हाट्सएप्प नंबर +91 84520 03366 है और मेल आईडी televisionplusnews@gmail.com है।

हां एक इम्पॉर्टेन्ट बात, जो अभी आपने शिवानंदन पाण्डेय के बारे में पढ़ा वो उनकी कहानी उन्ही के ज़ुबानी थी उसकी सत्यता या असत्यता की पुष्टि टेलिविजन प्लस न्यूज़ नही करता है । आप किसी भी व्यवहार से पहले अपने स्तर पर जांच पड़ताल कर लें भविष्य में किसी भी कार्य या लेन देन की ज़िम्मेदारी Television Plus News की नही होगी।

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

WhatsApp chat