क्या आप जानते हैं ? अगर आपने ऐसा किया तो जन्म भर का किया हुआ सारा पाप भस्म हो सकता है!! राशिफल के साथ आचार्य जी…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🙏
सम्पर्क – 9518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
🙏ll जय श्री राधे ll🙏
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

दिनाँक -:09/11/2019,शनिवार
द्वादशी, शुक्ल पक्ष
कार्तिक
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———द्वादशी 14:39:21 तक
पक्ष —————————-शुक्ल
नक्षत्र –उत्तराभाद्रपदा14:55:21
योग ————-हर्शण 10:14:19
करण ———-बालव 14:39:22
करण ———कौलव 27:39:11
वार ————————-शनिवार
माह ————————-कार्तिक
चन्द्र राशि ———————मीन
सूर्य राशि ———————-तुला
रितु —————————-शरद
आयन —————– दक्षिणायण
संवत्सर ———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय ————– –06:43:32
सूर्यास्त —————–18:00:42
दिन काल —————10:52:55
रात्री काल ————-13:07:49
चंद्रोदय —————–16:15:29
चंद्रास्त —————–28:39:19

लग्न —-तुला 22°12′ , 202°12′

सूर्य नक्षत्र —————-विशाखा
चन्द्र नक्षत्र ———उत्तराभाद्रपदा
नक्षत्र पाया ——————–ताम्र

   🌹  पद, चरण  🌹

झ —-उत्तराभाद्रपदा 08:16:13

ञ —-उत्तराभाद्रपदा 14:55:21

दे —-रेवती 21:33:11

दो —-रेवती 28:09:39

     🌹 ग्रह गोचर  🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=तुला 22°12 ‘ विशाखा, 1 ती
चन्द्र = मीन12°23 ‘ उ o भा o ‘ 3 झ
बुध=वृश्चिक 28°10 ‘विशाखा’ 3 ते
शुक्र= वृश्चिक14°55, अनुराधा ‘ 4 ने
मंगल=कन्या 29°55 ‘ चित्रा ‘ 2 पो
गुरु=वृश्चिक 00°50 ‘ मूल , 1 ये
शनि=धनु 21°43′ पू oषा o ‘ 3 फा
राहू=मिथुन 16 °55 ‘ आर्द्रा , 4 छ
केतु=धनु 16 ° 55′ पूo षाo, 2 धा

 🌹शुभा$शुभ मुहूर्त 🌹

राहू काल 09:20 – 10:41 अशुभ
यम घंटा 13:24 – 14:46 अशुभ
गुली काल 06:36 – 07:58 अशुभ
अभिजित 11:41 -12:25 शुभ
दूर मुहूर्त 08:03 – 08:47 अशुभ

🌹गंड मूल 14:55 – अहोरात्र अशुभ

🚩पंचक अहोरात्र अशुभ

  🌹चोघडिया, दिन🌹

काल 06:36 – 07:58 अशुभ
शुभ 07:58 – 09:20 शुभ
रोग 09:20 – 10:41 अशुभ
उद्वेग 10:41 – 12:03 अशुभ
चर 12:03 – 13:24 शुभ
लाभ 13:24 – 14:46 शुभ
अमृत 14:46 – 16:08 शुभ
काल 16:08 – 17:29 अशुभ

 🌹चोघडिया, रात🌹

लाभ 17:29 – 19:08 शुभ
उद्वेग 19:08 – 20:46 अशुभ
शुभ 20:46 – 22:25 शुभ
अमृत 22:25 – 24:03* शुभ
चर 24:03* – 25:42* शुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो लौंग अथवा कालीमिर्च खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

  🌹अग्नि वास ज्ञान  🌹

यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   12 + 7 + 1 = 20 ÷ 4 = 0 शेष

पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

🌹 शिव वास एवं फल 🌹

12 + 12 + 5 = 29 ÷ 7 = 1 शेष

कैलाश वास = शुभ कारक

🌹भद्रा वास एवं फल 🌹

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

🌹 विशेष जानकारी 🌹

  • शनि प्रदोष व्रत (शिव पूजन)
  • कालिदास जयन्ती 🌹 शुभ विचार 🌹

शान्तितुल्यं तपो नास्ति न सन्तोषात्परं सुखम् ।
न तृष्णया परो व्याधिर्न च धर्मो दया परः ।।
।।चा o नी o।।

एक संयमित मन के समान कोई तप नहीं. संतोष के समान कोई सुख नहीं. लोभ के समान कोई रोग नहीं. दया के समान कोई गुण नहीं.

   🌹  सुभाषितानि  🌹

गीता -: गुणत्रयविभागयोग अo-14
सत्त्वात्सञ्जायते ज्ञानं रजसो लोभ एव च ।,
प्रमादमोहौ तमसो भवतोऽज्ञानमेव च ॥,

सत्त्वगुण से ज्ञान उत्पन्न होता है और रजोगुण से निःसन्देह लोभ तथा तमोगुण से प्रमाद (इसी अध्याय के श्लोक 13 में देखना चाहिए) और मोह (इसी अध्याय के श्लोक 13 में देखना चाहिए।,) उत्पन्न होते हैं और अज्ञान भी होता है॥,17॥,

🌹व्रत पर्व विवरण 🌹

शनिप्रदोष व्रत, गरुड़ द्वादशी, तुलसी विवाह प्रारंभ
🌹 विशेष – द्वादशी को पूतिका(पोई) अथवा त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌷 कार्तिक शुक्ल त्रयोदशी 🌷
👉🏻 नारदपुराण के अनुसार *ऊर्ज्शुक्लत्रयोदश्यामेकभोजी द्विजोत्तम । पुनः स्नात्वा प्रदोषे तु वाग्यतः सुसमाहितः ।। १२२-४८ ।।
*प्रदीपानां सहस्रेण शतेनाप्यथवा द्विज । प्रदीपयेच्छिवं वापि द्वात्रिंशद्दीपमालया ।। १२२-४९ ।।
घृतेन दीपयेद्द्वीपान्गंधाद्यैः पूजयेच्छिवम् । फलैर्नानाविधैश्चैव नैवेद्यैरपि नारद ।। १२२-५० ।।
ततः स्तुवीत देवेशं शिवं नाम्नां शतेन च । तानि नामानि कीर्त्यंते सर्वाभीष्टप्रदानि वै ।। १२२-५१ ।।
🙏🏻 कार्तिक शुक्ल त्रयोदशी को मनुष्य एक समय भोजन करके व्रत रखे। प्रदोषकाल में पुनः स्नान करके मौन और एकाग्रचित्त हो बत्तीस दीपकों की पंक्ति से भगवान शिव को आलोकित करे। घी से दीपकों को जलाए और गंध आदि से भगवान शिव की पूजा करे। फिर नाना प्रकार के फलों और नैवेद्यों द्वारा उन्हें संतुष्ट करे । इस प्रकार व्रत करके मनुष्य महादेवजी के प्रसाद से इहलोक के सम्पूर्ण भोग भोगकर अंत में शिवधाम प्राप्त करता है।

🌷 कार्तिक मास 🌷
सीदलपुष्पाणि​ ​ये यच्छन्ति जनार्दने।​
कार्तिके सकलं वत्स​ ​पापं जन्मार्जितं दहेत्।।​ (पद्मपुराण)
🙏🏻 ब्रम्हाजी नारदजी से कहते हे- वत्स ! जो लोग कार्तिक में भगवान जनार्दन को तुलसी के पत्र और पुष्प अर्पित करते हैं, उनका जन्म भर का किया हुआ सारा पाप भस्म हो जाता है।

🌷 कार्तिक मास के अंतिम 3 दिन दिलाएं महा पुण्य पुंज
🙏🏻 कार्तिक मास में सभी दिन अगर कोई स्नान ना कर पाए तो त्रयोदशी, चौदस और पूनम (10, 11 और 12 नवम्बर) ये तीन दिन सुबह सूर्योदय से पूर्व स्नान कर लेने से पूरे कार्तिक मास के स्नान के पुण्यो की प्राप्ति होती है l
🙏🏻 इन तीन दिन विष्णु सहस्रनाम पाठ और गीता का पाठ भी अत्यंत प्रभावशाली और पुण्यदायी है l

🌷 वैकुंठ चतुर्दशी के दिन सुख समृद्धि बढ़ाने 🌷
10 नवम्बर 2019 रविवार को वैकुंठ चतुर्दशी है |
🙏🏻 देवीपुराण के अनुसार इस दिन जौ के आटे की रोटी बनाकर माँ पार्वती को भोग लगाया जाता है और प्रसाद में वो रोटी खायी जाती है | माँ पार्वती को भोग लगाकर जौ की रोटी प्रसाद में जो खाते है उनके घर में सुख और संम्पति बढती जायेगी, ऐसा देवीपुराण में लिखा है | वैकुंठ चतुर्दशी के दिन अपने-अपने घर में जौ की रोटी बनाकर माँ पार्वती को भोग लगाते समय ये मंत्र बोले –
🌷 ॐ पार्वत्यै नम:
🌷 ॐ गौरयै नम:
🌷 ॐ उमायै नम:
🌷 ॐ शंकरप्रियायै नम:
🌷 ॐ अंबिकायै नम:
🙏🏻 माँ पार्वती का इन मंत्रों से पूजन करके जौ की रोटी का भोग उनको लगायें, फिर घर में सब रोटी खायें | जौ का दलिया, जौ के आटे की रोटी खानेवाले जब तक जियेंगे तब तक उनकी किडनी बढ़िया रहेंगी, किडनी कभी ख़राब नहीं होगी | शरीर में कही भी सूजन हो किडनी में सूजन, लीवर में सूजन, आतों में सूजन है तो जौ की रोटी खायें, इससे सब तकलीफ दूर हो जाती है |

 🌹  दैनिक राशिफल  🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
आशा व निराशा के बीच समय गुजरेगा। आर्थिक परेशानी रहेगी। फालतू खर्च होगा। बजट बिगड़ेगा। दूसरों से अपेक्षा न करें। समय पर काम नहीं होने से तनाव रहेगा। महत्वपूर्ण निर्णय लेने में जल्दबाजी न करें। वाणी में हल्के शब्दों का प्रयोग न करें।

🐂वृष
बकाया वसूली समय पर होगी। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल रहेगी। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ रहेगा। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। भाग्य अनुकूल है। समय का लाभ लें। प्रमाद न करें।

👫मिथुन
धर्म-कर्म में आस्था बढ़ेगी। आर्थिक उन्नति व कार्यप्रणाली सुधारने के लिए नई योजना बनेगी। तत्काल लाभ नहीं होगा। सामाजिक सेवाकार्य करने के लिए प्रेरणा मिलेगी। मान-सम्मान मिलेगा। धन प्राप्ति सु्गम होगी। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं, सावधान रहें।

🦀कर्क
तंत्र-मंत्र में रुचि जागृत होगी। किसी जानकार व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कोर्ट व कचहरी के कार्यों में गति आएगी। व्यापारी वर्ग लाभ की वृद्धि का आनंद ले सकता है। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। सावधानी आवश्यक है। धन प्राप्ति सुगम होगी।

🐅सिंह
पुराना रोग परेशानी का कारण रहेगा। सेहत पर विशेष ध्यान दें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। दुष्टजनों से दूरी बनाए रखें। समय नेष्ट है। वाणी पर नियंत्रण आवश्यक है। कारोबारी लाभ में वृद्धि होगी। आय बनी रहेगी। निवेश में जल्दबाजी न करें।

🙎कन्या
कोर्ट-कचहरी व सरकारी कार्यालयों में रुके कामों में अनुकूलता रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। दांपत्य जीवन में आनंद बना रहेगा। मातहतों का सहयोग मिलेगा। किसी भी तरह के विवाद में न पड़ें। निवेश शुभ रहेगा। व्यापार-व्यवसाय में गति बनी रहेगी। प्रमाद न करें।

⚖तुला
भूमि व भवन की खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। कारोबारी बड़ा लाभ हो सकता है। परीक्षा व साक्षात्कार आदि में सफलता मिलेगी। नौकरी में उच्चाधिकारियों की प्रसन्नता प्राप्त होगी। प्रशंसा मिलेगी। जल्दबाजी व अति उत्साह में कोई कार्य न करें। धनार्जन होगा। प्रसन्नता बनी रहेगी।

🦂वृश्चिक
किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद मिलेगा। विद्यार्थी वर्ग अपने क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करेगा। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। सभी क्षेत्रों में सफलता प्राप्त होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🏹धनु
दु:खद समाचार मिल सकता है। नौकरी में कार्यभार रहेगा। विवाद से दूर रहें। पुरानी व्याधि परेशानी का कारण बन सकती है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। बेवजह तनाव व चिंता रहेंगे। मामूली बात पर विवाद हो सकता है। कारोबार में लाभ होगा। मन में संवेदनशीलता बनी रहेगी।

🐊मकर
प्रयास सफल रहेंगे। काफी समय से लंबित कार्य पूर्ण होने के योग हैं। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा किसी वरिष्ठ व्यक्ति से प्राप्त होगी। आय में वृद्धि होगी। निवेश शुभ फल देगा। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा।

🍯कुंभ
पुराने संगी-साथी तथा रिश्तेदारों से मुलाकात होगी। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी। किसी लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। बुद्धि का प्रयोग लाभ में वृद्धि तथा समस्या में कमी करेगा। व्यापार ठीक चलेगा।

🐟मीन
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। नवीन वस्त्राभूषण की प्राप्ति पर व्यय होगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। निवेश शुभ फल देगा। भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। प्रमाद से बचें।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

1 × two =

WhatsApp chat