Dharma & Karma 

राशिफल + आज शुक्रवार को माघी अमावश्या के दिन अगर भगवान ब्रम्हाजी का कोई पूजन करे! तो…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

दिनाँक -: 24/01/2020,शुक्रवार
अमावस्या, कृष्ण पक्ष
माघ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि —–अमावस्या 27:11:01 तक
पक्ष —————————-कृष्ण
नक्षत्र —–उत्तराषाढा 26:44:51
योग —————वज्र 26:22:39
करण ——-चतुष्पदा 14:40:43
करण ———–नागव 27:11:01
वार ————————-शुक्रवार
माह —————————–माघ
चन्द्र राशि ———धनु 07:38:36
चन्द्र राशि ——————-मकर
सूर्य राशि ———————मकर
रितु ————————–शिशिर
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक) —-2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय —————–07:15:44
सूर्यास्त —————–18:25:17
दिन काल —————11:09:33
रात्री काल ————-12:50:18
चंद्रास्त —————–18:01:40
चंद्रोदय —————–31:32:15

लग्न —-मकर 9°23′ , 279°23′

सूर्य नक्षत्र ————–उत्तराषाढा
चन्द्र नक्षत्र ————–उत्तराषाढा
नक्षत्र पाया ——————–ताम्र

               🌹पद, चरण🌹

भे —-उत्तराषाढा 07:38:36

भो —-उत्तराषाढा 13:59:10

जा —-उत्तराषाढा 20:21:15

जी —-उत्तराषाढा 26:44:51

               🌹  ग्रह गोचर🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मकर 09°22 ‘ उ oषा o, 4 जी
चन्द्र =धनु 28°23 ‘ उoषाo ‘ 1 भे
बुध = मकर 18°10 ‘ श्रवण’ 3 खे
शुक्र= कुम्भ 18°55, शतभिषा ‘ 4 सू
मंगल=वृश्चिक 19°30′ ज्येष्ठा ‘ 1 नो
गुरु=धनु 17°50 ‘ पू oषाo , 2 धा
शनि=धनु 26°43′ उ oषा o ‘ 1 भे
राहू=मिथुन 12 °52 ‘ आर्द्रा , 2 घ
केतु=धनु 12 ° 52 ‘ मूल , 4 भी

         🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹

राहू काल 11:11 – 12:31 अशुभ
यम घंटा 15:12 – 16:32 अशुभ
गुली काल 08:31 – 09:51 अशुभ
अभिजित 12:10 -12:53 शुभ
दूर मुहूर्त 09:19 – 10:02 अशुभ
दूर मुहूर्त 12:53 – 13:35 अशुभ

🌹चोघडिया, दिन
चर 07:11 – 08:31 शुभ
लाभ 08:31 – 09:51 शुभ
अमृत 09:51 – 11:11 शुभ
काल 11:11 – 12:31 अशुभ
शुभ 12:31 – 13:51 शुभ
रोग 13:51 – 15:12 अशुभ
उद्वेग 15:12 – 16:32 अशुभ
चर 16:32 – 17:52 शुभ

🌹चोघडिया, रात
रोग 17:52 – 19:32 अशुभ
काल 19:32 – 21:12 अशुभ
लाभ 21:12 – 22:51 शुभ
उद्वेग 22:51 – 24:31* अशुभ
शुभ 24:31* – 26:11* शुभ
अमृत 26:11* – 27:51* शुभ
चर 27:51* – 29:31* शुभ
रोग 29:31* – 31:10* अशुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान-------------पश्चिम

परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

      🌹अग्नि वास ज्ञान🌹

यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   15 + 15 + 6 + 1 = 37  ÷ 4 = 1 शेष

पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

          🌹शिव वास एवं फल🌹

30 + 30 + 5 = 65 ÷ 7 = 2 शेष

गौरि सन्निधौ = शुभ कारक

          🌹भद्रा वास एवं फल🌹

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

             🌹विशेष जानकारी🌹
  • मौनी अमावस्या (देवकार्य अमावस्या)
  • सर्वार्थ सिद्धि योग रात्रि 26:45 से
  • श्री बलभद्र भट्टाचार्य पाटोत्सव
  • श्री दाऊजी जी झांकी श्री राधाबल्लभ जी वृन्दावन 🌹शुभ विचार🌹

स्वभावेन हि तुष्यन्ति देवाः सत्पुरुषाः पिता ।
ज्ञातयः स्नान-पानाभ्यां वाक्यदानेन पंडिताः ।।
।।चा o नी o।।

यह देवताओ का, संत जनों का और पालको का स्वभाव है की वे जल्दी प्रसन्न हो जाते है. निकट के और दूर के रिश्तेदार तब प्रसन्न होते है जब उनका आदर सम्मान किया जाए. उनके नहाने का, खाने पिने का प्रबंध किया जाए. पंडित जन जब उन्हें अध्यात्मिक सन्देश का मौका दिया जाता है तो प्रसन्न होते है.

            🌹सुभाषितानि🌹

गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17

अदेशकाले यद्दानमपात्रेभ्यश्च दीयते।,
असत्कृतमवज्ञातं तत्तामसमुदाहृतम्‌॥,

जो दान बिना सत्कार के अथवा तिरस्कारपूर्वक अयोग्य देश-काल में और कुपात्र के प्रति दिया जाता है, वह दान तामस कहा गया है॥,22॥,

            🌹व्रत पर्व विवरण🌹

🌹 विशेष – अमावस्या के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)

          🌹मौनी अमावस्या🌹

🙏🏻24 जनवरी 2020 शुक्रवार मौनी अमावस्‍या है प्रयाग में स्नान की तिथि है, आप सब प्रयाग तो नहीं जाओगे पर अपने घर पे ही स्नान करते समय –
🌹 ॐ ह्रीं गंगायै ॐ ह्रीं स्वाहा, ॐ ह्रीं गंगायै ॐ ह्रीं स्वाहा
🙏🏻ये मंत्र बोलकर उबटन जो बापूजी ने बताया था उस उबटन को शरीर पर लगाकर स्नान करें तो गंगा स्नान का पुण्य मिलता है, अमावस्या के दिन तो जरुर करें उस दिन गीता का सातवाँ अध्याय का पाठ करें और भगवान ने धन दिया है तो उस दिन घर में आटे की, बेसन की २ – ४ किलो मिठाई बना ले और गरीब बच्चे-बच्चियों में बाँट आयें, अपने पितरो के नाम दादा, दादी, नानी उनके नाम से बाँट कर आ जायें।

🌹धन-धान्य व सुख-संम्पदा के लिए🌹
🔥हर अमावस्या को घर में एक छोटा सा आहुति प्रयोग करें।
🍛 सामग्री : १. काले तिल, २. जौं, ३. चावल, ४. गाय का घी, ५. चंदन पाउडर, ६. गूगल, ७. गुड़, ८. देशी कर्पूर, गौ चंदन या कण्डा।
🔥विधि: गौ चंदन या कण्डे को किसी बर्तन में डालकर हवनकुंड बना लें, फिर उपरोक्त ८ वस्तुओं के मिश्रण से तैयार सामग्री से, घर के सभी सदस्य एकत्रित होकर नीचे दिये गये देवताओं की १-१ आहुति दें।
🔥आहुति मंत्र🔥
१. ॐ कुल देवताभ्यो नमः
२. ॐ ग्राम देवताभ्यो नमः
३. ॐ ग्रह देवताभ्यो नमः
४. ॐ लक्ष्मीपति देवताभ्यो नमः
५. ॐ विघ्नविनाशक देवताभ्यो नमः

🌹मौनी अमावस्या का मंत्र🌹
🙏🏻 भविष्योत्तर पुराण में बताया कि माघी अमावश्या के दिन अगर भगवान ब्रम्हाजी का कोई पूजन करे, श्लोक और गायत्री मंत्र बोलकर जो ब्रम्हाजी को नमन करते हैं और थोड़ी देर शांत बैठे और फिर गुरुमंत्र का जप करें तो उनको विशेष लाभ होता है, जो भाई-बहन जो सत्संग में आते हैं वो दैवी सम्पदा पायें और लौकिक सम्पदा भी पायें किसी के सिर पे भार न रहें, दैवी सम्पदा से खूब धनवान हों और लौकिक धन की भी कमी न रहें।
🌹 मंत्र इस प्रकार है –
स्थानं स्वर्गेथ पाताले यन्मर्ते किंचिदत्तंम तद्व्पोंत्य संधिग्धम पद्मयोंने प्रसादत:
🌹 गायत्री मंत्र –
*ॐ भू भुर्व: स्व: तत सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्

🌹 नकारात्मक ऊर्जा मिटाने के लिए🌹
🏡 घर में हर अमावस अथवा हर १५ दिन में पानी में खड़ा नमक (१ लीटर पानी में ५० ग्राम खड़ा नमक) डालकर पोछा लगायें इससे नेगेटिव एनेर्जी चली जाएगी अथवा खड़ा नमक के स्थान पर गौझरण अर्क भी डाल सकते हैं ।

पंचक
26जनवरी 17.41 से 31जनवरी 18.09 तक

एकादशी फरबरी 2020
जया एकादशी 2020 / 5 फरवरी 2020, बुधवार

सुबह 7:09 से सुबह 9:52 तक

वैकुंठा एकादशी 2020, विजया एकादशी 2020 / 19 फरवरी 2020 बुधवार

सुबह 6:58 से सुबह 9:47 तक

गुरुवार, 06 फेब्रुवारी प्रदोष व्रत (शुक्ल)
गुरुवार, 20 फेब्रुवारी प्रदोष व्रत (कृष्ण)

व्यापारिक शुभ महूर्त जनवरी 2020
29 ;30 ;31 जनवरी 2020

             🌹दैनिक राशिफल🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
दूसरों के कार्य में दखल न दें। योजना फलीभूत होगी। कार्यकुशलता में वृद्धि होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। यात्रा की योजना बनेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नए उपक्रम प्रारंभ करने का मन बन सकता है। पार्टनरों तथा भाइयों से सहयोग मिलेगा। लाभ होगा।

🐂वृष
तीर्थाटन तथा संत दर्शन का लाभ मिल सकता है। अध्यात्म में रुचि रहेगी। कानूनी अड़चन दूर होकर लाभ की स्थिति बनेगी। वरिष्ठ जन का मार्गदर्शन तथा सहयोग प्राप्त होगा। किसी बड़ी चिंता से मुक्ति मिलेगी। घर-परिवार में प्रसन्नता रहेगी। जोखिम न लें।

👫मिथुन
वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में लापरवाही न करें। पुरानी व्याधि बाधा का कारण बन सकती है। कार्य में अवरोध उत्पन्न हो सकता है। धनहानि के योग हैं। वरिष्ठजनों की सलाह मानें तथा विवेक से कार्य करें। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा।

🦀कर्क
आर्थिक उन्नति के लिए बनाई गई योजना फलीभूत होगी। मान-सम्मान मिलेगा। नौकरी में प्रमोशन मिल सकता है। कार्यस्थल पर मनोनुकूल परिवर्तन संभव है। आय बनी रहेगी। रुके कार्य पूर्ण होंगे। मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। चिंता रह सकती है। जोखिम न उठाएं।

🐅सिंह
सत्संग का लाभ मिलेगा। पूजा-पाठ में मन लगेगा। तीर्थाटन का मन बनेगा। राजकीय बाधा दूर होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। सौभाग्य वृद्धि होगी। यात्रा में सावधानी आवश्यक है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। परिवार में कोई शुभ कार्य हो सकता है। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🙎कन्या
स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। विवाद को बढ़ावा न दें। अकारण क्रोध रहेगा। जोखिम व जमानत के का कार्य टालें। अपेक्षित कार्यों में विलंब से चिड़चिड़ापन रहेगा। व्यवसाय में ध्यान दें। लाभ होगा। जल्दबाजी से बचें।

⚖तुला
राजभय रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। यात्रा लाभदायक रहेगी। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। व्यस्तता रहेगी। संपत्ति के बड़े सौदे हो सकते हैं। बड़ा लाभ होगा। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। पार्टनरों से मनोनुकूल सहयोग मिलेगा।

🦂वृश्चिक
पार्टी व पिकनिक की योजना बनेगी। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। थकान महसूस होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। विरोधियों का पराभव होगा। नए लोगों से मिलना होगा। कार्य आसानी से संपन्न होंगे।

🏹धनु
बुरी सूचना प्राप्त हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। किसी अपने का व्यवहार दिल को ठेस पहुंचा सकता है। नकारात्मकता रहेगी। विरोध होगा। चिंता तथा तनाव बने रहेंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। शांति बनाए रखें।

🐊मकर
थोड़े प्रयास से ही कार्यसिद्धि होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। धन प्राप्ति सुगम होगी। उत्साह में वृद्धि होगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। थकान महसूस होगी। परिवारजनों का सहयोग मिलेगा। भाग्य का साथ मिलेगा। लापरवाही से हानि होगी।

🍯कुंभ
घर में अतिथियों का आगमन होगा। उन पर व्यय होगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। कार्य में निरंतरता बनी रहेगी। परिवार में प्रसन्नता रहेगी। किसी प्रसिद्ध व्यक्ति से मुलाकात हो सकती है। व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा। बाहर जाने का कार्यक्रम बनेगा। विवाद न करें।

🐟मीन
कार्य की बेहतरी रहेगी। कोई बड़ा कार्य मनोनुकूल बनेगा। यात्रा लाभदायक रहेगी। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति के योग हैं। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कुसंगति से बचें। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं। समय अनुकूल है। लाभ में वृद्धि होगी।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related posts

WhatsApp chat