BMC ने बदले होम क्वारनटीन के नियम, 60 साल से अधिक उम्र के कोरोना मरीज ही जाएंगे अस्पताल…

नई गाइडलाइन के मुताबिक होम क्वारनटीन में उन्हीं लोगों को रहने की सलाह दी जाएगी, जिनकी उम्र 60 साल से कम हो, साथ ही उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हो।

भारत में कोविड-19 के 68,898 नए मामले सामने आने के बाद शुक्रवार को देश में संक्रमण के मामले 29 लाख के पार पहुंच गए हैं. आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिन 983 लोगों की जान गई, उनमें से सबसे अधिक 326 लोग महाराष्ट्र के थे. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक संक्रमण के कारण मरने वाले 70 प्रतिशत से अधिक लोगों को पहले से भी कोई बीमारी थी. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने क्वारनटीन गाइडलाइन में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं।

नई गाइडलाइन के मुताबिक होम क्वारनटीन में उन्हीं लोगों को रहने की सलाह दी जाएगी, जिनकी उम्र 60 साल से कम हो, साथ ही उनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हो. इतना ही नहीं यह भी देखा जाएगा कि मरीज को पहले से कोई अन्य रोग तो नहीं है. यानी कि 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति को कोविड-19 अस्पताल में रहकर ही इलाज कराना होगा।

इसके अलावा ये भी कहा गया है कि अगर किसी शख्स की उम्र 50 साल से अधिक है और उन्हें कोई अन्य बीमारी भी है तो उन्हें होम क्वारनटीन नहीं रखा जाएगा. उन्हें किसी भी निजी या सार्वजनिक CCC2/DCHC/DCH अस्पताल में भर्ती कराया जा सकता है. बीएमसी को उम्मीद है कि नई गाइडलाइन्स जारी करने के बाद कोरोना की वजह से होने वाली मृत्यु दर को कम किया जा सकेगा।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देश में कोविड-19 के कुल 29,05,823 मामले हैं. वहीं पिछले 24 घंटे में 983 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 54,849 हो गई है. संक्रमण से मृत्यु दर गिरकर 1.89 प्रतिशत हो गई है और मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 74.30 प्रतिशत पहुंच गई है।

आंकड़ों के अनुसार देश में अभी 6,92,028 मरीजों का कोरोना वायरस का इलाज चल रहा है, जो अब तक आए कुल मामलों का 23.82 प्रतिशत है।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

14 + 20 =

WhatsApp chat