नोडल अधिकारी ने लगाया चौपाल ग्रामीणों से ली प्रतिक्रिया, अधिकारियों को दी चेतावनी – आज़मगढ़

आजमगढ़। लोक निर्माण विभाग सचिव उ.प्र. नोडल अधिकारी आजमगढ़ रंजन कुमार द्वारा पल्हनी शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय भागमलपुर में सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न योजनाओं की ग्रामीणों के साथ समीक्षा बैठक की गयी। नोडल अधिकारी ने ग्रामीणों से स्वच्छ पेयजल, पेंशन, मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास , स्वयं सहायता समूह, स्वच्छ शौचालय आदि योजनाओं के बारे ग्रामीणों से प्रतिक्रिया प्राप्त किया। स्वच्छ पेयजल योजना के अन्तर्गत लगे 27 हैण्डपम्प चालू हैं, पेंशन के अन्तर्गत विद्धावस्था पेंशन के सात लाभार्थी , दिव्यांग के साथ, निराश्रित महिला पेंशन के तीन लाभार्थी , सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत अन्त्योदय राशन कार्ड के 26 लाभार्थी, पात्र गृहस्थी के 134 लाभार्थी, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अन्तर्गत वर्ष 2016-17 तथा 2017-18 के अन्तर्गत लाभार्थियों के पंद्रह लाभर्थियों ने लाभ उठाया एनआरएलएम के अन्तर्गत जय माॅ दूर्गा महिला स्वयं सहायता समूह का गठन किया गया।

इसी के साथ ही एलओबी और बेस लाइन सर्वे की सूची के अनुसार लाभार्थियों के 156 शौचालय दिया गया। नोडल अधिकारी ने सीडीओ को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायतों में एक रेन वाटर रिचार्ज, अगले बरसात से पहले स्ट्रक्चर बीडीओ के माध्यम से निर्माण करायें। इसी के साथ ही इस ग्राम की सम्पर्क मार्ग एवं गाॅव के विकास से संबंधित को कार्ययोजना बनाकर उपलब्ध करायें। इसी के साथ ही नोडल अधिकारी ने बीडीओ पल्हनी को निर्देश दिये कि गाँव के अन्तर्गत नालियों के जल निकासी की व्यवस्था को कार्ययोजना में जोड़ते हुए रिपोर्ट उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसके साथ ही नोडल अधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित कर कहा कि जो भी निर्माण कार्य कराये जायें उसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी।

नोडल अधिकारी ने पीडी को निर्देशित करते हुए कहा कि जिनको प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास नही मिला है, लेकिन वे पात्र हैं, उनकी सूची बनाकर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, सीएमओ, पीडी, डीडीओ, डीएसओ, जिला कृषि अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, सीवीओ, एसीएमओ, डीपीआरओ, डीसी मनरेगा, तहसीलदार सदर सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।


इसी के साथ ही नोडल अधिकारी द्वारा जीजीआईसी आजमगढ़ का औचक निरीक्षण किया गया। नोडल अधिकारी द्वारा निरीक्षण में पुस्तकालय तथा प्रयोगशाला का निरीक्षण किया गया। जीजीआईसी के प्रधानाचार्य को निर्देशित करते हुए कहा कि छात्राओं के पठन-पाठन में सुधार हेतु पुस्तकालय ठीक करायें, इसी के साथ ही प्रयोगशाला रसायन विज्ञान और भौतिक विज्ञान की संचालित करायें, जिससे छात्रायें उसका उपयोग कर सकें। इसी के साथ ही नोडल अधिकारी द्वारा विज्ञान वर्ग की बारहवीं की छात्राओं द्वारा भविष्य में लक्ष्य और उससे संबंधित प्रश्न पूछे गये। इसी के साथ ही जीजीआईसी के प्रधानाचार्य को निर्देश दिये कि विद्यालय की साफ-सफाई तथा पठन पाठन पर विशेष ध्यान देें।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

4 × 4 =

WhatsApp chat