Politics & Crime 

प्रहलाद मोदी के किसी भी कार्यकर्ता की न तो गिरफ्तारी की गई थी, और ना ही किसी को हिरासत में!! महज अफवाह…

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई प्रल्हाद मोदी एयरपोर्ट पर धरना-अनशन पर बैठ गये। उन्होंने अन्न जल त्यागकर लंबे अनशन की चेतावनी दी। प्रल्हाद मोदी ने कहा कि उनके कुछ सहयोगियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जिसके बाद वे धरने पर बैठ गये, जिससे एयरपोर्ट पर मौजूद अधिकारियों और पुलिस अफसरों में खलबली मच गई।

यह वाकया तब हुआ, जब पीएम मोदी के भाई प्रहलाद मोदी बुधवार को दिल्ली से आने वाली 2 बजे की उड़ान से राजधानी लखनऊ पहुंचे थे। लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद उनको सुलतानपुर और जौनपुर के एक कार्यक्रम में जाना था और वहां योग सोशल सोसाइटी की ओर से उन्हें सम्मानित किया जाना था। लेकिन कार्यक्रम में जाने से पहले प्रहलाद मोदी लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर धरने पर बैठ गए।

खबरों के मुताबिक एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सुलतानपुर जाने के लिए लखनऊ पहुंचे प्रहलात मोदी को एयरपोर्ट पर जानकारी मिली कि उनके स्वागत के लिए एयरपोर्ट आये 10 से अधिक कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया है। कार्यकर्ताओं के अलावा सुल्तानपुर में कार्यक्रम आयोजित करने वाले सोसाइटी के संरक्षक चिनहट निवासी हरिराम को रात में ही उनके घर से पुलिस द्वारा हिरासत में ले लिया गया है। इन सूचनाओं के बाद प्रहलात मोदी बेहद नाराज हो गये और एयरपोर्ट पर ही अनशन पर बैठ गये।

जैसे ही वहां मौजूद अफसरों को प्रहलाद मोदी के अनशन की खबर हुई, उनके होश उड़ गये। अधिकारियों से प्रहलाद मोदी ने कहा कि जो लोग मुझे रिसीव करने के लिए आ रहे थे, उनको पुलिस ने पकड़कर थाने में बैठा दिया है। उन पर मुकदमा दर्ज करने की तैयारी चल रही है। जब मेरे बच्‍चे जेल में रहें और मैं बाहर रहूं, ये ठीक नहीं है। या तो पुलिस उनको मुक्‍त करे वरना मैं एयरपोर्ट पर अनशन पर बैठ गया हूं और अब खाना पीना भी छोड़ दिया है। प्रहलाद मोदी ने कहा कि जिन लोगों और आयोजकों को गिरफ्तार किया गया है, उनको तुरंत बिना शर्त रिहा कर दिया जाए, नहीं तो अनशन जारी रहेगा।

प्रहलाद मोदी के एयरपोर्ट पर अनशन पर बैठने की खबर और पूरी घटना थोड़ी ही देर में सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जिसके बाद एयरपोर्ट अधिकारियों समेत राजधानी पुलिस के अफसरों के भी होश उड़ गये। पुलिस ने आनन फानन हिरासत में लिए गए सभी लोगों को छोड़ दिया और इसकी जानकारी प्रहलाद मोदी को दी गई।

पुलिस की सूचना के बाद प्रहलाद मोदी ने हिरासत में लिए गए सभी कार्यकर्ता और आयोजकों से फोन पर बात की। आश्वस्त होने के बाद प्रहलाद मोदी ने अनशन समाप्त किया और सुलतानपुर के लिए रवाना हो गए।

हालांकि इस पूरे घटनाक्रम पर एडीसीपी चिरंजीव नाथ सिन्हा ने कहा कि प्रहलाद मोदी के किसी भी कार्यकर्ता की न तो गिरफ्तारी की गई और न ही उनके किसी कार्यकर्ता को हिरासत में लिया गया।


Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

two × 2 =

WhatsApp chat