Politics & Crime 

केंद्रीय मंत्री को दिया चैलेंज, नए कृषि कानूनों से केवल उद्योगपतियों को होगा फायदा – अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों का विरोध करते हुए कहा कि इस कानून से सिर्फ उद्योगपतियों को फायदा पहुंचेगा और किसानों को इससे कोई फायदा नहीं पहुंचने वाला है।

रविवार को चार साहिबज़ादे व माता गुजरी जी की शहादत को याद करते हुए सिंघु बॉर्डर पर दिल्ली सरकार की पंजाब एकेडमी द्वारा आयोजित सफर-ए-शहादत कीर्तन दरबार में शामिल हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा,”केंद्र सरकार नए कानूनों से किसानों को होने वाले फायदे के बारे में नहीं बता रहे हैं, वो सिर्फ यह कह रहे हैं इससे उन्हें किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा. केवल कॉर्पोरेट्स अपने लाभों को प्राप्त करेंगे।

अरविंद केजरीवाल ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि वो किसानों को आश्वासन दे रहे हैं कि किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) वापस नहीं लिया जाएगा. उन्होंने कहा,”वे कहते हैं कि कानून किसानों की भूमि को नहीं छीनेंगे, या एमएसपी … ये लाभ हैं? ये पहले से ही थे … फिर आप कानून क्यों लाए? फाड़कर फेंक दो.” केजरीवाल ने आगे कहा कि उन्हें अभी तक ऐसा कोई भी एनडीए का नेता नहीं मिला है जो यह समझा सके कि आखिर इन कानूनों से किस तरह से किसानों को फायदा होगा।

अरविंद केजरीवाल ने केंद्र को चुनौती देते हुए कहा,”यह आरोप लगाया जा रहा है कि किसानों को गुमराह किया जा रहा है. मैं किसी भी केंद्रीय मंत्री को कृषि कानूनों पर किसानों के साथ बहस करने की चुनौती देता हूं, यह स्पष्ट होगा कि वे कितने फायदेमंद या हानिकारक हैं।

अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस पर भी हमला बोला. केजरीवाल ने कहा,”70 साल से, सभी ने किसानों को धोखा दिया है. अब, इन कानूनों को लागू करने से, वे आपसे खेती भी छीनना चाहते हैं … किसानों के पास और क्या है?”

आपको बता दें, दिल्ली के टिकरी बार्डर पर बीते 36 दिनों से किसान धरना दे रहे हैं. दूसरी तरप दिल्ली में सर्दी का सितम बढ़ता ही जा रहा है. अरविंद केजरीवाल ने इस ओर इशारा करते हुए कहा,”पिछले 32 दिनों से इस ठंड के बीच हमारे किसान सड़कों पर सोने को मजबूर हैं, क्यों? इससे मुझे दुख होता है कि यहां (सीमाओं पर) 40 से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।

अरविंद केजरीवाल ने उम्मीद जताई है कि केंद्र सरकार अब आगे किसी किसान की जान नहीं जाने देगी और जल्द से जल्द इस आंदोलन को खत्म करने के लिए कदम बढ़ाएगी. अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा,”अब और अधिक किसानों को शहीद मत होने दीजिए. मैं उनकी बात सुनने और खेत कानूनों को निरस्त करने के लिए केंद्र से हाथ जोड़कर अपील करता हूं।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

4 × five =

WhatsApp chat