Dharma & Karma 

🐅सिंह राशि के लोगों के यहां पारिवारिक मांगलिक कार्य की योजना बन सकती है मगर…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

दिनाँक -: 27/01/2020,सोमवार
तृतीया, शुक्ल पक्ष
माघ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ————-तृतीया अहोरात्र तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ——-शतभिषा 33:21:52
योग ———-वरियान 26:49:58
करण ———–तैतुल 19:15:40
वार ————————-सोमवार
माह —————————–माघ
चन्द्र राशि ——————–कुम्भ
सूर्य राशि ——————— मकर
रितु ————————–शिशिर
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय —————–07:15:17
सूर्यास्त —————–18:27:07
दिन काल ————–11:11:49
रात्री काल ————-12:47:59
चंद्रोदय —————–08:57:31
चंद्रास्त —————–20:39:35

लग्न —-मकर 12°26′ , 282°26′

सूर्य नक्षत्र ——————-श्रवण
चन्द्र नक्षत्र —————-शतभिषा
नक्षत्र पाया ———————ताम्र

           🌹पद, चरण🌹

गो —-शतभिषा 13:24:25

सा —-शतभिषा 20:02:23

सी —-शतभिषा 26:41:34

               🌹ग्रह गोचर🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मकर 12°22 ‘ श्रवण, 1 खी
चन्द्र =कुम्भ 06°23 ‘ शतभिषा’ 1 गो
बुध = मकर 23°10 ‘ धनिष्ठा’ 1 गा
शुक्र= कुम्भ 21°55, पू o भा o ‘ 1 से
मंगल=वृश्चिक 21°30′ ज्येष्ठा ‘ 2 या
गुरु=धनु 18°50 ‘ पू oषाo , 2 धा
शनि=धनु 26°43′ उ oषा o ‘ 1 भे
राहू=मिथुन 12 °52 ‘ आर्द्रा , 2 घ
केतु=धनु 12 ° 52 ‘ मूल , 4 भी

      🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹

राहू काल 08:30 – 09:51 अशुभ
यम घंटा 11:11 – 12:32 अशुभ
गुली काल 13:53 – 15:13 अशुभ
अभिजित 12:10 -12:53 शुभ
दूर मुहूर्त 12:53 – 13:36 अशुभ
दूर मुहूर्त 15:02 – 15:45 अशुभ

🌹पंचक अहोरात्र अशुभ

🌹चोघडिया, दिन
अमृत 07:10 – 08:30 शुभ
काल 08:30 – 09:51 अशुभ
शुभ 09:51 – 11:11 शुभ
रोग 11:11 – 12:32 अशुभ
उद्वेग 12:32 – 13:53 अशुभ
चर 13:53 – 15:13 शुभ
लाभ 15:13 – 16:34 शुभ
अमृत 16:34 – 17:54 शुभ

🌹चोघडिया, रात
चर 17:54 – 19:34 शुभ
रोग 19:34 – 21:13 अशुभ
काल 21:13 – 22:52 अशुभ
लाभ 22:52 – 24:32* शुभ
उद्वेग 24:32* – 26:11* अशुभ
शुभ 26:11* – 27:51* शुभ
अमृत 27:51* – 29:30* शुभ
चर 29:30* – 31:09* शुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान————-पूर्व
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌹 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   3 + 2 + 1 = 6  ÷ 4 = 2 शेष

आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

     🌹शिव वास एवं फल -:

3 + 3 + 5 = 11 ÷ 7 = 4 शेष

सभायां = सन्ताप कारक

🌹भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

             🌹विशेष जानकारी🌹
  • द्विपुष्कर योग 🌹शुभ विचार🌹

अनागतविधाता च प्रत्युत्पन्नमतिस्तथा ।
द् वावेतौ सुखमेधेते यद्भविष्यो विनश्यति ।।
।।चा o नी o।।

जो भविष्य के लिए तैयार है और जो किसी भी परिस्थिति को चतुराई से निपटता है. ये दोनों व्यक्ति सुखी है. लेकिन जो आदमी सिर्फ नसीब के सहारे चलता है वह बर्बाद होता है.

              🌹सुभाषितानि🌹

गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17

तदित्यनभिसन्दाय फलं यज्ञतपःक्रियाः।,
दानक्रियाश्चविविधाः क्रियन्ते मोक्षकाङ्क्षिभिः॥,

तत्‌ अर्थात्‌ ‘तत्‌’ नाम से कहे जाने वाले परमात्मा का ही यह सब है- इस भाव से फल को न चाहकर नाना प्रकार के यज्ञ, तपरूप क्रियाएँ तथा दानरूप क्रियाएँ कल्याण की इच्छा वाले पुरुषों द्वारा की जाती हैं॥,25॥,

🌹व्रत पर्व विवरण🌹

🌹 विशेष – तृतीया को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

🌹माघ शुक्ल तृतीया (गौरी तृतीया)🌹
➡ 27 जनवरी 2020 सोमवार को प्रातः 06:16 से 28 जनवरी मंगलवार को सुबह 08:21 तक माघ शुक्ल तृतीया है ।
🙏🏻 तृतीया तिथि को सार्वत्रिक रूप से गौरी की पूजा का निर्देश है, चाहे किसी भी मास की तृतीया तिथि हो। भविष्यपुराण के अनुसार माघ मास की शुक्ल तृतीया अन्य मासों की तृतीया से अधिक उत्तम है | माघ मास की तृतीया स्त्रियों को विशेष फल देती है | माघ मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया को सौभाग्य वृद्धिदायक गौरी तृतीया व्रत किया जाता है। भविष्यपुराण उत्तरपर्व में आज से शुरू होने वाले ललितातृतीया व्रत की विधि का वर्णन है जिसके करने से नारी को सौभाग्य, धन, सुख, पुत्र, रूप, लक्ष्मी, दीर्घायु तथा आरोग्य प्राप्त होता है और स्वर्ग की भी प्राप्ति होती है |
🌷 सौभाग्यं लभते येन धनं पुत्रान्पशून्सुखम् । नारी स्वर्गं शुभं रूपमारोग्यं श्रियमुत्तमाम् ।।
🙏🏻 भविष्यपुराण, ब्राह्मपर्व में भगवती गौरी ने धर्मराज से कहा :- माघ मास की तृतीया को गुड़ और लवण (नमक) का दान स्त्रियों एवं पुरुषों के लिए अत्यंत श्रेयस्कर है भगवन शंकर की प्रिये उस दिन मोदक एवं जल का दान करें .
🌷 माघमासे तृतीयायां गुडस्य लवणस्य च । दानं श्रेयस्करं राजन्स्त्रीणां च पुरुषस्य च ।।
तृतीयायां तु माघस्य वामदेवस्य प्रीतये । वारिदानं प्रशस्तं स्यान्मोदकानां च भारत ।।
🙏🏻 पद्मपुराण, सृष्टि खंड के अनुसार माघ मास के शुक्ल पक्ष तृतीया मन्वंतर तिथि है। उस दिन जो कुछ दान दिया जाता है उसका फल अक्षय बताया गया है।
🙏🏻 धर्मसिंधु के अनुसार माघ मास में ईंधन, कंबल, वस्त्र, जूता, तेल, रूई से भरी रजाई, सुवर्ण, अन्न आदि के दान का बड़ा भारी फल मिलता है।
🙏🏻 माघ में तिलों का दान जरूर जरूर करना चाहिए। विशेषतः तिलों से भरकर ताम्बे का पात्र दान देना चाहिए।

🌹ससुराल मे कोई तकलीफ🌹
👩🏻 किसी सुहागन बहन को ससुराल मे कोई तकलीफ हो तो शुक्ल पक्ष की तृतीया को उपवास रखें …उपवास माने एक बार बिना नमक का भोजन कर के उपवास रखें ..भोजन में दाल चावल सब्जी रोटी नहीं खाए, दूध रोटी खा लें..शुक्ल पक्ष की तृतीया को..अमावस्या से पूनम तक की शुक्ल पक्ष में जो तृतीया आती है उसको ऐसा उपवास रखें …नमक बिना का भोजन(दूध रोटी) , एक बार खाए बस……अगर किसी बहन से वो भी नहीं हो सकता पूरे साल का तो केवल
👉🏻 माघ महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया,
👉🏻 वैशाख शुक्ल तृतीया और
👉🏻 भाद्रपद मास की शुक्ल तृतीया
जरुर ऐसे ३ तृतीया का उपवास जरुर करें …नमक बिना करें ….जरुर लाभ होगा…
🙏🏻 ..ऐसा व्रत वशिष्ठ जी की पत्नी अरुंधती ने किया था…. ऐसा आहार नमक बिना का भोजन…. वशिष्ठ और अरुंधती का वैवाहिक जीवन इतना सुंदर था कि आज भी सप्त ऋषियों में से वशिष्ठ जी का तारा होता है , उन के साथ अरुंधती का तारा होता है…आज भी आकाश में रात को हम उनका दर्शन करते हैं …
🙏🏻 ..शास्त्रो के अनुसार शादी होती तो उनका दर्शन करते है….. जो जानकर पंडित होता है वो बोलता है…शादी के समय वर-वधु को अरुंधती का तारा दिखाया जाता है और प्रार्थना करते है कि , “जैसा वशिष्ठ जी और अरुंधती का साथ रहा ऐसा हम दोनों पति पत्नी का साथ रहेगा..” ऐसा नियम है….
🙏🏻 चन्द्रमा की पत्नी ने इस व्रत के द्वारा चन्द्रमा की २७ पत्नियों में से प्रधान हुई….चन्द्रमा की पत्नी ने तृतीया के व्रत के द्वारा ही वो स्थान प्राप्त किया था…तो अगर किसी सुहागन बहन को कोई तकलीफ है तो ये व्रत करें ….उस दिन गाय को चंदन से तिलक करें … कुम -कुम का तिलक ख़ुद को भी करें उत्तर दिशा में मुख करके …. उस दिन गाय को भी रोटी गुड़ खिलाये॥

          🌹दैनिक राशिफल🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
व्यवसाय ठीक चलेगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। जुए-सट्टे व लॉटरी के चक्कर में न पड़ें। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। विवाद से क्लेश हो सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। कोई बड़ा काम हो सकता है। प्रसन्नता रहेगी।

🐂वृष
कोई बड़ा खर्च सामने आएगा। कर्ज लेना पड़ सकता है। वाणी पर नियंत्रण आवश्यक है। घर-परिवार की चिंता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बनी रहेगी। दूसरों पर अधिक भरोसा न करें। बनते कामों में विघ्न आ सकता है। धैर्य रखें। वरिष्ठजनों की सलाह मानें।

👫मिथुन
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। कुसंगति से हानि होगी। प्रतिष्ठित जनों का मार्गदर्शन तथा सहयोग मिलेगा। आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। प्रमाद न करें।

🦀कर्क
आर्थिक नीति में परिवर्तन से तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी। रोजगार में वृद्धि होगी। कई दिनों से अटके कार्य अब पूरे होंगे। चिंता तथा तनाव रहेंगे। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। क्रोध पर नियंत्रण रखें।

🐅सिंह
कोई बाहरी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। तंत्र-मंत्र में रुचि रहेगी। अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। पारिवारिक मांगलिक कार्य की योजना बन सकती है। प्रसन्नता रहेगी।

🙎कन्या
पुरानी व्याधि उठ सकती है। चोट व दुर्घटना से बड़ी हानि हो सकती है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। बेचैनी रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। घर-बाहर अशांति रहेगी। आय में कमी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रयास करते रहें।

⚖तुला
वैवाहिक प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। भागदौड़ की अधिकता स्वास्थ्य को प्रभावित करेगी। राजकीय कार्य मनोनुकूल रहेंगे। प्रतिद्वंद्वी शांत रहेंगे। घर-बाहर जो रुके कार्य हैं, उनमें गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

🦂वृश्चिक
लेन-देन में सावधानी रखें। भूमि व भवन संबंधी कार्य मनोनुकूल लाभ देंगे। कष्ट, भय व तनाव का वातावरण बन सकता है। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। किसी बड़े कार्य को करने की योजना बनेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। लाभ होगा।

🏹धनु
घर-बाहर मित्र व संबंधियों के साथ मनोरंजक समय व्यतीत होगा। यात्रा सफल रहेगी। अच्छे व्यंजनों का आनंद प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होगी। रुके कार्यों में गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। अनावश्यक क्रोध करने से बचें।

🐊मकर
उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। अनावश्यक विवाद हो सकता है। घर-बाहर सहयोग नहीं मिलेगा। बुरी खबर मिल सकती है। भागदौड़ रहेगी। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। फालतू के आरोप लग सकते हैं। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है, धैर्य रखें।

🍯कुंभ
समाज में मान-सम्मान मिलेगा। थोड़ी मेहनत से बड़ा लाभ हो सकता है। रोजगार तथा आय में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। नौकरी में अधिकारीगण प्रसन्न रहेंगे। घर-बाहर सहयोग मिलेगा। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

🐟मीन
पुराने भूले-बिसरे मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कोई बड़ा काम प्रारंभ करने की योजना बनेगी। भाइयों का सहयोग नहीं मिलेगा। मतभेद हो सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। थकान रहेगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता रहेगी।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related posts

WhatsApp chat