Dharma & Karma 

🐊मकर राशि के लोगों को धर्म-कर्म में रुचि रहेगी और महत्वपूर्ण व्यक्ति उनकी सहायता के लिए आगे आएंगे। मगर बाकी की राशियों में क्या? पढ़िये आज का अपना राशिफल…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌸🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏
🙏🌸🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌸🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🌸🙏

दिनाँक -: 13/02/2020,गुरुवार
पंचमी, कृष्ण पक्ष
फाल्गुन
“””””””””””””””””””””‘”””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-पंचमी 20:45:52 तक
पक्ष —————————कृष्ण
नक्षत्र ———–हस्त 09:24:02
योग ————–शूल 20:01:06
करण ———कौलव 10:09:20
करण ———–तैतुल 20:45:52
वार ————————-गुरूवार
माह ————————फाल्गुन
चन्द्र राशि ——कन्या 20:21:55
चन्द्र राशि ——–तुला20:21:55
सूर्य राशि ——-मकर 15:02:05
सूर्य राशि ———————कुम्भ
रितु ————————–शिशिर
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय —————–07:09:23
सूर्यास्त —————–18:36:13
दिन काल —————11:26:49
रात्री काल ————-12:32:39
चंद्रास्त —————–10:18:30
चंद्रोदय —————–22:55:23

लग्न —-मकर 29°40′ , 299°40′

सूर्य नक्षत्र ——————धनिष्ठा
चन्द्र नक्षत्र ———————हस्त
नक्षत्र पाया ——————–रजत

            🌸 पद, चरण  🌸

ठ —-हस्त 09:24:02

पे —-चित्रा 14:52:10

पो —-चित्रा 20:21:55

रा —-चित्रा 25:53:24

         🌸 ग्रह गोचर 🌸

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मकर 29°22 ‘ धनिष्ठा, 2 गी
चन्द्र =कन्या 12°23 ‘उ oफाo ‘ 4 ठ
बुध = कुम्भ 17°10 ‘शतभिषा’ 4 सू
शुक्र= मीन 11°55, उoभाo ‘ 3 झ
मंगल=धनु 03°30′ मूल ‘ 2 यो
गुरु=धनु 21°50 ‘ पू oषाo , 3 फा
शनि=मकर 01°43′ उ oषा o ‘ 2 भो
राहू=मिथुन 11°50 ‘ आर्द्रा , 2 घ
केतु=धनु 11 ° 50 ‘ मूल , 4 भी

      🌸 शुभा$शुभ मुहूर्त 🌸

राहू काल 13:57 – 15:20 अशुभ
यम घंटा 06:59 – 08:23 अशुभ
गुली काल 09:47 – 11:10 अशुभ
अभिजित 12:11 -12:56 शुभ
दूर मुहूर्त 10:42 – 11:27 अशुभ
दूर मुहूर्त 15:09 – 15:54 अशुभ

🌸चोघडिया, दिन
शुभ 06:59 – 08:23 शुभ
रोग 08:23 – 09:47 अशुभ
उद्वेग 09:47 – 11:10 अशुभ
चर 11:10 – 12:34 शुभ
लाभ 12:34 – 13:57 शुभ
अमृत 13:57 – 15:20 शुभ
काल 15:20 – 16:44 अशुभ
शुभ 16:44 – 18:07 शुभ

🌸 चोघडिया, रात
अमृत 18:07 – 19:44 शुभ
चर 19:44 – 21:20 शुभ
रोग 21:20 – 22:57 अशुभ
काल 22:57 – 24:33* अशुभ
लाभ 24:33* – 26:10* शुभ
उद्वेग 26:10* – 27:46* अशुभ
शुभ 27:46* – 29:23* शुभ
अमृत 29:23* – 30:59* शुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

  🌸 दिशा शूल ज्ञान-------------दक्षिण

परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा केशर खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

    🌸अग्नि वास ज्ञान  -:

यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   15 + 5 + 5 + 1 =  26 ÷ 4 = 2 शेष

आकाश लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

         🌸 शिव वास एवं फल -:

20 + 20 + 5 = 45 ÷ 7 = 3 शेष

वृषभारूढ़ = शुभ कारक

   🌸 भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

          🌸 विशेष जानकारी 🌸
  • कुम्भे सूर्य 15:04 संक्रांति
  • माँ यशोदा जयन्ती

*भगवान श्री गोपाल बिहारी जी का पाटोत्सव किशनगढ़ राज

               🌸 शुभ विचार 🌸

यस्माच्च प्रियमिच्छेतु तस्य ब्रूयात्सदा प्रियम् ।
व्याधो मृगवधं गन्तुं गीतं गायति सुस्वरम् ।।
।।चा o नी o।।

यदि हम किसीसे कुछ पाना चाहते है तो उससे ऐसे शब्द बोले जिससे वह प्रसन्न हो जाए. उसी प्रकार जैसे एक शिकारी मधुर गीत गाता है जब वह हिरन पर बाण चलाना चाहता है.

            🌸 सुभाषितानि 🌸

गीता -: मोक्षसन्यासयोग अo-18

अधिष्ठानं तथा कर्ता करणं च पृथग्विधम्‌ ।,
विविधाश्च पृथक्चेष्टा दैवं चैवात्र पञ्चमम्‌ ॥,

इस विषय में अर्थात कर्मों की सिद्धि में अधिष्ठान (जिसके आश्रय कर्म किए जाएँ, उसका नाम अधिष्ठान है) और कर्ता तथा भिन्न-भिन्न प्रकार के करण (जिन-जिन इंद्रियादिकों और साधनों द्वारा कर्म किए जाते हैं, उनका नाम करण है) एवं नाना प्रकार की अलग-अलग चेष्टाएँ और वैसे ही पाँचवाँ हेतु दैव (पूर्वकृत शुभाशुभ कर्मों के संस्कारों का नाम दैव है) है॥,14॥,

        🌸 व्रत पर्व विवरण 🌸

🌸 विशेष – पंचमी को बेल खाने से कलंक लगता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

      🌸 विष्णुपदी संक्रांति 🌸

➡ 13 फरवरी 2020 गुरुवार को विष्णुपदी संक्रांति है ।
🙏🏻 पुण्यकाल: सुबह 08:41 से दोपहर 03:05 तक | इस में किया गया जप , ध्यान , पुण्य कर्म लाख गुना पुण्यदायी होता है – ( पद्म पुराण , सृष्टि खंड )

🌸 बल-वीर्य की वृद्धि के लिए 🌸
🌿 तुलसी के बीज को मिक्सी में घुमा लो और उससे साड़े तीन गुना गुड़ की चाशनी बनाकर उसमे डाल दो । फिर मटर जितनी गोलियां बना लो । २ गोली सुबह दूध के साथ लो । इससे बल-वीर्य बढेगा और यौवन आएगा ।

    🌸 पुण्यदायी तिथियाँ 🌸

➡ 06 मार्च – आमलकी एकादशी (व्रत करके आँवले के वृक्ष के पास रात्रि – जागरण, उसकी 108 या 28 परिक्रमा करनेवाला सब पापों से छूट जाता है और 1000 गोदान का फल प्राप्त करता है |)
➡ 09 मार्च – होलिका दहन (रात्रि – जागरण, जप, मौन और ध्यान बहुत ही फलदायी होता है |)
➡ 14 मार्च – षडशीति संक्रांति (पुण्यकाल: दोपहर 11:55 से शाम 06:19 तक) (ध्यान, जप व पुण्यकर्म का फल ८६,००० गुना होता है | – पद्म पुराण )
➡ 15 मार्च – रविवारी सप्तमी ( सूर्योदय से 16 मार्च प्रात: 03:20 तक )

➡ 20 मार्च – पापमोचनी एकादशी (व्रत करने पर पापराशि का विनाश हो जाता है |)

नए वाहन खरीद के शुभ महुर्त
26 फरवरी बुधवार
उतरा भाद्रपद फाल्गुन शुक्ल तृतीया मीन लग्न, मेष लग्न, वृषभ लग्न
28 फरवरी शुक्रवार
अश्विनी फाल्गुन शुक्ल पंचमी मीन लग्न, मेष लग्न, वृषभ लग्न, अभिजित मुहूर्त

2 मार्च सोमवार
रोहिणी फाल्गुन शुक्ल सप्तमी मुहूर्त 13:56 बाद
11 मार्च बुधवार
हस्त चैत्र कृष्ण द्वितीया मेष, वृषभ लग्न, मिथुन लग्न
25 मार्च बुधवार
रेवती चैत्र शुक्ल प्रतिपदा वृषभ लग्न, कर्क लग्न
26 मार्च बृहस्पतिवार
रेवती/अश्विनी चैत्र शुक्ल द्वितीया वृषभ लग्न, अभिजित मुहूर्त

अगर आप कोई नया वाहन खरीदते हैं तो उसका पूजन अवश्य करना चाहिए। नये वाहन के पूजन के बाद ही वाहन चलाना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो इसे शुभ माना जाता है। वाहन की पूजा के लिए कर्पूर, नारियल, फूलमाला, जल का कलश, गुड़ या मिठाई, कलावा, सिंदूर घी मिश्रित सामग्री खरीद लें। घर में नए वाहन के प्रवेश से पहले आम के पत्ते से तीन बार गंगा जल छिड़के। अगर घर में गंगा जल नहीं है तो ताजा जल का इस्तेमाल करें। जल का छिड़काव करने के बाद वाहन पर सिन्दूर व धी के तेल के मिश्रण से स्वस्तिक का निशान बना दें

शास्त्रों में स्वस्तिक का बहुत महत्व बताया गया है। इसे वाहन पर लगाने को शुभ माना जाता है।स्वस्तिक का निशान बनाने से सकारात्मक ऊर्जा आती है। कहा जाता है कि स्वस्तिक का निशान बनाने से यात्रा में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं आता। स्वस्तिक का निशान बनाने के बाद वाहन को फूलमाला पहनाएं और वाहन पर तीन बार कलावा लपेट दें। कलावा रक्षासूत्र होता है, जो हमारे वाहन की रक्षा करता है।

घर के बाहर वाहन की कर्पूर से आरती करें और कर्पूर की राख से वाहन पर तिलक लगा दें। राख का तिलक वाहन को नजरदोष से बचाता है। इसके बाद कलश में रखे जल को दाएं-बाएं डाले दें। कहा जाता है कि ऐसा करने से वाहन के लिए स्वागत का भाव प्रदर्शित होता है। अब अपने वाहन पर मिठाई रख दें और पूजा के बाद इस मिठाई को गाय को खिला दें।

एक नारियल लेकर वाहन के चारों ओर सात बार चक्कर लगाएं और नारियल को वाहन के सामने फोड़े। ध्यान रहे जब भी वाहन को पहली बार स्टार्ट करें तो वाहन को इसी के ऊपर से चलाएं। अगर हो सके तो वाहन के लिए पीली कौड़ी लें और इसे काले धोगे में पिरो लें। बुधवार के दिन काले धागे वाली कौड़ी को अपने वाहन पर लटका दें। ऐसा करने से वाहन की रक्षा होती है

          🌸 दैनिक राशिफल 🌸

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
व्ययवृद्धि होगी। विवेक से कार्य करें। दूसरों पर विश्वास न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापारिक प्रतिष्ठा, लेन-देन अन्य कानूनी परेशानी संभव है। परिवार में किसी से विवाद होने की आशंका है। अनिश्चितता का वातावरण रहेगा। अपने कार्य-निर्णय गुप्त रखें।

🐂वृष
बेरोजगारी दूर होगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। नौकरी, रोजगार में उन्नति, सहयोग संभव है। आवश्यक मार्गदर्शन मिलेगा। संतान पक्ष के स्थायित्व की बात बनेगी। अपने व्यसनों पर नियंत्रण रखना होगा।

👫मिथुन
पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। उत्तेजित न हों। लाभ होगा। रोजगार की संभावनाएँ बढ़ेंगी। महत्व के मामले सुलझेंगे। घर में मूल्यवान वस्तुओं को संभालना होगा। विरोधी, शत्रु शांत रहेंगे।

🦀कर्क
मेहनत रंग लाएगी। कार्य की प्रशंसा होगी। यात्रा सफल रहेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। वाहन क्रय करने के योग बनेंगे। इच्छाशक्ति का लाभ मिलेगा। पारिवारिक वातावरण से आशान्वित रहेंगे। स्थायी संपत्ति, क्रय-विक्रय से लाभ की संभावना है।

🐅सिंह
पुराना रोग उभर सकता है। शोक समाचार मिल सकता है, धैर्य रखें। मेहनत अधिक होगी। थकान रहेगी। व्यर्थ खींचतान में नुकसान संभव है। आर्थिक मामलों में विश्वास, भरोसे में नहीं रहें। दिन प्रतिकूल रहेगा। स्वभावगत चंचलता में कमी करना होगी।

🙎कन्या
स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। व्यापार अच्छा चलेगा। आशानुरूप आमदनी होगी। व्यापार-व्यवसाय में अनुभव, निवेश में सफलता मिलेगी। समय का सदुपयोग होगा।

⚖तुला
उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। बड़े एवं प्रतिष्ठित लोगों से संबंधों का लाभ मिल सकेगा। जोखिम, जवाबदारी के कामों में सावधानी आवश्यक है। पारिवारिक वातावरण खुशनुमा रहेगा।

🦂वृश्चिक
परिवार का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। कानूनी बाधा दूर होगी। अपरिचित व्यक्तियों के सहयोग से आत्मविश्वास का संचार होगा। खर्चों में कमी का प्रयास करना होगा। लाभकारी निवेश बढ़ेगा।

🏹धनु
पुराना रोग उभर सकता है। कार्य में लापरवाही व जल्दबाजी न करें। कुसंगति से बचें। विवेक से कार्य करें। लाभ होगा। सतर्कता एवं सावधानीपूर्वक व्यापारिक योजनाओं को अंजाम दें। विद्यार्थी शिक्षा में उल्लेखनीय सफलता अर्जित करेंगे। यात्रा न करें।

🐊मकर
धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। महत्वपूर्ण व्यक्ति सहायता को आगे आएंगे। कार्यसिद्धि होगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। उत्साहपूर्वक व्यावसायिक योजनाओं को पूरा करेंगे। अचानक धन की प्राप्ति संभव है। कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता बढ़ेगी। अनुज सहयोग करेंगे।

🍯कुंभ
कार्यस्थल पर सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। मान-सम्मान बढ़ेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। कार्य में प्रगति, उत्साह रहेगा। दूसरों की दखलंदाजी पसंद नहीं आएगी। कर्ज, लेन-देन कम होगा। भेंट, उपहार की प्राप्ति होगी।

🐟मीन
रुका हुआ धन प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। थकान रहेगी। यात्रा सफल रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। नौकरी में पद, स्थिति से लाभान्वित हो पाएँगे। परिश्रम की अधिकता रहेगी। आर्थिक मामलों में लोभ, प्रलोभन से बचें। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related posts

WhatsApp chat