Dharma & Karma 

अगर कुंडली में मंगल अशुभ है तो ? कैसे करें पहचान? क्या है उपाय? राशिफल के हिसाब से क्या करें!क्या ना करें!! सबका समाधान..आचार्य जी

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
🙏ll जय श्री राधे ll🙏
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

दिनाँक -: 29/01/2020,बुधवार
चतुर्थी, शुक्ल पक्ष
माघ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-चतुर्थी 10:45:13 तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र —पूर्वाभाद्रपदा 12:12:15
योग ————–शिव 28:20:01
करण ——विष्टि भद्र 10:45:13
करण ————भाव 24:01:19
वार ————————–बुधवार
माह —————————–माघ
चन्द्र राशि ———————-मीन
सूर्य राशि ———————मकर
रितु ————————–शिशिर
आयन ——————–उत्तरायण
संवत्सर ———————विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय —————–07:14:53
सूर्यास्त —————–18:28:18
दिन काल ————–11:13:24
रात्री काल ————-12:46:21
चंद्रोदय —————–10:10:24
चंद्रास्त —————–22:16:59

लग्न —-मकर 14°28′ , 284°28′

सूर्य नक्षत्र ——————-श्रवण
चन्द्र नक्षत्र ———–पूर्वाभाद्रपदा
नक्षत्र पाया ———————ताम्र

        🌹पद, चरण🌹

दी —-पूर्वाभाद्रपद 12:12:15

दू —-उत्तराभाद्रपद 18:56:33

थ —-उत्तराभाद्रपद 25:41:15

           🌹ग्रह गोचर🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मकर 14°22 ‘ श्रवण, 2 खू
चन्द्र =मीन 00°23 ‘ पू o भा o’ 4 दी
बुध = मकर 26°10 ‘ धनिष्ठा’ 2 गी
शुक्र= कुम्भ 24°55, पूoभाo ‘ 2 सो
मंगल=वृश्चिक 23°30′ ज्येष्ठा ‘ 2 या
गुरु=धनु 18°50 ‘ पू oषाo , 2 धा
शनि=मकर 00°43′ उ oषा o ‘ 2 भो
राहू=मिथुन 12 °42 ‘ आर्द्रा , 2 घ
केतु=धनु 12 ° 42 ‘ मूल , 4 भी

     🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹

राहू काल 12:32 – 13:53 अशुभ
यम घंटा 08:30 – 09:51 अशुभ
गुली काल 11:11 – 12:32 अशुभ
अभिजित 12:11 -12:54 अशुभ
दूर मुहूर्त 12:11 – 12:54 अशुभ

🌹पंचक अहोरात्र अशुभ

🌹चोघडिया, दिन
लाभ 07:09 – 08:30 शुभ
अमृत 08:30 – 09:51 शुभ
काल 09:51 – 11:11 अशुभ
शुभ 11:11 – 12:32 शुभ
रोग 12:32 – 13:53 अशुभ
उद्वेग 13:53 – 15:14 अशुभ
चर 15:14 – 16:35 शुभ
लाभ 16:35 – 17:56 शुभ

🌹चोघडिया, रात
उद्वेग 17:56 – 19:35 अशुभ
शुभ 19:35 – 21:14 शुभ
अमृत 21:14 – 22:53 शुभ
चर 22:53 – 24:32* शुभ
रोग 24:32* – 26:11* अशुभ
काल 26:11* – 27:50* अशुभ
लाभ 27:50* – 29:29* शुभ
उद्वेग 29:29* – 31:09*अशुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान-------------उत्तर

परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो पान अथवा पिस्ता खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

 🌹अग्नि वास ज्ञान  -:

यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   4 + 4 + 1 =  9 ÷ 4 = 1शेष

पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

    🌹शिव वास एवं फल -:

4 + 4 + 5 = 13 ÷ 7 = 6 शेष

क्रीड़ायां = शोक, दुःख कारक

  🌹भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

प्रातः 10:45 तक समाप्त

मृत्यु लोक = सर्वकार्य विनाशिनी

         🌹 विशेष जानकारी🌹
  • ध्वजोत्तोलनं दिवस 🌹शुभ विचार🌹

जीवन्तं मृतवन्मन्ये देहिनं धर्मवर्जितम् ।
मृतो धर्मेण संतुक्तो दीर्घजीवी न संशयः ।।
।।चा o नी o।।

मेरी नजरो में वह आदमी मृत है जो जीते जी धर्म का पालन नहीं करता. लेकिन जो धर्म पालन में अपने प्राण दे देता है वह मरने के बाद भी बेशक लम्बा जीता है.

              🌹सुभाषितानि🌹

गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17

यज्ञे तपसि दाने च स्थितिः सदिति चोच्यते।,
कर्म चैव तदर्थीयं सदित्यवाभिधीयते॥,

तथा यज्ञ, तप और दान में जो स्थिति है, वह भी ‘सत्‌’ इस प्रकार कही जाती है और उस परमात्मा के लिए किया हुआ कर्म निश्चयपूर्वक सत्‌-ऐसे कहा जाता है॥,27॥,

🌹व्रत पर्व विवरण🌹
विशेष – चतुर्थी को मूली खाने से धन का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

 🌹वसंत पंचमी🌹

➡ 30 जनवरी 2020 गुरुवार को वसंत पंचमी हैं ।
🙏🏻 ब्रह्मवैवर्त पुराण तथा देवीभागवत पुराण के अनुसार जो मानव माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि के दिन संयमपूर्वक उत्तम भक्ति के साथ षोडशोपचार से भगवती सरस्वती की अर्चना करता है, वह वैकुण्ठ धाम में स्थान पाता है। माघ शुक्ल पंचमी विद्यारम्भ की मुख्य तिथि है। “माघस्य शुक्लपञ्चम्यां विद्यारम्भदिनेऽपि च।”
🙏🏻 श्रीकृष्ण ने सरस्वती से कहा था
🌷 प्रतिविश्वेषु ते पूजां महतीं ते मुदाऽन्विताः । माघस्य शुक्लपञ्चम्यां विद्यारम्भेषु सुन्दरि ।।
मानवा मनवो देवा मुनीन्द्राश्च मुमुक्षवः । सन्तश्च योगिनः सिद्धा नागगन्धर्वकिंनराः ।।
मद्वरेण करिष्यन्ति कल्पे कल्पे यथाविधि । भक्तियुक्ताश्च दत्त्वा वै चोपचारांश्च षोडश ।।
काण्वशाखोक्तविधिना ध्यानेन स्तवनेन च । जितेन्द्रियाः संयताश्च पुस्तकेषु घटेऽपि च ।।
कृत्वा सुवर्णगुटिकां गन्धचन्दन चर्च्चिताम् । कवचं ते ग्रहीष्यन्ति कण्ठे वा दक्षिणे भुजे ।।
पठिष्यन्ति च विद्वांसः पूजाकाले च पूजिते । इत्युक्त्वा पूजयामास तां देवीं सर्वपूजितः ।।
ततस्तत्पूजनं चक्रुर्ब्रह्मविष्णुमहेश्वराः । अनन्तश्चापि धर्मश्च मुनीन्द्राः सनकादयः ।।
सर्वे देवाश्च मनवो नृपा वा मानवादयः । बभूव पूजिता नित्या सर्वलोकैः सरस्वती ।।


🙏🏻 “सुन्दरि! प्रत्येक ब्रह्माण्ड में माघ शुक्ल पंचमी के दिन विद्यारम्भ के शुभ अवसर पर बड़े गौरव के साथ तुम्हारी विशाल पूजा होगी। मेरे वर के प्रभाव से आज से लेकर प्रलयपर्यन्त प्रत्येक कल्प में मनुष्य, मनुगण, देवता, मोक्षकामी प्रसिद्ध मुनिगण, वसु, योगी, सिद्ध, नाग, गन्धर्व और राक्षस– सभी बड़ी भक्ति के साथ सोलह प्रकार के उपचारों के द्वारा तुम्हारी पूजा करेंगे। उन संयमशील जितेन्द्रिय पुरुषों के द्वारा कण्वशाखा में कही हुई विधि के अनुसार तुम्हारा ध्यान और पूजन होगा। वे कलश अथवा पुस्तक में तुम्हें आवाहित करेंगे। तुम्हारे कवच को भोजपत्र पर लिखकर उसे सोने की डिब्बी में रख गन्ध एवं चन्दन आदि से सुपूजित करके लोग अपने गले अथवा दाहिनी भुजा में धारण करेंगे। पूजा के पवित्र अवसर पर विद्वान पुरुषों के द्वारा तुम्हारा सम्यक प्रकार से स्तुति-पाठ होगा। इस प्रकार कहकर सर्वपूजित भगवान श्रीकृष्ण ने देवी सरस्वती की पूजा की। तत्पश्चात, ब्रह्मा, विष्णु, शिव, अनन्त, धर्म, मुनीश्वर, सनकगण, देवता, मुनि, राजा और मनुगण– इन सब ने भगवती सरस्वती की आराधना की। तब से ये सरस्वती सम्पूर्ण प्राणियों द्वारा सदा पूजित होने लगीं।
🙏🏻 वसन्त पंचमी पर सरस्वती मूल मंत्र की कम से कम 1 माला जप जरूर करना चाहिए।


➡ मूल मंत्र : “श्रीं ह्रीं सरस्वत्यै स्वाहा”
🙏🏻 सरस्वती जी का वैदिक अष्टाक्षर मूल मंत्र जिसे भगवान शिव ने कणादमुनि तथा गौतम को, श्रीनारायण ने वाल्मीकि को, ब्रह्मा जी ने भृगु को, भृगुमुनि ने शुक्राचार्य को, कश्यप ने बृहस्पति को दिया था जिसको सिद्ध करने से मनुष्य बृहस्पति के समान हो जाता है ।
🙏🏻 सरस्वती पूजा के लिए नैवैद्य (ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार)
नवनीतं दधि क्षीरं लाजांश्च तिललड्डुकान् । इक्षुमिक्षुरसं शुक्लवर्णं पक्वगुडं मधु ।।
स्वस्तिकं शर्करां शुक्लधान्यस्याक्षतमक्षतम्। अस्विन्नशुक्लधान्यस्य पृथुकं शुक्लमोदकम् ।।
घृतसैन्धवसंस्कारैर्हविष्यैर्व्यञ्जनैस्तथा । यवगोधूमचूर्णानां पिष्टकं घृतसंस्कृ तम् ।।
पिष्टकं स्वस्तिकस्यापि पक्वरम्भाफलस्य च । परमान्नं च सघृतं मिष्टान्नं च सुधोपमम् ।।
नारिकेलं तदुदकं केशरं मूलमार्द्रकम् । पक्वरम्भाफलं चारु श्रीफलं बदरीफलम् ।।
कालदेशोद्भवं पक्वफलं शुक्लं सुसंस्कृतम् ।।


🙏🏻 ताजा मक्खन, दही, दूध, धान का लावा, तिल के लड्डू, सफेद गन्ना और उसका रस, उसे पकाकर बनाया हुआ गुड़, स्वास्तिक (एक प्रकार का पकवान), शक्कर या मिश्री, सफेद धान का चावल जो टूटा न हो (अक्षत), बिना उबाले हुए धान का चिउड़ा, सफेद लड्डू, घी और सेंधा नमक डालकर तैयार किये गये व्यंजन के साथ शास्त्रोक्त हविष्यान्न, जौ अथवा गेहूँ के आटे से घृत में तले हुए पदार्थ, पके हुए स्वच्छ केले का पिष्टक, उत्तम अन्न को घृत में पकाकर उससे बना हुआ अमृत के समान मधुर मिष्टान्न, नारियल, उसका पानी, कसेरू, मूली, अदरख, पका हुआ केला, बढ़िया बेल, बेर का फल, देश और काल के अनुसार उपलब्ध ऋतुफल तथा अन्य भी पवित्र स्वच्छ वर्ण के फल – ये सब नैवेद्य के समान हैं।
🌷 सुगन्धि शुक्लपुष्पं च गन्धाढ्यं शुक्लचन्दनम् । नवीनं शुक्लवस्त्रं च शङ्खं च सुमनोहरम् ।।
माल्यं च शुक्लपुष्पाणां मुक्ताहीरादिभूषणम् ।।
🙏🏻 सुगन्धित सफेद पुष्प, सफेद स्वच्छ चन्दन तथा नवीन श्वेत वस्त्र और सुन्दर शंख देवी सरस्वती को अर्पण करना चाहिये। श्वेत पुष्पों की माला और श्वेत भूषण भी भगवती को चढ़ावे।


🙏🏻 स्मरण शक्ति प्राप्त करने के लिए वसंत पंचमी से शुरू करके प्रतिदिन याज्ञवल्क्य द्वारा रचित भगवती सरस्वती की स्तुति करनी चाहिए।

बुधवार के दिन खास तौर पर श्रीगणेश की पूजा-अर्चना करने का विधान है, क्योंकि श्री गणेशजी को विघ्नहर्ता कहा जाता है। वे स्वयं रिद्धि-सिद्धि के दाता और शुभ-लाभ के प्रदाता हैं।

श्रीगणेश सभी विघ्नों, रोग, दोष तथा दरिद्रता को दूर करते हैं। अगर किसी भी कारणवश आप अपने कार्य में सफल नहीं हो पा रहे हैं तो आजमाइए श्रीगणेश को प्रसन्न करने के ये सरल और प्रभावकारी उपाय
बुधवार के दिन गणेशजी को सिंदूर अर्पित करें। उन्हें सिंदूर चढ़ाने से समस्त परेशानियां दूर होकर सभी समस्याओं का समाधान होता है।

  • बुधवार को गणेशजी के मंदिर में जाकर दर्शन करें। 
     
  • श्रीगणेश को हरी दूर्वा चढ़ाएं।
     
  • गणेश मंदिर में 7 बुधवार तक गुड़ का भोग चढ़ाएं, आपकी मनोकामना अवश्य पूरी होगी। 
     
  • मेहनत का पूर्ण फल प्राप्त करने और बाधाएं दूर करने के हेतु गणेश रुद्राक्ष धारण करें। 
     
     * गणेश जी को मूंग के लड्डुओं का भोग चढ़ाकर हर तरह की परीक्षा में पास होने के लिए प्रार्थना करें। 
     
  • हर बुधवार को गाय को हरी घास खिलाएं। 

पंचक
26जनवरी 5.40pm से 31 जनवरी 6.10pm तक
23फरबरी 12.29am से 28फरबरी 1.08am तक
एकादशी
5फरबरी बुधवार
19फरबरी बुधवार
प्रदोष
6फरबरी शुक्रवार
20 फरबरी बृहस्पतिवार
पूर्णमासी
9फरबरी रविवार
अमावस्या
23फरबरी रविवार
महाशिवरात्रि
21फरबरी शुक्रवार
कारोबार महूर्त
1 ;21;26;28 फरबरी
नया वाहन महूर्त
1;21;28फरबरी
ग्रह प्रवेश महूर्त
14;24;26फरबरी
नींव पूजन महूर्त
1;14;24;26;28फरबरी

मंगल अशुभ है तो ऐसे पहचानें

सबसे पहले तो यह जान लें कि जन्मकुंडली में मंगल अशुभ हो तो क्या फल देता है और जीवन में इसका क्या असर होता है. इसका उत्तर है कि जब मंगल अशुभ होता है तो व्यक्ति को कई तरह की दिक्कतें पेश आने लगती हैं. जैसे रक्त संबंधी समस्या, गर्म खून वाले जानवर हमला कर दें. बात-बात पर क्रोध आना, हमेशा गलत काम करने के विचार आना, मारपीट करने का मन करना, कानून को हाथ में लेने की सोचना और कभी कभी दिमाग में विध्वंसकारी विचार भी आने लगते हैं.

शादी में डालता है अड़चन

खराब मंगल शादी विवाह में भी अड़चन डालता है. समय पर शादी नहीं हो रही है. कई बार सबकुछ ठीक होने के बाद भी रिश्ता टूट जाता है. ऐसा भी मंगल के खराब होने के कारण होता है.

मंगल की अशुभता को दूर करने के उपाय

मंगल की अशुभता को जितनी जल्दी हो उतनी जल्दी दूर करने के प्रयास करने चाहिए. क्योंकि अनदेखी करने पर गंभीर स्थितियां भी खड़ी हो सकती है. मंगल को शांत करने के लिए रोज हनुमान चालीसा का पाठ करें. सुंदरकांड का नियमित पाठ करें. सुंदरकांड का नियमित पाठ करने से मंगल की अशुभता जल्दी दूर होती है. मंगलवार का व्रत रखें. महिलाओं का सम्मान करें. मांसाहारी भोजन से दूर रहें.

किसी भी तरह के नशे से बचें

शराब और नशे की अन्य चीजें मंगल की अशुभता को अधिक बढ़ा देती हैं. मदिरा या नशीले पदार्थों का सेवन कतई न करें. नशीले पदार्थ राहु-केतु की खराब स्थिति का सूचक है. ये दोनों ग्रह भ्रम की स्थिति पैदा करते हैं और सही फैसला नहीं लेने देते हैं. इसलिए मंगल की अशुभता में इनका सहयोग मिलना व्यक्ति की मुसीबतों को दोगुना बढ़ा देता है. इसलिए इनसे दूर ही रहें.

     🌹दैनिक राशिफल 🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।
विवाहे सर्वमांगल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे ।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

मेष
पॉजिटिव – परिवार और धन आपके लिए दो महत्वपूर्ण क्षेत्र होंगे। शिक्षा, लेखन, यात्रा और जन संचार के क्षेत्रों से जुड़े लोग अपने रास्ते में आने वाले नए अवसर प्राप्त करेंगे। आपको अपने सहयोगियों और किसी छोटे कार्य से लाभ होने की संभावना है। वित्तीय सलाहकार से मदद लेना फायदेमंद साबित होगा।


नेगेटिव – आपका ध्यान एक नई व्यक्तिगत छवि बनाने और परिवर्तनों की दिशा में काम करने पर होगा। अपने अहंकार को हावी न होने दें खासतौर पर जब आप अपने सीनियर्स से बात कर रहे हों। अपने दिमाग को अपने लक्ष्यों पर केंद्रित करें। नया सदस्य जुड़ सकता है या कई मामलों में कोई सदस्य बिछड़ भी सकता है जैसे कोई युवा महिला सदस्य।


लव – आपके रिश्ते में तनाव की वृद्धि हो सकती है, धैर्य का परिचय देना बेहतर होगा। एक दूसरे से मन की बात शेयर करें जिससे आपका आपसी तालमेल और बेहतर हो।


व्यवसाय – आप आर्थिक मामलों और आपके व्यवसाय में विकास के नए मौक़ों को प्राप्त करेंगे। सरकारी या बड़े निगमों के साथ समझौते के लिए यह समय अच्छा है।


स्वास्थ्य – पड़ोसियों, भाई/बहनों या पिता के समान लोगों के कारण डॉक्टर के पास जाना पड़ सकता है।


भाग्यशाली रंग: किरमजी, भाग्यशाली अंक: सात


वृष
पॉजिटिव – भाई/बहनों के लिए भी यह समय कई मामलों में महत्वपूर्ण रहेगा, उनके जीवन में कई रहस्यमय उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। आप भावनात्मक सुरक्षा और बेफिक्री भरे जीवन की इच्छा कर रहे हैं। माता-पिता और परिवार के सदस्यों के साथ आप अपने रिश्ते में गर्माहट और आराम महसूस करेंगे।


नेगेटिव – कुछ ऐसे मुद्दे उत्पन्न हो सकते हैं जो आपसे आपके ध्यान और आपके फोकस में परिवर्तन की मांग कर सकते हैं। हालाँकि इन मुश्किलों को जल्दी ही हल कर लिया जाएगा। पिता या पिता जैसे कोई व्यक्ति मुसीबतों या कठिनाइयों का सामना कर सकते हैं।


लव – प्रेम संबंधित मामलों के लिए समय काफी अच्छा रह सकता है बुध और गुरु की स्थिति आपके रिश्ते में प्यार बढ़ाएगी तथा आप में से कुछ लोगों का प्रेम विवाह हो सकता है।


व्यवसाय – आपकी क्रिया कलाप की गतिविधियां प्रतिकूल हो सकती हैं। इसलिए सावधानी पूर्वक कार्य करना लाभदायक होगा। इस दिन किसी भी तरह के कार्य योजनाओं को सफल बनाने का प्रयास असफल हो सकता है।


स्वास्थ्य – स्वास्थ्य संबंधी मामले, मामूली दुर्घटनाएँ और यहाँ तक की अचानक किसी सर्जरी की भी आशंका है।


भाग्यशाली रंग: गुलाबी, भाग्यशाली अंक: तीन

मिथुन
पॉजिटिव – घर में भी आपको पहले से अधिक सुरक्षा और सुख की भावना का अहसास होगा। आप में से कुछ लोगों को ऐसा भी लगेगा कि इस समय लम्बे समय से चली आ रही आपकी सभी पारिवारिक समस्याएं सुलझ गयी हैं। आप पूरी तरह से आत्मविश्वास से भरे हुए हैं और आप दृढ़ संकल्प से आगे बढ़ रहे हैं।


नेगेटिव – जटिलताओं में सरकार, टैक्स, बीमा और अन्य मुद्दे शामिल हो सकते हैं। आपका घर, संपत्ति, ज़मीन जायदाद और दूसरी पूँजी शनि के प्रभाव में आते हैं। संपत्ति के मामलों में काम करते समय सावधान और अधिक जागरूक रहें। घर और परिवार के क्षेत्र में आपके संबंध आपकी प्राथमिकता रहेंगे और इन्हे आपके ध्यान की आवश्यकता है।


लव – अपने प्रेम जीवन को मजबूती प्रदान करेंगे। यदि आप विवाहित है तो राहु की उपस्थिति तनाव बढ़ाएगी और आप दोनों के बीच किसी बात को लेकर गलतफहमी पैदा हो सकती है इसलिए समय रहते इस पर नियंत्रण पाएं।


व्यवसाय – दूसरों के धन से संबंधित मुद्दे और विवाद जैसे टैक्स, ऋण, बीमा और प्रीमियम, पैतृक धन आदि को सावधानी और धैर्य से निपटाना चाहिए।


स्वास्थ्य – आरोग्य में एकदम सुधार होगा, आपका चुस्त आरोग्य का असर आपके कार्य पर भी पडेगा।


भाग्यशाली रंग: कथ्थई, भाग्यशाली अंक: नौ


कर्क
पॉजिटिव – आपके भविष्य के लिए एक बेहद उज्ज्वल समय है और आप कुछ नवीन विचारों के बारे में सोचने में सक्षम हैं जिससे उन्हें उनकी कीमत का पता चलेगा। आपके सभी निर्णय सही साबित होंगे और लोग आपकी निर्णय लेने की शक्ति की तारीफ़ करेंगे। कठिनाइयों के बावजूद आपको सफलता प्राप्त होगी।


नेगेटिव – आप धन और साझा धन से संबंधित चुनौतियों का अनुभव कर सकते हैं। आप उलझन, ग़लतफहमी और बदतर मामलों में धोखाधड़ी या ठगी का शिकार हो सकते हैं। भाई,बहन और पड़ोसियों को कई बाधाओं और समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें आपकी मदद की आवश्यकता होगी।


लव – प्रेम संबंधित मामलों के लिए समय अनुकूल नहीं है इसलिए अपने रिश्ते में वफादारी बनाए रखें और अपने साथी को अपने जीवन में महत्वपूर्ण बनाएं तथा उन्हें बताएं कि वह आपके जीवन में कितने निकट है।


व्यवसाय – कुछ अलग तरह के कार्यों में रुझान बढ़ सकता है। जैसे सजावट फाइनेंस फैशन एक्सपोर्ट डिजाइन इत्यादि के क्षेत्रों में रुझान बढ़ने से कुछ अच्छा लाभ मिल सकता है।


स्वास्थ्य – पेट का दर्द हो सकता है। ज्यादा खाने कि आदत पर अंकुश पाये तो बेहतर होगा, अकेली दवा काम नही करेगी।


भाग्यशाली रंग: सिल्वर, भाग्यशाली अंक: दो


सिंह
पॉजिटिव – आप अपनी प्राथमिकताओं पर अपना ध्यान केंद्रित करने में सक्षम हैं और इन्हे सच में प्रभावी बनाने की रणनीति सीखेंगे। आप अपने सपनों को पूरा करने में सक्षम होंगे। सफलता पाने के लिए आपको कम से कम दो बड़े अवसर मिलेंगे। आप उनमें से ज्यादातर लाभ पाने की कोशिश करें।


नेगेटिव – आप कार्य-स्थल पर समस्याओं का सामना कर सकते हैं और आपका अपने काम के साथ समीकरण अपना संतुलन खो सकता है। लोग आपके कार्यों और निर्णयों पर नजर रखेंगे इसलिए संतुलित कदम उठाये। आपके फैसले आपके जीवन पर बहुत बड़ा प्रभाव डाल सकते हैं।


लव – आप विवाहित हैं तो जीवन साथी के माध्यम से सामाजिक स्तर पर लाभ मिलेगा तथा आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी और आप दोनों साथ मिलकर कहीं घूमने फिरने भी जा सकते हैं जिससे आपका दांपत्य जीवन सुख से भर जाएगा।


व्यवसाय – किसी तरह का प्रॉपर्टी में भी निवेश कर सकते हैं। जिससे आपको अच्छा लाभ प्राप्त हो सकता है। अनावश्यक किसी व्यक्ति को धन देने से परहेज करें।


स्वास्थ्य – त्वचा रोग की संभावना है।


भाग्यशाली रंग: हरा, भाग्यशाली अंक: छ

कन्या
पॉजिटिव – आपके घर,जायदाद, रियल एस्टेट और अन्य संपत्ति परिवर्तित की जा सकती हैं, उनमें वृद्धि हो सकती है या उन्हें बदला जा सकता है। विदेशी लोगों या विदेशी कनेक्शन के माध्यम से सफलता की अपेक्षा की जा सकती है। जो लोग व्यवसाय से जुड़े हैं वो समाज में प्रसिद्धि प्राप्त करेंगे।


नेगेटिव – दूसरों के धन जैसे टैक्स, ऋण, बीमा और प्रीमियम आदि से संबंधित विवाद और मतभेद पैदा हो सकते हैं, पैतृक धन या सम्पत्ति के मामलों को ध्यान और धैर्य से निपटाना चाहिए। हो सकता है कि उच्च शिक्षा,आध्यात्मिक कामों और यात्रा के लिए यह समय सही न हो।


लव – प्रेम संबंधित मामलों के लिए समय अधिक अनुकूल नहीं है इसलिए समय के अनुसार आचरण करें और अपने प्रियतम से ज्यादा मिलना जलने का प्रयास ना करें इससे आपका प्रेम जीवन अच्छे से चलता रहेगा और आप किसी भी प्रकार के लड़ाई झगड़े से बच जाएंगे।


व्यवसाय – वेतन में वृद्धि या पदोन्नति या स्थायी आर्थिक स्थिति की अच्छी संभावनाएं हैं। आप अपने व्यापार के सौदों में अपेक्षित मुनाफ़े से अधिक लाभ प्राप्त करेंगे।


स्वास्थ्य – खान पान कि आदत का सीधा असर आपके आरोग्य पर पडेगा और आप गलत साबित होगे कि आप शारिरिक रूप से हंमेशा दुरस्त रहेगे।


भाग्यशाली रंग: किरमजी, भाग्यशाली अंक: छ


तुला
पॉजिटिव – सामाजिकता और भाईचारा आपको नए ताल्लुक़ात, अनुबंधों और आमदनी के अतिरिक्त साधनों को प्राप्त करने में मदद करेगा। आप चीज़ों को सुधारना चाहते हैं और केवल उन लोगों या चीज़ों को अपने पास रखना चाहते हैं जिनकी आपको सच में ज़रूरत हैं।


नेगेटिव – आपकी लापरवाही आपको परेशानियों में डाल सकती है इसलिए आप अपने आस-पड़ोस को लेकर अधिक चौकस रहें। किसी को कुछ भी बोलने से पहले दो बार सोचें क्योंकि बिना सोचे-समझे कुछ भी बोलना आपके लिए परेशानी पैदा कर सकता है।


लव – आप विवाहित हैं तो आपके लिए समय काफी बेहतर है और जीवन साथी के साथ अच्छा पल बिताने का मौका भी मिलेगा साथ ही साथ आप के पारस्परिक तालमेल के बेहतर होने से दांपत्य जीवन खुशी से बीतेगा।


व्यवसाय – यदि कहीं आर्थिक लाभ के लिए निवेश करते हैं तो आपको उसके बारे में सभी जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है। तभी आपको अच्छी सफलता प्राप्त हो सकती है। अचल संपत्ति प्राप्ति के लिए प्रयास कर सकते हैं।


स्वास्थ्य – अपने मन पर अंकुश पाये यही आज का गणेश जी कि ओर से आपको उपदेश है।


भाग्यशाली रंग: गुलाबी, भाग्यशाली अंक: आठ


वृश्चिक
पॉजिटिव – रहस्य, परिवर्तन और जीवन को बदलने वाली घटनाओं की अपेक्षा करें। आपके बच्चे विदेशी यात्रा कर सकते हैं या विदेशियों के संपर्क में आ सकते हैं। अब आप सामान्य रूप से अधिक स्वतंत्र हो गए हैं। आपके पिता या पिता जैसे किसी व्यक्ति जैसे चाचा या अध्यापक आदि के लिए यह समय बेहद महत्वपूर्ण है।


नेगेटिव – समझदार बने और सतर्क रहें। आपके तर्कसंगत निर्णय आपको बड़ी सफलता दिलवाएंगे। कठिनाइयों की वजह से न रुके और कार्य को बीच में न छोड़े। याद रखें कि जब रात अधिक अँधेरी हों तो समझ लें दिन आने वाला है।


लव – सिंगल लोग जीवन में नए प्यार के आगमन की उम्मीद कर सकते हैं। यह अत्यधिक ऊर्जा से भरपूर और आवेशपूर्ण संबंध हो सकता है। आपके पति/पत्नी और पार्टनर के लिए यह समय अधिकतर अच्छा रहेगा।


व्यवसाय – आपके लिए किसी तरह के नए कार्यों में सफलता प्राप्त हो सकती है। किसी तरह का निवेश करना चाहते हैं तो कर सकते हैं परंतु निवेश का स्थान सुनिश्चित होना चाहिए और परिपक्व होना चाहिए। जिससे की आर्थिक लाभ में नुकसान न उठाना पड़े।


स्वास्थ्य – शरीर और मन एकदम फिट रहेंगे।


भाग्यशाली रंग: आसमानी, भाग्यशाली अंक: एक

धनु
पॉजिटिव – उच्च शिक्षा,आध्यात्मिक गतिविधियों और यात्रा के लिए भी यह एक अच्छा समय हो सकता है। आपके भाई/बहन, पड़ोसियों और सहयोगियों के लिए यह महत्वपूर्ण समय है क्योंकि वो एक नया पार्टनर और नए मौक़ों को पा सकते हैं। मजबूत फाइनेंस और पारिवारिक घनिष्टता आपके जीवन को मधुर बनाएँगे।


नेगेटिव – आप अपनी छवि को खतरे में पा सकते हैं। परिवार और आर्थिक मामलों पर आपका ध्यान केंद्रित रहेगा। इन क्षेत्रों में रहस्य, बदलाव, बीमारी और जीवन को बदलने वाली घटनाओं की अपेक्षा करें। आपको अपने गुस्से को नियंत्रित करने के विषय में जागरूक रहने की आवश्यकता है।


लव – प्रेम संबंधों को लेकर स्थितियां अनुकूल रहेंगी। आपके प्रेमीजन से आपसे विचार अच्छे मिलेंगे। यदि किसी कार्य को मिल-जुलकर करने का प्रयास है तो वह सफल हो सकता है।


व्यवसाय – आपके सगे संबंधियों से सहयोग प्राप्त हो सकता है तथा आर्थिक लाभ के लिए किया गया प्रयास सफल होने की संभावना पाई जाती है। बुद्धि और वाणी से धन अर्जित करने का प्रयास सफल हो सकता है।


स्वास्थ्य – आंखो को जलन जैसी बिमारीया हो सकती है।


भाग्यशाली रंग: लाल, भाग्यशाली अंक: नौ


मकर
पॉजिटिव – प्रसिद्धि, लोकप्रियता, सामाजिक सर्किल में विस्तार, दोस्तों विशेष रूप से महिला मित्र के साथ बिताए गए समय, में विस्तार हो सकता है। अगर आप सीनियर पद पर या टीम लीडर हैं, तो आपकी टीम के कई सदस्य और कर्मचारी इस साल कही अन्य जगह प्रस्थान कर सकते हैं।


 नेगेटिव – आप सब्र और सक्रिय सोच के साथ छोटे कदम उठाते हैं हालांकि, कभी-कभी आप अपने काम से विचलित हो सकते हैं। अलगाव प्राप्त करने से आपको परेशानी हो सकती है। करियर में चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। आपका करियर एक बिंदु पर आकर अचानक नया मोड़ ले सकता है।


लव – आप अपने प्रेमी या प्रेमिका को घर परिवार में मिलाने का प्रयास कर रहे हैं तो वह सफल हो सकता है। आप अपने परिवार वालों की इजाजत से कहीं घूमने फिरने का भी प्लान कर सकते हैं।


व्यवसाय – ऐसे सहयोगी से सावधान रहें, जिनके साथ आपके नियमित रूप से मतभेद होते हैं और जो आपके रास्ते में बाधाएं पैदा करते हों। व्यस्त समय रहेगा और काम में ख़ुशी प्राप्त करने के लिए आपको पहल लेनी होगी।


स्वास्थ्य – आरोग्य एकदम अच्छा रहेगा, आज कोई फरियाद नही उठेगी।


भाग्यशाली रंग: केसरी, भाग्यशाली अंक: चार


कुंभ
पॉजिटिव – आपको शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। समय आपके लिए अच्छा है। जीवन अभी आपको जो भी दे रहा है आप उसे लेकर उत्साहित हैं और सब कुछ पा लेना चाहते। जो लोग जो लोग रिश्तों में समस्याओं का सामना कर रहे हैं, वो पहले से चीज़ें को बेहतर पाएंगे और अपने संबंधों में एक रोशन चरण को देखेंगे।


नेगेटिव – और धन, बल और प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी। और दूसरों पर तुरंत प्रभाव जमाने के लिए आप कुछ धन खर्च करने के इच्छुक रहेंगे।। अधिक विलासिता को नज़रअंदाज़ करें और फ़ालतू ख़र्चों पर नजर रखें। अपनी सफलता का जश्न मनाने में खो न जाएँ बल्कि इसकी जगह अपने लक्ष्यों पर अपने ध्यान को केंद्रित करें।


लव – प्रेमीजन के आपसी सामंजस्य बेहतर होने से एक दूसरे के साथ प्रेम व्यवहार काफी अच्छा हो सकता है। पारिवारिक स्थितियां अच्छी हो सकती हैं। दांपत्य जीवन अच्छा हो सकता है।


व्यवसाय – आप में से कई लोगों की आमदनी में वृद्धि होगी। आपका व्यापार और आर्थिक स्थिति और अधिक मजबूत होगी। आपकी निपुण रणनीतियों के कारण आपका हर काम पूरा होगा।


स्वास्थ्य – बुखार जैसी वायरल बिमारी हो सकती है।


भाग्यशाली रंग: गोल्डन, भाग्यशाली अंक: नौ

मीन
पॉजिटिव – कुछ अलग करने की आपकी इच्छा आपके सभी निर्णयों को निखारेगी। प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं या करियर से संबंधित परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए यह अच्छा समय है। कार्य-स्थल पर आप कई चुनौतियों का सामना करेंगे और इनसे निराश नहीं होंगे; बल्कि, यह चुनौतियाँ आपके मनोबल को बढ़ाएंगी।


नेगेटिव – धोखाधड़ी की संभावना है इसलिए समस्याओं को दूर करने के लिए सावधानी बरतें। कई बाधाओं को समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपके भतीजे या भतीजी से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण घटनाएँ होने की संभावना है। कभी-कभी आपकी धीमी गति आपको परेशान करेगी।


लव – पति-पत्नी के आपसी मेलजोल से किसी भी कार्य को सफल बनाया जा सकता है। यदि इस माह में वैवाहिक कार्यक्रम संपन्न होने वाला है तो वह अच्छे से हो सकता है।
व्यवसाय – आपको किसी प्रोजेक्ट में अपने सहयोगियों का नेतृत्व करने का मौका मिलेगा लेकिन उन्हें कम न समझें। हालाँकि टीम-वर्क से आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे।


स्वास्थ्य – मानसिक स्थिति ठीक नही रहेगी, इस समय आप अस्थिर दिमागी स्थिति का अनुभव भी कर सकते हैं।
भाग्यशाली रंग: गुलाबी, भाग्यशाली अंक: सात
जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

दिनांक 29 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। 2 और 9 आपस में मिलकर 11 होते हैं। 11 की संख्या आपस में मिलकर 2 होती है इस तरह आपका मूलांक 2 होगा। इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है। चंद्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं। चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं। 
 
शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29   
 
शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92  

  
शुभ वर्ष 2021 , 2027, 2029, 2036
 
ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव
 
शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे 
 
कैसा रहेगा यह वर्ष
लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी। 
 
🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related posts

WhatsApp chat