Dharma & Karma 

🐂वृष राशि के लोगों का बेरोजगारी दूर करने का प्रयास सफल रहेगा, आपकी राशि में व्यापार तो किसी में दु:खों की आहट…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🙏
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

दिनाँक -: 28/01/2020,मंगलवार
तृतीया, शुक्ल पक्ष
माघ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———तृतीया 08:21:25 तक
पक्ष —————————शुक्ल
नक्षत्र ——-शतभिषा 09:21:52
योग ————परिघ 27:30:30
करण ———-गरज 08:21:25
करण ——–वाणिज 21:31:34
वार ———————–मंगलवार
माह —————————–माघ
चन्द्र राशि ——कुम्भ29:28:29
चन्द्र राशि ———————मीन
सूर्य राशि ———————मकर
रितु ————————–शिशिर
आयन ——————- उत्तरायण
संवत्सर ———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक) —- 2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय —————–07:09:14
सूर्यास्त —————–17:55:07
दिन काल —————10:45:53
रात्री काल ————-13:13:41
चंद्रोदय —————–09:23:08
चंद्रास्त —————–21:02:38

लग्न —– मकर 13°27′ , 283°27′

सूर्य नक्षत्र ——————-श्रवण
चन्द्र नक्षत्र —————-शतभिषा
नक्षत्र पाया ———————ताम्र

             🌹पद, चरण🌹

सू —-शतभिषा 09:21:52

से —-पूर्वाभाद्रपदा 16:03:11

सो —-पूर्वाभाद्रपदा 22:45:26

दा —-पूर्वाभाद्रपदा 29:28:29

              🌹ग्रह गोचर🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मकर 13°22 ‘ श्रवण, 2 खू
चन्द्र =कुम्भ 18°23 ‘ शतभिषा’ 4 सू
बुध = मकर 25°10 ‘ धनिष्ठा’ 1 गा
शुक्र= कुम्भ 23°55, पू o भा o ‘ 1 से
मंगल=वृश्चिक 22°30′ ज्येष्ठा ‘ 2 या
गुरु=धनु 18°50 ‘ पू oषाo , 2 धा
शनि=मकर 00°43′ उ oषा o ‘ 2 भो
राहू=मिथुन 12 °42 ‘ आर्द्रा , 2 घ
केतु=धनु 12 ° 42 ‘ मूल , 4 भी

           🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹

राहू काल 15:14 – 16:34 अशुभ
यम घंटा 09:51 – 11:11 अशुभ
गुली काल 12:32 – 13:53 अशुभ
अभिजित 12:11 -12:54 शुभ
दूर मुहूर्त 09:18 – 10:01 अशुभ
दूर मुहूर्त 23:13 – 23:56 अशुभ

🌹पंचक अहोरात्र अशुभ

🌹चोघडिया, दिन
रोग 07:09 – 08:30 अशुभ
उद्वेग 08:30 – 09:51 अशुभ
चर 09:51 – 11:11 शुभ
लाभ 11:11 – 12:32 शुभ
अमृत 12:32 – 13:53 शुभ
काल 13:53 – 15:14 अशुभ
शुभ 15:14 – 16:34 शुभ
रोग 16:34 – 17:55 अशुभ

🌹चोघडिया, रात
काल 17:55 – 19:34 अशुभ
लाभ 19:34 – 21:14 शुभ
उद्वेग 21:14 – 22:53 अशुभ
शुभ 22:53 – 24:32* शुभ
अमृत 24:32* – 26:11* शुभ
चर 26:11* – 27:50* शुभ
रोग 27:50* – 29:30* अशुभ
काल 29:30* – 31:09* अशुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🌹 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   3 + 3 + 1 = 7 ÷ 4 = 3 शेष

मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

💮 शिव वास एवं फल -:

3 + 3 + 5 = 11 ÷ 7 = 4 शेष

सभायां = सन्ताप कारक

🌹भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

रात्रि 21:33 से प्रारम्भ

मृत्यु लोक = सर्वकार्य विनाशिनी

             🌹विशेष जानकारी🌹
  • गौरी तृतीया
  • तिलवरद चतुर्थी 🌹शुभ विचार🌹

धर्मार्थकाममोक्षाणां यस्यैकोऽपि न विद्यते ।
अजागलस्तनस्येव तस्य जन्म निरर्थकम् ।।
।।चा o नी o।।

जिस व्यक्ति ने न ही कोई ज्ञान संपादन किया, ना ही पैसा कमाया, मुक्ति के लिए जो आवश्यक है उसकी पूर्ति भी नहीं किया. वह एक निहायत बेकार जिंदगी जीता है जैसे के बकरी की गर्दन से झूलने वाले स्तन.

                 🌹सुभाषितानि🌹

गीता -: श्रद्धात्रयविभागयोग अo-17

सद्भावे साधुभावे च सदित्यतत्प्रयुज्यते।,
प्रशस्ते कर्मणि तथा सच्छब्दः पार्थ युज्यते॥,

‘सत्‌’- इस प्रकार यह परमात्मा का नाम सत्यभाव में और श्रेष्ठभाव में प्रयोग किया जाता है तथा हे पार्थ! उत्तम कर्म में भी ‘सत्‌’ शब्द का प्रयोग किया जाता है॥,26॥,

          🌹 व्रत पर्व विवरण🌹

🌹 विशेष – चतुर्थी को मूली खाने से धन का नाश होता है ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

           🌹मंगलवारी चतुर्थी🌹

➡ 28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक )
🌹 मंत्र जप व शुभ संकल्प की सिद्धि के लिए विशेष योग
🙏🏻 मंगलवारी चतुर्थी को किये गए जप-संकल्प, मौन व यज्ञ का फल अक्षय होता है ।
👉🏻 मंगलवार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना … जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…

           🌹मंगलवारी चतुर्थी🌹 

🙏 अंगार चतुर्थी को सब काम छोड़ कर जप-ध्यान करना …जप, ध्यान, तप सूर्य-ग्रहण जितना फलदायी है…
🌹 बिना नमक का भोजन करें
🌹मंगल देव का मानसिक आह्वान करो
🌹चन्द्रमा में गणपति की भावना करके अर्घ्य दें
💵 कितना भी कर्ज़दार हो ..काम धंधे से बेरोजगार हो ..रोज़ी रोटी तो मिलेगी और कर्जे से छुटकारा मिलेगा |

           🌹मंगलवार चतुर्थी🌹

👉 भारतीय समय के अनुसार 28 जनवरी 2020 (सुबह 08:23 से 29 जनवरी सूर्योदय तक) चतुर्थी है, इस महा योग पर अगर मंगल ग्रह देव के 21 नामों से सुमिरन करें और धरती पर अर्घ्य देकर प्रार्थना करें,शुभ संकल्प करें तो आप सकल ऋण से मुक्त हो सकते हैं..
👉🏻मंगल देव के 21 नाम इस प्रकार हैं :-
🌷 1) ॐ मंगलाय नमः
🌷 2) ॐ भूमि पुत्राय नमः
🌷 3 ) ॐ ऋण हर्त्रे नमः
🌷 4) ॐ धन प्रदाय नमः
🌷 5 ) ॐ स्थिर आसनाय नमः
🌷 6) ॐ महा कायाय नमः
🌷 7) ॐ सर्व कामार्थ साधकाय नमः
🌷 8) ॐ लोहिताय नमः
🌷 9) ॐ लोहिताक्षाय नमः
🌷 10) ॐ साम गानाम कृपा करे नमः
🌷 11) ॐ धरात्मजाय नमः
🌷 12) ॐ भुजाय नमः
🌷 13) ॐ भौमाय नमः
🌷 14) ॐ भुमिजाय नमः
🌷 15) ॐ भूमि नन्दनाय नमः
🌷 16) ॐ अंगारकाय नमः
🌷 17) ॐ यमाय नमः
🌷 18) ॐ सर्व रोग प्रहाराकाय नमः
🌷 19) ॐ वृष्टि कर्ते नमः
🌷 20) ॐ वृष्टि हराते नमः
🌷 21) ॐ सर्व कामा फल प्रदाय नमः
🙏 ये 21 मन्त्र से भगवान मंगल देव को नमन करें ..फिर धरती पर अर्घ्य देना चाहिए..अर्घ्य देते समय ये मन्त्र बोले :-
🌷 भूमि पुत्रो महा तेजा
🌷 कुमारो रक्त वस्त्रका
🌷 ग्रहणअर्घ्यं मया दत्तम
🌷 ऋणम शांतिम प्रयाक्ष्मे
🙏 हे भूमि पुत्र!..महा क्यातेजस्वी,रक्त वस्त्र धारण करने वाले देव मेरा अर्घ्य स्वीकार करो और मुझे ऋण से शांति प्राप्त कराओ..

             🌹 दैनिक राशिफल🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। दूर के शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। आय बढ़ेगी। जोखिम न लें।

🐂वृष
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। अप्रत्याशित लाभ हो सकता है। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। किसी बड़ी समस्या का हल सहज ही प्राप्त होगा। शत्रुओं का पराभव होगा, फिर भी सावधानी आवश्यक है। थकान महसूस होगी। सुख के साधनों पर व्यय अधिक होगा।

👫मिथुन
पुरानी व्याधि उठ सकती है। विवाद से क्लेश होगा। चिंता तथा तनाव बने रहेंगे। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। अपेक्षित कार्यों में विलंब होगा। पारिवारिक समस्याएं बनी रहेंगी। मतभेद हो सकता है। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा।

🦀कर्क
बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। अचानक बड़ा लाभ हो सकता है। धन प्राप्ति सुगम होगी।

🐅सिंह
अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। पुराना रोग उभर सकता है। दूसरों से अपेक्षा न करें। बेवजह विवाद हो सकता है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। लेन-देन में सावधानी आवश्यक है। व्यवसाय में वृद्धि होगी। जल्दबाजी न करें।

🙎कन्या
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। बाहर जाने की योजना बनेगी। आय के स्रोतों में वृद्धि के योग हैं। प्रसन्नता रहेगी। किसी अपरिचित व्यक्ति की बातों में न आएं। व्यवसाय लाभप्रद रहेगा।

⚖तुला
यात्रा में सावधानी रखें। नेत्र पीड़ा हो सकती है। प्रेम-प्रसंग में जोखिम न लें। जल्दबाजी से हानि संभव है। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। किसी अपने का व्यवहार हृदय को चोट पहुंचा सकता है। लेन-देन में सावधानी रखें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। व्यवसाय ठीक चलेगा।

🦂वृश्चिक
वाणी पर नियंत्रण रखें। राजभय रहेगा। जल्दबाजी से बचें। शारीरिक कष्ट संभव है। कानूनी अड़चन दूर होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। दांपत्य जीवन सुखमय रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। बाहर जाने का मन बनेगा। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। प्रमाद न करें।

🏹धनु
भय, पीड़ा व चिंता का माहौल बन सकता है। आंखों में पीड़ा हो सकती है। भूमि व भवन इत्यादि खरीदने की योजना बनेगी। रोजगार में वृद्धि होगी। विवाद से बचें। पार्टनरों का सहयोग प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। भाग्य का साथ पूरा-पूरा रहेगा।

🐊मकर
विद्यार्थी वर्ग सफलता हासिल करेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। मनपसंद भोजन का आनंद मिलेगा। रोजगार में वृद्धि होगी। मित्र व संबंधियों के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। किसी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। विवाद न करें।

🍯कुंभ
दु:खद समाचार मिल सकता है। दौड़धूप अधिक होगी। धैर्य रखें। स्वास्थ्य खराब हो सकता है। भाग्य का साथ नहीं मिलेगा। लेन-देन में सावधानी रखें। क्रोध पर नियंत्रण रखें। बनते कामों में अड़चन आएगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। बुद्धि से समस्याएं दूर होंगी।

🐟मीन
प्रयास सफल रहेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कार्य की प्रशंसा होगी। रोजगार में वृद्धि तथा प्रसन्नता बनी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। पुराने अटके कार्य पूर्ण होंगे। चोट व रोग से बचें। थकान रहेगी। जल्दबाजी न करें।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related posts

WhatsApp chat