Dharma & Karma 

जिन व्यपारियो का व्यापार चलते चलते ठप्प हो गया हो और लाख प्रयत्न करने के बाद भी नही चल रहा हो तो, आचार्य जी की लें सलाह, और…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🙏
सम्पर्क सूत्र – 9518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
🙏🌹🙏 अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
🙏ll जय श्री राधे ll*🌹
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

दिनाँक -: 03/02/2020,सोमवार
नवमी, शुक्ल पक्ष
माघ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि ———-नवमी 21:18:32 तक
पक्ष —————————-शुक्ल
नक्षत्र ——–कृत्तिका 24:51:09
योग ————–ब्रह्म 30:11:32
करण ———-बालव 08:46:01
करण ———कौलव 21:18:32
वार ————————-सोमवार
माह —————————–माघ
चन्द्र राशि ——————-वृषभ
सूर्य राशि ———————मकर
रितु ————————–शिशिर
आयन ———————उत्तरायण
संवत्सर ———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर) ———-परिधावी
विक्रम संवत —————-2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2076
शाका संवत —————-1941

मुम्बई
सूर्योदय ————— 07:06:21
सूर्यास्त —————–17:59:53
दिन काल ————–10:53:31
रात्री काल ————-13:05:54
चंद्रोदय —————–12:37:07
चंद्रास्त —————–26:19:02

लग्न —-मकर 19°32′ , 289°32′

सूर्य नक्षत्र ——————-श्रवण
चन्द्र नक्षत्र —————–कृत्तिका
नक्षत्र पाया ——————–लोहा

              🌹पद, चरण🌹

ई —-कृत्तिका 12:05:45

उ —-कृत्तिका 18:29:47

ए —-कृत्तिका 24:51:09

              🌹ग्रह गोचर🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=मकर 19°22 ‘ श्रवण, 3 खे
चन्द्र =वृष 00°23 ‘ कृतिका ‘ 2 ई
बुध = कुम्भ 03°10 ‘ धनिष्ठा’ 4 गे
शुक्र= मीन 29°55, पूoभाo ‘ 4 दी
मंगल=वृश्चिक 26°30′ ज्येष्ठा ‘ 3 यी
गुरु=धनु 19°50 ‘ पू oषाo , 2 धा
शनि=मकर 00°43′ उ oषा o ‘ 2 भो
राहू=मिथुन 12 °22 ‘ आर्द्रा , 2 घ
केतु=धनु 12 ° 22 ‘ मूल , 4 भी

           🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹

राहू काल 08:28 – 09:50 अशुभ
यम घंटा 11:11 – 12:33 अशुभ
गुली काल 13:55 – 15:17 अशुभ
अभिजित 12:11 -12:55 शुभ
दूर मुहूर्त 12:55 – 13:38 अशुभ
दूर मुहूर्त 15:06 – 15:49 अशुभ

🌹चोघडिया, दिन
अमृत 07:06 – 08:28 शुभ
काल 08:28 – 09:50 अशुभ
शुभ 09:50 – 11:11 शुभ
रोग 11:11 – 12:33 अशुभ
उद्वेग 12:33 – 13:55 अशुभ
चर 13:55 – 15:17 शुभ
लाभ 15:17 – 16:38 शुभ
अमृत 16:38 – 17:59 शुभ

🌹चोघडिया, रात
चर 17:59 – 19:38 शुभ
रोग 19:38 – 21:16 अशुभ
काल 21:16 – 22:55 अशुभ
लाभ 22:55 – 24:33* शुभ
उद्वेग 24:33* – 26:11* अशुभ
शुभ 26:11* – 27:49* शुभ
अमृत 27:49* – 29:28* शुभ
चर 29:28* – 31:06* शुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान-------------पूर्व

परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

   🌹अग्नि वास ज्ञान  -:

यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   9 + 2 + 1 =  12 ÷ 4 = 0 शेष

मृत्यु लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

        🌹शिव वास एवं फल -:

9 + 9 + 5 = 23 ÷ 7 = 2 शेष

गौरि सन्निधौ = शुभ कारक

🌹भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

           🌹विशेष जानकारी🌹
  • सर्वार्थ सिद्धि योग 24:51 से 🌹शुभ विचार🌹

यत् खनित्वा खनित्रेण भुतले वारि विन्दति ।
तथा गुरुगतां विद्या शुश्रुषुरधिगच्छति ।।
।।चा o नी o।।

यदि आदमी उपकरण का सहारा ले तो गर्भजल से पानी निकाल सकता है. उसी तरह यदि विद्यार्थी अपने गुरु की सेवा करे तो गुरु के पास जो ज्ञान निधि है उसे प्राप्त करता है.

              🌹सुभाषितानि🌹

गीता -: मोक्षसन्यासयोग अo-18

निश्चयं श्रृणु में तत्र त्यागे भरतसत्तम ।,
त्यागो हि पुरुषव्याघ्र त्रिविधः सम्प्रकीर्तितः ॥,

हे पुरुषश्रेष्ठ अर्जुन ! संन्यास और त्याग, इन दोनों में से पहले त्याग के विषय में तू मेरा निश्चय सुन।, क्योंकि त्याग सात्विक, राजस और तामस भेद से तीन प्रकार का कहा गया है॥,4॥,

          🌹व्रत पर्व विवरण🌹

🌹 विशेष – नवमी को लौकी खाना गोमांस के समान त्याज्य है ।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)

            🌹अस्थिरोग🌹

💪🏻 जिनकी अस्थियाँ जकड गयी हो, टूट गयी हों, टेडी-मेढ़ी हो गयी हों अथवा जिनकी अस्थियों में पीड़ा होती हो, उनके लिए शीत ऋतू में लहसुन का उचित मात्रा में सेवन बहुत लाभदायी है l लहसुन के छिलके उतारकर रात को खट्टी छाछ में भिघोकर रखें l सुबह धोके पीसकर रस निकालें l १ से ४ ग्राम रस में उतना ही तिल का तेल अथवा घी मिलाकर पियें l आहार सात्विक, सुपाच्य लें l
🌹 सावधानी : लहसुन तामसी होने के कारण रुग्णावस्था में भी इसका सेवन औषधवत करना चाहिए l

🌹भूत-प्रेत भागाने के लिए🌹
🐄 भूत-पिशाच जहाँ रहते हैं, वहां गाय खड़ी कर दो, गाय की सुगंध से भूत अपने आप भागेंगे l किसी के घर में भूत-प्रेत का वास हो, तो गाय का गोबर अथवा गाय का झरण छिटका करो l गाय का कंडा जलाओ, उस पे थोड़ा गाय का घी डाल दो, अपने आप भागेंगे, भगाना नहीं पड़ेगा l अगर किसी व्यक्ति के अंदर भूत घुसे हैं तो उसे उसी धूप वाले कमरे में बिठाओ, भूत भाग जायेंगे l


🙏🏻
एकादशी
5फरबरी बुधवार
19फरबरी बुधवार
प्रदोष
6फरबरी शुक्रवार
20 फरबरी बृहस्पतिवार
पूर्णमासी
9फरबरी रविवार
अमावस्या
23फरबरी रविवार
महाशिवरात्रि
21फरबरी शुक्रवार
कारोबार महूर्त
1 ;21;26;28 फरबरी
नया वाहन महूर्त
1;21;28फरबरी
ग्रह प्रवेश महूर्त
14;24;26फरबरी
नींव पूजन महूर्त
1;14;24;26;28फरबरी

जिन व्यपारियो का व्यापार चलते चलते ठप्प हो गया हो और लाख प्रयत्न करने के बाद भी नही चल रहा हो तथा व्यापारी को यह किसी के करे कराए का परिणाम लगता हो तो यह उपाय करें
प्रत्येक मंगलवार को 11पीपल के पत्त्ते ले उनको गंगाजल से धो के लाल चंदन से हर पत्ते पर सात बार राम राम लिखे इसके बाद हनुमान जी के मंदिर में चढ़ा आये।
यह उपाय गुप्त रूप से सात मंगलवार करें तो लाभ होगा।

         🌹दैनिक राशिफल🌹

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
मेहमानों का आवागमन होगा। शुभ समाचार मिलेंगे। स्वाभिमान बना रहेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। क्रोध न करें। निवेश, नौकरी व यात्रा मनोनुकूल रहेंगे। जल्दबाजी न करें। चिंता रहेगी। मान-सम्मान मिलेगा। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। कोर्ट व कचहरी के कार्य बनेंगे।

🐂वृष
रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। व्यवसाय में वृद्धि होगी। यात्रा मनोरंजक रहेगी। शत्रु भय रहेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। थकान रहेगी। सुख के साधन जुटेंगे। यात्रा मनोरंजक रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। सुख के साधन जुटेंगे। लाभ होगा।

👫मिथुन
चोट व रोग से बाधा संभव है। अपरिचितों पर विश्वास न करें। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। क्रोध पर नियंत्रण रखें। चिंता तथा तनाव में वृद्धि होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। शोक समाचार मिल सकता है। शत्रु शांत रहेंगे। भूमि व भवन संबंधी बाधा दूर होगी।

🦀कर्क
पुरानी लेनदारी वसूल होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। कार्यक्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। विवादों में न पड़ें। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। लेन-देन में सावधानी रखें। राजकीय कोप भुगतना पड़ सकता है।

🐅सिंह
यात्रा मनोरंजक रहेगी। नेत्रों को चोट से बचाएं। शत्रु परास्त होंगे। नई योजना बनेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। मान-सम्मान मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। जल्दबाजी से कार्य बिगड़ेंगे। बुरी खबर मिलेगी। घर-बाहर तनाव रहेगा।

🙎कन्या
तीर्थयात्रा हो सकती है। सत्संग का लाभ मिलेगा। वरिष्ठजन सहयोग करेंगे। आय में वृद्धि होगी। व्यस्तता रहेगी। थकान महसूस होगी। अज्ञात भय सताएगा। लेन-देन में सावधानी रखें। उत्साहवर्धक सूचना मिलेगी। राजमान मिल सकता है। प्रयास सफल रहेंगे।

⚖तुला
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भागदौड़ अधिक होगी। मातृ कष्ट संभव है। चोट, चोरी व विवाद आदि से हानि संभव है। जोखिम उठाने व जल्दबाजी करने से बचें। कष्ट व भय का वातावरण बनेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें।

🦂वृश्चिक
जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। बाहरी सहायता से कार्य होंगे। धन प्राप्ति के अवसर हाथ आएंगे। प्रसन्नता बनी रहेगी। सुख के साधन जुटेंगे। बुद्धि का प्रयोग करें। आत्मसम्मान में वृद्धि होगी। आय में वृद्धि होगी। शुभ समाचार मिलेंगे। पुराना रोग उभर सकता है।

🏹धनु
मानसिक बेचैनी रहेगी। लेन-देन में सावधानी रखें। विरोध होगा। संपत्ति की खरीद-फरोख्त की योजना बनेगी। धनलाभ होगा। पुराना रोग उभर सकता है। उन्नति होगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। स्वाभिमान बना रहेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। प्रमाद न करें।

🐊मकर
पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। स्वास्थ्य कमजोर रहेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। क्रोध पर नियंत्रण रखें। झंझटों में न पड़ें। प्रसन्नता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। जोखिम व जमानत‍ के कार्य टालें। विवाद न करें। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रतिष्‍ठित लोगों से लाभ मिलेगा।

🍯कुंभ
विवाद को बढ़ावा न दें। बेमतलब दौड़धूप होगी। दु:खद समाचार मिल सकता है। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें। अनावश्यक तनाव रहेगा। परिवार में सामंजस्य बैठाएं। कर्ज लेना पड़ सकता है। अप्रत्याशित खर्च होंगे। नवीन वस्त्राभूषण की प्राप्ति होगी।

🐟मीन
थोड़े प्रयास से ही कार्यसिद्धि होगी। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। काम के प्रति समर्पण रहेगा। साहस व पराक्रम में वृद्धि होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। यात्रा मनोरंजक होगी। प्रमाद न करें। यात्रा सफल रहेगी।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Written by 

Related posts

WhatsApp chat