रजनीकांत का राजनीतिक ऐलान, सिर्फ बदलाव चाहता हूं, ‘सीएम नहीं बनना चाहता’…

रजनीकांत (Rajinikanth) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपनी राजनीतिक योजनाओं का खुलासा कर दिया है. रजनीकांत ने कहा है कि वह ऐसी पार्टी बना रहे हैं, जिसमें सरकार और पार्टी अलग-अलग काम करेंगे. वह पार्टी के नेता होंगे, मगर मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे. उनकी पार्टी का नियम होगा कि जो भी नेता पार्टी का अगुवा होगा, वह कभी सरकार का हिस्सा नहीं बनेगा।

गुरुवार को चेन्नई में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रजनीकांत ने कहा कि साल 1996 से मेरे राजनीति में आने की खबरें हैं. लेकिन 31 दिसंबर 2017 को मैंने कहा था कि मैं राजनीति में प्रवेश करूंगा. इसलिए कृपया ये कहना बंद कर दें कि मैं पिछले 25 वर्षों से राजनीति में आने की कोशिश कर रहा. रजनीकांत ने कहा कि वह पढ़े लिखे युवाओं को मौका देना चाहते हैं. डीएमके और एआईएडीएमके का जिक्र करते हुए वह बोले कि लोग बदलाव चाहते हैं. उन्होंने यह भी साफ किया कि वह खुद मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे. साथ ही ये भी स्पष्ट किया कि जो मुख्यमंत्री बनेगा, वह पार्टी का मुखिया नहीं होगा. मैं पार्टी का नेता रहूंगा और कोई दूसरा शख्स सीएम कैंडिडेट होगा. मुख्यमंत्री के लिए योग्यता की बात करें तो उस शख्स में राज्य को लेकर विजन होगा, पढ़ा-लिखा होगा और इसी राज्य से होगा।

रजनीकांत ने आगे बताया कि अगर कुछ गलत होगा तो पार्टी हमारी सरकार से सवाल पूछेगी. पार्टी कार्रवाई भी करेगी. तमिलनाडु के लिए जो प्लान हमने तैयार किया है, उसे लेकर हम लोगों के बीच जाएंगे. इस फ्लान को लेकर हमने पत्रकारों और अधिकारियों से बात की, लेकिन कोई राजी नहीं हुआ, अब हम अपने इसी प्लान पर आगे बढ़ेंगे।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में रजनीकांत ने अपनी राजनीतिक पार्टी के नाम को लेकर भी किसी तरह का कोई खुलासा नहीं किया. इसके अलावा वो कब राजनीतिक पार्टी लॉन्च करेंगे, इसको लेकर किसी तरह की तारीख के बारे में भी उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

one + 13 =

WhatsApp chat