आत्मनिर्भरता का मतलब यह नहीं कि उपभोक्ताओं को घटिया उत्पाद खरीदने के लिए मजबूर किया जाए-चेतन भगत…

पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में आत्मनिर्भर बनने और देश में बनी चीजों को खरीदने का आह्वान किया था. पीएम की इस अपील का असर नजर भी आ रहा है और सीएपीएफ की कैंटीनों में अब स्वदेशी उत्पाद ही बेचे जाएंगे, इसे लेकर चेतन भगत ने निशाना भी साधा है और उन्होंने ट्वीट किया है. चेतन भगत ने अपने ट्वीट में कहा है कि आत्मनिर्भरता के नाम पर जबरन घटिया उत्पाद खरीदने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है।

https://twitter.com/chetan_bhagat

चेतन भगत ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘आत्मनिर्भरता का मतलब यह नहीं होना चाहिए कि उपभोक्ताओं को घटिया उत्पाद खरीदने के लिए मजबूर किया जाए. आत्मनिर्भर होने का मतलब यह होना चाहिए कि भारतीय उत्पादों को इतना शानदार बनाया जाए कि लोग दूसरे उत्पादों की जगह उनका चयन करें.’ इस तरह चेतन भगत ने अपने विचार रखे हैं और वैसे भी सोशल मीडिया पर चेतन भगत हर समसामयिक मसले पर खुलकर अपनी राय रखते हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने 12 मई के अपने संबोधन में देश के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था। लॉकडाउन की वजह से अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए इस पैकेज का ऐलान किया गया था। कोरोना वायरस की वजह से चल रहे लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई को खत्म होने जा रहा है। लेकिन उसके बाद भी लॉकडाउन को बढ़ाए जाने की योजना है, लेकिन नए रंग-ढंग के साथ ऐसा किया जाएगा।

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

18 + 7 =

WhatsApp chat