Health & Fitness 

सांप अगर काट ले तो क्या करना चाहिए, पढ़िये साँपों के बारे महत्वपूर्ण जानकारी…

दोस्तो सबसे पहले साँपो के बारे मे एक महत्वपूर्ण बात आप ये जान लीजिये । कि अपने देश भारत मे 550 किस्म के साँप है । जैसे एक कोबरा cobra है ,वाईपर viper है , करैत karit है ।

ऐसी 550 किस्म की साँपो की जातियाँ हैं । इनमे से मुश्किल से 10 साँप है जो जहरीले है सिर्फ 10 । बाकी सब non poisonous है। इसका मतलब ये हुआ 540 साँप ऐसे है जिनके काटने से आपको कुछ नहीं होगा ।। बिलकुल चिंता मत करिए । लेकिन साँप के काटने का डर इतना है (हाय साँप ने काट लिया ) और कि कई बार आदमी heart attack से मर जाता है ।जहर से नहीं मरता cardiac arrest से मर जाता है । तो डर इतना है मन मे । तो ये डर निकलना चाहिए । वो डर कैसे निकलेगा ??? जब आपको ये पता होगा कि 550 तरह के साँप है उनमे से सिर्फ 10 साँप जहरीले हैं । जिनके काटने से कोई मरता है । इनमे से जो सबसे जहरीला साँप है उसका नाम है ।
Russell Viper । उसके बाद है केे करैत । King Kobra जिसको आप कहते है काला नाग । ये 4 तो बहुत ही खतरनाक और जहरीले है इनमे से किसी ने काट लिया तो 99 % chances है कि death होगी । लेकिन अगर आप थोड़ी होशियारी दिखाये तो आप रोगी को बचा सकते हैं।

आपने देखा होगा साँप जब भी काटता है तो उसके दो दाँत है जिनमे जहर है जो शरीर के मास के अंदर घुस जाते हैं । और खून मे वो अपना जहर छोड़ देता है । तो फिर ये जहर ऊपर की तरफ जाता है । मान लीजिये हाथ पर साँप ने काट लिया तो फिर जहर दिल की तरफ जाएगा उसके बाद पूरे शरीर मे पहुंचेगा । ऐसे ही अगर पैर पर काट लिया तो फिर ऊपर की और heart तक जाएगा और फिर पूरे शरीर मे पहुंचेगा । कहीं भी काटेगा तो दिल तक जाएगा । और पूरे मे खून मे पूरे शरीर मे उसे पहुँचने मे 3 घंटे लगेंगे ।

मतलब ये है कि रोगी 3 घंटे तक तो नहीं ही मरेगा । जब पूरे दिमाग के एक एक हिस्से मे बाकी सब जगह पर जहर पहुँच जाएगा तभी उसकी death होगी otherwise नहीं होगी । तो 3 घंटे का time है रोगी को बचाने का और उस तीन घंटे मे अगर आप कुछ कर ले तो बहुत अच्छा है । एक medicine आप चाहें तो हमेशा अपने घर मे रख सकते हैं बहुत सस्ती है होम्योपैथी (homeopathy) मे आती है । उसका नाम है ….

उसका नाम है नाजा (N A J A ) होम्योपैथी मेडिसिन है किसी भी होम्योपैथी की दुकान मे आपको मिल जाएगी । और इसकी पोटेंसी (potency) है 200 । आप दुकान पर जाकर कहें NAJA 200 देदो । तो दुकानदार आपको दे देगा । ये 5 मिलीलीटर आप घर मे खरीद कर रख लीजिएगा 100 लोगो की जान इससे बच जाएगी । और इसकी कीमत सिर्फ 50 रुपए है । इसकी बोतल भी आती है 100 मिलीग्राम की 150 से 200 रुपए की उससे आप कम से कम 10000 लोगो की जान बचा सकते हैं जिनको साँप ने काटा है

और ये जो medicine है NAJA ये दुनिया के सबसे खतरनाक साँप का ही poison है जिसको कहते है क्रैक । इस साँप का poison दुनिया मे सबसे खराब माना जाता है । इसके बारे मे कहते है अगर इसने किसी को काटा तो उसे भगवान ही बचा सकता है । medicine भी वहाँ काम नहीं करती उसी का ये poison है लेकिन delusion form मे है तो घबराने की कोई बात नहीं । आयुर्वेद का सिद्धांत आप जानते है लोहा लोहे को काटता है तो जब जहर चला जाता है शरीर के अंदर तो दूसरे साँप का जहर ही काम आता है । तो ये NAJA 200 आप घर मे रख लीजिये । अब देनी कैसे है रोगी को वो आप जान लीजिए 1 बूंद उसकी जीभ पर रखे और 10 मिनट बाद फिर 1 बूंद रखे और फिर 10 मिनट बाद 1 बूंद रखे ।। 3 बार डाल के छोड़ दीजिये ।बस इतना काफी है । और कि ये दवा रोगी की जिंदगी को हमेशा हमेशा के लिए बचा लेगी । और साँप काटने के एलोपेथी मे जो injection है वो आम अस्तप्तालों मे नहीं मिल पाते । डाक्टर आपको कहेगा इस अस्तपाताल मे ले जाओ उसमे ले जाओ आदि आदि ।


और जो ये एलोपेथी वालो के पास injection है इसकी कीमत 10 से 15 हजार रुपए है । और अगर मिल जाएँ तो डाक्टर एक साथ 8 से -10 injection ठोक देता है । कभी कभी 15 तक ठोक देता है मतलब लाख-डेड लाख तो आपका एक बार मे साफ ।। और यहाँ सिर्फ 10 रुपए की medicine से आप उसकी जान बचा सकते हैं । और injection जितना effective है मैं इस दवा(NAJA) की गारंटी लेता हूँ ये दवा एलोपेथी के injection से 100 गुना (times) ज्यादा effective है ।

तो अंत आप याद रखिए घर मे किसी को साँप काटे और अगर दवा (NAJA) घर मे न हो । फटाफट कहीं से इंजेक्शन लेकर first aid (प्राथमिक सहायता) के लिए आप इंजेक्शन वाला उपाय शुरू करे । और अगर दवा है तो फटाफट पहले दवा पिला दे और उधर से injection वाला उपचार भी करते रहे । दवा इंजेक्शन वाले उपचार से ज्यादा जरूरी है ।।

तो ये जानकारी आप हमेशा याद रखे पता नहीं कब काम आ जाए हो सकता है आपके ही जीवन मे काम आ जाए । या पड़ोसी के जीवन मे या किसी रिश्तेदार के काम आ जाए। तो फर्स्ट ऐड के लिए इंजेक्शन की सुई काटने वाला तरीका और ये NAJA 200 होम्योपैथी दवा 10 – 10 मिनट बाद 1 – 1 बूंद तीन बार रोगी की जान बचा सकती है

Spread the love

Written by 

Related Posts

Leave a Comment

10 − 10 =

WhatsApp chat