अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🌹🌹🌹

🌹अथ पंचांगम्🌹

🙏 जय श्री राधे 🙏

*दिनाँक -: 15/07/2019,सोमवार*
चतुर्दशी, शुक्ल पक्ष
आषाढ
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि———–चतुर्दशी25:48:09 तक
पक्ष—————————–शुक्ल
नक्षत्र—————-मूल18:51:10
योग—————–इंद्रा27:13:19
करण————- गरज13:17:59
करण———–वाणिज25:48:09
वार————————–सोमवार
माह—————————आषाढ
चन्द्र राशि————————धनु
सूर्य राश———————–मिथुन
रितु——————————ग्रीष्म
आयन——————-दक्षिणायण
संवत्सर———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर)———–परिधावी
विक्रम संवत—————–2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2075
शाका संवत——————1941

वृन्दावन
सूर्योदय—————–05:34:34
सूर्यास्त——————19:15:31
दिन काल—————13:40:57
रात्री काल————–10:19:32
चंद्रास्त——————05:53:46
चंद्रोदय——————18:06:53

लग्न—-मिथुन 28°8′ , 88°8′

सूर्य नक्षत्र——————–पुनर्वसु
चन्द्र नक्षत्र———————–मूल
नक्षत्र पाया———————-ताम्र

*🚩💮🚩 पद, चरण 🚩💮🚩*

यो—-मूल 06:04:59

भा—-मूल 12:27:15

भी—-मूल 18:51:10

भू—-पूर्वाषाढा 25:16:42

*💮🚩💮 ग्रह गोचर 💮🚩💮*

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद
=======================
सूर्य=मिथुन 28°12 ‘पुनर्वसु , 3 हा
चन्द्र =धनु 06 ° 13’ मूल ‘ 2 यो
बुध=कर्क 08°20 ‘ पुष्य’ 2 हे
शुक्र= मिथुन 19 ° 10, आर्द्रा 4 छ
मंगल=कर्क 14 ° 13 ‘पुष्य’ 4 ड
गुरु=वृश्चिक 21°34 ‘ ज्येष्ठा , 2 या
शनि=धनु 23°33’ पू oषा o ‘ 4 ढा
राहू=मिथुन 23°10 ‘ पुनर्वसु , 2 को
केतु=धनु 23 ° 10’ पूo षाo, 4 ढा

*🚩💮🚩शुभा$शुभ मुहूर्त🚩💮🚩*

राहू काल 07:17 – 08:59अशुभ
यम घंटा 10:42 – 12:25अशुभ
गुली काल 14:08 – 15:50अशुभ
अभिजित 11:58 -12:52शुभ
दूर मुहूर्त 12:52 – 13:47अशुभ
दूर मुहूर्त 15:37 – 16:31अशुभ

🚩गंड मूल05:35 – 18:51अशुभ

💮चोघडिया, दिन
अमृत 05:35 – 07:17शुभ
काल 07:17 – 08:59अशुभ
शुभ 08:59 – 10:42शुभ
रोग 10:42 – 12:25अशुभ
उद्वेग 12:25 – 14:08अशुभ
चर 14:08 – 15:50शुभ
लाभ 15:50 – 17:33शुभ
अमृत 17:33 – 19:16शुभ

🚩चोघडिया, रात
चर 19:16 – 20:33शुभ
रोग 20:33 – 21:50अशुभ
काल 21:50 – 23:08अशुभ
लाभ 23:08 – 24:25*शुभ
उद्वेग 24:25* – 25:43*अशुभ
शुभ 25:43* – 27:00*शुभ
अमृत 27:00* – 28:18*शुभ
चर 28:18* – 29:35*शुभ

💮होरा, दिन
चन्द्र 05:35 – 06:43
शनि 06:43 – 07:51
बृहस्पति 07:51 – 08:59
मंगल 08:59 – 10:08
सूर्य 10:08 – 11:17
शुक्र 11:17 – 12:25
बुध 12:25 – 13:33
चन्द्र 13:33 – 14:42
शनि 14:42 – 15:50
बृहस्पति 15:50 – 16:59
मंगल 16:59 – 18:07
सूर्य 18:07 – 19:16

🚩होरा, रात
शुक्र 19:16 – 20:07
बुध 20:07 – 20:59
चन्द्र 20:59 – 21:50
शनि 21:50 – 22:42
बृहस्पति 22:42 – 23:34
मंगल 23:34 – 24:25
सूर्य 24:25* – 25:17
शुक्र 25:17* – 26:09
बुध 26:09* – 27:00
चन्द्र 27:00* – 27:52
शनि 27:52* – 28:43
बृहस्पति 28:43* – 29:35

*नोट*– दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

*💮दिशा शूल ज्ञान—————पूर्व*
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा काजू खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
*शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l*
*भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll*

*🚩 अग्नि वास ज्ञान -:*
*यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,*
*चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।*
*दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,*
*नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।।* *महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्*
*नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।*

14 + 2 + 1 = 17 ÷ 4 = 1 शेष
पाताल लोक पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

*💮 शिव वास एवं फल -:*

14+ 14 + 5 = 33 ÷ 7 = 5 शेष

ज्ञानवेलायां = कष्ट कारक

*🚩भद्रा वास एवं फल -:*

*स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।*
*मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।*

रात्रि 25:28 से प्रारम्भ

पाताल लोक = धनलाभ कारक

*💮🚩 विशेष जानकारी 🚩💮*

* कोकिला व्रत

*💮🚩💮 शुभ विचार 💮🚩💮*

एकं हन्यान्न वा हन्यादिषुर्मुक्तो धनुष्मता।
बुद्धिर्बुद्धिमतोत्सृष्टा हन्याद् राष्ट्रम सराजकम्।।
।।वि o नी o।।

किसी धनुर्धर वीर के द्वारा छोड़ा हुआ बाण संभव है किसी एक को भी मारे या न मारे। मगर बुद्धिमान द्वारा प्रयुक्त की हुई बुद्धि राजा के साथ-साथ सम्पूर्ण राष्ट्र का विनाश कर सकती है।

*🚩💮🚩 सुभाषितानि 🚩💮🚩*

गीता -: विश्वरूपदर्शनयोग अo-11

तत्रैकस्थं जगत्कृत्स्नं प्रविभक्तमनेकधा ।,
अपश्यद्देवदेवस्य शरीरे पाण्डवस्तदा ॥,

पाण्डुपुत्र अर्जुन ने उस समय अनेक प्रकार से विभक्त अर्थात पृथक-पृथक सम्पूर्ण जगत को देवों के देव श्रीकृष्ण भगवान के उस शरीर में एक जगह स्थित देखा॥,13॥,

*💮🚩 दैनिक राशिफल 🚩💮*

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🐏मेष
आज का दिन सामान्य है। किसी बात को लेकर भाइयों के बीच तनाव हो सकता है। परिवार में अस्थिरता का वातावरण रहेगा। माता का सहयोग प्राप्त होगा। धन संबंधी कार्यों में परेशानियां आएगी। जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। रक्त संबंधी परेशानी आ सकती है। अपने क्रोध पर नियंत्रण बनाए रखें। जीवनसाथी से विवाद होने के संकेत मिलते हैं। ससुराल पक्ष में कोई धार्मिक कार्य संपन्न हो सकता है।

🐂वृष
आज का दिन शुभ है। मन प्रसन्न रहेगा। रुके हुए कार्य पूर्ण होने के संकेत हैं। वाणी पर नियंत्रण रखें। अति आत्मविश्वास में किसी को अपशब्द ना कहें, किसी का अपमान ना करें, क्योंकि इससे आपका भाग्य कमजोर होगा और आपके कार्य बिगड़ सकते हैं। छोटे भाई-बहन का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा एवं परिवार में भी सम्मान मिलेगा।

👫मिथुन
आज का दिन सामान्य है। मन में अस्थिरता बनी रहेगी। कार्य करने में रुचि नहीं होगी एवं कार्यों में अनिर्णय की स्थिति बनेगी। परिवार में विवाद होने की स्थिति है। वाणी पर नियंत्रण रखें, आपके कठोर बोलने से आप के बने हुए कार्य बिगड़ सकते हैं। पिता से मतभेद हो सकते हैं। कार्य क्षेत्र में पिता यदि उचित सलाह दें तो उसे अवश्य मानें, नहीं मानने पर बड़ा नुकसान संभव है।

🦀कर्क
आज का दिन शुभ है। मन में विश्वास बना रहेगा। कार्यों को आत्मविश्वास पूर्ण करने से सभी कार्य में सफलता मिलेगी। शत्रुओं के इरादे कमजोर पड़ेंगे। जीवनसाथी से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी से विचार-विमर्श में किसी प्रकार का विवाद ना करें। नई योजनाएं सफल होगी।

🐅सिंह
आज का दिन शुभ नहीं है। मन में अनिर्णय की स्थिति बनेगी। कार्य करने में आत्मविश्वास की कमी महसूस होगी। माता के विचारों का सम्मान करें एवं विवाद ना करें। हड्डी, जोड़ो एवं पैर के निचले हिस्से में कोई परेशानी हो सकती है। कार्य क्षेत्र में दी गई पिता की सलाह का सम्मान करें।

🙎कन्या
आज का दिन शुभ है। मन में प्रसन्नता रहेगी एवं सभी परिस्थितियों में सही निर्णय ले पाएंगे। सफलता मिलने के कारण मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। हर क्षेत्र में सफलता मिलने के योग हैं। धन में स्थायित्व प्राप्त होगा। स्थायी संपत्ति के अच्छे योग बनते हैं एवं नौकरी में पदोन्नति होने के योग बनते हैं।

⚖तुला
आज का दिन सामान्य है। मन में तनाव रहेगा। कार्य करने में ऊर्जा की कमी महसूस होगी। सही निर्णय न ले पाने की वजह से कार्य करने के प्रति उदासीनता रहेगी। धन संबंधी परेशानी रहेगी। भाइयों से किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। पिता में आत्मविश्वास भरपूर रहेगा। पिता की सलाह का सम्मान करें।

🦂वृश्चिक
आज का दिन शुभ है। मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। मन प्रसन्न रहेगा एवं दिमाग सक्रिय रहेगा। कार्य करने की क्षमता बढ़ेगी एवं पुरानी बनाई हुई योजनाओं का क्रियान्वयन करने में लग जाएंगे। समाज एवं घर परिवार से बहुत सम्मान प्राप्त होगा। नौकरी वाले लोगों की पदोन्नति होने के योग हैं। व्यवसाय में उत्तरोत्तर वृद्धि होगी एवं प्रभुत्व बढ़ेगा। धन संबंधी समस्या हल होगी।

🏹धनु
आज का दिन शुभ नहीं है। मन में नकारात्मक विचार उत्पन्न होंगे। जीवनसाथी से किसी बात को लेकर मतभेद हो सकता है। परिवार में किसी समस्या को लेकर मन उदास रहेगा। भाग्य कमजोर रहने से कार्य आगे टल जाएंगे। किसी धार्मिक कार्य में धन खर्च होने के योग हैं। भाई-बहनों के ग्रह अभी अधिक प्रभावशाली है।

🐊मकर
आज का दिन शुभ है। मन में आत्मविश्वास बना रहेगा। आत्मविश्वास पूर्वक कार्य करने से सफलता मिलेगी एवं मन प्रसन्न रहेगा। भाइयों द्वारा पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। जीवनसाथी के द्वारा सही सलाह मिलने पर सभी कार्यों में सफलता प्राप्त होगी। शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर सकेंगे। आय के साधन मजबूत होंगे। घर परिवार से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा।

🍯कुंभ
आज का दिन सामान्य है। मन में कुछ और स्थिरता रहेगी। कार्य करने में कुछ ऊर्जा की कमी महसूस होगी। सारे क्षेत्र में पहले की तरह ही कार्य सुचारू रूप से करते रहेंगे। परंतु कुछ मन में अस्थिरता रहेगी। संतान के ग्रह वर्तमान में अधिक प्रभावशाली होने के कारण संतान से वैचारिक मतभेद होते रहेंगे। परंतु स्वयं के विवेक बुद्धि का उपयोग करते हुए संतान से सामंजस्य बनाकर रखें।

🐟मीन
आज का दिन शुभ है। माता का आशीर्वाद पूर्ण रूप से बना रहेगा। धन संबंधी कार्य पूर्ण होंगे। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। परिवार में सम्मान बढ़ेगा। संतान को सफलता प्राप्त होने से मन में हर्ष की अनुभूति होगी। शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर सकेंगे। माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। ह्रदय संबंधी परेशानी हो सकती है। जीवनसाथी से सामंजस्य बैठाकर रखें।

🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

four + 1 =

WhatsApp chat