क्या कहते हैं आज 4 सितंबर को आपके सितारे? कैसा रहेगा आपका दिन, और बहुत कुछ…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी
सम्पर्क सूत्र: +919518782511
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏
|| जय श्री राधे ||
🙏🌹🙏
अथ पंचांगम् 🙏🌹🙏
ll जय श्री राधे ll
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

Presents

दिनाँक -: 04/09/2019,बुधवार
षष्ठी, शुक्ल पक्ष
भाद्रपद
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””(समाप्ति काल)

तिथि—————षष्ठी21:44:29 तक
पक्ष—————————–शुक्ल
नक्षत्र———-विशाखा28:06:52
योग—————–इंद्रा20:28:27
करण————कौलव10:30:08
करण————-तैतुल21:44:29
वार—————————बुधवार
माह————————–भाद्रपद
चन्द्र राशि———तुला22:13:59
चन्द्र राशि——————–वृश्चिक
सूर्य राशि————————सिंह
रितु——————————-वर्षा
आयन——————-दक्षिणायण
संवत्सर———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर)———–परिधावी
विक्रम संवत—————–2076
विक्रम संवत (कर्तक)——2075
शाका संवत——————1941
मुम्बई
सूर्योदय—————–06:25:02
सूर्यास्त——————18:49:54
दिन काल—————12:35:32
रात्री काल————–11:24:55
चंद्रोदय——————11:10:44
चंद्रास्त——————22:55:40

लग्न—-सिंह17°5′ , 137°5′

सूर्य नक्षत्र————-पूर्वाफाल्गुनी
चन्द्र नक्षत्र——————विशाखा
नक्षत्र पाया———————रजत

*🌹🌷🌹पद, चरण 🌹🌷🌹

ती—-विशाखा 10:37:052

तू—-विशाखा 16:24:04

ते—–विशाखा 22:13:59

तो—-विशाखा 28:06:52

🌹🌷🌹 ग्रह गोचर 🌹🌷🌹

ग्रह =राशी , अंश ,नक्षत्र, पद

सूर्य=सिंह 17°42 ‘ पू o फा o, 2 टा
चन्द्र =तुला 20°23 ‘ विशाखा’ 1 ती
बुध=सिंह 17°16 ‘पू o फ़ा o’ 1 मो
शुक्र= सिंह 22 ° 10, पू oफा o’ 3 टी
मंगल=सिंह 16°12 ‘ पू oफ़ा o ‘ 1 मो
गुरु=वृश्चिक 20°48 ‘ ज्येष्ठा , 2 या
शनि=धनु 22°13′ पू oषा o ‘ 3 फा
राहू=मिथुन 20°25 ‘ पुनर्वसु , 1 के
केतु=धनु 20 ° 25′ पूo षाo, 3 फा

🌹🌷🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹🌷🌹

राहू काल 12:18 – 13:53अशुभ
यम घंटा 07:35 – 09:09अशुभ
गुली काल 10:44 – 12:18अशुभ
अभिजित 11:53 -12:43अशुभ
दूर मुहूर्त 11:53 – 12:43अशुभ

🌹चोघडिया, दिन
लाभ 06:00 – 07:35शुभ
अमृत 07:35 – 09:09शुभ
काल 09:09 – 10:44अशुभ
शुभ 10:44 – 12:18शुभ
रोग 12:18 – 13:53अशुभ
उद्वेग 13:53 – 15:27अशुभ
चर 15:27 – 17:01शुभ
लाभ 17:01 – 18:36शुभ

🌹चोघडिया, रात
उद्वेग 18:36 – 20:02अशुभ
शुभ 20:02 – 21:27शुभ
अमृत 21:27 – 22:53शुभ
चर 22:53 – 24:18शुभ रोग 24:18 – 25:44अशुभ काल 25:44 – 27:10अशुभ लाभ 27:10 – 28:35शुभ उद्वेग 28:35 – 30:01*अशुभ

🌹होरा, दिन
बुध 06:00 – 07:03
चन्द्र 07:03 – 08:06
शनि 08:06 – 09:09
बृहस्पति 09:09 – 10:12
मंगल 10:12 – 11:15
सूर्य 11:15 – 12:18
शुक्र 12:18 – 13:21
बुध 13:21 – 14:24
चन्द्र 14:24 – 15:27
शनि 15:27 – 16:30
बृहस्पति 16:30 – 17:33
मंगल 17:33 – 18:36

🌹होरा, रात
सूर्य 18:36 – 19:33
शुक्र 19:33 – 20:30
बुध 20:30 – 21:27
चन्द्र 21:27 – 22:24
शनि 22:24 – 23:21
बृहस्पति 23:21 – 24:18
मंगल 24:18* – 25:15
सूर्य 25:15* – 26:13
शुक्र 26:13* – 27:10
बुध 27:10* – 28:07
चन्द्र 28:07* – 29:04
शनि 29:04* – 30:01

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान————-उत्तर
परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो पान अथवा पिस्ता खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

🚩 अग्नि वास ज्ञान -:
यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   6 + 4 + 1 = 11 ÷ 4 = 3 शेष

पृथ्वी लोक पर अग्नि वास हवन के लिए शुभ कारक है l

🌹 शिव वास एवं फल -:

6 + 6 + 5 = 17 ÷ 7 = 3 शेष

वृषभारूढ़ = शुभ कारक

🌹भद्रा वास एवं फल -:

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

🌹🌷🌹 विशेष जानकारी 🌹🌷🌹

  • सूर्यषष्ठी

*सर्वार्थ सिद्धि योग 28:06 से

🌹🌷🌹 शुभ विचार 🌹🌷🌹

प्रभूतं कार्यमपि वा तन्नरः कर्तुमिच्छति ।
सर्वारम्भेण तत्कार्यं सिंहादेकं प्रचक्षते ।।
।।चा o नी o।।

शेर से यह बढ़िया बात सीखे की आप जो भी करना चाहते हो एकदिली से और जबरदस्त प्रयास से

🌹🌷🌹 सुभाषितानि 🌹🌷🌹

गीता -: भक्तियोग अo-12

अद्वेष्टा सर्वभूतानां मैत्रः करुण एव च ।,
निर्ममो निरहङ्‍कारः समदुःखसुखः क्षमी ॥,
संतुष्टः सततं योगी यतात्मा दृढ़निश्चयः।,
मय्यर्पितमनोबुद्धिर्यो मद्भक्तः स मे प्रियः॥,

जो पुरुष सब भूतों में द्वेष भाव से रहित, स्वार्थ रहित सबका प्रेमी और हेतु रहित दयालु है तथा ममता से रहित, अहंकार से रहित, सुख-दुःखों की प्राप्ति में सम और क्षमावान है अर्थात अपराध करने वाले को भी अभय देने वाला है तथा जो योगी निरन्तर संतुष्ट है, मन-इन्द्रियों सहित शरीर को वश में किए हुए है और मुझमें दृढ़ निश्चय वाला है- वह मुझमें अर्पण किए हुए मन-बुद्धिवाला मेरा भक्त मुझको प्रिय है॥,13-14॥,

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

🌹व्रत पर्व विवरण 🌹

  • सूर्य षष्ठी, बलराम जयंती*
    💥 विशेष – षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
    🌞 गणेश उत्सव 🌷
    🙏🏻 मोर पंख सिर्फ भगवान श्रीकृष्ण को नहीं, बल्कि सभी देवी–देवताओं को प्रिय है। इसमें नौ ग्रहों का निवास भी माना गया है। ज्योतिष शास्त्र से जुड़े कुछ खास उपायों को गणेश उत्सव पर किया जाए तो पैसों के साथ ही जीवन की अन्य कई तरह की समस्याओं को दूर किया जा सकता है। आइए जानते हैं मोर पंख से जुड़े कुछ बहुत आसान उपाय….
    👉🏻 गणेश उत्सव को सिर्फ 1 मोर पंख के ये उपाय बदल सकते हैं भाग्य
    🌷 कारगर उपाय 🌷
    आपका भाग्य बदल सकता है गणेश जी को चढ़ाया हुआ एक मोरपंख
    🌿 पैसों से जुड़ी प्राॅब्लम
    जिन लोगों को पैसों की कमी रहती है वे पर्स में ये मोर पंख रखें।
    🌿 रुके हुए काम होंगे पूरे
    इस मोर पंख को हमेशा साथ रखने पर रुके हुए काम पूरे होने लगते हैं।
    🌿 बच्चा जिद्दी हो तो
    उस बच्चे के सिर से पैर तक ये मोर पंख फिरा दें। फायदा होगा।
    🌿 डरावने सपने आते हों तो
    *रात में डरावने सपने आते हों तो मोर पंख को सिरहाने रखकर सोएं।
    🌿 *नकारात्मक शक्ति*
    मोर पंख को घर के किसी ऐसी जगह पर रखें जहां से वो दिखाई दे तो नकारात्मकता दूर होगी।
    🌿 बरकत के लिए
    साउथ इस्ट में इस मोर पंख को रखने से घर में हमेशा बरकत रहेगी।
    🌿 किताब में मोर पंख
    इस मोर पंख को स्टूडेंट अपनी किताब में रखें तो पढ़ाई में मन लगने लगेगा।
    🌿 यदि वास्तुदोष हो तो
    यदि मुख्य द्वार दोष में हो तो दरवाजे के ऊपर तीन मोर पंख लगाएं।
    🌿 शत्रु परेशान कर रहा हो तो
    मंगलवार को मोर पंख से हनुमानजी के मस्तक पर सिंदूर से शत्रु का नाम लिखे। रात भर मोर पंख को देवस्थान पर रखें व सुबह बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें।

  • सूर्य षष्ठी 🌷
    🙏🏻 भाद्रपद मास शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को मोरयाई छठ का व्रत रखा जाता है। इसे मोर छठ या कुछ स्थानों पर सूर्य षष्ठी व्रत भी कहते हैं। इस बार यह व्रत 04 सितंबर, बुधवार को है। भविष्योत्तर पुराण के अनुसार, प्रत्येक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को भगवान सूर्य के निमित्त व्रत करना चाहिए। इनमें भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी का विशेष महत्व है। इस दिन गंगा स्नान, सूर्योपासना, जप एवं व्रत किया जाता है। इस दिन सूर्य पूजन, गंगा स्नान एवं दर्शन तथा पंचगव्य सेवन से अश्वमेघ यज्ञ के समान फल प्राप्त होता है। इस दिन व्रत को अलोना (नमक रहित) भोजन दिन में एक बार ही ग्रहण करना चाहिए। सूर्य पूजा में लाल फूल, गुलाल, लाल कपड़ा, लाल रंग की मिठाई आदि का विशेष महत्व है।
  • मेष- आप कुछ योजनाएं बना सकते हैं। साझेदारी से बड़ा लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आप अपने संपर्कों को बढ़ाएंगे और कुछ लाभकारी संपर्क भी स्थापित करेंगे। आर्थिक रूप से आपको अच्छा लाभ प्राप्त होगा। आय में वृद्धि होना तय है और आपको आय का एक अतिरिक्त स्रोत भी मिल सकता है। घरेलू मोर्चे पर सामंजस्य रहेगा। शादी, जन्मदिन या धार्मिक समारोह जैसे कार्यक्रम मनाया जा सकता है। आपको अचानक यात्रा के लिए अपने बैग जल्दी में पैक करने पड़ सकते हैं।
  • वृष- आप गतिशील ऊर्जा और सकारात्मक विचारों से भरे रहेंगे। आप जो भी करेंगे उसमें अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे और दिन भर व्यस्त रहेंगे। कुछ नए विकास आपको आय बढ़ाने के साथ-साथ अधिक काम भी देंगे। आप अपने संचार कौशल और आत्मविश्वास से लोगों पर विजय प्राप्त करेंगे। आप कुछ प्रभावशाली संपर्क स्थापित करेंगे जो भविष्य में लाभ के मार्ग प्रशस्त करेगा। आप आर्थिक रूप से सुरक्षित होंगे और भविष्य में आय में वृद्धि के मजबूत संकेत हैं। आपको अपने प्रियजनों का पूरा समर्थन मिलेगा।
  • मिथुन- आर्थिक मामलों में सुधार और कुछ व्यापारिक यात्राओं के योग बन रहे हैं। कार्यो में सफ़लता मिलेगी। प्रभावशाली व्यक्तियों से आपका मिलना होगा और इससे आपको फायदा भी होगा। लाभप्रद सौदे हाथ लगेंगे। जीवनसाथी तथा परिवार के साथ आनंददायी समय बीतेगा। आप अपनी या संतान की शिक्षा को लेकर कुछ हद तक चिंतित रह सकते हैं। स्वास्थ्य कुछ नरम- गरम रह सकता है
  • कर्क- आज आपके सहकर्मी समूह के बीच आपकी लोकप्रियता में वृद्धि संभव है। व्यावसायिक रूप से चीजें सुचारू रहेंगी और आपको अच्छी प्रगति प्राप्त होगी। आपकी आमदनी बढ़ेगी और आपको आर्थिक लाभ प्राप्त करने के नवीन रास्ते भी मिलेंगे। भाई,बहनों और बड़ों के साथ संबंध सौहार्दपूर्ण और प्रेमपूर्ण रहेंगे। परिवार के सदस्यों के साथ छोटी यात्राओं की योजना बन सकती है। आपका पारिवारिक जीवन आनंदमय और खुशहाल रहेगा। आज आपको अपने या पिता के स्वास्थ्य की स्थिति चिंता का विषय हो सकती है। दुर्घटनाएँ हो सकती हैं इसलिए वहां सावधानी से चलाएं

  • सिंह    आप आशावादी दृष्टिकोण के साथ कार्यस्थल पर आप बहुत ऊर्जावान रहेंगे। आप अपने व्यवहार में अत्यधिक सफल होंगे और ग्राहकों के साथ स्थायी संबंध बनाएंगे। आप अपनी योग्यता को साबित करने के लिए बेहतर अवसरों का सुचारु रूप से लाभ उठाएंगे। आपके सम्मान में वृद्धि होगी। आप बच्चों से खुश रहेंगे और अपने जीवनसाथी के साथ संतोषप्रद जीवन का लाभ उठायेंगे। आज आप चिड़चिड़े हो सकते हैं। आराम करने के लिए पर्याप्त समय लें।

  • कन्या नौकरीपेशा जातकों के लिए समय अनुकूल नहीं है। अनजाने लोगों के साथ व्यवहार करते समय सावधान रहें। संचारी बने और खुद को आराम देने के लिए कुछ समय निकालें। अपने काम को अपने परिवार के समय में बाधा न बनने दें। कुछ समय निकालकर अपने परिवार को छुट्टियों पर ले जाएं। पार्टनर मददगार होंगे लेकिन आपको प्रयासों को गलत समझा जा सकता है

  • तुला     आपके लिए  यह अधिक अनुकूल अवधि नहीं है। आप कुछ पुरानी बीमारियों से प्रभावित हो सकते हैं। धन की रुकावट आपके असंतोष का कारण हो सकती है। कार्यस्थल पर प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए आपको कृतसंकल्प रहने की आवश्यकता है। एक एजेंट के रूप में प्रॉपर्टी-डीलर, सर्वेक्षक, कर-सलाहकार या औद्योगिक सलाहकार के रूप में आप अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते हैं। काम के दबाव का सामना करने के लिए परिवार के सदस्यों के साथ अपनी दिनचर्या से छुट्टी लें।

  • वृश्चिक आपकी लोकप्रियता अपने चरम पर होगी और आप दूसरों पर अधिक प्रभाव डालेंगे। यदि आप अधिकारियों के साथ टकराव से बचें रहें। आप व्यावसायिक क्षेत्र में अच्छी प्रगति कर सकते हैं। आपके दुश्मन आपका कुछ बिगाड़ नहीं पाएंगे। आपका पारिवारिक जीवन बहुत शांतिपूर्ण और खुशहाल रहेगा। आपका जीवनसाथी और बच्चे बहुत स्नेही और प्यार करने वाले होंगे। परिवार में कुछ शुभ समारोह हो सकते हैं। आपको अपने स्वास्थ्य के संबंध में विशेष ध्यान रखना चाहिए। आपको सूजन, सिरदर्द और आंखों की शिकायत होने की संभावना है।

  • धनु     आपको अधिकारियों से पूर्ण सहयोग मिलेगा और आपकी आमदनी व्यापार और अन्य उपक्रमों से काफी बढ़ेगी। यदि आप नौकरीपेशा हैं तो आप आय वृद्धि या पदोन्नति प्राप्त कर सकते हैं। आप कुछ धार्मिक कार्यों में संलग्न हो सकते हैं जिसके कारण आपकी सामाजिक लोकप्रियता बढ़ेगी। कुछ नए अधिग्रहण आपके आराम और मानसिक संतुष्टि को बढ़ाएंगे। पारिवारिक जीवन में भाई बहनों के साथ कुछ तनाव उत्पन्न हो सकता है। आज आपको संतान सम्बंधित कोई शुभ समाचार मिल सकता है

  • मकर आज आपको विभिन्न स्रोतों से लाभ प्राप्त हो सकता है। आपकी कुछ महत्वाकांक्षाएं पूरी हो सकती हैं और आपके पास नए अधिग्रहण हो सकते हैं जो आपके आराम में शामिल होंगे। आप एक समृद्ध और सुखी पारिवारिक जीवन जीएंगे। परिवार में उत्सव हो सकता है। आपके बच्चों का प्रदर्शन आपके मन में गर्व और खुशी की भावना पैदा करेगा। आप अपने घर के निर्माण के लिए अथवा कुछ नवीकरण करने के लिए अत्यधिक धन कर सकते हैं।

  • कुंभ    आज भाग्य की अपेक्षा कर्म पर भरोसा करके काम करना शुभ रहेगा। न्याय से जुड़े लोगों को कुछ राहत मिलेगी। भौतिक सुखो में वृद्धि होगी। नौकरी वालो के लिए यह समय ठीकठाक रहने वाला है। व्यापार में नए निवेश से परहेज करें। आर्थिक स्थिति में स्थिरता होगी लेकिन कुछ अनावश्यक खर्च बढ़ेंगे। वैवाहिक जीवन में कुछ सुधार संभव है। परिवार में कुछ धार्मिक अथवा सामाजिक समारोह हो सकते हैं। प्रेमी युगलों के लिए समय शुभ है। लम्बी बीमारी से जूझ रहे जातकों को कुछ राहत मिलेगी।

  • मीन खुशियों के साथ दिन की शुरुआत हो सकती है। नौकरीपेशा जातकों को तरक्की मिल सकती है। व्यावसायियों के लिए व्यापार में बेहतरी संभव है। आपकी वित्तीय स्थिति में सुधार और आय में वृद्धि के मजबूत संकेत हैं। पारिवारिक वातावरण सौहार्दपूर्ण रहेगा और आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ तीर्थयात्रा पर जा सकते हैं। आप दान-धर्म के कामों में शामिल होंगे। आप दोस्तों और शुभचिंतकों के साथ मौज-मस्ती में समय गुजारेंगे।

  • जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं

  • दिनांक 4 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 4 होगा। इस अंक से प्रभावित व्यक्ति जिद्दी, कुशाग्र बुद्धि वाले, साहसी होते हैं। ऐसे व्यक्ति को जीवन में अनेक परिवर्तनों का सामना करना पड़ता है। जैसे तेज स्पीड से आती गाड़ी को अचानक ब्रेक लग जाए ऐसा उनका भाग्य होगा। लेकिन यह भी निश्चित है कि इस अंक वाले अधिकांश लोग कुलदीपक होते हैं। आपका जीवन संघर्षशील होता है। इनमें अभिमान भी होता है। ये लोग दिल के कोमल होते हैं किन्तु बाहर से कठोर दिखाई पड़ते हैं। इनकी नेतृत्त्व क्षमता के लोग कायल होते हैं। 
     
    शुभ दिनांक : 4, 8, 13, 22, 26, 31
     
    शुभ अंक : 4, 8,18, 22, 45, 57

शुभ वर्ष : 2017, 2020, 2031, 2040, 2060

ईष्टदेव : श्री गणेश, श्री हनुमान

शुभ रंग : नीला, काला, भूरा

कैसा रहेगा यह वर्ष


यह वर्ष पिछले वर्ष के दुष्प्रभावों को दूर करने में सक्षम है। आपको सजग रहकर कार्य करना होगा। परिवारिक मामलों में सहयोग के द्वारा सफलता मिलेगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी, वहीं मित्र वर्ग का सहयोग मिलेगा। नवीन व्यापार की योजना प्रभावी होने तक गुप्त ही रखें। शत्रु पक्ष पर प्रभावपूर्ण सफलता मिलेगी। नौकरीपेशा प्रयास करें तो उन्नति के चांस भी है। विवाह के मामलों में आश्चर्यजनक परिणाम आ सकते हैं।
🙏🌹🌷🌹🌷🌹🌷🌹🌷🙏

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

16 − 16 =

WhatsApp chat