क्या है उपांग ललित ब्रत, क्या कहता है आज आपका राशिफल, विस्तृत जानकारी केवल आचार्य रमेश जी से…

आचार्य रमेश चन्द्र तिवारी धानिवबांग नालासोपारा पालघर महाराष्ट्र 🌹🙏🌹
सम्पर्क सूत्र -9518782511
🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏
🌹 अथ पंचांगम् 🌹
🌹 जय श्री राधे 🌹
🙏🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🙏

दिनाँक -: 02/10/2019,बुधवार
चतुर्थी, शुक्ल पक्ष
आश्विन
“”””””””””””””””””””””””””””””””””””( समाप्ति काल)

तिथि———–चतुर्थी 11:39:44 तक
पक्ष—————————–शुक्ल
नक्षत्र————–विशाखा 12:51:39
योग—————–प्रीति 26:52:26
करण———-विष्टि भद्र 11:39:45
करण————भाव 22:49:27
वार————————–बुधवार
माह————————–आश्विन
चन्द्र राशि———————–तुला
सूर्य राशि———————- कन्या
रितु——————————शरद
आयन——————-दक्षिणायण
संवत्सर———————-विकारी
संवत्सर (उत्तर)———–परिधावी
विक्रम संवत—————–2076
विक्रम संवत (कर्तक)——-2075
शाका संवत——————1941

मुम्बई
सूर्योदय—————–06:30:17
सूर्यास्त——————18:25:16
दिन काल—————11:53:38
रात्री काल————–12:06:50
चंद्रोदय—————–09:55:29
चंद्रास्त——————21:33:35

लग्न—- कन्या14°25′ , 164°25′

सूर्य नक्षत्र———————–हस्त
चन्द्र नक्षत्र———————-स्वाती
नक्षत्र पाया——————–रजत

    🌹  पद, चरण  🌹

रो—-विशाखा 07:09:42

ता—-विशाखा 12:51:39

ती—-अनुराधा 18:36:33

तू—-अनुराधा 24:24:29

       🌹शुभा$शुभ मुहूर्त🌹

राहू काल 07:41 – 09:11अशुभ
यम घंटा 10:40 – 12:09अशुभ
गुली काल 13:38 – 15:08अशुभ
अभिजित 11:45 -12:33शुभ
दूर मुहूर्त 12:33 – 13:20अशुभ
दूर मुहूर्त 14:56 – 15:43अशुभ

   🌹चोघडिया, दिन

अमृत 06:12 – 07:41शुभ
काल 07:41 – 09:11अशुभ
शुभ 09:11 – 10:40शुभ
रोग 10:40 – 12:09अशुभ
उद्वेग 12:09 – 13:38अशुभ
चर 13:38 – 15:08शुभ
लाभ 15:08 – 16:37शुभ
अमृत 16:37 – 18:06शुभ

  🌹चोघडिया, रात

चर 18:06 – 19:37शुभ
रोग 19:37 – 21:08अशुभ
काल 21:08 – 22:38अशुभ
लाभ 22:38 – 24:09शुभ उद्वेग 24:09 – 25:40अशुभ शुभ 25:40 – 27:11शुभ अमृत 27:11 – 28:42शुभ चर 28:42 – 30:13*शुभ

नोट— दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है।
प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।
चर में चक्र चलाइये , उद्वेगे थलगार ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार करे,लाभ में करो व्यापार ॥
रोग में रोगी स्नान करे ,काल करो भण्डार ।
अमृत में काम सभी करो , सहाय करो कर्तार ॥
अर्थात- चर में वाहन,मशीन आदि कार्य करें ।
उद्वेग में भूमि सम्बंधित एवं स्थायी कार्य करें ।
शुभ में स्त्री श्रृंगार ,सगाई व चूड़ा पहनना आदि कार्य करें ।
लाभ में व्यापार करें ।
रोग में जब रोगी रोग मुक्त हो जाय तो स्नान करें ।
काल में धन संग्रह करने पर धन वृद्धि होती है ।
अमृत में सभी शुभ कार्य करें ।

🌹दिशा शूल ज्ञान-------------उत्तर*

परिहार-: आवश्यकतानुसार यदि यात्रा करनी हो तो घी अथवा गुड़ खाके यात्रा कर सकते है l
इस मंत्र का उच्चारण करें-:
शीघ्र गौतम गच्छत्वं ग्रामेषु नगरेषु च l
भोजनं वसनं यानं मार्गं मे परिकल्पय: ll

      🌹 अग्नि वास ज्ञान  🌹

यात्रा विवाह व्रत गोचरेषु,
चोलोपनिताद्यखिलव्रतेषु ।
दुर्गाविधानेषु सुत प्रसूतौ,
नैवाग्नि चक्रं परिचिन्तनियं ।। महारुद्र व्रतेSमायां ग्रसतेन्द्वर्कास्त राहुणाम्
नित्यनैमित्यके कार्ये अग्निचक्रं न दर्शायेत् ।।

   4 + 4 + 1 = 9 ÷ 4 = 1 शेष

स्वर्ग पर अग्नि वास हवन के लिए अशुभ कारक है l

   🌹 शिव वास एवं फल 🌹

4+ 4 + 5 = 13 ÷ 7 = 6शेष

    अशुभ कारक

   🌹भद्रा वास एवं फल 🌹

स्वर्गे भद्रा धनं धान्यं ,पाताले च धनागम:।
मृत्युलोके यदा भद्रा सर्वकार्य विनाशिनी।।

      🌹 विशेष जानकारी 🌹
  • नवरात्रि चतुर्थ दिवस , कुशमाण्डा पूजन

🌹 *व्रत पर्व विवरण – 🌹

🌹 विशेष – चतुर्थी को परवल खाना शत्रुओं की वृद्धि करने वाला है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
नवरात्रि के दिनों में जप करने का मंत्र 🌷
🙏🏻 नवरात्रि के दिनों में ‘ ॐ श्रीं ॐ ‘ का जप करें ।
विघ्न-बाधा में 🌷
🙏🏻 आदित्य ह्रदय स्तोत्र भगवान रामजी को अगस्त्य मुनि ने दिया था l आदित्य ह्रदय स्तोत्र ३ बार जपने से विघ्न-बाधा व आरोप लगाने वालों को सफलता नहीं मिलती –


🌷 उपांग ललिता व्रत 🌷
🙏🏻 आदि शक्ति मां ललिता दस महाविद्याओं में से एक हैं। आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को इनके निमित्त उपांग ललिता व्रत किया जाता है। यह व्रत भक्तजनों के लिए शुभ फलदायक होता है। इस वर्ष उपांग ललिता व्रत 02 अक्टूबर, बुधवार को है। इस दिन माता उपांग ललिता की पूजा करने से देवी मां की कृपा व आशीर्वाद प्राप्त होता है। जीवन में सदैव सुख व समृद्धि बनी रहती है।
🙏🏻 उपांग ललिता शक्ति का वर्णन पुराणों में प्राप्त होता है, जिसके अनुसार पिता दक्ष द्वारा अपमान से आहत होकर जब माता सती ने अपना देह त्याग दिया था और भगवान शिव उनका पार्थिव शव अपने कंधों में उठाए घूम रहें थे। उस समय भगवान विष्णु ने अपने चक्र से सती की देह को विभाजित कर दिया था। इसके बाद भगवान शंकर को हृदय में धारण करने पर इन्हें ललिता के नाम से पुकारा जाने लगा।
🙏🏻 उपांग ललिता पंचमी के दिन भक्तगण व्रत एवं उपवास करते हैं। कालिका पुराण के अनुसार, देवी की चार भुजाएं हैं, यह गौर वर्ण की, रक्तिम कमल पर विराजित हैं। ललिता देवी की पूजा से समृद्धि की प्राप्त होती है। दक्षिणमार्गी शास्त्रों के मतानुसार देवी ललिता को चण्डी का स्थान प्राप्त है। इनकी पूजा पद्धति देवी चण्डी के समान ही है। इस दिन ललितासहस्रनाम व ललितात्रिशती का पाठ किया जाए तो हर मनोकामना पूरी हो सकती है।

🌹दैनिक राशिफल 🌹

मेष राशि
वालों का दिन आमोद-प्रमोद में बीतेगा। नए वस्त्रों की खरीददारी का योग है। मान-सम्मान प्राप्त होगा। मनोरंजन और आनंद में दिन बीतेगा। आज आप कोई नया काम शुरू कर सकते हैं। शाम का समय आरती पूजन में बीतेगा। भाग्य 87 प्रतिशत तक साथ देगा।

वृषभ
बीमार लोगों की सेहत में सुधार होगा। परिवार में छोटे भाई-बहनों से सहयोग मिलेगा। आज आपका धन जरूरी वस्तुओं पर खर्च होगा। प्रतिस्पर्धियों तथा शत्रुओं पर विजय प्राप्त करेंगे। अधूरे कार्य संपन्न होंगे। नौकरी में स्थिति सामान्य रहेगी, कारोबार में लाभ मिलेगा। भाग्य 93 प्रतिशत तक साथ देगा।

मिथुन:
साहित्य एवं कला में आपकी रुचि रहेगी। मन में कल्पना की तरंगे उठेंगी। रचनात्मक क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए दिन अच्छा रहेगा। बौद्धिक चर्चाओं में शामिल हो सकते हैं। दामपत्य जीवन में प्रेम और उत्साह बना रहेगा। धर्म-कर्म के काम में भाग लेंगे। भाग्य 85 प्रतिशत तक साथ देगा।

कर्क
आज आपका मन किसी बात से खिन्न रह सकता है। स्वास्थ्य नरम रहेगा। परिवार में वाद-विवाद का वातावरण बन सकता है। नौकरी में स्थिति सामान्य रहेगी। किसी पुरानी बात को लेकर उलझन और चिंता में रहेंगे। आज कोई महत्वपूर्ण फैसला लेने से बचें। संयमपूर्वक कार्य करें। भाग्य 60 प्रतिशत तक साथ देगा।

सिंह:
मानसिक रूप से आज आप बहुत हल्कापन महसूस करेंगे। आपके मन पर छाए हुए चिंता के बादल हटने से आपके उत्साह में वृद्धि होगी। आपके प्रयास से सभी कार्य बनेंगे। कार्यक्षेत्र में अधिकारियों से सहयोग मिलेगा। भाग्य 78 प्रतिशत तक साथ देगा।0

कन्या:
आज आपको धन के लेन-देने में सावधानी बरतने की जरूरत है। मन में कुछ उलटे सीधे विचार आएंगे जिससे निराश होंगे। पारिवारिक जीवन में उलझन की स्थिति रहेगी। क्रोध अधिक आएगा, संयम से काम लें। दोपहर बाद स्थिति थोड़ी बेहतर होगी। भाग्य 55 प्रतिशत तक साथ देगा।

तुला
भक्ति भाव से मन ओत-प्रोत रहेगा। स्वास्थ्य अनुकूल रहेगा और आनंदित रहेंगे। काम में उत्साह बना रहेगा। सभी काम समय से पूरा कर पाएंगे। घर का वातावरण आपके उत्साह को बढ़ाएगा, जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। भाग्य 82 प्रतिशत तक साथ देगा।

वृश्चिक:
आज किसी से पैसों की लेन-देन न करें और किसी को उधार न दें। मानसिक रूप से उलझन में रहेंगे। गलत निर्णय से नुकसान हो सकता है। किसी बात को लेकर चिंतित रहेंगे। कोई मित्र या परिचित आपका सहायक हो सकता है। बच्चों की सेहत को लेकर चिंता रहेगी। भाग्य 63 प्रतिशत तक साथ देगा।

धनु:
आज आपका दिन शुभ और लाभदायी है। नौकरी में प्रभाव और धन लाभ हो सकता है। कारोबार में प्रगति औ मुनाफा बढ़ेगा। वैवाहिक जीवन में सुख और आनंद की प्राप्ति होगी। धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। भाग्य 89 प्रतिशत तक साथ देगा।

मकर
आज आप उत्साहित रहेंगे। परिश्रम से बढ़कर काम में सफलता मिलेगी। नौकरी में उच्च पदाधिकारी खुश रहेंगे। कार्यक्षेत्र में प्रभाव और सम्मान बढ़ेगा। काम के सिलसिले में यात्रा करनी पड़ सकती है। सेल्स और मार्केटिंग वालों के लिए दिन उत्साह वर्धक रहेगा। भाग्य 98 प्रतिशत तक साथ देगा।

कुंभ:
आज किस्मत के सितारे बुलंद हैं। धर्म-कर्म के काम करेंगे। आर्थिक क्षेत्र में प्रगति होगी। पारिवारिक जीवन में प्रेम और सद्भाव से आनंदित रहेंगे। कोई नया काम आज शुरू कर सकते हैं। खरीदारी के योग हैं, जरूरी चीजों पर व्यय होगा। भाग्य 90 प्रतिशत साथ देगा।

मीन:
आज का दिन भी आपको सावधानी पूर्वक बिताना होगा। खरीदारी करते समय और निवेश करते समय सभी पक्षों की जांच कर लें। लापरवाही से नुकसान हो सकता है। हो सके तो आज यात्रा का विचार मन से निकाल दें। वाहन चलाते समय नियमों का पालन करें। भाग्य 59 प्रतिशत तक साथ देगा।


जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाएं


दिनांक 02 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 1 होगा। आपका मूलांक एक होगा। आप राजसी प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं। आपको अपने ऊपर किसी का शासन पसंद नहीं है। आप साहसी और जिज्ञासु हैं। आपका मूलांक सूर्य ग्रह के द्वारा संचालित होता है। आप अत्यंत महत्वाकांक्षी हैं। आपकी मानसिक शक्ति प्रबल है। आपको समझ पाना बेहद मुश्किल है।

आप आशावादी होने के कारण हर स्थिति का सामना करने में सक्षम होते हैं। आप सौन्दर्यप्रेमी हैं। आपमें सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाला आपका आत्मविश्वास है। इसकी वजह से आप सहज ही महफिलों में छा जाते हैं। 
 
शुभ दिनांक : 1, 10, 19, 210 कीआ है उपांग
 
शुभ अंक : 1, 10, 19, 28, 37, 46, 55, 64, 73, 82 
शुभ वर्ष : 2017, 2026, 2044, 2053, 2062

ईष्टदेव : सूर्य उपासना तथा मां गायत्री

शुभ रंग : लाल, केसरिया, क्रीम,

कैसा रहेगा यह वर्ष
यह वर्ष आपके लिए अत्यंत सुखद रहेगा। अधूरे कार्यों में सफलता मिलेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह वर्ष उत्तम रहेगा। पारिवारिक मामलों में महत्वपूर्ण कार्य होंगे। अविवाहितों के लिए सुखद स्थिति बन रही है। विवाह के योग बनेंगे। नौकरीपेशा के लिए समय उत्तम हैं। पदोन्नति के योग हैं। बेरोजगारों के लिए भी खुशखबर है इस वर्ष आपकी मनोकामना पूरी होगी।
🙏आपका दिन मंगलमय हो 🙏

Spread the love

Related posts

Leave a Comment

four × 5 =

WhatsApp chat